Desiccated Coconut Powder Business Ki Information.

Desiccated Coconut Powder Business Ki Information.

Desiccated coconut को नारियल का बुरादा या फिर Coconut Powder कह सकते हैं, यह सूखे नारियल से निर्मित किया जाता है  | इसका उपयोग मुख्य रूप से Confectionery और बिस्कुट उद्योगों द्वारा किया जाता है | India विश्व में Coconut अर्थात नारियल उत्पादन करने में तीसरा स्थान रखता है | Coconut development board की 2013-14 की रिपोर्ट के मुताबिक केरल India में तीसरा सबसे बड़ा नारियल उत्पादक राज्य था | एक आंकड़े के मुताबिक लगभग 60% Coconuts खाद्य पदार्थों के तौर पर उपयोग में लाया जाता है, और बाकी बचा 40% Coconut Oil इत्यादि बनाने में उपयोग में लाया जाता है | वर्तमान में India में लगभग 4000 टन Coconut Powder का उत्पादन किया जा रहा है, Desiccated coconut production करने में मुख्य भूमिका केरल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, उड़ीसा एवं महाराष्ट्र राज्यों की है अर्थात इसका उत्पादन मुख्य रूप से इन राज्यों में किया जाता है | Coconut powder business केवल एक Value Added न होकर एक श्रम विशेष Business भी है, इसलिए इसमें रोजगार के विभिन्न अवसर विद्यमान हैं |

coconut-powder

Coconut Powder business Kya Hai:

Coconut powder को Hindi में नारियल का बुरादा भी कह सकते हैं, जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में बता चुके हैं इसका उपयोग विभिन्न पकवानों में स्वाद की मात्रा बढ़ाने और मिठाई, बिस्कुट, टोफियाँ इत्यादि बनाने में भी किया जाता है | इसलिए Coconut powder business से हमारा अभिप्राय Kamai करने की उस प्रक्रिया से है जब कोई उद्यमी सूखे नारियलों से उनका बुरादा अर्थात पाउडर निकालकर उन्हें बेचकर अपनी कमाई कर रहा होता है |

Market Potential in Coconut Powder Business:

बड़े पैमाने पर उपभोग की वस्तु होने के कारण Coconut powder business के लिए India में सकारात्मक Market के आसार मौजूद हैं | जैसा की हमने बताया India में अभी Coconut Powder मिठाई बनाने वाली कंपनियों एवं बिस्कुट उद्योगों द्वारा उपयोग में लाया जाता है | भारत के कुछ दक्षिणी राज्यों में Coconut का उपयोग Breakfast, Lunch, Dinner तीनो समय के भोजन में किया जाता है | वही उत्तरी राज्यों में भी नारियल की चटनी इत्यादि काफी पसंद की जाती है | और लोग किसी स्वादिष्ट पकवान में भी मसाले के तौर पर नारियल पेस्ट का उपयोग करते हैं | अब यदि लोगों की आदत में बदलाव होता है तो वे Coconut paste की जगह Coconut Powder का भी इस्तेमाल कर सकते हैं | जिन क्षेत्रों, विशेष तौर पर उत्तरी राज्यों जहाँ नारियल की पैदावार नहीं होती है Coconut Powder business के लिए ऐसे क्षेत्र भावी बाज़ार के रूप में नज़र आ सकते हैं | वर्तमान में India में खाने की आदतों और वस्तुओं में बड़ी तीव्र गति से बदलाव हो रहे हैं, और हर दिन बाज़ार में नए नए प्रकार की खाद्य वस्तुएं आ रही हैं, चूँकि coconut powder एक स्वादिष्ट पदार्थ है, इसलिए हो सकता है की कोई ऐसी खाद्य वस्तु जो आने वाले समय में Popular हो जाय, उसमे भी Coconut Powder को उपयोग में लाया जा सकता है |

Registration and License:

चूँकि उद्यमी ऐसा बिज़नेस करने वाला है जिसमे उसे एक Brand Name की आवश्यकता हो सकती है | इसलिए उद्यमी को Coconut Powder business start करने के लिए Registrar of companies में भिन्न भिन्न बिज़नेस Entities  में से किसी एक का Selection करके Registration करवाना होगा Starting में Proprietorship के अंतर्गत अपने बिज़नेस को Register किया जा सकता है | इसके बाद PAN Card एवं Current account open किया जा सकता है |  Coconut Powder business खाद्य पदार्थ से जुडा हुआ व्यवपार है इसलिए FSSAI से License लेना अनिवार्य है इसके बाद State Pollution Department से No Objection Certificate की भी आवश्यकता हो सकती है | इसके अलावा स्थानीय नियमों के लिए उद्यमी जिला उद्योग केंद्र  एवं नगर निगम से भी संपर्क कर सकता है |

Required Machinery equipment and raw Materials:

चूँकि यह खाद्य पदार्थ से जुड़ा हुआ business है, इसलिए इसको सफलतापूर्वक करने के लिए भिन्न भिन्न प्रकार की Machinery equipment चाहिए होती हैं | यहाँ तक की Quality Standard Maintain रखने के लिए उद्यमी को Lab Equipment की भी आवश्यकता हो सकती है |  इस Business में उपयोग में लायी जाने वाली प्रमुख मशीनरी की लिस्ट इस प्रकार है |

  • कैबिनेट की आकृति वाला गरम हवा फेंकने वाला ड्रायर ब्लोअर मोटर एवं अन्य उपकरणों सहित (Cabinet type hot air drier with blower, motor and other accessories).
  • कोकोनट का पाउडर बनाने वाली मशीन (Disintegrator 12″ size with 10HP motor and accessories )
  • वाइब्रेटर शिफ्टिंग मशीन छलनी के साथ (Vibratory sifting machine fitted with GI wire mesh and 2 Hp motor)
  • एल्युमिनियम ट्रे (Aluminum Trays 10 nos )
  • Platform weighing Balance
  • पॉलिथीन का मुहं बंद करने वाली मशीन (Polythene sealing machine 2 nos)
  • अन्य उपकरण जैसे स्क्रैप चाकू, ट्रोली इत्यादि (Other misc items like scrapping knives, trolleys etc )
  • काम करने वाली मेज (working tables )
  • लैब में जांचने के उपकरण (Lab testing equipment)
  • जरुरी ऑफिस फर्नीचर (Essential Office furniture)

Raw Materials:

  • छिलका सहित नारियल (coconut with husk)
  • पॉलिथीन पन्नियाँ (Polythene bags)
  • प्लाईवुड बक्से (Plywood Boxes)
  • लेबल, गोंद एवं अन्य पैकेजिंग का सामान (Labels, gums and other packing aids)

Coconut Powder Manufacturing Process in Hindi:

Coconut Powder Manufacturing Process में सबसे पहला Step अच्छे से नारियलो को अलग करना है, अर्थात अच्छे नारियलों का चुनाव करना | उत्पादित होने वाली Coconut Powder की गुणवत्ता उसको बनाने में उपयोग में लाये जाने वाले नारियल पर निर्भर करती है | पूर्ण रूप से परिपक्व अर्थात लगभग 1 साल उम्र का नारियल Coconut powder बनाने में उपयोग में लाया जाना चाहिए | Coconut Husk के साथ ही पूर्ण रूप से परिपक्व नारियलों को एक महीने तक Store किया जाता है, ताकि नारियल की गुठली (Kernel) के अन्दर का पानी इस समयकाल में अवशोषित हो जाय | यह प्रक्रिया नारियल को उसके खोल की दीवारों (Shell Walls) से भी अलग करने में मदद करती है | उसके बाद नारियल की Shell wall को हटा दिया जाता है | उसके बाद भूरे रंग के नारियल के उपरी भाग को छिलकर निकाल दिया जाता है, इस प्रक्रिया में पूरे नारियल के लगभग 10-15% भाग को छिला जाता है | इस  छिलके के कर्कट को सुखाकर बाद में अच्छी तरह दबा लिया जाता है ताकि इससे नारियल तेल निकल सके जिसे सामान्य तौर पर साबुन बनाने के उपयोग में भी लाया जाता है | खोल और  छिलका उतारे हुए नारियल को अनेक भागों में काट लिया जाता है और धोकर उसे विभिन्न Coconut powder Grades में विघटित कर लिया जाता है | इसके बाद Coconut Powder को विभिन्न Trays में समान रूप से फैलाकर drying chamber में सूखाने के लिए डाल दिया जाता है | इस प्रक्रिया को करते वक्त Drying Chamber का तापमान लगभग 180O F  होता है और Coconut Powder में एकरूपता लाने के लिए बीच बीच में हिलाया जाता है | Drying Process में विशेष सावधानियां अपनाने की आवश्यकता पड़ती है | जब Coconut powder सूखा और ठंडा हो जाता है, उसके बाद इसे Vibratory screen जिसमे अलग अलग साइज़ की छलनी लगी होती हैं की तरफ पास कराया जाता है | छाने गए Coconut powder को जलरोधक, तेल रोधक, नमी रोधक पॉलिथीन में पैक कर 25 किलो तक की क्षमता वाले Plywood Boxes में डाला जाता है |  Coconut Powder business start कर चूका उद्यमी चाहे तो 250, 500 gms के आधार पर भी इनकी पैकिंग कर सकता है | Coconut powder की Manufacturing process में Coconut से जुड़े अन्य सह उत्पाद जैसे Coconut Shell, Coconut Husk, छिलका इत्यादि भी काम आने वाली वस्तुएं हैं, लगभग 1000 नारियल से 100 किलो coconut powder का निर्माण किया जा सकता है |

The following two tabs change content below.
मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Comments

  1. By kavita

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


*