Jan Aushadhi Scheme अर्थात Yojana In Hindi

Jan Aushadhi Scheme अर्थात Yojana In Hindi

Jan Aushadhi Scheme ya Yojana Kya Hai:

Jan Aushadhi Scheme अर्थात Yojana भारत सरकार के फार्मास्यूटिकल्स विभाग द्वारा संचालित एक अभियान है, जिसका लक्ष्य भारतवर्ष में उच्च गुणवत्ता वाली साधारण अर्थात Generic दवाइयों को उचित या सस्ते दामो पर जनता को उपलब्ध कराना है | पूरे भारतवर्ष में अभी लगभग 85 से ज्यादा जन औषधि स्टोरों का संचालन किया जा रहा है | जिनमे लगभग 361 से अधिक प्रकार की दवाइयाँ उपलब्ध हैं | हालाँकि Jan Aushadhi Scheme ya Yojana के माध्यम से सरकार का लक्ष्य कम से कम एक Jan Aushadhi Store हर जिले में अर्थात लगभग 630 जिलो में स्थापित करने का है | आने वाले वित्त वर्ष 2016-17 में देश में लगभग 3000 Jan Aushadhi Store खोलने का लक्ष्य रखा गया है |

Generic Medicine Arthat Sadharan Aushadhi Kya Hai:

Jan-AJan-Aushadhi-Scheme-Yojnaushadhi-Scheme-Yojna

Jan-Aushadhi-Scheme-Yojna

 Generic Medicine या साधारण औषधि से हमारा तात्पर्य बिना ब्रांड की औषधि से है | हालाँकि चिकत्सकीय मूल्य के अनुसार ये दवाइयाँ भी ब्रांडेड दवाइयों की तरह ही प्रभावी और सुरक्षित होती हैं | लेकिन इनकी कीमत ब्रांडेड दवाइयों के मुकाबले बहुत सस्ती होती हैं | इन दवाइयों अर्थात औषधि की खरीद फरोख्त पर BPPI ((Bureau of Pharma PSUs of India) का नियंत्रण रहता है | BPPI की स्थापना भारत सरकार के फार्मास्यूटिकल्स विभाग ने की है |

Aushadhi Ki Gunwatta Ityadi Ka Dhyan Kaise Rakha Jata Hai:

Jan Aushadhi Scheme अर्थात Yojana के अंतर्गत औषधि को Jan Aushadhi Store  में भेजने से पहले NABAL, Laboratories  में लाके तय मानको को मद्देनज़र रखकर उनका निरिक्षण किया जाता है | उसके बाद दवाइयों को Jan Aushadhi Store में बेचने के लिए भेजा जाता है |

Generic Medicine दवाइयों का फायदा यह है की आपको अच्छी प्रभावी औषधि,  ब्रांडेड कम्पनियो के मुकाबले काफी सस्ती दरों में मिल जाती है |

Jan Aushadhi Store से दवाई लेने के लिए क्या हमेशा डॉक्टर की पर्ची की जरुरत होगी?

बिना डॉक्टर की सलाह पर बेचीं जाने वाली दवाइयों के लिए किसी प्रकार की पर्ची की जरुरत नहीं होगी | हालाँकि नियमित दवाओं के लिए डॉक्टर की पर्ची की जरुरत होगी |

अभी जन औषधि स्टोर में सिर्फ केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों अर्थात (CPSUs) द्वारा उत्पादित दवाये ही भेजी जा रही है | लेकिन यदि इन उपकर्मो में सारी 361 औषधियों का उत्पादन नहीं हो पाता है तो निजी क्षेत्र से भी Jan Aushadhi Scheme अर्थात Yojana के अंतर्गत दवाइया Jan Aushadhi Store में सारे तय मानको का निरक्षण करने के पश्चात भेजी जा रही हैं |

Jan Aushadhi Store Kaun Khol Sakta Hai: 

