Public Provident Fund Scheme in Hindi

Public Provident Fund Scheme in Hindi

Public Provident Fund Scheme यानिकी PPF की शुरुआत राष्ट्रीय बचत संगठन द्वारा 1968 में छोटी छोटी बचत को प्रोत्साहित करने के लिए की गई थी | यह योजना जहाँ एक तरफ आयकर लाभ प्रदान करती है वही दूसरी तरफ अन्य बचत की तुलना में एक अच्छा रिटर्न भी देती है | यही कारण है की Public Provident Fund Scheme (PPF) के अंतर्गत निवेश करना एक अच्छा निवेश विकल्प माना जाता है | इस योजना का मुख्य उद्देश्य लोगों को अपने रिटायरमेंट या बुढ़ापे के दिनों के लिए छोटी छोटी बचत करके पैसे जुटाने को प्रोत्साहित करना था, ताकि बुढ़ापे में लोग अपने आप को असहाय महसूस न कर सकें | इस योजना में पैसे का निवेश एक साथ या इनस्टॉलमेंट दोनों के माध्यम से किया जा सकता है | और कम से कम 500 एवं अधिक से अधिक 150000 रूपये तक प्रति वर्ष इसमें निवेश किये जा सकते हैं इसलिए निवेश की यह योजना PPF Scheme समाज के हर वर्ग को लक्ष्यित करके बनाई गई स्कीम है |

Public-provident-fund-scheme-in-hindi

Public Provident Fund Account Kya Hai:

जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में चर्चा कर चुके हैं की भारत सरकार के राष्ट्रीय बचत संगठन द्वारा PPF अधिनियम 1968 के अंतर्गत Public Provident Fund Scheme की स्थापना हुई थी उसके बाद इस स्कीम में समय समय पर कई बार संसोधन किये गए हैं लेकिन जो अंतिम संसोधन इस स्कीम में हुआ है वह 2016 में हुआ इसलिए इस स्कीम को Public Provident Fund Scheme 2016 की संज्ञा दी गई है | यदि हम PPF को सरकार द्वारा समर्थित दीर्घकालिक लघु बचत योजना जो असंगठित क्षेत्र या अन्य क्षेत्रों में कार्यकारी श्रमिकों एवं कर्मचारियों को सेवानिवृत्ति सुरक्षा प्रदान देने का काम करती है कहें तो गलत नहीं होगा | जब किसी श्रमिक या अन्य व्यक्ति द्वारा PFF Scheme के अंतर्गत निवेश किया जाता है जिस बैंक या डाकघर में वह निवेश करता है उनके द्वारा उस अमुक व्यक्ति या महिला का खाता खोला जाता है जिसे PPF Account कहते हैं |

Eligibility to open PPF Account in Hindi:

  • कोई भी व्यक्ति जो भारत का नागरिक हो वह अपने या किसी नाबालिग की तरफ से PPF Account खोल सकता है |
  • अनिवासी भारतीय यानिकी Non-resident Indians (NRI) भारत में PPF Account खोलने के पात्र नहीं हैं | यद्यपि ऐसे NRI जिन्होंने पहले से PPF में निवेश किया हो और वे बाद में NRI बन गए हों वे इस Public Provident Fund Scheme के अंतर्गत नॉन-प्रत्यावर्तन आधार पर अपनी फंड की परिपक्वता तक सदस्यता जारी रख सकते हैं |
  • 13 मई 2005 के बाद हिंदू अविभाजित परिवार इस योजना के तहत कोई खाता नहीं खोल सकते हैं |
  • नाबालिग खाते के अलावा किसी एक व्यक्ति के नाम से केवल एक ही PPF account खोला जा सकता है |

निवेश करने की सीमा (Investment Limits):

  • इस स्कीम के अंतर्गत कम से कम 500 यानिकी महीने में 50 रूपये से भी कम एवं अधिक से अधिक 150000 रूपये तक सालाना निवेश किये जा सकते हैं |
  • निवेश कर रहे व्यक्ति को साल में 5 लाख से ज्यादा निवेश नहीं करना चाहिए क्योंकि उससे ज्यादा के अमाउंट में न तो ब्याज मिलेगा और न ही आयकर अधिनियम के अनुसार कर में छूट |
  • निवेश किये जाने वाला अमाउंट एकमुश्त या Installments दोनों के माध्यम से जमा किया जा सकता है |

PPF Account Open करने के लिए आवश्यक दस्तावेज एवं खोलने के स्थान:

