बकरी पालन व्यवसाय में सफलता की कहानी में आज हम Deepak Patidar की बात करेंगे, यदि कोई व्यक्ति Goat Farming बिज़नेस करने की सोचता है, तो उसकी उस business के प्रति कुछ अपेक्षाएं होती हैं । इनमे मुख्य रूप से आजीविका चलाना, इतनी Kamai करने की अपेक्षा रखना की पारिवारिक जिम्मेदारियों का निर्वहन हो सके, और किसी दुसरे के अधीन नौकरी न करने की लालसा इत्यादि होती हैं। यह कहानी (Story) भी एक ऐसी ही व्यक्ति की है, जिसने शायद Goat Farming बिज़नेस की शुरुआत इन्ही सब बातों के मद्देनज़र की हो। कहते हैं की कठिनाइयाँ, चुनौतियाँ हर बिज़नेस में आती हैं, और ये अक्सर बिज़नेस के शुरूआती दौर में आती हैं । यही वह समय होता है, जब या तो बिज़नेस करने वाला व्यक्ति इन कठिनाइयों, चुनौतियों से हार मान लेता है, या इनका डटकर सामना करके आगे बढ़ता जाता है। आज हम एक ऐसे ही व्यक्ति की बात करेंगे जिन्होंने अनेक कठिनाइयों, चुनौतियों का सामना  करके अपने Goat Farming business को success बनाया है । जी हाँ दोस्तों, जिस व्यक्ति की हम यहाँ पर बात कर रहे हैं उनका नाम है Deepak Patidar । कृषि में BSC करने के बावजूद Deepak Patidar को इनके 15 सालों के Goat Farming business में अनेकों कठिनाइयों और चुनौतियों का सामना करना पड़ा । एक बार तो बहुत अधिक आर्थिक हानि उठाने के कारण उनके मन में इस बिज़नेस को छोड़ने का विचार आया था । लेकिन यहाँ पर केंद्रीय बकरी अनुसन्धान द्वारा दी गई मदद और सलाह उनके लिए ‘’ डूबते को तिनके का सहारा’’ साबित हुई । और वे फिर से अपने बिज़नेस को नई दिशा देने में कामयाब हुए।

Deepak Patidar goat farming success stroy

Early Life :

Deepak Patidar का जन्म मध्य प्रदेश राज्य के धार जिले के एक गांव में हुआ था । इन्होने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा कक्षा 5 तक की पढाई गाँव के ही एक सरकारी स्कूल में की । उसके बाद Deepak Patidar आगे की पढाई करने हेतु इंदौर चले गए थे। और वही इन्होने अपने आगे की  शिक्षा पूरी की । इंदौर के कृषि महाविद्यालय से इन्होने सन 2000 में कृषि स्नातक की डिग्री प्राप्त की । कृषक परिवार में जन्मे Deepak Patidar का हमेशा से कृषि सम्बन्धी कामो और व्यवसायों में झुकाव रहा । जिसका असर इनके द्वारा ग्रहण की गई शिक्षा पर भी दीखता है । इन्होने BSC की डिग्री कृषि विषय पर ही ली । Deepak Patidar के अनुसार उनका Goat Farming को व्यवसाय के रूप में अपनाने का मूल कारण यह था, की बकरियों को लोग अक्सर नकद पैसे देके खरीदते हैं। और यह कृषि आधारित व्यवसाय होने के साथ साथ ज़ीरो मार्केटिंग वाला व्यवसाय भी था। वर्ष 2000 में Deepak Patidar ने केंद्रीय बकरी अनुसन्धान संस्थान उत्तरप्रदेश द्वारा आयोजित Training में हिस्सा लेकर, ट्रैनिंग ली । और वर्ष 2001 से बकरी पालन व्यवसाय में प्रवेश किया। बकरी पालन प्रारम्भ करने के सात सालो बाद अर्थात वर्ष 2008 में केंद्रीय बकरी अनुसन्धान संसथान ने Deepak Patidar को बकरी पंडित नामक पुरस्कार से अलंकृत किया।

Experience of Deepak Patidar in Goat Farming:

Deepak Patidar के अनुसार उनके द्वारा प्रारम्भ में अर्थात शुरू में बकरी की लोकल नस्ल का पालन किया गया। लेकिन कुछ लाभकरी और अच्छे परिणाम नहीं निकले। Deepak Patidar ने लगभग डेढ़ वर्ष तक बड़ी मुश्किलों का सामना किया, यहाँ तक की बकरी पालन व्यवसाय में उन्हें नुकसान तक हुआ। जिसके चलते उन्हें आर्थिंक हानि उठानी पड़ी। अब उनके मन में आया की यह व्यवसाय बंद कर दें, और कोई और व्यवसाय करें। उन्हें लगने लगा था की बकरियों को शेड (Shed) के अंदर पालना बहुत कठिन है। लेकिन जब उन्होंने केंद्रीय बकरी अनुसन्धान संस्थान के वैज्ञानिकों से संपर्क किया। तो उन्होंने उनको प्रोत्साहित किया, और उनका मनोबल बढ़ाया। और उन वैज्ञानिकों की बात मानकर Deepak Patidar ने फिर से अपने Goat Farming बिज़नेस को एक नया रूप देकर व्यवसाय शुरू करने की ठानी। Deepak Patidar के अनुसार उस स्थिति में संस्थान के वैज्ञानिकों द्वारा जो सुझाव Deepak Patidar को दिए गए उनमे से कुछ मुख्य सुझाव और सहायता निम्न हैं ।

