Tent House Business Kaise Start Kare

Tent House Business Kaise Start Kare

Tent house business एक ऐसा बिज़नेस है, जिसकी सेवा की मांग वर्ष के 12 महीनो में किसी न किसी को, किसी न किसी कारणवश होती रहती है, और इसे शहरी एवं ग्रामीण दोनों इलाकों से Start किया जा सकता है | और सबसे अहम् बात यह है की उद्यमी इसे Part time business के रूप में भी कर सकता है, हाँ लेकिन इसमें इतना जरुर है की tent house business कर रहे उद्यमी के पास कोई अतिरिक्त जगह अर्थात कमरा होना चाहिए जहाँ वह Tent house के सामान को स्टोर करके रख सके और जरुरत पड़ने पर ट्रक एवं मजदूर किराये पर लेकर ग्राहक की लोकेशन तक सामान को पहुंचा सके | सच तो यह है की इस प्रकार का बिज़नेस करने के लिए उद्यमी को किसी खास योग्यता की आवश्यकता पड़ती नहीं है और इसे start करना भी बेहद आसान प्रक्रिया है | कुछ Tent house द्वारा अच्छी तरह सामान की देखभाल करने पर एक बार सामान खरीद देने के बाद अगले 20 सालों तक वही चलता रहता है, हालाँकि बीच बीच में लोगों की रूचि एवं आवश्यकता के अनुसार नया सामान add एवं कपडे से निर्मित सामान की धुलाई करनी पड़ सकती है |

Tent-house-business

Tent House Business Kya Hai:

जैसा की हम सबको विदित है मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है इसी सामाजिक ताने बाने से उत्पन्न  मनुष्य के जीवन में प्रत्येक वर्ष जन्मदिन, शादी, बहुत सारी पार्टीयां इत्यादि करने का मौका आता है | पार्टीयां या दूसरों को दावत किसी भी व्यक्ति द्वारा तब दी जाती है जब वह कोई त्यौहार, कोई पारिवारिक अनुष्ठान, शादी, जन्मदिन या फिर कोई अन्य ख़ुशी के मौके को अपने जानकारों परिचितों की उपलब्धी में मनाना चाह रहा हो | इनमे कुछ व्यवसायिक पार्टियाँ भी होती हैं जो किसी कंपनी या संस्थान द्वारा अपने Stack holders के लिए आयोजित की जाती हैं | पार्टी या आयोजन किसी प्रकार का भी हो, उसमे मेहमानों के लिए खान पान का एवं बैठने का इंतजाम होता ही है | खान पान के लिए बर्तन एवं बैठने हेतु कुर्सियां यहाँ तक की कुछ Tent house catering services जैसे वेटर इत्यादि भी पार्टी करने वाले व्यक्ति को किराये पर उपलब्ध कराते हैं | अर्थात जब कोई उद्यमी किसी पार्टी या अन्य आयोजन के लिए कुर्सियां, टेंट, बर्तन, टेबल इत्यादि मुहैया कराकर अपनी कमाई कर रहा होता है हम कह सकते हैं की इस प्रकार का उद्यमी Tent house business से जुड़ा हुआ उद्यमी है |

Market Potential in Tent house business in Hindi:

India जनसँख्या की दृष्टि से विश्व में दूसरा सबसे बड़ा राष्ट्र है जिसकी 65% से अधिक जनसँख्या 38 से कम उम्र की है यही कारण है की यहाँ प्रत्येक वर्ष लाखों लोगों की शादियाँ होती हैं, जिनमे मुख्य रूप से Tent house की आवश्यकता होती है | इसके अलावा हर दिन पता नहीं कितने लाखों लोगों के जन्मदिन की पार्टियाँ, शादी की सालगिरह, कॉर्पोरेट पार्टियाँ, ख़ुशी के मौके भारत में मनाये जाते हैं | लगभग हर महीने कोई न कोई त्यौहार आ जाना भी Tent house business के लिए अच्छा संकेत है | पहले जहाँ Tent house business केवल शहरी क्षेत्रों तक ही सिमित था वर्तमान में इसने अपने पग ग्रामीण इलाकों की ओर भी पसारने शुरू कर दिए हैं | इसका पहला कारण तो लोगों की कमाई में धीरे धीरे हो रही वृद्धि और दूसरा ग्रामीण इलाकों में निवासित जनता में आत्मनिर्भरता आना है | जहाँ पहले गाँव में किसी शादी का काम पूरे गांव वाले मिलजुल कर कर लिया करते थे, वही सबकी अपने आप में निर्भरता होने के कारण कहें, या शादी में टेंट व्यवस्था का होना अच्छा लगने के कारण कहें, कारण जो भी हो अब ग्रामीण इलाकों में हो रही शादियों में भी Tent को बुलाने लगे हैं | यद्यपि चाहे शहर हो या ग्रामीण उद्यमी Tent house business  से जुड़े हुए भी हैं, और सफलतापूर्वक इसे चला भी रहे हैं | लेकिन जब शादी या त्योहारों का समय आता है तो Tent house की बुकिंग मिलना थोडा मुश्किल हो जाता है वह इसलिए की इस समय एक दिन में एक ही इलाके में बहुत सारे Tent house की आवश्यकता होती है, इसलिए कहा जा सकता है की नए उद्यमियों के लिए भी Tent house business में अच्छे अवसर विद्यमान हैं |

