वाशिंग डिटर्जेंट पाउडर की जानकारी |

वाशिंग डिटर्जेंट पाउडर की जानकारी |

बाज़ार में भिन्न भिन्न प्रकार के Washing detergent powder देखने को मिलते हैं | और यह निश्चित है की इन सबका निर्माण किसी एक formula अर्थात विधि से नहीं किया होगा | अलग अलग washing detergent powder को बनाने में भिन्न भिन्न फार्मूला और भिन्न भिन्न Material का उपयोग संभावित है | लेकिन यहाँ पर हम जो विधि बताने जा रहे हैं, इस विधि का उपयोग घरेलु उद्योग के तौर पर या फिर washing detergent powder सम्बन्धी अपनी आवश्यकताओं को पूरा करने हेतु किया जा सकता है |

वाशिंग डिटर्जेंट पाउडर क्या है :

अगर हम सामान्य जन साधारण की बात करें, तो अधिकांश लोग washing detergent powder को surf या निरमा के नाम से जानते हैं | यह सफ़ेद रंग का एक पाउडर होता है | जिसे लोगो द्वारा कपड़े धोने के उपयोग में लाया जाता है | ग्रामीण भारत में कुछ लोग इस पाउडर को बर्तन एवं किसी गन्दी जगह जैसे गंदे कमरे इत्यादि को साफ़ करते वक्त भी प्रयोग में लाते हैं |

Washing-detergent-powder

Washing-detergent-powder

Business Scope in washing powder udyog:

हालाँकि इंडिया में अन्य देशों के मुकाबले washing detergent powder को बहुत कम उपयोग में लाया जाता है | हमारे देश में एक साल में प्रति व्यक्ति द्वारा औसतन लगभग 2.8 किलो पाउडर उपयोग में लाया जाता है | जबकि अन्य देशो जैसे मलेशिया, फिलिपिन्स में यह आंकड़ा 3.7 और अमेरिका में 10 किलो प्रति व्यक्ति है | फिर भी इंडिया की detergent industry में प्रति वर्ष 7 -9% growth अपेक्षित है |

Census 2011 के अनुसार इंडिया की कुल जनसँख्या का लगभग 68.84% जनसँख्या ग्रामीण इलाकों में निवासित है | जिसका साफ़ मतलब होता है, की इस बिज़नेस के लिए भविष्य में ग्रामीण इलाकों में बहुत बड़ा Scope है | क्योकि ग्रामीण इलाकों में जागरूकता की कमी के कारण लोगो में सफाई के प्रति विशेष रुझान नहीं है | जिसके परिणामस्वरूप ग्रामीण इलाकों में निवासित जनता सिर्फ साबुन से ही काम चला लेती है | आने वाले समय में जैसे ही ग्रामीण इलाकों में सफाई को लेकर जागरूकता बढ़ेगी | तो उनका washing detergent powder और साबुन दोनों को उपयोग में लाना अपेक्षित है |

सामग्री |Ingredients for making washing detergent powder :

यह Formula विधि 50 किलो पाउडर पर आधारित है | आप अपनी आवश्यकतानुसार इस मात्रा को घटा बढ़ा सकते हैं | यहाँ पर हम यह जानने की कोशिश करेंगे की यदि हमें 50 किलो पाउडर बनाना हो तो उसके लिए हमें कौन कौन से Ingredients की कितनी कितनी मात्रा लेनी होगी |

  • 23 किलो IDET-10
  • 18 किलो Sodium tripolyphosphate
  • 8 किलो Trona or Soda Ash.
  • 1 किलो Carboxymethyl cellulose
  • Acid blue color powder : आवश्यकतानुसार
  • Tinopal : आवश्यकतानुसार
  • Liquid detergent or water : आवश्यकतानुसार

उपकरण | Equipments.

एक मिश्रण को मिक्स करने हेतु बर्तन जिसकी क्षमता 20-25 किलो से कम न हो | यदि आपके पास 20 किलो क्षमता वाला बर्तन है | तो 50 किलो डिटर्जेंट पाउडर आप तीन बार में बना पाएंगे | और यदि 25 किलो वाला है तो यह काम आप दो बार में कर पाएंगे | और इसके अलावा इस मिश्रण को हिलाने के लिए एक मथानी अर्थात electric agitator की आवश्यकता होती है |

 

वाशिंग डिटर्जेंट पाउडर बनाना |Washing detergent powder making formula :

Step 1: इस Formula में सबसे पहला स्टेप उपर्युक्त दी गई सामग्री IDET-10 को मिश्रण हेतु चुने गए बर्तन में डालना, उसके बाद Sodium  tripolyphosphate को बर्तन में डालना और साथ में एक व्यक्ति को हिलाने की प्रक्रिया में लगाना | इसी क्रमानुसार अन्य सामग्री Trona or Soda Ash, Carboxymethyl cellulose को भी बर्तन में डालना होता है | और ध्यान रहे इस मिश्रण को हिलाते रहने की प्रक्रिया बंद नहीं होनी चाहिए | आपका लक्ष्य इन सब सामग्री को अच्छी तरह मिलाकर मिश्रण तैयार करने का होना चाहिए |

