Photocopy And Book Binding Business Kaise Start kare.

Photocopy And Book Binding Business Kaise Start kare.

Photocopy and book binding business ऐसी जगह पर लाभकारी हो सकता है, जहाँ शिक्षण एवं अन्य संस्थान जैसे कोर्ट, तहसील, इत्यादि विद्यमान हों | हालांकि निजी क्षेत्र के कार्यालयों में अब अधिकतर रिकॉर्ड को डिजिटल तरीको जैसे Storage Devices, Computers इत्यादि में Save करके रखा जाने लगा है | लेकिन फिर भी Audit Purpose हेतु सभी कंपनियां फाइलिंग करती ही करती हैं | इसके अलावा मनुष्य को विभिन्न कार्यों को निपटाने हेतु अपने पास उपलब्ध दस्तावेजों की फोटोकॉपी की आवश्यकता होती है | कहने का अभिप्राय यह है की व्यक्तिगत उपयोग में होने वाली फोटोकॉपी इन्टरनेट के बढ़ते उपयोग से थोड़ी बहुत प्रभावित अवश्य हुई होगी लेकिन कार्यालय समबन्धि आवश्यकताएं ज्यों के त्यों है | इसलिए कहा जा सकता है की किसी ऐसे क्षेत्र जहाँ शिक्षण संस्थानों की बहुतायत, या फिर सचिवालय, कोर्ट, तहसील इत्यादि के बाहर Photocopy and book binding business करना लाभाकरी हो सकता है | यह Business एक ऐसा Business है जिसे कम पढ़ा लिखा व्यक्ति और बहुत कम खर्च करके बिज़नेस करने की इच्छा रखने वाला व्यक्ति भी आसानी से कर सकता है |

photocopy-and-book-binding-business

Photocopy and book binding business Kya Hai:

यद्यपि Photocopy business की एक अलग और Binding एक अलग प्रक्रिया है, लेकिन हमने इन दोनों बिज़नेस का मिलान इसलिए किया क्योंकि लोगों में एक अवधारणा है की यदि उद्यमी Photocopy business कर रहा है तो शायद Book binding भी करता होगा और जो आजकल बाज़ार के प्रचलन को देखते हुए सही भी है | खैर Photocopy business से हमारा अभिप्राय कमाई करने की उस प्रक्रिया से है जिसमे व्यक्ति फोटोकॉपी मशीन की मदद से अपने ग्राहकों को किसी दस्तावेज की उसकी आवश्यकतानुसार कापियां बनाकर देता है | और Book Binding business से हमारा तात्पर्य उस प्रक्रिया से है जिसमे उद्यमी ग्राहक के पास उपलब्ध ढेर सारे Loose Pages को उसकी आवश्यकता के अनुरूप एकत्रित करके अर्थात Book बनाकर देता है | इसके अलावा Photocopy and book binding business से हमारा अभिप्राय उस प्रक्रिया से है जिसमे उद्यमी दोनों काम करके अपनी कमाई कर रहा होता है |

How to Start Photocopy and Book Binding Business in Hindi:

Photocopy and Book Binding Business start करने के लिए उद्यमी को फोटोकॉपी, बाइंडिंग मशीन और खाली दुकान की आवश्यकता होती है | लेकिन यदि उद्यमी चाहता है की लाइट जाने का प्रभाव उसके बिज़नेस पर न पड़े तो उद्यमी को एक जनरेटर भी खरीदना पड़ सकता है | जिससे वह अपने ग्राहकों को लगातार सर्विस दे सके, हालाँकि इस प्रकार का बिज़नेस करने के लिए किसी प्रकार की लाइसेंस की आवश्यकता नहीं होती है, और यह बहुत कम पैसे के साथ इसलिए शुरू किया जा सकता है क्योंकि  Photocopy and Book Binding Business के लिए बहुत कम जगह की आवश्यकता होती है | यद्यपि उद्यमी चाहे तो किसी 7 by 7 कमरे से भी यह बिज़नेस स्टार्ट कर सकता है, तो आइये जानते हैं Step by Step Photocopy and Book Binding Business start करने के बारे में |

  1. Research within area on Demand:

जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में बता चुके हैं की यह बिज़नेस ऐसी जगह पर स्टार्ट करें जहाँ इसके चलने की अधिक से अधिक संभावना हो अर्थात किसी स्कूल, कॉलेज, कोर्ट, तहसील इत्यादि के बाहर यह बिज़नेस स्टार्ट करना Profitable हो सकता है | स्कूल, कॉलेज, कोर्ट, तहसील इत्यादि के बाहर जगह मिल जाने पर भी उद्यमी को चाहिए की वह यह पता लगाने की कोशिश करे की स्कूल या कॉलेज में लगभग कितने विद्यार्थी आते होंगे यही आंकड़ा कोर्ट और तहसील के बारे में भी पता किया जा सकता है | इसके अलावा साथ में मुआयना करे की क्या पहले से उस एरिया में इस तरह की कोई दूकान है यदि है तो क्या वह वर्तमान उद्यमी उस एरिया की मांग को पूरा कर पाने में समर्थ है | यदि है तो आप ऐसा लोगों को क्या देने वाले है की लोग उसको छोड़कर आपकी दुकान पर फोटोकॉपी कराने आयें, यदि नहीं तो फिर हो सकता है की उद्यमी को ग्राहक अपनी दुकान तक लाने के लिए कुछ ज्यादा मेहनत न करनी पड़े | उद्यमी को एक बात का बेहद ध्यान रखना चाहिए की लोगों के पास समय की कमी है इसलिए ग्राहकों का काम जल्दी करना भी उद्यमी के बिज़नेस के लिए फायदेमंद हो सकता है |