How to start tent house business in Hindi:

यद्यपि जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में बता चुके हैं की Tent house business start करना एक बेहद ही आसान प्रक्रिया है, लेकिन यदि उद्यमी अच्छे ढंग से बिज़नेस प्लानिंग इत्यादि करके इस प्रक्रिया को अंजाम देता है तो बिज़नेस में रिस्क थोडा कम हो जाता है |

  1. Create a Business Plan:

इस बिज़नेस को स्टार्ट करने से पहले उद्यमी को चाहिए की वह एक प्रभावी बिज़नेस प्लान बनाये जिसमे बिज़नेस सम्बन्धी सारे तत्वों का उल्लेखन किया गया हो | इसमें जहाँ बिज़नेस को शुरू करने वाली लागत अर्थात खर्चे का अनुमानित विवरण होगा वही कमाई का भी अनुमानित विवरण होना जरुरी है | इसमें यह भी उल्लेखित होना चाहिए की उद्यमी द्वारा अपने tent house के लिए कौन सा Materials कितनी मात्रा में ख़रीदा जायेगा | उद्यमी अपने बिज़नेस की मार्केटिंग कैसे करेगा और उसके आंशिक ग्राहक कौन और कितने और उनसे होने वाली कमाई कितनी होगी |

एक प्रभावी बिज़नेस प्लान कैसे बनाये |

मार्केटिंग करने के प्रभावी तरीके |

  1. Arrangement of Capital:

अब चूँकि उद्यमी को अपने बिज़नेस में लगने वाले खर्चे का अनुमान लग गया होगा | इसलिए उद्यमी का Tent house business start करने के लिए अगला कदम वित्त का प्रबंध करने का होना चाहिए | उद्यमी को एक बात का ध्यान रखना चाहिए की इस बिज़नेस में आने वाला  मुख्य खर्चा Tent house के लिए सामान खरीदने और उस सामान को ग्राहक तक पहुँचाने में लगने वाली Manpower और Transportation का है | वैसे यदि उद्यमी चाहे तो अपने बिज़नेस के लिए वित्त का प्रबंध करने के लिए किसी Angel Investors को पकड़ सकता है लेकिन ध्यान रहे उद्यमी को अपनी कमाई में से Angel Investor को तय हिस्सा देना पड़ेगा |

  1. Purchase Equipments and Utensils for Tent house:

Tent house business start करने में जो सबसे बड़ा खर्चा है वह है Equipments और Utensils को खरीदने में आने वाला खर्चा जहाँ तक Manpower का सवाल है यह दिहाड़ी मजदूरी पर रखी जा सकती है | और Transportation के लिए Booking मिलने पर ट्रक इत्यादि वाहन Hire किया जा सकता है | Tent house के लिए मुख्य रूप से खरीदी जाने वाली Equipments और Utensils की लिस्ट निम्नवत है |

  • Tents of all sizes, kannat bundles
  • Bamboo, rope, iron nails, etc (बांस के पोल, रस्से, लोहे की कीलें, लोहे के पोल)
  • Utensils for preparing food (खाना बनाने के सभी प्रकार के बर्तन)
  • Utensils for serving food & plates (खाना खिलाने लगाने के सभी प्रकार के बर्तन)
  • Carpets, steel chairs, iron tables, etc (कार्पेट, स्टील की कुर्सियां, लोहे की मेज इत्यादि)
  • Drums for water storage (पानी के टैंक)
  • Mattresses, quilts, bed sheets, pillows, (रजाई, गद्दे, तकिये, कम्बल इत्यादि)
  • Miscellaneous items (अन्य आवश्यक सामग्री)
  1. Decide your payment Methods:

हाल ही में भारत सरकार द्वारा लिया गया नोटबंदी का निर्णय जहाँ काले धन, जाली मुद्रा इत्यादि को कम करने के उद्देश्य से लिया गया था वही यह निर्णय कहीं न कहीं भारत को Cashless राष्ट्र बनाने की ओर भी एक कदम है | कहने का तात्पर्य यह है की सरकार चाहती है की अधिक से अधिक लोग Cash की जगह Electronic transaction करें | इसलिए उद्यमी को चाहिए की वह अपने ग्राहकों को  पेटीएम , account transfer या Cheque इत्यादि द्वारा Payment करने की Facility उपलब्ध कराये |

 

Comments

  1. By Satpal saran

    Reply

  2. By Ritesh Raj Pardhan

    Reply

  3. By Rajesh singh

    Reply

  4. By Rahul patel

    Reply

  5. By upendra gurjar

    Reply

  6. By JINNAT PARVEEN

    Reply

  7. By ganeshlal kumawat

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*