Tomato Processing Business Information In Hindi.

Tomato Processing Business Information In Hindi.

Tomato processing business का नाम सुनते ही शायद अधिकतर लोगों के जेहन में Tomato Sauce/ketchup नामक शब्द आता होगा | किन्तु यह बहुत कम लोग जानते होंगे की Tomato processing plant के माध्यम से सिर्फ Tomato Sauce/Ketchup का उत्पादन नहीं किया जाता, बल्कि Tomato Puree, Tomato Paste, Tomato Juice इत्यादि का भी उत्पादन करके Kamai की जाती है | टमाटर का उपयोग विभिन्न खाद्य पदार्थों जैसे सलाद बनाने में, आचार बनाने में और लगभग सभी प्रकार की सब्जियां बनाने में भी किया जाता है | India में Tomato का Production अन्य देशों की तुलना में प्रति हेक्टेयर बहुत कम है, इन सबके बावजूद टमाटर की फसल के मौसम में आये दिन सुनने में आता है की किसानो को टमाटर के वाजिब दाम न मिलने के कारण उन्होंने टमाटरों को फ़ेंक दिया | इसका मुख्य रूप से जो पहला कारण है वह है Cold storage का पर्याप्त मात्रा में न होना लेकिन Tomato processing plant की कमी भी इसका एक कारण हो सकता है | चूँकि Tomato production India के लगभग हर क्षेत्र में किया जाता है, और India में टमाटर से निर्मित Products की Supply और Demand में लगभग 50% तक का Gap है | इसलिए यह कहा जा सकता है की Tomato processing business में नए उद्यमियों के लिए सुनहरे अवसर विद्यमान हैं | उद्यमी यह बिज़नेस ग्रामीण इलाकों से शुरू करके किसानो और अपना भी भला कर सकता है |

tomato-processing-plant

Tomato Processing Business kya Hai:

टमाटर को उसके मूल रूप से किसी Paste, Juice, Sauce इत्यादि में बदलकर उस Product को Market में बेचकर अपनी Kamai करना ही Tomato Processing business कहलाता है | यदि उद्यमी टमाटर से निर्मित किये जाने वाले विभिन्न उत्पादों का Business करना चाहता है, तो उसे निवेश एवं औपचारिकताओं की अधिक आवश्यकता होगी इसके अलावा यदि उद्यमी किसी एक उत्पाद जैसे सिर्फ Tomato Ketchup का बिज़नेस करना चाहता है तो कम जगह, कम निवेश, कम कर्मचारियों की आवश्यकता होगी | उद्यमी चाहे तो इस बिज़नेस की Starting कुटीर उद्योग के रूप में भी कर सकता है जिसमे जगह के रूप में वह अपने Home का खाली हिस्सा use करने के अलावा अपने पारिवारिक सदस्यों की भी मदद ले सकता है | और निवेश करने की क्षमता के मुताबिक यदि चाहे तो Small, Medium Scale के तौर पर भी शुरू कर सकता है

Market Potential in Tomato Processing in India in Hindi.

यद्यपि काफी Research के बावजूद भी हमें वर्तमान Tomato Processing Industry से जुड़ा हुआ कोई विश्वसनीय आंकड़ा मिल नहीं पाया | लेकिन यदि हम Tomato processed product’s uses पर एक नज़र डालें तो हम इस Business के Market Potential का अनुमान लगाने में काफी हद तक कामयाब हो पाएंगे | Tomato Sauce/Ketchup का उपयोग विभिन्न प्रकार के Snacks Items जैसे Rolls, Bread Aamlet, Cutlets, Samosas, Chops, Soup, Chow-min एवं अन्य Continental, chines dishes के साथ किया जाता है | वर्तमान में लोगों की बढती आमदनी और India में Youngsters की जनसँख्या अधिक होने के कारण लोग Road Side Dhabo, Hotels एवं घरों में भी Chinese एवं Continental खाना पसंद करते हैं जिसमे उन्हें Tomato Ketchup/Sauce चाहिए ही चाहिए होता है | 1995 से जुड़े एक आंकड़े की बात करें तो उत्तर भारत में Tomato processing business से उत्पादित उत्पाद जैसे Tomato sauce/ketchup की उत्पादकता 4000 metric ton थी | जबकि उसी समय इनकी मांग 10000 metric ton थी, जो वर्ष 2005 तक 2000 metric ton और बढ़कर 12000 metric tons अनुमानित थी | इस आंकड़े से साफ़ पता चलता है की Supply एवं demand में 6000 metric tons का Gap था, जो 2005 में 8000 मीट्रिक टन होने वाला था | जिसका मतलब है की Tomato processing business में लगभग 75% opportunity विद्यमान थी, और वर्तमान में हम इसका Idea इस बात से लगा सकते हैं की यदि इस बिज़नेस में उद्यमियों की कमी नहीं होती तो टमाटर की फसल के समय में किसान को अपनी फसल फेंकनी न पड़ती | इस क्षेत्र में अभी कुछ जाने माने ब्रांड जैसे Kissan, Maggi, tops इत्यादि पहले से ही बाज़ार में विद्यमान हैं, लेकिन इसके बावजूद नए उद्यमियों के लिए अवसर भी विद्यमान हैं |

License and Registration:

