आयात एवं निर्यात

आयात एवं निर्यात

Online Certificate Program for Export Import Business

भारत सरकार के वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के अधीन विदेश व्यापार महानिदेशालय ने भारतीय विदेश व्यापार संस्थान के माध्यम से निर्यात बंधु योजना के अंतर्गत आयात एवं निर्यात बिज़नेस करने के इच्छुक उद्यमियों एवं व्यक्तियों के लिए Online Certificate Program की संरचना की है | इस कार्यक्रम के तहत इच्छुक अभ्यर्थियों को आयात निर्यात बिज़नेस सम्बन्धी सभी विषयों पर जानकारी दी जाएगी | जैसा की हम पहले भी बता चुके हैं की विदेश व्यापार महानिदेशालय ने अनुभव किया की अन्तराष्ट्रीय व्यापार से जुड़े उद्यमियों में अनेकों Skills की कमी पायी गई | इन्ही सब बातों के मद्देनज़र विदेश व्यापार महानिदेशालय ने निर्यात बंधु योजना की शुरुआत की है और इसी योजना के अंतर्गत Indian Institute of Foreign Trade के साथ मिलकर Online Certificate Program की शुरुआत की है | आज हम हमारे इस लेख में यही जानने की कोशिश करेंगे की भारतीय विदेश व्यापार संस्थान द्वारा संचालित यह Online

Niryat Bandhu Scheme in Hindi.

Niryat Bandhu Scheme भारत सरकार के विदेश व्यापार महानिदेशालय द्वारा चलाई गई एक योजना है जिसका लक्ष्य पहली पीढ़ी के उद्यमियों एवं IEC होल्डर को आयात निर्यात बिज़नेस सम्बन्धी प्रशिक्षण एवं सलाह प्रदान करना है | भारत में अंतराष्ट्रीय बिज़नेस शुरू करने के लिए भारत सरकार में विदेश व्यापार महानिदेशालय पहला संपर्क बिंदु है | कोई भी व्यक्ति जो अंतराष्ट्रीय व्यापार शुरू करना चाहता है उसके लिए सबसे पहले Import Export Code (IEC) के लिए आवेदन करना आवश्यक हो जाता है | एक आंकड़े के मुताबिक Directorate General of Foreign trade प्रति वर्ष लगभग 60000 IEC जारी करता है | तत्पश्चात IEC holder विदेशी व्यवपार निति के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने हेतु DGFT से संपर्क करते हैं | महानिदेशालय के अनुभव के अनुसार सामान्य तौर पर नए उद्यमियों में अन्तराष्ट्रीय बिज़नेस करने के लिए आवश्यक जरुरी Skills की भारी कमी देखने को मिलती है | इसी बात के मद्देनज़र

Import Export Code Ke Liye Online Apply Kaise Kare.

कोई भी उद्यमी जो आयात निर्यात का व्यवसाय करना चाहता है को Import Export Code यानिकी IEC की आवश्यकता हो सकती है | इसलिए ऐसे निर्माणकर्ता जो अपनी फैक्ट्री या इकाई से उत्पादित उत्पाद को विदेशों की और एक्सपोर्ट करना चाहते हैं या ऐसे उद्यमी जो किसी अन्य देश में उत्पादित उत्पाद को भारत में आयात करना चाहते हैं को चाहिए की वह कंपनी रजिस्ट्रेशन के बाद Import Export Code के लिए Apply करे ताकि वे क़ानूनी रूप से इस तरह की प्रक्रिया करने के लिए योग्य हो सकें उसके बाद उद्यमी को लागू कर प्रणाली के अंतर्गत भी अपने बिज़नेस को पंजीकृत कराना होगा | यद्यपि हम अपने पिछले लेख आयात निर्यात बिज़नेस शुरू करने के स्टेप में भी  Import Export Code के बारे में संक्षिप्त रूप से वार्तालाप कर चुके हैं | IEC यानिकी Import Export Code भारत सरकार के अधीन कार्यरत  विदेशी व्यवपार महानिदेशालय द्वारा समबन्धित

Chinese Products Kaise Import Kare.

Chinese Products भारत में बेहद मशहूर हैं इनकी प्रसिद्धि का कारण इनकी सस्ते दरों पर बाजारों में उपलब्ध होना है यद्यपि यह पाया गया है की Chinese Products की टिकने की क्षमता अर्थात durability अन्य उत्पादों की तुलना में कम पायी गई है लेकिन फिर भी सस्ते होने के कारण इंडिया की मार्किट में Chinese Products खूब बिकते हैं | अब चूँकि भारतवर्ष के लोगों के बीच चीन में निर्मित उत्पादों की मांग हमेशा बनी रहती है इसी बात के मद्देनज़र विक्रेता अधिक कमाई करने के वशीभूत होकर चीन में निर्मित उत्पादों को भारत में आयात करके ग्राहकों को बेचना चाहते हैं लेकिन इस बारे में अर्थात Chinese products import करने के बारे में पर्याप्त जानकारी के अभाव में वह इस ओर अपना कदम नहीं बढ़ा पाते या इस ओर अपना कोई Plan भी नहीं बना पाते | विक्रेताओं एवं उद्यमियों को इस विषय पर कुछ जरुरी जानकारी के

Import Export Business Start Karne Ke Steps.

सामान्य मनुष्य ने Hindi फिल्मों में बहुत बार import export business के बारे में सुना होगा | क्योंकि हिंदी फिल्मो में जब कोई व्यक्ति नकली बिजनेसमैन बनकर किसी व्यक्ति के सामने जाता है, तो वह अपने आप को  import export business में संलिप्त एक बिजनेसमैन बताता है | इसलिए बहुत सारे व्यक्तियों के दिमाग में यह प्रश्न होना स्वभाविक है की Export import business होता क्या है? और कोई उद्यमी इस बिज़नेस को कैसे start कर सकता है |  Import Export business Kya hai: सामन्यतया हिंदी में export का अर्थ निर्यात से और Import का अर्थ आयात से लगाया जाता है | अर्थात Import का आशय बाहरी देशों से अपने देश में माल मंगाने को और Export से आशय अपने देश से  बाहरी देशों की तरफ भेजे जाने वाले माल से लगाया जाता है | और  import export business का अर्थ अंतराष्ट्रीय व्यापार से लगाया जा सकता है |