  • Jan Aushadhi Scheme अर्थात Yojana के अंतर्गत Jan Aushadhi Store कोई भी गैर सरकारी संगठन अर्थात NGO/ राज्य द्वारा नामित अधिकृत सहकारी समिति इस Yojna के अंतर्गत Jan Aushadhi Store खोल सकते हैं | ऐसे समिति/संगठनो को राज्य द्वारा सरकारी हॉस्पिटल में Jan Aushadhi Store खोलने के लिए मुफ्त जगह दी जाएगी |
  • .कोई भी गैर सरकारी संगठन/संस्था/ट्रस्ट/स्व स्वास्थ्य समूह जिन्हे कम से कम 3 साल का कल्याण गतिविधियों का अनुभव हो, Jan Aushadhi Store खोलने के लिए जगह हो, और उनमे स्टोर खोलने की वित्तीय क्षमता हो अपना Jan Aushadhi Store खोल सकते हैं |
  • .कोई भी ब्यक्ति फार्मासिस्ट या चिकित्सक जिसके पास जगह और वित्तीय क्षमता हो जन औषधि स्टोर के लिए आवेदन कर सकता है |

Jan Aushadhi Scheme अर्थात Yojana के अंतर्गत राज्य सरकार द्वारा Jan Aushadhi Store  के लिए नामित एजेंसी या व्यक्ति को निम्न प्रकार की सहायता BPPI द्वारा दी जाएगी |

    • दवाइयों की छपी हुई कीमत में से 16% का मार्जिन |
    • रूपये दो लाख तक की One Time वित्तीय सहायता |
    • रूपये 50000 कंप्यूटर और अन्य सामग्री खरीदने के लिए |
    • जन औषधि स्टोर को 12 महीनो के लिए उसकी सेल का  10% अतिरिक्त Incentive दिया जायेगा | लेकिन यह अधिक से अधिक 10000 रूपये हर महीने होगा |
    • पूर्वोत्तर राज्यों/ नक्शल प्रभावित इलाको/ आदिवासी इलाको इत्यादि में यह Incentive 15% और इंसेंटिव राशि 15000 हर महीने होगी |

Jan aushadhi Store kholne ke liye Jarurate:

    • आवेदनकर्ता कोई बेरोजगार चिकित्सक या फर्मासिस्ट या किसी फार्मासिस्ट कंपनी में रोजगारित चिकित्सक या फार्मासिस्ट होना चाहिए |
    • आवेदनकर्ता का पंजीकरण नंबर आवेदन करते समय फॉर्म में भरा जायेगा |
    • आवेदनकर्ता को आवेदन करते समय अपने बैंक के खाते की स्टेटमेंट दिखानी पड़ेगी | जिस खाते का आवेदनकर्ता ने पिछले तीन सालो से रख रखाव किया हो |
    • आवेदनकर्ता के पास किराये में ली हुई या फिर अपनी जमीन होना अनिवार्य है जिसमे वह Jan Aushadhi Store खोलेगा |
    • जमीन का क्षेत्रफल कम से कम 120 वर्ग फीट होना अनिवार्य है |
    • आवेदनकर्ता के पास चालू स्तिथि में TIN अर्थात (Tax Identification Number ) होना चाहिए |
    • Jan Aushadhi Scheme अर्थात Yojana के अंतर्गत Jan Aushadhi Store शुरू करने की प्रक्रिया :

      Jan Aushadhi Scheme अर्थात Yojana के अंतर्गत BPPI (Bureau Of Pharma PSUs of India) Jan Aushadhi Store खोलने के लिए राज्य को दिशानिर्देश जारी करेगा | और उसी के अनुसार राज्य को Jan Aushadhi Store Yojna के अंतर्गत स्टोर खोलने के लिए सुविधाए प्रदान करेगा | Jan Aushadhi Store Yojna में स्टोर के लिए जगह का प्रबंध राज्य के स्वास्थ्य विभाग द्वारा किया जायेगा | कोशिश है की किसी सरकारी अस्पताल में जहाँ से मरीजो का निकलने का रास्ता या OPD के नजदीक Jan Aushadhi Store के लिए जगह मुहैया कराने को प्राथमिकता दी जाएगी | और राज्य सरकार द्वारा सरकारी अस्पतालों में उपलब्ध डॉक्टरो को Generic दवाइयां Prescribe करने के लिए निर्देशित किया जायेगा | ताकि लोगो को सस्ते दामो में दवाइयां उपलब्ध हो सकें |

      The following two tabs change content below.
      मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Comments

  1. By arthil

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


*