  • बकरी की नस्ल में परिवर्तन करके किसी भारतीय नस्ल की बकरियों को फार्म का हिस्सा बनाना।
  • उन्नत किस्म की नस्ल की बकरियों का पालन करने के साथ breeding फार्म ।
  • Goat Farm के उत्पादन अर्थात बकरियों को जीवित भार के आधार पर बेचना ।
  • अपने उत्पादन हेतु मार्केटिंग करना ।
  • उस क्षेत्र में निवासित सभी छोटे बड़े बकरी पालन करने वाले लोगो को मिलकर काम करने की सलाह ।
  • संस्थान के स्वास्थ्य विभाग द्वारा समय समय पर बकरी की बिमारियों समबन्धी रोगों का उपचार ।
  • बकरी की नस्ल में सुधार करने Breeding हेतु संस्थान द्वारा बीजू बकरे प्रदान किये गए ।
  • Deepak Patidar ने अपने फार्म के लिए सिरोही नस्ल को चयनित किया जिसे उन्हें इस व्यवसाय में लाभ हुआ ।
  • संस्थान द्वारा दी गई मदद से बकरी और बकरों की मृत्यु दर काफी कम हो गई । और नस्ल बदलने से आर्थिक लाभ बी प्राप्त हुआ ।

Achievement of Deepak Patidar in Goat Farming:

वर्तमान में Deepak Patidar के Goat farm में अलग अलग नस्लों जैसे सिरोही, बरबरी, जमुनापारी, जखराना इत्यादि की 500 बकरियाँ हैं। जिन्हे ये अपने ग्राहकों को उनके जीवित भार के अनुसार 350 से 500 रूपये प्रति किलो के हिसाब से बेचते हैं। उनके आस पास जितने भी अन्य बकरी पालक हैं, Deepak Patidar की कोशिश रहती है, की वो भी अपनी बकरियों में बीजू बकरों के माध्यम से गर्भधारण कराएं। ताकि बकरी की अच्छी उत्पादकता वाली नस्ल पैदा हो सके। इसके अलावा अन्य बकरी पालकों को बकरी की बिमारियों हेतु दवाइयों, टीकाकरण, डी वार्मिंग इत्यादि में Deepak Patidar सहायता प्रदान करते रहते हैं। इनके Goat farm का मुख्य उद्देश्य अन्य बकरी पालकों को पशु पालन विभाग द्वारा संचालित योजनाओं और NGO’s के बारे में अवगत कराना, और उनकी सहायता करना है। साथ ही साथ दीपक बकरी पालन करने वाले इच्छुक व्यक्तियों को प्रशिक्षण भी देते हैं। अब तक इनके Goat farm में लगभग 5000 लोग भ्रमण कर चुके हैं। जिन उपर्युक्त सेवाओं की हम बात कर रहे हैं इन सबके बदले Deepak Patidar शुल्क लेते हैं। अपने उत्पाद एवं सेवा के ऑनलाइन प्रचार प्रसार हेतु दीपक ने एक वेबसाइट goatwala.com बनायीं है ।

यह भी पढ़ें:

30 Comments

  1. Avatar for Mahesh H vallecha Mahesh H vallecha
    April 19, 2018
  2. Avatar for Akhilesh Akhilesh
    April 6, 2018
  3. Avatar for Rakesh Kumar Rakesh Kumar
    February 11, 2018
  4. Avatar for Deepak Singh Deepak Singh
    February 11, 2018
  5. Avatar for Naresh Singh Shekhawat Naresh Singh Shekhawat
    January 24, 2018
  6. Avatar for sumit gedam sumit gedam
    January 9, 2018
  7. Avatar for rupesh pachory rupesh pachory
    December 29, 2017
  8. Avatar for Murari yadav Murari yadav
    December 6, 2017
  9. Avatar for Jaibhagwan Jaibhagwan
    November 23, 2017
  10. Avatar for Vijay rajput Vijay rajput
    November 17, 2017
  11. Avatar for irfan hussain irfan hussain
    October 12, 2017
  12. Avatar for सुनील सुनील
    July 31, 2017
  13. Avatar for सुरेश कुमार सुरेश कुमार
    March 26, 2017
  14. Avatar for bk mishra bk mishra
    February 28, 2017
  15. Avatar for चेतन सिंह चेतन सिंह
    February 16, 2017
  16. Avatar for Tapas Sinha Tapas Sinha
    January 5, 2017
  17. Avatar for shatrughna shatrughna
    December 27, 2016
  18. Avatar for चक्रधर वनकर चक्रधर वनकर
    December 19, 2016
  19. Avatar for sandip sandip
    December 16, 2016
  20. Avatar for Kundankumargupta Kundankumargupta
    December 1, 2016
  21. Avatar for kishore paridar kishore paridar
    November 16, 2016
  22. Avatar for राम निवास राम निवास
    November 6, 2016
  23. Avatar for Tasleem ahmad Tasleem ahmad
    November 1, 2016
    • Avatar for Mahendra Rawat Mahendra Rawat
      November 2, 2016
    • Avatar for Sachin kumar Sachin kumar
      December 26, 2016
  24. Avatar for Balraj Kharera Balraj Kharera
    October 11, 2016
  25. Avatar for सुनिता मुर्मू सुनिता मुर्मू
    September 26, 2016
    • Avatar for Mahendra Rawat Mahendra Rawat
      September 27, 2016
  26. Avatar for anil anil
    September 12, 2016

Leave a Reply

Your email address will not be published

error: