iKamai-Kamai Tips In Hindi

Bubble Sheet Making Business

Bubble sheet making business में संभावनाओं का अंदाज़ा हम खुद की रोजमर्रा की आदतों का विश्लेषण करके भी लगा सकते हैं | Bubble sheet को भले ही हम अपना सामान निकालने के बाद फ़ेंक देते होंगे, लेकिन कभी क्या हमने सोचा है जो सामान हमने किसी विक्रेता से मंगवाया था उसको हम तक सुरक्षित बिना तोड़ फोड़ के पहुँचाने में Bubble packing paper का कितना योगदान है | जी हाँ दोस्तों चाहे हम ऑनलाइन कोई फ़ोन मंगाए या कुछ अन्य उपकरण वह जब हमारे पास पहुँचता है तो वह Bubble sheet से Wrap/pack किया होता है | वह इसलिए ताकि वह सुरक्षित हम तक पहुँच पाय, इस Bubble sheet/paper की कीमत हमारा सामान सुरक्षित हमें मिल जाने के बाद भले ही हमारे नज़र में शून्य हो, लेकिन सच तो यह है की इसको अपना उत्पाद Packaging करने हेतु बड़ी, छोटी सभी कंपनियों द्वारा ख़रीदा जाता है | इसलिए India में बहुत सारे उद्यमियों द्वारा bubble  sheet making business करके कमाई की जा रही है |  वर्तमान में इसकी उपयोगिता को देखते हुए और शहरों में Online Shopping की ओर लोगों की रूचि और संख्या में बढ़ोत्तरी होने के कारण हर प्रकार की दुकान, छोटी से लेकर बड़ी बड़ी कंपनियों

प्रधान मंत्री ग्रामीण आवास योजना |

प्रधान मंत्री ग्रामीण आवास योजना का अधिकारिक नाम प्रधान मंत्री आवास योजना – ग्रामीण यानिकी (PMAYG) है | यद्यपि यह योजना पूर्व में चल रही इंदिरा आवास योजना का ही पुर्नोथातित रूप है, जिसे 23 March 2016 को प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में केन्द्रीय कैबिनेट से स्वीकृति प्राप्त हुई | प्रधान मंत्री आवास योजना ग्रामीण का लक्ष्य बेघर एवं जीर्ण शीर्ण घरों में रहने वाले लोगों को पक्का घर बनाने हेतु वित्तीय सहायता प्रदान करना है | भारत में ग्रामीण इलाकों में घरों से बंचित जीर्ण शीर्ण मकानों में रह रहे एवं खास तौर पर गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों को मकान बनाने हेतु वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए 1996 में इंदिरा आवास योजना नामक एक कार्यक्रम चलाया गया | जो ग्रामीण क्षेत्रों में आवास सम्बन्धी जरूरतों को पूरा करने के लिए पूरी तरह से तटस्थ योजना थी | लेकिन वर्ष 2014 में CAG (comptroller and auditor general India)  के audit के दौरान इसमें बहुत सारी कमियों जैसे लाभार्थियों के चयन में पारदर्शिता की कमी, घरों की गुणवत्ता में कमी, किस क्षेत्र में कितने मकानों की आवश्यकता है का निर्धारण न कर पाना, लाभार्थियों को समय पर ऋण उपलब्ध न हो पाना, कमजोर निगरानी प्रणाली

