Roadside Dhaba and Restaurant business in India.

Roadside Dhaba and Restaurant business in India.

Road side dhaba business वर्तमान में लोगों के रहन सहन की शैली के साथ मेल खाता हुआ बिज़नेस है | इसलिए Dhaba की services जैसे In house eating, breakfast, lunch, dinner, tiffin services, cold drinks, snacks इत्यादि लोगों के बीच बहुत popular हैं | इन दिनों tourist, visitors, नियमित ग्राहक इत्यादि थोड़े समय के लिए ही सही किसी Dhabe या Restaurants में बैठना पसंद करते हैं | और अपनी भूख सम्बन्धी  जरूरतमंद का सामान लेके Dhabe या Restaurant से निकलते हैं | इसलिए Dhaba business start करने के लिए जरुरी नहीं है की वह किसी भीड़ भाड़ वाली जगह में ही हो | यह ढाबा या Restaurant का business नगर या शहर से दूर Highways के किनारे से भी आसानी से चलाया जा सकता है | किसी भी ढाबे या Restaurants को उसकी दो चींजे बहुत Popular बना सकती हैं | जिसमे एक है खाने की गुणवत्ता और दूसरा है उस खास खाद्य वस्तु की कीमत | हालांकि यदि खाने की गुणवत्ता अच्छी हो तो ग्राहक थोड़ी सी ज्यादा कीमत देकर भी उस ढाबे या Restaurant के उत्पाद को खरीदने के लिए उतावले रहते हैं | लेकिन यदि गुणवत्ता में कमी हो तो उस ढाबे या restaurant से कोई भी ग्राहक कुछ भी खरीदने की रूचि नहीं रखता जब तक की कोई मजबूरी न हो | मजबूरी से आशय उस स्थिति से है की customers भूखे हों और आस पास कोई अन्य Options उपलब्ध न हों |

Roadside dhaba-or-restaurant

Roadside dhaba-or-restaurant

उदाहरणार्थ : माना A कोई व्यक्ति है जो Delhi  से नैनीताल जाने के लिए बस से Travel कर रहा है | और रस्ते में बस बस ड्राईवर द्वारा एक Road side dhaba में रोकी जाती है | A नामक व्यक्ति भी अन्य व्यक्तियों की तरह उस Road side Dhaba पर खाना खाने के लिए नीचे उतरता है, लेकिन जैसे ही खाना खाने हेतु अन्दर प्रविष्ट होने की कोशिश करता है की तभी देखता है, की एक महाशय उस Road side dhaba के Cashier को कह रहे हैं की इतने बेकार खाने के आप इतने पैसे ले रहे हैं ऐसा क्यों ?| पहले तो Cashier इस प्रश्न पर respond नहीं करता है, और जब करता है तो बदतमीजी से कहता है की यहाँ पर तो ऐसा ही खाना मिलता है सभी खा रहे हैं | जब A नामक व्यक्ति ने यह वार्तालाप सुनी तो वह सोचने पर मजबूर हो गया की यहाँ पर खाना खाऊँ या नहीं खाऊँ | उसने एक दो लोगो से और पूछा जो पहले से ही खाना खा चुके थे तो हर कोई उस Road side dhaba के बारे में नकारात्मक बात कर रहे थे | अब A नामक व्यक्ति ने इधर उधर और Option ढूंढने की कोशिश करी तो उसे कुछ नज़र नहीं आया | मजबूरन उसको भी वही खाना खाना पड़ा | इस स्थिति में dhabe या Restaurant का business चल तो सकता है | लेकिन कभी बढ़ नहीं सकता क्योकि उस route पर नियमित Travel करने वाले व्यक्ति जो की उस dhabe या Restaurant के Target customers हो सकते थे | वे घर से खाना Pack करके Travel करने लगेंगे |

Road Side Dhaba Ya Restaurant business kya hai:

सामान्य बोलचाल की भाषा में Dhabe अर्थ किसी Road side shop जहाँ खाना मिलता हो, से लगाया जाता है | इन Road side dhabo का चलन अधिकतर तौर पर इंडिया और पाकिस्तान में है | इस प्रकार के ढाबे Highways के किनारे स्थित होते हैं | जो Local customers, Tourist, Visitors,Truck drivers, bus travelers  इत्यादि लोगों को ध्यान में रखकर बनाये जाते हैं |

Business scope in Road side Dhaba:

जनसँख्या में हो रही वृद्धि और लोगो के जीवन स्तर में सुधार के कारण अक्सर लोग Road side dhabo और Restaurant में खाना खाना पसंद कर रहे हैं | ऑफिस की पार्टी पर जाने वाले लोग, भ्रमण करने वाले लोग, टूरिस्ट, बस से यात्रा करने वाले लोग इत्यादि सभी आजकल Road side Dhabo में भोजन करते हैं | इसलिए यदि खाने की गुणवत्ता और उचित दाम हो तो इस Road side dhaba के business में अपार संभावनाएं हैं |

India Me Road side Dhaba kaise start kare:

India में Road side dhaba या Restaurant खोलने के लिए Location का चुनाव करना बेहद important step है | क्योकि Location पर ही निर्भर करेगा की उद्यमी का Dhaba business या Restaurant business एक अच्छा Profitable business हो पायेगा या नहीं | इस business को start करने के लिए और भी बहुत सारे छोटे मोटे लेकिन महत्वपूर्ण Step करने पड़ते हैं | जिनका वर्णन संक्षिप्त रूप से हम नीचे कर रहे हैं |

Dhaba Ya Restaurant ke liye business Plan:

बिज़नेस Plan जैसे अन्य business के लिए जरुरी है ठीक उसी प्रकार Dhaba या Restaurant business के लिए भी एक प्रभावी बिज़नेस प्लान बेहद महत्वपूर्ण है | जिसमे बिज़नेस सम्बन्धी हर एक गतिविधि का लिखित रूप में विस्तृत तौर पर वर्णन होता है | जो उद्यमी को उसके बिज़नेस को Grow करने हेतु भविष्य में निर्णय लेने में सहायता प्रदान करता है | इसमें Location , वित्त सम्बन्धी प्रबंध, उत्पाद, Yearly expense and profit इत्यादि बातों का बारीकी से विश्लेषण करके उल्लिखित किया जाता है |

Location Ka Chunaw:

जहाँ एक तरफ Road side dhaba business के लिए कोई Tourist Area, Truck stop, bus stop, highways इत्यादि जगह उपयुक्त मानी जाती हैं | उसी प्रकार Tiffin services हेतु Dhaba खोलने के लिए औद्योगिक या व्यवसायिक area में Location ka Chunaw  बेहतर माना जाता है |

FSSAI License:

चूँकि उद्यमी Dhaba या Restaurant business करके लोगों की Food सम्बन्धी आवश्यकताओं की पूर्ति करेगा | और Food लोगों की सेहत से जुड़ा हुआ मुख्य तत्व है | इसलिए इस Business को करने के लिए (Food Safety and Standards Authority of India ) FSSAI से License की जरुरत पड़ती है | इस License के लिए offline और Online दोनों तरीकों से आवेदन किया जा सकता है | लेकिन India में छोटे स्तर पर अधिकतर ढाबे बिना License के ही चलाये जाते हैं | ऐसे ढाबों का अपने भविष्य के प्रति कोई बिज़नेस Plan नहीं होता, और वह यह business केवल और केवल survival के लिए कर रहे होते हैं |

Interior and external work:

Location का चुनाव और License के बाद अगला step चयन की गई जगह में Interior और External कार्यो को निपटाने का होता है | Interior में जहाँ ढाबे या Restaurant के अन्दर लगने वाले Furniture इत्यादि आटे हैं | वही External कार्यों में ढाबे के बाहर Huts, Park इत्यादि का निर्माण एवं designing आती है | बाहर Park या Huts में बैठने का arrangement इस प्रकार किया जाना चाहिए की वेटर द्वारा उनको Serve करने में कोई परेशानी न आय | यदि किचन से इनकी दूरी अधिक हो गई और कोई वेटर छुट्टी इत्यादि पर चले गया तो एक या दो वेटर के लिए अन्दर और बाहर दोनों टेबल को संभालना मुश्किल हो सकता है | और Late service मिलने के कारण ग्राहकों की नज़र में ढाबे या Restaurant की  नकारात्मक छवि बन सकती है |

Manpower Appointments:

Manpower appointments से हमारा आशय काम करने वाले cooks, waiter, captain, cashier, manager इत्यादि की नियुक्ति से है | उद्यमी को यह याद रखना चाहिए की यह Dhaba business food से जुड़ा हुआ business है | इसलिए इस बिज़नेस में खाना बनाने वाला अर्थात cook बहुत महत्वपूर्ण Asset है | अगर Cook के द्वारा बनाया गया खाना लोगों को पसंद आता है तो एक उद्यमी को चाहिए की वह उस Cook को अपने ढाबे या Restaurant में बनाये रखे | और यदि नहीं पसंद आता है तो cook को बदल देने में ही भलाई है |

Fix a date for opening:

सारा Arrangements कर लेने के बाद कम से कम 5-10 दिन बाद ही dhaba या Restaurant business की Opening करनी चाहिए | इन 5-10 दिनों में Posters या Local newspaper, Internet Marketing इत्यादि की मदद से इस बिज़नेस की Marketing की जानी जरुरी है | ताकि पहले दिन से ही लोगों को पता चल सके की यहाँ पर कोई Dhaba या Restaurant खुल चूका है | हो सके तो Opening के दिन लोगों को कोई Free service देनी चाहिए | यदि Dhaba या Restaurant की Opening सर्दी के दिनों में हो रही है तो उधर से आने जाने वाले लोगो या फिर नजदीकी क्षेत्र में चाय के साथ पकोड़े बांटे जा सकते हैं जबकि गर्मी में cold drinks एक अच्छा Option हो सकता है | अब उद्यमी ने dhaba business अर्थात Restaurant business खोलने की सारी प्रक्रियाएं पूर्ण कर ली है अब उद्यमी समय समय पर अपने business की Marketing करके अपने काम को नयी बुलंदियों तक पहुंचा सकता है |

The following two tabs change content below.
मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Comments

  1. By Vijay Saini

    Reply

  2. By RAKESH

    Reply

  3. By piyush

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


*