Hair Conditioner Making Business

Hair Conditioner Making Business

Hair Conditioner से हमारा आशय एक ऐसे द्रव से है जिसे बालों पर शैम्पू लगाने के बाद लगाया जाता है | हालांकि Hair conditioner को अकेले एवं अन्य सौन्दर्य प्रसाधनो जैसे हेयर शैम्पू, हेयर डाई इत्यादि के साथ उपयोग में लाया जाता है | इसके उपयोग का मकसद बालों में कंडीशनिंग वैल्यू जैसे कंघी करने में आसान बनाना, बालों में चमक इत्यादि लाने के लिए उपयोग में लाया जाता है | इसलिए वर्तमान में इसका उपयोग महिलाओं एवं पुरुषों दोनों के द्वारा किया जाता है लेकिन पुरुषों की तुलना में महिलाओं द्वारा ही इसका उपयोग अधिक मात्रा में किया जाता है | बालों पर Hair Conditioner के उपयोग करने के बहुत सारे फायदे होते हैं यही कारण है की हेयर केयर प्रोडक्ट में यह उत्पाद एक महत्वपूर्ण उत्पाद है | यह बालों को मुलायम, चिकने आकर्षक एवं स्वस्थ बनाने में मदद करता है |

Hair-Conditioner-Making Business

Hair Conditioner Making Business Kya hai:

वर्तमान समय में जिस प्रकार बालों पर लगाने वाले शैम्पू काफी प्रचलित हैं ठीक उसी प्रकार बालों को और अधिक मुलायम, आकर्षक स्वस्थ्य एवं सुन्दर बनाने में Hair Conditioner भी काफी प्रचलित हैं | ऐसे लोग जिन्हें बालों की अनेक समस्याएं होती हैं वे भी और जिन्हें बालों सम्बन्धी कोई समस्या नहीं होती वे भी Hair Conditioner का उपयोग शैम्पू के बाद या अकेले करते हैं | जहाँ लोग पहले अपने बालों की देखभाल करने के लिए जड़ी बूटियों का इस्तेमाल उनके कच्चे स्वरूप में किया करते थे वर्तमान में एक सुव्यवस्थित स्वरूप में बालों की देखभाल करने के उत्पाद बाज़ार में उपलब्ध हैं, उन्ही प्रोडक्ट की लिस्ट में एक उत्पाद यह Hair Conditioner होता है | हालांकि माना यह गया है की सौन्दर्य प्रसाधनो का उपयोग अधिकतर युवाओं चाहे वह पुरुष हों या महिलाओं द्वारा किया जाता है | किसी उद्यमी द्वारा Hair Conditioner का निर्माण जब अपनी कमाई करने हेतु व्यवसायिक तौर पर किया जाता है तो उसके द्वारा किया जाने वाला यह बिज़नेस Hair Conditioner Making Business कहलाता है |

Market Potential in Hair Conditioner:

