Yojana

Yojana

Rural Postal Life Insurance Scheme RPLI in Hindi.

Rural Postal life insurance Schemes (RPLI) की शुरुआत 24/03/1995 से भारत सरकार ने मल्होत्रा कमेटी की सिफारिश के बाद की थी | वर्ष 1993 में मल्होत्रा कमेटी ने अपने शोध में पाया की कुल बीमे लायक जनसँख्या में से, केवल 22% लोगो का ही बीमा है | और यह आंकड़ा शहरो के मुकाबले ग्रामीण भारत में बहुत ही कमजोर था | कमेटी ने अपनी रिसर्च में पाया की ग्रामीण इलाको में नियुक्त पोस्टमॉस्टर लोगों की नज़र में विश्वसनीय और लोगो के साथ दोस्ताना रखने वाला व्यक्ति है | और भारतीय डाक का नेटवर्क शहरों से लेकर ग्रामीण भारत तक पूरा फैला हुआ है | बस इसी बात को मद्देनज़र रखते हुए भारत सरकार ने मल्होत्रा कमेटी की सिफारिश मानकर Rural Postal life insurance schemes (RPLI) की शुरुआत की | RPLI Kya Hai: जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में बता चुके हैं RPLI का फुल फॉर्म Rural Postal life insurance

Marketing Assistance Scheme For MSME In Hindi.

Marketing Assistance scheme के अंतर्गत नेशनल स्माल इंडस्ट्रीज कारपोरेशन द्वारा लघु उद्योगों को अपने उत्पाद की Marketing करने में सहायता प्रदान की जाएगी | भारतवर्ष में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों का क्षेत्र अत्यधिक व्यावसायिक और गतिशील क्षेत्र है | लेकिन वैश्विक Market में तेजी से हो रहे आर्थिक परिदृश्य में बदलावों के कारण, भारत के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों (MSME) के लिए जहाँ एक तरफ अवसर पैदा हुए हैं, वही दूसरी तरफ उनके सामने चुनौतियाँ भी उभर कर आयी हैं | बड़े उद्योगों के मुकाबले लघु उद्योगों के पास सामरिक उपकरण (strategic tools) की भारी कमी है | इन tools में से एक tool है, Marketing  जो वर्तमान में कुटीर, लघु एवं मध्यम उद्योगों की सबसे बड़ी समस्या है | इन्ही सब समस्याओं को ध्यान में रखते हुए, इनके निदान हेतु भारत सरकार ने Marketing Assistance scheme की शुरुआत की है | Marketing Assistance scheme kya hai:

Mahila Udyam Nidhi Scheme information Hindi.

Mahila Udyam Nidhi Scheme शुरू करने के पीछे भारत सरकार का लक्ष्य महिलाओं में उद्यम करने की प्रवृति को प्रोत्साहित करना है | ताकि महिलाओं में आत्मनिर्भरता, आत्मविश्वास बढे, और उनका घरेलु तौर पर शोषण कम हो | हालांकि आज की महिला किसी भी क्षेत्र में पुरुषों से कम नहीं आंकी जा सकती | क्योकि समय समय पर भिन्न भिन्न क्षेत्रों में महिलाओं ने कामयाबी की मिसाल कायम की है | लेकिन India में आज भी अधिकतर महिलाओं को पूर्ण रूप से घरेलू स्वंत्रता प्राप्त नहीं है | उन्हें प्राथमिक रूप से घरेलू काम ही करने को दिए जाते हैं | व्यावसायिक मामलों में महिलाओं की हिस्सेदारी कम होती है | इसी बात के मद्देनज़र भारत सरकार ने लघु उद्योग विकास बैंक (SIDBI) के माध्यम से Mahila Udyam Nidhi Scheme नामक एक Yojana शुरू की है | महिला उद्यम निधि क्या है | Mahila Udyam Nidhi एक स्कीम है

Subsidy scheme for Goat sheep rabbit farming IDSRR Hindi.

INTEGRATED DEVELOPMENT OF SMALL RUMINANTS AND RABBITS केंद्र सरकार द्वारा प्रायोजित एक subsidy scheme है | जो केवल Goat, Sheep, rabbit farm के लिए ही है | Scheme ke lakshy (Objectives): Goat farming, भेड़ पालन और खरगोश पालन को बढ़ावा देना, और लोगो को व्यवसायिक तौर पर इनकी farming करने के लिए प्रोत्सहित करना | नियमित चयन के माध्यम से देशी नश्लो में उत्पादकता प्रदर्शन को बढ़ाना | स्वीकार्य मानदंडो पर उत्पादनकर्ताओं के लिए एक Market तैयार की जाएगी | ताकि उत्पादनकर्ताओं को अपने उत्पादन की उचित कीमत मिल सके | इस प्रकार की Farming कर रहे किसानो, व्यवसायियों को उनके क्षेत्र में Promote करना | ताकि अन्य लोगो को भी लगे की जानवरों से अच्छी खासी Kamai की जा सकती है | ग्रामीण इलाकों में रोजगार को प्रोत्साहित करना, और बेरोजगारी को कम करना भी IDSRR Scheme का लक्ष्य है | Eligibility: कोई भी व्यक्ति जो उस प्रदेश,

DEDS NABARD Subsidies Scheme for dairy farming.

Dairy business में लोगो की रूचि को प्रोत्साहन हेतु, भारत सरकार ने DEDS यानिकी Dairy Entrepreneurship development Scheme की शुरुआत 1 सितम्बर 2010 से की है | इस Scheme के तहत Dairy Farming business करने की चाह रखने वाले व्यक्ति को, कुल Project cost का 33.33% तक की Subsidy देने का प्रावधान है | Scheme ke Uddeshy: Modern dairy farm बनवाने के लिए प्रोत्साहन ताकि स्वच्छ दूध का उत्पादन किया जा सके | इस Scheme का उद्देश्य बछिया और बछड़ो के पालने की प्रवृत्ति को बढ़ावा देना है | जिससे अच्छी नस्ल को संरक्षित रखा जा सके | असंगठित क्षेत्रो में संरचनात्मक बदलाव लाना ताकि दूध का प्रारम्भिक प्रसंसकरण ग्रामीण स्तर पर किया जा सके | पारम्परिक तकनिकी और गुणवत्ता का up gradation ताकि Milk को commercial scale पर handle किया जा सके | असंगठित क्षेत्र को Infrastructure उपलब्ध कराना, और देश में रोजगार बढ़ाना भी इस Scheme का