Step 2: अब जब आपको लगता है की यह सामग्री एक दुसरे में अच्छी तरह मिलकर एक मिश्रण का रूप ले चुकी हैं | तो अगला स्टेप यह है की आप इस Formula से बने मिश्रण में Acid blue color powder और Tinopal पाउडर भी डाल दें | और हिलाते रहने की क्रिया जारी रखें |

Step 3: मिश्रण को हिलाते रहने की प्रक्रिया को रोके बिना अब इस मिश्रण में हल्का हल्का पानी छिडकें आप चाहें तो किसी liquid detergent का उपयोग भी कर सकते हैं | पानी छिडकते वक़्त या liquid detergent का उपयोग करते वक्त बेहद ध्यान देने योग्य बात यह है | की इस मिश्रण की कोई टिक्की सी जमने न पाय |

Step 4: अब जब आपको लगता है की सारे पदार्थ एक दुसरे के साथ अच्छी तरह मिल गए हैं | और आप एक अच्छा मिश्रण (lumps free) तैयार करने में कामयाब हो गए हैं | तो बर्तन में रखे हुए मिश्रण को किसी साफ़ दरी या कपड़े में सुखाने को डाल दें |

 

Step 5: अब यदि मिश्रण सूख गया हो तो, इसको लोहे की छलनी से छान लें | ताकि washing detergent powder के दानो में समरूपता आ जाय |

अब यह पाउडर उपयोग में लाने के लिए तैयार है | आप चाहें तो इसको बेचने हेतु 0.5 किलो या 1 किलो की पैकेजिंग कर सकते हैं |

यह भी पढ़ें |

साबुन कैसे बनायें |

खादी ग्राम उद्योग प्रशिक्षण केंद्र लिस्ट |   

उपर्युक्त washing detergent powder making विधि केवल जानकारी और एक idea देने के लिए है | व्यवसायिक तौर पर वाशिंग डिटर्जेंट पाउडर बनाने के लिए किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से प्रशिक्षण लेना, और इसकी व्यवहारिक जानकारी होना ही business को आगे बढ़ा पायेगा और यह आवश्यक भी है | इसलिए यह business शुरू करने से पहले प्रशिक्षण और इस क्षेत्र से जुड़े हुए लोगों से अवश्य संपर्क करें | तभी कोई भी व्यक्ति अपने सपनों को मूर्त रूप और business से Kamai करने में कामयाब हो पायेगा |

 

 

Comments

  1. By mansu mahali

    Reply

  2. By Sandeep Kumar

    Reply

  3. By himmat singh

    Reply

  4. By RAHUL KESHARWANI

    Reply

    • By prince

  5. By Pawan kumar

    Reply

  6. By Dev

    Reply

    • By Sunil Pathak

  7. By ravinder Kashwan

    Reply

  8. By bishnu khanal

    Reply

  9. By rajiv

    Reply

  10. By rajiv

    Reply

  11. By Shiv mahan singh

    Reply

  12. By jitendra pandey

    Reply

  13. By yogendra kewalram bangare

    Reply

    • By yogesh

  14. By vivek kumar singh

    Reply

  15. By Rakesh singh

    Reply

  16. By sameer kumar

    Reply

  17. By Aditya

    Reply

  18. By NitiN agarwal

    Reply

  19. By rakesh verma

    Reply

  20. By Raksanjani

    Reply

    • By bhagirath

  21. By Raksanjani

    Reply

  22. By avneesh

    Reply

  23. By Yogesh Patil

    Reply

  24. By Mukesh

    Reply

  25. By s s gurjar

    Reply

  26. By sabharaj verma

    Reply

  27. By Deepak sharma

    Reply

  28. By Tuleshwar Kaushik

    Reply

  29. By Amit

    Reply

  30. By Vishal Jain

    Reply

  31. By raj

    Reply

  32. Reply

  33. By Birjpal

    Reply

  34. By faheem meem

    Reply

  35. By PREM NATH PRASAD

    Reply

  36. By Akhilesh Mourya

    Reply

  37. By dinesh

    Reply

  38. By Amresh kumar gond

    Reply

  39. By JP Madhup

    Reply

  40. By JP Madhup

    Reply

  41. Reply

  42. Reply

  43. Reply

  44. By पूर्णेन्दु शरद शुक्ला

    Reply

  45. Reply

  46. By aman thawiat

    Reply

  47. By ankur sharma

    Reply

  48. By hari om samdani

    Reply

  49. By YOGENDRA PRASAD SEMWAL

    Reply

  50. Reply

  51. By adarsh saini

    Reply

  52. By pradeep

    Reply

  53. By toufiq pathan

    Reply

  54. Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*