Public Provident Fund Account को लोक भविष्य निधि खाता भी कह सकते हैं कोई भी व्यक्ति जो यह खाता खोलना चाहता हो निम्न में से किसी भी वित्तीय संस्थान में जाकर यह खाता खुलवा सकता है |

  • भारतीय स्टेट बैंक और इसके सहायक बैंकों की किसी भी शाखा में संपर्क करके |
  • नामित राष्ट्रीयकृत बैंकों की शाखाओं में संपर्क करके |
  • डाकघरों में संपर्क करके |

PPF Account open करने के लिए आवश्यक दस्तावेजों की लिस्ट कुछ इस प्रकार से है |

  • खाता खोलने के लिए निर्धारित फॉर्म जिसका नाम फॉर्म A है चाहिए हो सकता है |
  • पासपोर्ट साइज़ फोटोग्राफ |
  • पैन कार्ड एवं आधार कार्ड की प्रति |
  • पता प्रमाण पात्र के तौर पर आधार कार्ड, पासपोर्ट, बिजली बिल इत्यादि चाहिए हो सकता है |

Interest Rates of PPF Accounts (ब्याज की दरें):

वर्तमान में PPF Account पर ब्याज दरों की बात करें तो 1 अप्रेल 2016 से इस पर तिमाही ब्याज देना सुनिश्चित किया गया है जबकि पहले यह सालाना था यदि हम पिछले एक दशक की बात करें तो PPF की ब्याज दरों में काफी उतार चढ़ाव आये हैं किसी वर्ष उच्च ब्याज दर और किसी वर्ष ब्याज की दर कम होती रही है | कुछ सालों में भुगतान किये गए ब्याज की दरों का विवरण निम्नवत हैं |

वर्षब्याज दर
2008-20098.0%
2009-20108.0%
2010-20118.0%
2011-20128.6%
2012-20138.8%
2013-20148.7%
2014-20158.7%
2015-20168.7%
2016-20178.1%
2017-20187.9%

Public Provident fund rules/ Guidelines/ features in Hindi:

  • यह योजना पन्द्रह वर्षों की एक योजना है कहने का आशय यह है की इस योजना के अंतर्गत निवेश की Maturity की अवधि 15 वर्ष है | इसलिए इस योजना के अंतर्गत खाते की परिपक्वता 15 वर्ष पूरे होने के बाद ही होगी | यद्यपि खाते की परिपक्वता के बावजूद भी इसे आगे पांच सालों की अवधि के लिए विस्तारित किया जा सकता है | इस प्रक्रिया को परिपक्वता के बाद एक वर्ष के भीतर Form H सबमिट करके अंजाम दिया जा सकता है |
  • पहले इस Public Provident Fund Scheme के अंतर्गत समय से पूर्व खाता बंद करने की तब तक आज्ञा नहीं थी जब तक की कोई विशेष परिस्थति जैसे अभाग्यवश किसी ग्राहक की मृत्यु न हो जाय | ग्राहक की मृत्य होने के बाद नामित व्यक्ति या महिला को इसका लाभ मिलता था | लेकिन Public Provident Fund Scheme (Amended) 2016 के अनुसार कोई निवेशकर्ता अपना या किसी नाबालिग के खाते को निम्न परिस्थतियों में समय से पहले बंद करा सकता है लेकिन इस स्थिति में उसे मिलने वाली ब्याज की दर विभिन्न वर्षों में लागू ब्याज की दर से 1% कम होगी |
  • यदि व्यक्ति को पैसों की जरुरत अपने, अपने पति पत्नी के या फिर उस पर जो निर्भर हैं उनकी गंभीर बीमारी, जानलेवा बीमारी के इलाज के लिए चाहिए हों तो इस स्थिति में सम्बंधित दस्तावेज जमा करके खाता समय से पहले बंद किया जा सकता है |
  • यदि खाताधारक को पैसो की जरुरत उच्च शिक्षा ग्रहण करने के लिए है तो सम्बंधित दस्तावेज एवं फीस के बिल दिखाकर PPF Account को समय से पहले बंद किया जा सकता है |
  • अपने पूरे जीवनकाल में किसी नाबालिग के खाते को छोड़कर एक व्यक्ति केवल एक ही PPF Account इस Public Provident Fund Scheme के अंतर्गत खोल सकता है | यदि कहीं पर ऐसा पाया जाता है की एक व्यक्ति के दो PPF Account हैं तो एक खाता तुरंत बंद कर दिया जायेगा और खाताधारक को केवल उतना ही पैसा मिलेगा जितना उसे जमा किया हुआ था |
  • हालांकि जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में भी बता चुके हैं कोई व्यक्ति किसी नाबालिग के तरफ से खाता खोल सकता है |
  • साल में कम से कम निवेश करने की सीमा 500 रूपये एवं अधिक से अधिक 5 लाख है | PPF Rule के मुताबिक कोई भी व्यक्ति चाहे उसका वह अपने नाम से खाता हो या फिर किसी नाबालिग का खाता जहाँ व्यक्ति अभिभावक की भूमिका में हो साल में 1.5 लाख से अधिक की इन्वेस्टमेंट नहीं कर सकता | इसलिए यदि कोई व्यक्ति जिसके दो बच्चे हैं और उसका खुद का एवं दो बच्चों का भी PPF Account है इस स्थिति में व्यक्ति तीनों खातों में मिलकर एक साल में केवल 1.5 लाख रूपये ही निवेश कर पायेगा | हालांकि तकनीकी रूप से, यह संभव है कि प्रत्येक इस प्रकार के खातों में 1.5 लाख रुपये तक जमा किये जा सकते हैं, लेकिन जिस दिन यह बात सामने आ गई की वे सारे खाते किसी एक व्यक्ति या उसकी फॅमिली से ही सम्बद्ध रखते हैं तो उस स्थिति में बढे हुए अमाउंट पर ब्याज देय नहीं होगा |
  • Public Provident Fund Scheme के अंतर्गत एकमुश्त या किस्तों में निवेश किया जा सकता है एक साल में 12 किस्तें (यानिकी प्रति महीने एक किश्त) दी जा सकती हैं |
  • परिपक्वता पर सम्पूर्ण अमाउंट निकाला जा सकता है और अर्जित किया हुआ ब्याज कर मुक्त होगा |

