खाद्य एवं पेय

खाद्य एवं पेय

Soya Milk Making Business

Soya Milk Making business पर वार्तालाप करने से पहले सोया के दूध से समबन्धित कुछ जरुरी जानकारी पर वार्तालाप कर लेते हैं | Soya Milk यानिकी सोयाबीन से निर्मित दूध सोयाबीन से बनने वाले विभिन्न उत्पादों जैसे सोयाबीन के तेल, सोया Nuggets, सोया पनीर इत्यादि में से एक प्रमुख उत्पाद है | Soya Milk और इससे समबन्धित उत्पाद दिनोदिन इसलिए प्रचलित होते जा रहे हैं क्योंकि इनमे उचित मात्रा में पोषक तत्वों के विद्यमान होने के साथ साथ  इन उत्पादों में औषधीय गुण भी विद्यमान रहते हैं | Soya Milk में उचित मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है  तथा  Fat एवं कार्बोहायड्रेट बेहद ही  कम मात्रा में पाया जाता है इसके अलावा सोयाबीन से निर्मित दूध कोलेस्ट्रोल फ्री दूध होता है | सोयाबीन से निर्मित दूध को बच्चों का पौष्टिक आहार माना जाता है इसके अलावा वयस्क लोग एवं गर्भवती महिलाओं एवं ऐसी महिलाएं जिनके छोटे बच्चे हैं सोयाबीन को सब्जी के रूप में ग्रहण करती हैं | क्योंकि यह पोषण युक्त होने के साथ साथ पाचन करने में भी आसान होता है | ऐसे लोग जो डायबिटीज़ से ग्रसित एवं जिनको गाय भैंस का दूध पचता नहीं है उनके लिए Soya Milk एक अच्छा विकल्प है | Soya

Ginger and Garlic Paste Making Business

Ginger and garlic paste making business से अभिप्राय अदरक और लहसुन का मिश्रण पेस्ट के रूप में बनाकर उसे बाज़ार में बेचकर अपनी कमाई करने से है | Ginger and garlic paste को मुख्यतः विभिन्न प्रकार के खाने में मसाले के तौर पर उपयोग में लाया जाता है | इसके अलावा गैस्ट्रिक इत्यादि के लिए बनने वाली अनेक प्रकार की दवाइयां बनाने में भी अदरक लहसुन पेस्ट का इस्तेमाल किया जाता है | मसाले के तौर पर इस Ginger and garlic paste को टमाटर से बनने वाले केचप और सॉस, सलाद, चटनी, आचार, सब्जी, दाल, meat मछली इत्यादि बनाने में भी उपयोग किया जाता है | Ginger and garlic paste making business kya hai: अदरक एवं लहसुन भारत की कृषि फसलों में एक मुख्य फसल है जिसका उत्पादन भारत के लगभग हर राज्य में किया जाता है, लेकिन बड़े पैमाने पर अदरक एवं लहसुन का उत्पादन भारत के कुछ राज्यों जैसे गुजरात, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, उड़ीसा, केरल, हरियाणा, मध्य प्रदेश एवं हिमांचल प्रदेश में किया जाता है | अदरक एवं लहसुन में बहुत सारे औषधीय गुण होने के कारण लोगों द्वारा इनका उपयोग लगभग हर प्रकार के खाने में एवं दवाई बनाने वाली कंपनियों द्वारा विभिन्न प्रकार की औषधि

