Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana Ki Hindi Me Jankari

Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana Ki Hindi Me Jankari

PMKVY क्या है

Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana भारतीय नागरिको के लिए परिणाम आधारित अर्थात (Output Based) एक प्रक्षिक्षण योजना है | जिसका लक्ष्य भारतीय नागरिको को उनके दिलचस्पी के मुताबिक कार्यो का प्रशिक्षण देना है | इस योजना को सफल बनाने हेतु भारत सरकार ने एक नए मंत्रालय   कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय (Ministry of Skill Development & Entrepreneurship (MSDE) की रचना की है | वर्तमान में यह योजना MSDE के ही नियंत्रण में कार्यरत है |

Pradhan-Mantri-Kaushal- Vikas-Yojana

Pradhan-Mantri-Kaushal- Vikas-Yojana

 

Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana का उद्देश्य

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PMKVY) का उद्देश्य ऐसे नौजवानो को अपने अन्दर कौशल पैदा करने के लिए प्रोत्साहित करना है | जो दसवी या बारहवी करके पढाई छोड़ चुके हैं |  और ऐसे  लोगो को भी एकत्र करना है | जिनके पास हुनर तो है, लेकिन उस हुनर का प्रमाण पत्र न होने के कारण उन्हें काम ढूंढने और काम पाने में काफी मुसीबतो का सामना करना पड़ता है | और सामान्य लोग वे लोग जिन्हे अभी तक कुछ काम नहीं आता वो इस योजना के साथ जुड़कर अपने आप में कौशल पैदा कर, उस कौशल का प्रमाणपत्र लेकर अपनी आजीविका की तलाश या खुद कर सकते हैं  या फिर प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के अंतर्गत (Mentorship Program) के द्वारा उन्हें काम ढूँढने में सहायता प्रदान की जाएगी |
जो व्यक्ति कौशल विकास योजना के अंतर्गत अपना प्रशिक्षण पूरा कर लेते हैं | उनको प्रमाण पत्र के अलावा पैसे भी इनाम स्वरूप दिए जा सकते हैं |

Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana Ki विशेषताएं:

  1. इस योजना के तहत प्रशिक्षण उद्योग जगत से जुडी राष्ट्रीय निकायों के मानको के आधार पर दिया जायेगा | Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana के तहत यदि कोई तीसरा पक्ष अर्थात प्रशिक्षण देने वाली संस्था इत्यादि सरकार के कौशल विकास अभियान से जुड़ेगी, तो उसका मूल्यांकन अंतराष्ट्रीय मानको के आधार पर किया जायेगा | जिससे प्रशिक्षण लेने वालो को उच्च Industry Driven प्रशिक्षण मिल सके |
  2. प्रक्षिक्षण देने वाली संस्थाओ या एजेंसी को लोगो की जरुरतो अर्थात मांग के हिसाब से लक्ष्य दिया जायेगा | जैसे कौन से काम का प्रशिक्षण कौन से जिले कौन से शहर में देना है इत्यादि |
  3. Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana में केंद्र द्वारा संचालित अभियानों, योजनाओ जैसे Make In India, नेशनल सोलर मिशन, स्वच्छ भारत, डिजिटल इंडिया इत्यादि को ध्यान में रखकर ही व्यक्तियों को प्रशिक्षित किया जायेगा |
  4. इस योजना के अंतर्गत विशेष तौर पर 10th, 12th के बाद स्कूल छोड़ने वाले | और पूर्वोत्तर एवं जम्मू कश्मीर राज्यों के नौजवानो पर विशेष ध्यान दिया जायेगा | क्योकि बेरोजगार युवा गलत व्यक्तियों की संगत में जल्दी आ जाते है |
  5. इस योजना के अंतर्गत ऐसे लोग जो काम तो जानते हैं लेकिन उसका प्रमाण पत्र न होने की वजह से उस काम की उनके पास मान्यता प्राप्त नहीं है, इसलिए वे अनौपचारिक कामो में लग जाते हैं | वे भी अपने हुनर को बढ़ा कर उसका प्रमाणपत्र हासिल कर सकते हैं |
  6. 6.Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana के तहत प्रशिक्षण पूरा करने के बाद दिया जाने वाला पैसो का इनाम अलग अलग प्रशिक्षार्थी पर अलग अलग देय होगा | ज्यादा इनाम निर्माण, कंस्ट्रक्शन, Plumbing के क्षेत्र में प्रशिक्षण लेने वाले प्रशिक्षार्थी को दिए जाने की संभावना है |
  7. लोगो को Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana के बारे में जाग्रत करने के लिए जिलास्तरीय कौशल मेला भी प्रारम्भ किया जायेगा | जिसमे राज्य सरकार और संसद के सदस्यों की सहभागिता होगी | इस योजना को देश की 543 लोकसभा क्षेत्रो तक पहुँचाने और देश में कौशल विकास के लिए एक माहौल बनाने का लक्ष्य रखा गया है |
  8. इस योजना के तहत प्रशिक्षण के पाठयक्रम में सुधार किया जायेगा प्रत्येक प्रशिक्षण लेने वाले प्रशिक्षार्थी को Soft Skill, व्यक्तिगत विकास,साफ़ सफाई के लिए व्यवहार में परिवर्तन, अच्छा काम अर्थात नैतिकता का प्रशिक्षण दिया ही दिया जायेगा |

Training Monitoring Process (प्रशिक्षण पर निगरानी)

  • Sector Skill Council अर्थात एसएससी द्वारा प्रशिक्षण देने वालो को प्रशिक्षण देते समय Skill Development Management सिस्टम परवीडियो रिकॉर्डिंग करने को निर्देशित किया जायेगा |
  • मूल्यांकन के समय प्रामाणिक मूल्यांकन कर्ताओ को प्रशिक्षण की गुणवत्ता जानने के लिए प्रशिक्षण केंद्र भेजा जायेगा | SSCs पाठयक्रम को मंजूरी देना एसएससी की जिम्मेदारी होगी | एसएससी यह सुनिश्चित करेगी की जो प्रशिक्षण दिया जा रहा है वह काम Market में ऐसे ही होता है, जैसे पाठ्यक्रम में सम्मिलित है | अर्थात पाठयक्रम की विषयवस्तु व्यवहारिक/वास्तविक होगी | या हम यह कहें तो कुछ गलत नहीं होगा की Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana के अंतर्गत प्रशिक्षार्थी को प्रशिक्षण लेने के बाद काम मिल जायेगा |
  • एसएससी ट्रेनिंग सेंटर को, सफल प्रशिक्षणार्थी के लिए प्रमाण पत्र जारी करने के लिए अनुमोदित करेगी |
  • एसएससी द्वारा किसी भी प्रशिक्षण केंद्र में कभी भी निरिक्षण किया जा सकता है |
  • प्रशिक्षण लेने के बाद अर्थात पूरा होने के बाद  प्रशिक्षणकर्ता प्रशिक्षणार्थी की काम ढूंढने में मदद करेगा यह मदद प्रशिक्षणकर्ता प्रशिक्षणार्थी को किसी कंसल्टेंसी का नंबर देके भी कर सकता है |

 Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana में इनाम (Reward)

जैसा की मैं उपर्युक्त वाक्य में बता चूका हूँ की प्रशिक्षण लेने के बाद अर्थात सफल प्रशिक्षणार्थी को दिया जाने वाला Reward अर्थात इनाम क्षेत्र, क्षेत्र पर निर्भर करेगा | इस इनाम को Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana द्वारा सीधे प्रशिक्षार्थी के बैंक खाते में ट्रांसफर किया जायेगा | इनाम का उल्लेख कुछ इस प्रकार है | रिवॉर्ड अर्थात इनाम प्राप्त करने के लिए आधार कार्ड और बैंक खाते का होना जरुरी है |

For Skills TrainingFor Recognition of Prior Learning (RPL)
NSQF Levelsनिर्माण, प्लंबिंग और कंस्ट्रक्शन क्षेत्र अन्य क्षेत्र निर्माण, प्लंबिंग और कंस्ट्रक्शन क्षेत्रअन्य क्षेत्र
लेवल 1 to 27500500025002000
लेवल 3 to 4100007500
लेवल 5 to 61250010000

Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana के लिए आवेदन कैसे करें?