Public Provident Fund Benefits in Hindi:

PPF Account open कराने के बहुत सारे Benefits हैं इनमे से कुछ मुख्य फायदों की लिस्ट निम्नवत है |

  • Public Provident Fund Scheme के अंतर्गत PPF Account open करने के लिए किसी विशिष्ट योग्यता की जरुरत नहीं है निवेश कर रहा व्यक्ति भारतीय नागरिक होना चाहिए और खाता खोलने की प्रक्रिया भी बेहद सरल है | खाता खोलने का इच्छुक व्यक्ति किसी राष्ट्रीयकृत बैंक या डाकघर में जाकर इस कार्य को संपन्न कर सकता है |
  • यदि खाताधारक एवं खाताधारक पर निर्भर सदस्य स्वस्थ्य हैं अर्थात उन्हें कोई गंभीर बीमारी उन 15 सालों के भीतर नहीं लगती है तो खाताधारक के पास एक अच्छा खासा अमाउंट जमा हो सकता है जिसे वह अपने लक्ष्यों की पूर्ति एवं जिम्मेदारियों के निर्वहन में लगा सकता है |
  • Public Provident Fund (Amended) Scheme 2016 में यह प्रावधान किया गया है की खाताधारक किसी गंभीर बीमारी के इलाज एवं उच्च शिक्षा पाने के लिए 1% की पेनाल्टी के साथ PPF खाते में जमा पैसे निकाल सकता है |
  • PPF Account में मिलने वाला ब्याज वर्तमान में 90% है जो विभिन्न बचत योजनाओं के मुकाबले बेहतर है |
  • इस स्कीम के अंतर्गत निवेश, निवेश पर अर्जित हुआ ब्याज पूरी तरह कर से मुक्त है |
  • PPF Account को प्रबंधित करना बेहद आसान है इसमें निवेश करने वाला व्यक्ति कम से कम 500 रूपये प्रति वर्ष और अधिक से अधिक 5 लाख जमा करा सकता है यह व्यक्ति चाहे तो एकमुश्त या फिर किश्तों में अदा कर सकता है |

यह भी पढ़ें:

पैसे बचत करने के 12 बेस्ट तरीके |

यात्रा करने के दौरान पैसे कैसे बचाएं |  

  • इस स्कीम के अंतर्गत आर्थिक रूप से बेहद पिछड़ा वर्ग भी अपनी बचत कर सकता है क्योंकि महीने में 50 रूपये से भी कम इन्वेस्ट किये जा सकते हैं |
  • PPF Account के आधार पर बैंकों से लोन मिल सकता है |
  • Public Provident Fund Scheme भारत सरकार के वित्त मंत्रालय के अंतर्गत राष्ट्रीय बचत संस्थान द्वारा चालित योजना है इसलिए इसके अंतर्गत निवेश जोखिम से मुक्त है |

Comments

  1. By Ganesh Godik

    Reply

  2. By Hari Om Gautam

    Reply

  3. By MANOJ KUMAR

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*