National Award Scheme for Laghu Udyog

National Award Scheme for Laghu Udyog

सूक्ष्म, Laghu, मध्यम Udyogo को प्रोत्साहित करने के लिए, सूक्ष्म, Laghu एवं मध्यम मंत्रालय ने National Award Scheme की नीव रखी हुई है | पिछले पांच दशको में सूक्ष्म, Laghu, मध्यम Udyogo में विशाल बढ़ोत्तरी हुई है | Laghu Udyogo की संख्या में ही नहीं अपितु, उत्पाद की गुणवत्ता, उत्पादित वस्तुओं का निर्यात, नवीनीकरण और उत्पाद के विकास में उपयोग होने वाली आयातित वस्तुओं में भी अच्छी खासी बढ़ोत्तरी और सुधार हुआ है | जो सामान पहले विदेशो से आयात किया जाता था, Laghu Udyogo के माध्यम से अब उस सामान को देश में ही बनाया जाने लगा | हालाँकि कुछ पेज पुर्जे अभी भी विदेशो से आयात किये जाते हैं | लेकिन Laghu Udyogo से जुड़े व्यवसायी हर संभव कोशिश में लगे रहते हैं | की उन्हें कम से कम सामान आयात करना पड़े | इसके लिए Entrepreneurs’ जरुरी Training भी समय समय पर लेते रहते हैं | इन्ही उद्यमियों को प्रोत्साहित करने के लिए भारत सरकार के सूक्ष्म, लघु, मध्यम मंत्रालय ने National Award Scheme अर्थात Yojana की संरचना की है |

National Award Scheme Ka Uddeshy:

इस National Award Scheme Yojana का उद्देश्य भारत में स्थापित Laghu Udyogo और उनसे जुड़े हुए उद्यमियों को प्रोत्साहित करना है | इसके लिए मंत्रालय प्रति वर्ष चयनित Laghu Udyogo और चयनित उद्यमियों को National Award से सम्मानित करता है |

National Award Scheme ke liye Yogyta:

यह Award सिर्फ चयनित सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम वर्ग के उद्योगों और उनसे जुड़े हुए उद्यमियों को प्रत्येक वर्ष दिया जायेगा |

Business Unit का SSI Registration (Small Scale Industry) registration या सूक्ष्म, लघु, मध्यम उद्योग के Act 2006 के अंतर्गत Entrepreneurship Memorandum फाइल किया जाना जरुरी है |
Business Unit arthat MSME ka पिछले तीन वर्षो से सेवा का देना अनिवार्य है | अर्थात दो वर्ष पुरानी यूनिट या फिर वह उन यूनिट जिसने पिछले तीन वर्षो में बीच में काम बंद कर दिया हो इस योजना का लाभ लेने के लिए अयोग्य मानी जाएँगी |

Award Dene ke Liye Laghu Udyogo ka Mulyankan Kaise Kiya Jayega:

National Award scheme के अंतर्गत MSME और उद्यमियों की चयन प्रक्रिया के दौरान निम्न विषयों को ध्यान में रखा जायेगा |

  1. चयन प्रक्रिया के दौरान सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम वर्ग के उद्योगों की विकास दर का विश्लेषण किया जायेगा, जो निम्न बिन्दुओ पर केन्द्रित होगी |
  • MSME में निवेश का विश्लेषण |
  • MSME Unit की रोजगार देने की क्षमता |
  • MSME Unit की उत्पादन क्षमता |
  • और MSME Unit के Profit का विश्लेषण |
  1. Business Unit की Technology में रुचि, और Technology का प्रयोग |
  2. MSME Unit की निर्यात करने की क्षमता |
  3. क्या MSME Unit द्वारा उतापादित किया जाने वाला उत्पाद कुछ अलग है |
  4. क्या MSME Unit ने अपने उत्पाद और सेवा को मापने के लिए मानक तय किये हैं | या फिर वह सूक्ष्म, लघु एवं माध्यम उद्योग विकास मंत्रालय द्वारा जारी किये गए मानकों में फिट बैठती है |
  5. क्या MSME unit में Inventory Control Management system प्रयोग किया जाता है | अगर किया जाता है तो किस प्रकार से MSME Unit अपनी Inventory पर नियंत्रण रखती है |
  6. क्या MSME Unit द्वारा अपने उत्पाद को बाज़ार में उतारने से पहले, खुद की ही यूनिट में Test किया जाता है | या फिर किसी प्रकार की Online Testing की जाती है |
  7. गुणवत्ता में सुधार के लिए MSME unit ने कौन से मानक तय किये हैं |
  8. क्या MSME Unit अपने ग्राहकों को अच्छे ढंग से अपनी सेवा दे पा रही है |
  9. क्या MSME unit की संरचना पर्यावरण नियंत्रण विभाग के तय मानकों के आधार पर हुई है | या MSME UNIT पर्यावरण को सुरक्षित रखने हेतु, अपनी तरफ से कुछ Extra Efforts करती है |
  10. क्या MEME unit कर्मचारी कल्याण मानकों पर खरी उतरती है |
  11. क्या MSME Unit ISO – 9000 series या इसके ही जैसे किसी गुणवत्ता प्रक्रिया का अनुसरण करती है |
  12. सूक्ष्म, Laghu एवं मध्यम वर्ग के उद्योग के नेतृत्व की योग्यता और क्षमता का विश्लेषण |
  13. अपने व्यापार सम्बन्धी कोई रणनीति तय करने का विश्लेषण भी National Award Scheme के अंतर्गत किया जायेगा |