Broom Making Business – झाड़ू बनाने का व्यवपार |

Broom Making यानिकी झाड़ू बनाने का काम India में ही नहीं पूरे विश्व में सदियों से चला आ रहा है, हालाँकि ग्रामीण इलाकों में पहले अधिकतम रूप से प्राक्रतिक झाड़ू का उपयोग किया जाता था, प्राक्रतिक झाड़ू से आशय किसी घास या पेड़ के पत्तों को एकत्र करके उसे वैसे ही उपयोग में लाने से है | जबकि मनुष्य द्वारा बनाई गई झाड़ू से आशय जंगल से Broom Grass या अन्य कोई घास, पेड़ पौंधो के पत्ते लाकर उसको एकत्रित करके उसके पीछे प्लास्टिक या धातु का हैंडल लगाकर या अन्य किसी Material की सहायता से Professional Look देने का है | India में वैसे तो लोगों द्वारा विभिन्न प्रकार की घास एवं पेड़ों के पत्तों का उपयोग करके अपने व्यक्तिगत use के लिए विभिन्न प्रकार की झाड़ू बनाई जाती हैं | लेकिन व्यवसायिक तौर पर हमें बाज़ार में तीन प्रकार की फूल झाड़ू, सीक वाली झाड़ू, और पेड़ के पत्तों से निर्मित झाड़ू ही देखने को मिलती है जिन्हें हम Hard Broom एवं Soft Broom दो भागों में विभाजित कर सकते हैं  | Broom Making business का यह Idea ग्रामीण इलाकों से भी इसलिए सफल हो सकता है क्योकि झाड़ू का उपयोग सर्वत्र साफ़, सफाई करने हेतु किया

Computer Assembling Business Ki Information Hindi Me.

Computer assembling business में कंप्यूटर के विभिन्न भागों को बाज़ार से अलग अलग खरीदकर उन्हें वर्कशॉप में लाकर एक दूसरे से जोड़ दिया जाता है जिससे कंप्यूटर का निर्माण होता है |  Technology आज की जीवन शैली में एक अहम् किरदार निभा रही है, आज Technology की ही बदौलत व्यक्ति को ऑटो जितने किराये में 5 मिनट के अन्दर अन्दर अपने सामने ओला कैब नज़र आती है, Technology की ही बदौलत व्यक्ति के दिमाग में उठ रहे सवालों का Google एक सेकंड में जवाब देने का सामर्थ्य रखता है, और Technology की ही मदद से व्यक्ति पैन कार्ड, Tan Card, Voter id card इत्यादि महत्वपूर्ण ID Address Proof Documents को बनाने के लिए घर बैठे बैठे आवेदन कर सकता है | यह Technology ही है की अब हमें खरीदारी जैसे अहम् काम के लिए भी बाज़ार जाने की आवश्यकता नहीं पड़ती बल्कि हम ऑनलाइन शोपिंग करके अपना सामान घर पर ही मंगवा लेते हैं | खैर उपर्युक्त जो स्थिति है शहरी क्षेत्रों पर तो लागू होती ही है लेकिन नोटबंदी के बाद Electronic Transaction में काफी इजाफा हुआ है, और इसका अनुकूल असर technology से जुडी पेटीएम जैसी अनेक कंपनियों में भी दिखा है | हमारे राष्ट्र में Cashless Economy की नीवं रखी जा चूकी है, जिसको आगे बढ़ाने में

Cricket Bat Manufacturing Business Ki Jankari

Cricket Bat Manufacturing business India में बहुत पहले से कुछ उद्यमियों द्वारा सफलतापूर्वक किया जा रहा है | लेकिन चूँकि यह बिज़नेस भी Low Investment के साथ कहीं से भी शुरू किया जा सकता है, और आये दिनों युवाओं में बढती क्रिकेट की लोकप्रियता को देखते हुए Cricket Bat Manufacturing business के बारे में बात करना जरुरी हो जाता है |  Cricket से वर्तमान में शायद ही कोई युवा अनभिज्ञ होगा, उसका कारण है Cricket खेल की पहुँच और बढ़ी हुई लोकप्रियता, हमें यह बताने की जरुरत नहीं है की क्रिकेट नामक यह खेल भारत के कोने कोने में फैला हुआ है | चाहे ग्रामीण भारत का युवा हो या फिर शहरी युवा हर कोई क्रिकेट को भली भाँती जानता है, और खेलता भी है | हालांकि क्रिकेट खेलने में बहुत सारे products जैसे सिर को बाल से बचाने के लिए Helmet, हाथों में Gloves, thigh guards, arm guards, chest guards, Cricket Balls, Cricket stumps इत्यादि का इस्तेमाल किया जाता है | लेकिन क्रिकेट खेलने के उपयोग में जो सबसे अहम् भूमिका रहती है वह है क्रिकेट Bat और Ball की, क्योकि अन्य वस्तुओं के अभाव में आप उनका कोई न कोई विकल्प ढूंढ लेंगे, लेकिन Cricket Bat एवं