Subsidy scheme for Goat sheep rabbit farming IDSRR Hindi.

Subsidy scheme for Goat sheep rabbit farming IDSRR Hindi.

INTEGRATED DEVELOPMENT OF SMALL RUMINANTS AND RABBITS केंद्र सरकार द्वारा प्रायोजित एक subsidy scheme है | जो केवल Goat, Sheep, rabbit farm के लिए ही है |

Scheme ke lakshy (Objectives):

  • Goat farming, भेड़ पालन और खरगोश पालन को बढ़ावा देना, और लोगो को व्यवसायिक तौर पर इनकी farming करने के लिए प्रोत्सहित करना |
  • नियमित चयन के माध्यम से देशी नश्लो में उत्पादकता प्रदर्शन को बढ़ाना |
  • स्वीकार्य मानदंडो पर उत्पादनकर्ताओं के लिए एक Market तैयार की जाएगी | ताकि उत्पादनकर्ताओं को अपने उत्पादन की उचित कीमत मिल सके |
  • इस प्रकार की Farming कर रहे किसानो, व्यवसायियों को उनके क्षेत्र में Promote करना | ताकि अन्य लोगो को भी लगे की जानवरों से अच्छी खासी Kamai की जा सकती है |
  • ग्रामीण इलाकों में रोजगार को प्रोत्साहित करना, और बेरोजगारी को कम करना भी IDSRR Scheme का लक्ष्य है |

Eligibility:

  • कोई भी व्यक्ति जो उस प्रदेश, जिले में निवासित हो जहाँ यह scheme लागू हो गई हो |
  • छोटे, मध्यम, बड़े सभी किसान |
  • महिलाओं, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, NGO को प्रमुखता दी जाएगी |

Scheme ke antrgat diya jane wala loan aur subsidy:

इस scheme IDSRR के तहत दी जाने वाली subsidy की अधिकतम सीमा कुछ इस प्रकार है |

 Project Cost और अधिकतम सीमा   
Sr no.ComponentsTFO (Total financial outlay) लाख में |Subsidy की अधिकतम सीमा General category के लिए | Subsidy की अधिकतम सीमा SC/ST, hilly Northern states के लिए |
1.Sheep और Goat की rearing अर्थात पालन | (40+2)1कुल खर्चे का 25% जो अधिक से अधिक 25000 होगी |कुल खर्चे का 33.33% जो अधिक से अधिक 33300 होगी |
2.भेड़ और बकरी की breeding नस्ल में सुधारीकरण | (500+25)25कुल खर्चे का 25% जो अधिक से अधिक 6.25 लाख होगी |कुल खर्चे का 33.33% जो अधिक से अधिक 8.33 lakh होगी |
3.खरगोश (Rabbit) पालन |2.25कुल खर्चे का 25% जो अधिक से अधिक 56000 होगी |कुल खर्चे का 33.33% जो अधिक से अधिक 75000 होगी |

IDSRR Scheme Guidelines:

  • उद्यमी यदि rearing कर रहा हो तो उसे पूरी प्रोजेक्ट cost का 10% और यदि breeding कर रहा हो तो 25% अपनी जेब से खर्च करना अनिवार्य है |
  • Subsidy 25% देय होगी या 33% यह इस scheme के तहत उल्लेखित नियमो के आधार पर तय होगा |
  • सामान्य वर्ग के लिए बैंक लोन की सीमा subsidy को मिलाकर कम से कम 50% निर्धारित है |
  • अनुसूचित जाति/जनजाति, पर्वतीय और उत्तर पूर्वी राज्यों के लिए उपर्युक्त सीमा कम से कम 33% है |

उदहारण: यदि किसी सामान्य वर्ग से सम्बंधित व्यक्ति का TFO (Total financial outlay ) 1 लाख है, तो  बैंक को कम से कम 50000 रूपये का लोन प्रोजेक्ट के लिए sanction करना पड़ेगा | और अनुसूचित जाति /जनजाति पर्वतीय और उत्तर पूर्वी राज्यों के लिए कम से कम 58300 रूपये का loan sanction करना पड़ेगा |

बैंक चाहे तो उपर्युक्त आंकड़ो से अधिक का लोन किसी व्यक्ति को दे सकता है | लेकिन इसमें यह ध्यान रखना जरुरी है | की जो कम से कम पैसा व्यक्ति को अपनी जेब से लगाना है उस पर कोई प्रभाव नहीं पड़ना चाहिए |

उदाहरणार्थ: माना A एक व्यक्ति है | और वह बैंक लोन के द्वारा Goat rearing करना चाहता है |  तो इस स्थिति में 1 लाख का 10% यानिकी 10000 रूपये A  को अपनी जेब से लगाने होंगे | बाकि यदि बैंक चाहे तो कम से कम 50 हज़ार और अधिक से अधिक 90 हज़ार का Loan A को दे सकता है | और यही A नामक व्यक्ति अगर Goat breeding के लिए loan ले रहा हो तो, 25 लाख पर इसको 25% अर्थात 625000 अपनी जेब से लगाने होंगे | बाकी यदि बैंक चाहे तो कम से कम 12.25 लाख और अधिक से अधिक 1875000 का loan दे सकता है |

  • NABARD द्वारा जो subsidy amount बैंक को release किया जायेगा | उस पैसे को subsidy reserve fund खाते में अलग से रखा जायेगा | subsidy amount को अंत में adjust किया जायेगा |

यह भी पढ़ें :

बकरी पालन कैसे शुरू करें? |

 खरगोश पालन कैसे करें |

बकरी की बीमारियाँ और सावधानियां |

बकरी पालन में आने वाला खर्चा और कमाई |

  • Subsidy amount पर कोई ब्याज देय नहीं होगा |
  • Reserve fund खाते में subsidy आ जाने के बाद बैंक NABARD में एक Utilization certificate जमा करेगा |

 

Comments

  1. By Mohit Roop Rai

    Reply

  2. By mahesh

    Reply

  3. By राधेश्याम गुर्जर

    Reply

  4. By Jitendra Kumar

    Reply

  5. By Farooque Aazam

    Reply

  6. By Jitendra singg

    Reply

  7. By Pawan kumar

    Reply

  8. By vikas jakhar

    Reply

  9. By chiman

    Reply

  10. Reply

  11. By Deepak Pannu

    Reply

    • By Chetan patel

  12. Reply

  13. By chandra pratap singh

    Reply

  14. By lavkush verma

    Reply

  15. By Mukesh Manjoo

    Reply

  16. By Ajit kumar

    Reply

  17. Reply

  18. By M.ALAM

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*