बालों का किसी भी महिला एवं पुरुष के व्यक्तित्व विकास में अहम् योगदान रहता है बहुत सारे लोगों द्वारा बालों को उम्र का प्रतीक माना जाता है कहने का आशय यह है की यदि व्यक्ति उम्रदराज भी है लेकिन उसके बाल पूरे एवं घने हैं तो सामने वाला उसकी उम्र का अंदाज़ा लगाने में नाकामयाब साबित हो सकता है क्योंकि बालों की बदौलत हो सकता है की वह व्यक्ति अपनी उम्र से कम उम्र का दिखने लगे | इसके विपरीत यदि बालों का रखरखाव, देखभाल ढंग से न की गई हो तो हो सकता है बाल उड़ जाएँ, रूखे हो जाएँ, सफ़ेद हो जाएँ इत्यादि इनसे व्यक्ति कम उम्र में भी अधेड़ दिखने लगता है | यही कारण है की वर्तमान में लोग अपने स्वास्थ्य एवं सुन्दरता के लिए काफी जागरूक हो गए हैं और वे बाज़ार में उपलब्ध हेयर केयर प्रोडक्ट को उपयोग में लाने लगे हैं | इनमे मुख्य रूप से शहरों में निवासित महिलाएं हैं जो अपने बालों को सुन्दर, आकर्षक, चिकने एवं मुलायम बनाने के लिए जागरूक भी हैं और समय समय पर हर संभव प्रयत्न भी करती रहती हैं | इसके अलावा पुरुषों में भी शहरी क्षेत्र में निवासित कार्यकारी पुरुष जो नौजवान है वे भी अपने बालों के रखरखाव में काफी ज्यादा ध्यान देते हैं | यद्यपि यह भी सत्य है की इस प्रकार के उत्पाद बनाने में पहले से बहुत बड़े बड़े अन्तराष्ट्रीय ब्रांड भारत की मार्किट में जगह बनाये हुए हैं लेकिन इस प्रकार के उत्पादों में ग्राहकों द्वारा ब्रांड से ज्यादा उनको उसके उपयोग का कितना फायदा हुआ अगली बिक्री इसी बात पर निर्भर करती है इसलिए यदि एक ऐसा गुणवत्तायुक्त Hair Conditioner जो वास्तव में लोगों की अपेक्षाओं को पूर्ण कर पाने में सफल हो के लिए इंडिया में ही नहीं अन्तराष्ट्रीय स्तर पर भी अवसर विद्यमान हैं |

Required Machinery and Raw Materials:

  • Stainless Steel Mixing Vessel
  • Stainless Steel Manufacturing tank with stirrer
  • Volumetric Filling & Sealing Machine
  • पैकेजिंग टेबल
  • लेबलिंग मशीन
  • Erection and Electrification

प्रयुक्त होने वाला Raw Materials की लिस्ट कुछ इस प्रकार से है |

  • Ceto-Steryl Alcohol
  • Liquid Paraffin
  • Methyl Paraben
  • Alovera Juice
  • परफ्यूम
  • रंग
  • प्लास्टिक बोतल
  • प्रिंटेड लेबल
  • Packing materials
  • Other Misc. Chemicals

Manufacturing process of hair Conditioner:

यद्यपि Hair conditioner Manufacturing process के लिए विभिन्न प्रकार के कच्चे माल एवं रसायनों को कितनी मात्रा में मिलाया जाय इसकी पूर्ण जानकारी होनी चाहिए अन्यथा हो सकता है की बनने वाला Hair Conditioner मानकों की दृष्टि से स्वीकार न किया जाय | केवल जानकारी हेतु बता दें की Hair Conditioner Manufacturing process  को तीन भागों में विभाजित किया जा सकता है | पहली स्थिति में मोम एवं तैलीय रसायनों को एक दूसरे में अच्छी तरह मिश्रित कर लिया जाता है दूसरे स्टेज में में पानी आधारित रसायनों को अलग से एक साथ 40-50° C में गरम कर लिया जाता है | तीसरी स्टेज में उपर्युक्त दोनों तैयार किये गए मिश्रण को एक दूसरे में मिला दिया जाता है और इस मिश्रण में खुशबू एवं emulsifier भी मिला दिए जाते हैं और लगभग एक घंटे तक इस मिश्रण को 60° C में गरम कर लिया जाता है | ग्राम होने के पश्चात् जो अवशेष शेष बचता है उसे ठंडा होने के लिए छोड़ दिया जाता है और बाद में बोतल में भरकर मार्किट में बेचकर कमाई की जा सकती है | यद्यपि Hair Conditioner को लोगों द्वारा बालों के स्वास्थ्य की दृष्टि से सिर या बालों पर उपयोग में लाया जाता है इसलिए स्वास्थ्य समबन्धि उत्पादों का निर्माण करने के लिए अन्य लाइसेंस एवं पंजीकरणो के अलावा Drug License की भी आवश्यकता हो सकती है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*