National Award Scheme me Award.

National Awards Scheme के अंतर्गत दिए जाने वाले Award की Details निम्नलिखित है |

Sukshm , Laghu Udyog ke liye “Outstanding Entrepreneurship” ka National Award.

  1. First National Award : प्रथम National award के अंतर्गत, 1 लाख रूपये Cash Prize , एक Trophy और एक Certificate Award के रूप में दिया जायेगा |
  2. Second National Award: द्वीतीय National Award के रूप में रूपये 75000 Cash Prize, एक Trophy और एक Certificate Award के रूप में दिया जायेगा |
  3. Third National Award: तृतीय National Award के रूप में रूपये 50000 Cash Prize, एक Trophy और एक Certificate Award के रूप में दिया जायेगा |
  4. Special National Award महिला उद्यमी के लिए :

रूपये 1 लाख का Cash Prize, एक Trophy और एक Certificate चयनित महिला उद्यमी को दिया जायेगा |

  1. Special National Award अनूसूचित जाति/जनजाति के उद्यमी के लिए

इसमें भी चयनित उद्यमी को रूपये 1 लाख का Cash Prize, एक Trophy और एक Certificate  दिया जायेगा |

  1. Special National Award पूर्वोत्तर क्षेत्र के उद्यमियों के लिए

चयनित पूर्वोत्तर क्षेत्र के उद्यमियों को भी रूपये 1 लाख का Cash Prize, एक Trophy और एक Certificate , National Award के रूप में दिया जायेगा |

 

Medium Enterprises ke liye “Outstanding Entrepreneurship” ka National Award.

Madhyam Udyogo के अंतर्गत प्रथम और द्वितीय National Award ही वितरित किये जायेंगे | हालाँकि चयन प्रक्रिया के दौरान जिन उद्योगों की Scoring 80% से अधिक, और पूर्वोत्तर क्षेत्रों के लिए यह सीमा 50% है | को भी National Award से सम्मानित किया जायेगा |

  1. First National Award: रूपये 1 लाख Cash Prize, एक Trophy एक
  2. Second National Award: रूपये 75 हज़ार Cash Prize, एक Trophy एक

Special Recognition Award:

जिनका स्कोर 80% से अधिक और पूर्वोत्तर क्षेत्रो में 50% से अधिक है | उनको रूपये 20000 Cash Prize, एक Trophy एक certificate National award के रूप में दिया जायेगा |

और ये सारे Award एक सार्वजनिक समारोह का आयोजन करके उसी समारोह में दिए जायेंगे |

National Award Scheme ke liye aawedan kaise Karen:

  1. योग्य उद्यम से जुड़े उद्यमी को National Award Form भरकर इसकी डुप्लीकेट कॉपी राज्य के Sukshm, Laghu ewm Madhyam Vibhag के Director को भेजनी होती है |
  2. राज्य स्तर पर State Selection Committee MSME का चयन करेगी |
  3. उस आवेदन को National Level Selection committee को भेजने से पहले, MSME में कार्यरत Technical Group उसकी छानबीन करेगा |
  4. National Award के लिए General Category के लिए Qualifying Marks का प्रतिशत 60 और अनूसूचित जाति/ जनजाति, पूर्वोत्तर क्षेत्रो के लिए यह प्रतिशत 50 तय किया गया है |

Source : विकास आयुक्त सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग |

The following two tabs change content below.
मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


*