  1. Rent a Shop in Selected area:

अब चूँकि उद्यमी ने अपने बिज़नेस की मांग को लेकर Research कर ली है, जिससे उसने अपने दिमाग में अनुमान लगा लिया होगा की उस सम्बंधित क्षेत्र में दुकान लेने पर उसकी महीने में कितनी Kamai हो जाएगी | यदि सारी चीजें उसे अपनी आवश्यकतानुसार उपयुक्त लग रही हों तो उद्यमी को चाहिए की वह Photocopy and Book Binding Business start करने के लिए Shop rent पर ले ले | हाँ Shop को Rent पर लेते वक्त Shop owner से Rent Agreement अवश्य करा ले, यह Rent Agreement जहाँ उद्यमी को Rent पर लगने वाले वित्त का Projection करने में मदद करेगा, वही भविष्य में यदि उद्यमी अपने Business को विस्तृत या कोई Registration करवाना चाहता हो तो उस स्थिति में Address proof के तौर पर काम भी करेगा |

  1. Get Quote for Machinery and analysis the investment:

Photocopy and Book Binding Business start करने के लिए अगला Step मशीनरी उपकरण एवं Raw Material हेतु कोटेशन मंगवाना है | उद्यमी को चाहिए की वह किसी अच्छी से फोटोकॉपी मशीन, अच्छी से हमारा मतलब ऐसी मशीन से है जो उद्यमी की व्यवसायिक आवश्यकताओं को पूर्ण करने में सक्षम हो | बाज़ार में विभिन्न कंपनियां जैसे Xerox, Canon, Ricoh इत्यादि की Photocopy machine विद्यमान है, इनकी क्षमता के अनुसार इन मशीनों की कीमत अलग अलग होती है  | इसलिए उद्यमी अपने बजट एवं आवश्यकतानुसार मशीन का चयन करके विभिन्न विक्रेताओं से उस मशीन की कोटेशन मंगवा सकता है | इसके अलावा उद्यमी को Book Binding Machine  की भी कोटेशन मंगवा लेनी चाहिए इसमें एक बात का ध्यान रखना जरुरी हो जाता है की सामन्यतया  A4 Size Paper अधिक प्रचलन में होता है लेकिन कभी कभी A3 Size paper में भी book binding की डिमांड आ सकती है इसलिए मशीन में दोनों विकल्प विद्यमान रहें तो अच्छा है, इसके अलावा Book Binding Machine का चुनाव इस बात पर भी निर्भर करेगा की उद्यमी किस प्रकार की Book binding service अपने ग्राहकों को देना चाह रहा हो, Book Binding में Spiral Binding, Thermal Binding,Glue book binding एवं Rexine binding होती है  | Raw materials की लिस्ट में उद्यमी को  paper Rim, Spiral, Thermal Binding Cover, PVC Binding sheet, Rexine binding cover इत्यादि की आवश्यकता हो सकती है | इसके अलावा व्यक्ति चाहे तो Lamination Machine के लिए quote मंगवाकर अपने ग्राहकों को लेमिनेशन की सर्विस भी मुहैया करा सकता है | कोटेशन या चयनित मशीनों की कीमत जानकर उद्यमी को अपने Photocopy and Book Binding Business  में लगने वाली Investment का अंदाज़ा हो जायेगा, जिसका Analysis करके उद्यमी मशीनरी खरीदने की ओर कदम बढ़ा सकता है  |

यह भी पढ़ें:-

  1. Purchase Machinery and Raw Material:

अब चूँकि उद्यमी को Photocopy and Book Binding Business start करने में लगने वाली Investment का अंदाज़ा हो चूका है, उद्यमी को चाहिए की वह एक बार फिर से चेक करे की कहीं लगने वाली Investment उसके बजट से ज्यादा तो नहीं आ रही है, यदि लगने वाली Investment उद्यमी के बजट से अधिक आ रही है तो वह चयन की गई मशीनरी में फेरबदल कर सकता है | और यदि ज्यादा नहीं आ रही है तो उसको मशीनरी एवं Raw Materials खरीद लेना चाहिए | जहाँ तक अच्छे ढंग से मशीनों से कार्य लेने का सवाल है यह तो उद्यमी को Machine Supplier ही समझा देगा, वैसे User Manual Machine के साथ भी आता है | अब उद्यमी Photocopy and Book Binding Business को शुरू कर सकता है इसमें एक बात और कहना चाहेंगे की ऑफिस इत्यादि भी उद्यमी के आंशिक ग्राहक हो सकते हैं क्योंकि बहुत सारी कंपनिया होती हैं जो अपने ऑडिट किये हुए रिकॉर्ड को Binding कराकर स्टोर करती हैं, और कंपनियों का जो Vendor Source करने का माध्यम है वह है Just Dial इसलिए उद्यमी को चाहिए की Just Dial में भी अपने बिज़नेस को रजिस्टर कराये |

The following two tabs change content below.
मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


*