Mustard Oil Extraction Business

Mustard oil extraction से हमारा आशय सरसों के बीज से तेल निकालने की प्रक्रिया से है | सरसों के बीज से तेल निकालने की प्रक्रिया प्राचीन काल से चली आ रही है | Mustard Oil Extraction Business कृषि पर आधारित एक बेहद प्रचलित बिज़नेस है, सरसों के तेल का उपयोग लोगों द्वारा खाने पीने की वस्तुएं बनाने एवं दीये इत्यादि जलाने हेतु भी किया जाता है | प्राचीनकाल में ग्रामीण इलाकों में कृषि उत्पादों जैसे तिलहन, सरसों, मूंगफली, सोयाबीन इत्यादि से oil extraction परम्परागत रूप से स्थापित कोल्हू मशीन के माध्यम से किया जाता था | जिसमे एक मवेशी जैसे बैल के कंधे पर एक लकड़ी का फट्टा रखकर और उस फट्टे को कोल्हू मशीन से जोड़कर बैल को गोल गोल घुमाया जाता था | यही कारण है की इंडिया में कोल्हू के बैल नामक मुहावरा काफी प्रसिद्ध है | वर्तमान में कच्ची घानी कोल्हू मशीन का उपयोग Mustard oil extraction में किया जा सकता है किन्तु अब इन्हें बैल द्वारा नहीं अपितु बिजली द्वारा चालित किया जा सकता है | Mustard Oil Extraction Business Kya Hai: भारत में उत्पादित किये जाने वाले कृषि उत्पादों में ऐसे बहुत से उत्पाद हैं जिनका उपयोग तेल निकालने हेतु किया जाता है

Ice Cream Cone Manufacturing Business

Ice Cream Cone Manufacturing business आइसक्रीम उद्योग पर आधारित बिज़नेस इसलिए है क्योंकि इसका उपयोग आइसक्रीम बनाने वाले या बेचने वाले उद्यमियों द्वारा अपनी आइसक्रीम को ग्राहकों को बेचते वक्त किया जाता है | यह वस्तु इंडिया में मुख्य रूप से गर्मियों में जब आइस क्रीम की बिक्री अधिक मात्रा में होती है बहुत बड़े पैमाने पर उपयोग में लायी जाती है | Ice Cream cone नामक इस वस्तु के बाहर से Texture design की जाती है और इसकी मदद से Ice Cream को बिना कटोरी चम्मच के आराम से खाया जा  सकता है | यद्यपि बाज़ार में आइसक्रीम भिन्न भिन्न Verities में उपलब्ध होती हैं इसलिए इन्हें ग्राहकों को बेचने के तरीके भी अलग अलग होते हैं | बहुत सारी आइसक्रीम को कटोरी में खाया जाता है तो किसी को कप में इसके अलावा ब्रिक्स, कैंडीज, स्लाइस में भी आइसक्रीम उपलब्ध हैं | लोगों की जीवनशैली में हो रहे दिनोदिन परिवर्तनों के कारण आइसक्रीम का उपयोग क्षेत्र भी बढ़ा है | आयोजन चाहे किसी प्रकार का हो चाहे व्यवसायिक हो या पारिवारिक आइसक्रीम को Menu का हिस्सा अवश्य बनाया जाता है | आइसक्रीम को सर्व करने का जो सबसे प्रचलित एवं सुरक्षित तरीका है वह है Ice Cream

Noodles Manufacturing Business

Noodles Manufacturing Business start करने के लिए विभिन्न प्रकार की मशीनरी की आवश्यकता होती है यही कारण है की इस प्रकार के बिज़नेस को शुरू करने में 55 लाख से एक करोड़ तक का खर्चा संभावित है | यदि हम वर्तमान बाज़ार की बात करें तो हमें लगभग तीन प्रकार के Noodles Market में मिलते हैं | इनमे एक तो Chowmein प्रकार के Noodles होते हैं जो लम्बाई और मोटाई की दृष्टि से अन्य दो Noodles की तुलना में लम्बे और मोटे होते हैं | दूसरे प्रकार के Noodles में Maggi Types Noodles आती हैं ये चौकौर टिकिया की पैकेजिंग में Market में आती हैं | इसके अलावा तीसरे प्रकार की Noodles में सेवइयों को रखा जा सकता है ये उपर्युक्त दोनों प्रकार की Noodles के मुकाबले पतली और सीधे लम्बी होती हैं | और जहाँ Chowmein और Maggi को नमकीन अर्थात नमक मिर्च, मसाले डालकर तैयार किया जाता है वहीँ सेवइयों को दूध और चीनी मिलाकर तैयार किया जाता है, इसलिए इनका स्वाद खाने में मीठा होता है | Noodles Manufacturing Business Kya Hai: वैसे यदि हम Noodles की बात करें तो यह एक Extruded Product है, जिसे Extrusion Process के माध्यम से साबूदाने के आटे या मैदे से