  • इस योजना (PMKVY) के अंतर्गत आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको PMKVY official की वेबसाइट पर जाना होगा |
  • उसके बाद Find a Center पर क्लिक करना होगा |
  • फिर आपको अपने Search को फिलटर करना होगा अर्थात आप कौन सी ट्रेनिंग कौन से राज्य के कौन से जिले के कौन से शहर में चाहते हैं |
  • उसके बाद Find Now पर क्लिक करें, तो आपके सामने परिणाम अर्थात ट्रेनिंग सेंटर उपलब्ध होंगे |
  • उनसे बात कीजिये और प्रशिक्षण लेने की प्रक्रिया जाने | बाकी काम प्रशिक्षणकर्ता अपने आप कर लेंगे |

 

Comments

  1. By Mahendra kumar bayer

    Reply

  2. By narayan singh mahabar

    Reply

  3. Reply

  4. By Akshay yadav

    Reply

    • By Anshul

  5. By Himanshu Sain

    Reply

  6. Reply

  7. By aman kumar sharma

    Reply

  8. By राहुल

    Reply

  9. By haneesh garg

    Reply

  10. By Mukesh chandrakar

    Reply

  11. Reply

    • By BRIJMOHAN

    • By Akash chourasiya

  12. By RAMVEER

    Reply

  13. Reply

  14. By Prabhakar Prasad

    Reply

  15. Reply

    • By rambilash shah

    • By Ramesh Chand Daga, Trustee, Ramakrishna Ashram

  16. By ashish kumar

    Reply

    • By Hariom

    • By Anshul

  17. By Mahaveer singh khalia

    Reply

  18. Reply

  19. By PRASHANT MAURYA

    Reply

  20. By sushil Shrivastava

    Reply

  21. By priya pandey

    Reply

  22. By Anil Nimachiya

    Reply

  23. By Ajay kumar

    Reply

  24. By abhishek kumar thakur

    Reply

  25. By Anand sharma

    Reply

  26. By komal

    Reply

  27. By vijay

    Reply

  28. By sukhdeo vanaspati

    Reply

  29. By Phatesingh

    Reply

  30. By rajkishor sahani

    Reply

  31. By Dharm Singh

    Reply

  32. By Tara chandra

    Reply

  33. By Rajesh Kumar

    Reply

  34. By labana mangilal m.

    Reply

  35. By Ajit Singh

    Reply

  36. By MD Faiz Ahmad

    Reply

  37. By DINESH

    Reply

    • By shivam

  38. By Durgesh

    Reply

  39. By AMAN KUMAR

    Reply

  40. By Ruma singh

    Reply

  41. By Atyendra kumar

    Reply

    • By Jalindar Ramchandra Kumbhar

  42. By kunti koushal

    Reply

  43. By RAMU

    Reply

  44. By ranjeet singh

    Reply

  45. By pankajkumarpanika

    Reply

  46. By PRAMOD DAS

    Reply

    • By Montu bharti

  47. By deepak kumar sen

    Reply

  48. By RISHIKANT

    Reply

  49. Reply

  50. By Mushahid

    Reply

  51. By Naveen Shah

    Reply

  52. Reply

  53. Reply

  54. By NIRAJ KUMAR

    Reply

  55. Reply

  56. By kuldeep shrivastva

    Reply

  57. By Ramesh Makwana

    Reply

  58. By RAJAT TRIVEDI

    Reply

  59. Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*