खाद्य पदार्थो (Food Substances) से जुड़े हर प्रकार के बिज़नेस के लिए Food Safety and Standards Authority of India (FSSAI) के License की आवश्यकता अनिवार्य रूप से होती है |  इसलिए उद्यमी Tomato processing business को चाहे Gruh Udyog के रूप में कर रहा हो, लघु उद्योग या फिर मध्यम उद्योग के रूप में कर रहा हो यह License तो लेना ही पड़ेगा | इस बिज़नेस का संचालन Food products Order act 1955 में जारी दिशानिर्देशों के अनुरूप किया जाना चाहिए, और quality standards के लिए Bureau of Indian Standards (BIS) से ISI License की आवश्यकता होती है | अलग अलग उत्पाद के लिए अलग अलग ISI Standards जैसे Tomato Sauce/Ketchup के लिए IS 3882 : 1966, Tomato Juice के लिए  IS 3881 : 1966,Tomato Puree के लिए  IS 3883 : 1966 निर्धारित किये गए हैं |  इसके अलावा यदि उद्यमी चाहता है की वह International Market में भी अपने उत्पाद को Export करे तो उसे International Organization for Standardization (ISO) के License की भी आवश्यकता हो सकती है | उद्यमी को चाहिए की वह अपने बिज़नेस को Registrar of Companies में भिन्न भिन्न बिज़नेस Entities में से किसी एक का चयन कर Register कराये और स्थानीय प्राधिकरण जैसे नगर निगम इत्यादि में भी पंजीकरण कराये उद्यमी चाहे तो उद्योग आधार पर भी अपने बिज़नेस को Register करा सकता है | चूँकि Tomato processing business वातावरण में किसी प्रकार का कोई Pollution Generate नहीं करता है लेकिन फिर भी यदि उद्यमी चाहे तो State Pollution Department से No Objection Certificate ले सकता है |

Machinery and Raw materials:

Tomato processing business के लिए Machinery की नितांत आवश्यकता होती है | इसमें केवल कुछ उपकरणों की मदद से बिज़नेस करने में परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है | इस बिज़नेस में उपयोग में लायी जाने वाली मशीनरी की लिस्ट कुछ इस प्रकार से है |

  • Steam boiler
  • Washing machine (Rotary rod Washer equipped with spray arrangement, collection tank, etc.)
  • Stainless Steel tilting type steam jacketted kettle of cap
  • Stainless Steel tilting type steam  jacketted Vacuum kettle of cap.
  • Pulper cap
  • Exhaust and processing tank
  • Pasteurizer tank (500 lit. cap.)
  • Bottle washing machine with two heads complete with 1/4 HP motor
  • Vacuum filling machine (cap. 10 to 15 bottles/minute)
  • Water storage tank cap. 500 lit. (HDPE)
  • equipment such as buckets, cutting and peeling knives, etc.
  • Weighing balance 500 gm to 5 kg capacity
  • Crown cork machine
  • Weighing Scales platform type
  • Working Tables Al Top
  • Laboratory Equipment 1 set (brix meter, etc.)
  • Pollution Control Equipment

Raw Materials की लिस्ट निम्नवत है |

  • Tomatoes
  • Sugar
  • Common Salt
  • Spices, garlic, ginger, etc.
  • Color
  • Sodium benzoate
  • Glass bottle
  • Crown caps
  • Plastic caps
  • Label straps
  • Corrugated box
  • Breakage of bottles, caps, etc.
  • Cleaning powder

Manufacturing process

Tomato processing business में उद्यमी चाहे तो विभिन्न प्रकार के उत्पाद या फिर चाहे तो किसी एक उत्पाद का उत्पादन कर सकता है | लेकिन यहाँ पर संक्षिप्त तौर पर हम Tomato sauce/Ketchup, Tomato Puree एवं Tomato Juice के Manufacturing process की बात कर लेते हैं |

Tomato Juice:

Tomato Juice बनाने के लिए सर्वप्रथम पूर्ण रूप से पके लाल टमाटरों की छंटनी करके धो लिया जाता है उसके बाद Crusher या चाकू की मदद से काट लिया जाता है उसके बाद टमाटर के कटे हुए Pieces को steam jacketted kettle में डालकर गरम किया जाता है और इन्हें तब तक गरम किया जाता है जब तक ये Soft न हो जाएँ | उसके बाद एक अच्छी चलनी की मदद से इन टमाटरो को पुल्पिंग मशीन की ओर अग्रसित किया जाता है ताकि जूस से बीज और टमाटर की स्किन को अलग किया जा सके | उसके बाद लगभग 1% मात्रा में नमक और चीनी मिलकर इसको 85-90 C पर गरम किया जाता है और गरम जूस को बोतल में भर कर एक दम से बंद कर दिया जाता है और इन बोतलों को 30 minute तक boiling water में डालकर प्रसंस्कृत किया जाता है | और उसके बाद ठंडा कर लिया जाता है |

Tomato Puree:

Tomato Puree production करने के लिए भी जूस उपर्युक्त विधि से ही निकाला जाता है उसके बाद उसे Vacuum process के अंतर्गत 9 से 12% तक ठोस किया जाता है | बाद में उसे बोतल में पैक कर 30 minute के लिए boiling water में प्रसंस्कृत कर ठंडा कर लिया जाता है |

Tomato Ketchup:

Tomato Ketchup Tomato processing business का मुख्य Product है इसको तैयार करने के लिए उपर्युक्त जूस में मसाले, नमक, छनी इत्यादि मिलाये जाते हैं | मसालों में मुख्य रूप से लौंग, इलायची, काली मिर्च, दाल चीनी  इत्यादि सामग्री को मलमल के कपडे में बाँध लिया जाता है और इसको जिस steam jacketted kettle में जूस को डाला गया हो छोड़ दिया जाता है | चीनी, नमक एवं Vinegar, acetic acid को बाद में डाला जाता है | Tomato Ketchup साफ़ सुथरी बोतल में गरम ही भरा जाना चाहिए और बाद में इसे भी प्रसंस्कृत करने के लिए 30 मिनट तक boiled water में डाला जाता है, और फिर ठंडा किया जाता है |

The following two tabs change content below.
मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Comments

  1. By Amit kr

    Reply

  2. By shrawan kumar yadav

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


*