Restaurant and Bar Business in Hindi । रेस्टोरेंट एवं बार कैसे खोलें.

Restaurant and bar से तो लगभग सभी लोग वाकिफ होंगे क्योंकि यह एक ऐसी जगह होती है जहाँ लोग अपने जिन्दगी के कुछ क्षणों को आनंदमय बनाने के लिए जाते हैं । जी हाँ यह एक ऐसी जगह होती है जहाँ ग्राहक को स्वादिष्ट खाने के साथ मदिरा यानिकी शराब भी बेचीं जाती है । और वर्तमान में Restaurant and bar का बिज़नेस भी ऐसे लाभकारी बिज़नेस की लिस्ट में शामिल है जिसमे निवेश तो बहुत ज्यादा करना पड़ता है लेकिन बेहद कम समय में इस तरह के बिज़नेस से बहुत अधिक कमाई भी की जा सकती है, यदि Restaurant and bar उपयुक्त जगह पर हो तो । हालांकि रेस्टोरेंट तो मनुष्य भारत के किसी भी कोने में खोल सकता है लेकिन रेस्टोरेंट के साथ बार का बिज़नेस सिर्फ उसी राज्य में कर सकता है जिन राज्यों में इसकी इजाजत हो क्योंकि भारत के अनेक राज्यों में मदिरा बेचने एवं खरीदने पर प्रतिबंध है । तो हो सकता है की ऐसे राज्यों में सम्बंधित विभाग से बार खोलने की अनुमति प्रदान न हो । लेकिन इन सबके बावजूद भी हम Restaurant and bar Business पर वार्तालाप करना इसलिए पसंद करेंगे क्योंकि बहुत सारे व्यक्ति उद्यमिता की ओर अग्रसित होने एवं अपनी कमाई करने के लिए इस बिज़नेस के बारे में इन्टरनेट पर जानने की कोशिश करते हैं । तो आइये जानते हैं आखिर यह बिज़नेस है क्या?

Restaurant-and-bar-business-

रेस्टोरेंट और बार बिज़नेस क्या है (What is restaurant and bar business in Hindi):

रेस्टोरेंट से तो शायद आप सब वाकिफ होंगे क्योंकि यह एक ऐसा स्थान होता है जहाँ तरह तरह का खाना ग्राहक के आर्डर पर बनाया जाता है । और ग्राहकों द्वारा उस जगह पर बैठने एवं खाना खाने के लिए भुगतान किया जाता है । लेकिन शायद बार शब्द से आप अच्छी तरह परिचित नहीं होंगे यह किसी रेस्टोरेंट, क्लब, पब इत्यादि में एक ऐसा काउंटर होता है जहाँ से ग्राहकों को ड्रिंक्स एवं रिफ्रेशमेंट परोसे जाते हैं । इसलिए यदि किसी रेस्टोरेंट में इस तरह का कोई काउंटर नहीं है तो उसे सिर्फ रेस्टोरेंट का व्यापार कहा जायेगा जबकि जिस रेस्टोरेंट में ड्रिंक एवं रिफ्रेशमेंट परोसने का भी काउंटर होता है उस व्यापार को Restaurant and Bar Business कहा जाता है । इस तरह के स्थलों पर लोग कभी कभी या नियमित तौर पर खाना खाने एवं मदिरा का सेवन करने जाते हैं ।

रेस्टोरेंट एवं बार की आवश्यकता (Requirement of Restaurant and bar):  

मनुष्य की वर्तमान जीवनशैली ऐसी हो गई है की उसे अपने जीवन में काफी भागदौड़ करनी होती है । इसलिए आज का मनुष्य इस भागदौड़ भरी पूरे दिन की थकान उतारने के लिए बार एवं रेस्टोरेंट में डिनर करना पसंद करता है । यही कारण है की वह दोस्तों या परिवार के सदस्यों के साथ किसी Restaurant and Bar में डिनर करने का लगभग आदी हो गया है । हालांकि हर किसी के साथ ऐसा नहीं है ऐसा सिर्फ उन लोगों के साथ है जिनकी कमाई ठीक ठाक है क्योंकि रेस्टोरेंट में खाना खाने का एवं ड्रिंक पीने का नियमित तौर पर बिल चुकाने का सामर्थ्य कुछ चुनिन्दा लोगों में ही होता है । लेकिन हफ्ते में, महीने में तो माध्यम वर्ग से जुड़े लोग भी Restaurant and Bar में जाना पसंद करते हैं । चूंकि इस तरह के खानपान का बिल चुकता करने का सामर्थ्य उनकी कमाई के हिसाब से कुछ लोगों में ही होता है यही कारण है की हर Restaurant and bar business सफल नहीं हो पाता बल्कि इस क्षेत्र में सफलता की दर एक आंकड़े के मुताबिक केवल 40-50% ही है । बाकी 40-50% रेस्टोरेंट खुलने के एक साल के भीतर भीतर बंद हो जाते हैं । इस बिज़नेस को शुरू करने में निवेश भी काफी अधिक करना पड़ता है इसलिए उद्यमी को चाहिए की वह अच्छे ढंग से रिसर्च के बावजूद ही इस तरह का बिज़नेस शुरू करे ।

रेस्टोरेंट और बार का व्यापार कैसे शुरू करें? (How to Start Restaurant and Bar Business In India in Hindi):

हालांकि हम पहले भी बता चुके हैं की Restaurant and Bar का बिज़नेस उन लाभकारी बिज़नेस की लिस्ट में शामिल है जिसके सफलतापूर्वक चलने पर अकूत सम्पति कमाई जा सकती है । लेकिन इस क्षेत्र के बहुत सारे स्टार्टअप एक साल के भीतर भीतर बंद भी हो जाते हैं । फिर भी आज हम हमारे इस लेख के माध्यम से इस बिज़नेस को शुरू करने से सम्बंधित सभी डिटेल्स पर गौर फरमाने का भरसक प्रयत्न करेंगे । हालांकि इंडिया में Restaurant and bar के अनेकों प्रारूप जैसे क्लब, पब, बियर बार, स्पोर्ट्स बार इत्यादि हो सकते हैं | इसलिए सर्वप्रथम उद्यमी को यही निर्णय लेना होता है की वह रेस्टोरेंट के साथ किस प्रकार का बार शुरू करना चाहता है । जब व्यक्ति द्वारा यह निर्णय ले लिया जाता है तो उसके बाद उसे व्यापारिक लोकेशन का निर्णय लेना होगा ।

  1. बिज़नेस लोकेशन का निर्णय कैसे लें:

सिर्फ रेस्टोरेंट खोलने के लिए जितनी जगह की आवश्यकता होती है Restaurant and bar खोलने के लिए उससे अधिक जगह की आवश्यकता होती है । इस तरह का व्यापार शुरू करने के लिए उद्यमी को 5000 Square Feet से 10000 Sq Feet जगह की आवश्यकता हो सकती है । और यह केवल ग्राउंड फ्लोर या एक से दो फ्लोर पर स्थापित हो सकता है । वर्तमान समय में इस तरह का सेटअप स्थापित करने में पार्क यानिकी खुले एरिया या हट इत्यादि भी स्थापित किये जा सकते हैं ताकि ग्राहक एक नया एवं अनोखा अनुभव का आनंद ले सके । restaurant and Bar यदि किसी मार्केट के नज़दीक, शौपिंग माल में, माल के नज़दीक हो तो इसके चलने की संभावना अधिक रहती है । जानकारों के मुताबिक रेस्टोरेंट एवं बार खोलना ऐसी लोकेशन में लाभकारी सिद्ध होता है जहाँ ऑफिस इत्यादि स्थापित हों आम तौर पर एक ऐसा एरिया जहाँ के अनेकों ऑफिस में 15 -20 हज़ार लोग काम करते हों ऐसे एरिया में Restaurant and Bar खोलना बेहद लाभाकरी होता है और बिज़नेस के चल निकलने की संभावना बहुत अधिक होती है । क्योंकि इससे संभावना यह लगाई जाती है की ऑफिस के बाद लोग अपने साथ काम करने वाले लोगों के साथ ऐसे स्थल पर जाना बेहद पसंद करते हैं । हालांकि इस तरह के बिज़नेस को शुरू करने के लिए इतनी बड़ी जगह मिल पाना एवं उसका किराया वहन कर पाना कोई सरल कार्य बिलकुल नहीं है । 5-10 हज़ार स्क्वायर फीट जगह का महीने का किराया ही एक से दो लाख रूपये हो सकता है । लेकिन फिर भी यह लोकेशन पर निर्भर करेगा । हालांकि केवल मार्केट में इस तरह का बिज़नेस स्थापित करना उद्यमी की राह को आसान जरुर बना देता है लेकिन इसका मतलब यह बिलकुल नहीं होता है की मार्केट में व्यक्ति कहीं भी यह खोल ले, मार्केट में वह लोकेशन जहाँ लोग पैदल आसानी से आ जा सकें और जिसकी दूरी किसी पार्किग स्थल से बेहद कम हो का चुनाव करना चाहिए ।

किसी भी बिज़नेस के लिए अच्छी लोकेशन का चुनाव कैसे करें?

  1. रसोई उपकरण खरीदारी स्थापना एवं कच्चे माल का चुनाव (Selection of Kitchen Equipment and Raw material):

यह सच है की रेस्टोरेंट बिज़नेस उसके खाने के स्वाद के नाम जाना जाता है यदि किसी रेस्टोरेंट का खाना स्वादिष्ट है तो वहां केवल उस स्थानीय एरिया से नहीं बल्कि दूर दूर से भी ग्राहक खाना खाने आ सकते हैं । जहाँ तक Restaurant and bar Business की बात है इसमें खाना स्वादिष्ट होने के साथ साथ सर्विस इत्यादि भी अच्छी होनी चाहिए यह सब तभी संभव है जब उद्यमी के पास एक मजबूत बैकएंड उपलब्ध हो । इसको सुचारू रूप से चलाने के लिए उद्यमी को गुणवत्तायुक्त किचन उपकरण एवं कच्चा माल खरीदना होगा । सही किचन उपकरण होने से न सिर्फ पूरी प्रक्रिया को आसान बनाया जा सकता है बल्कि यह उद्यमी को किसी खास कर्मचारी पर निर्भर होने से भी बचाता है । जानकारों के मुताबिक यदि उद्यमी शुरुआत में ही अच्छी गुणवत्तायुक्त सही उपकरण जैसे ड्रायर, फ्रायर, ओवन इत्यादि खरीद लेता है तो ये उपकरण आने वाले समय में उद्यमी की बचत में सहायक होते हैं । इसके अलावा यदि Restaurant and bar Business करने वाला व्यक्ति चाहता है की उसके बिज़नेस को शुरू करने में थोड़ा खर्च कम हो तो वह किचन में प्रयुक्त होने वाला फर्नीचर जैसे काम करने वाली टेबल, रैक इत्यादि पुरानी खरीद सकता है । हालांकि किचन को स्थापित करने वाला खर्चा इस बात पर निर्भर करता है की उद्यमी अपने ग्राहकों को कौन कौन से व्यंजन बनाकर खिलाना चाहता है । कहने का अभिप्राय यह है की एक Restaurant and bar के रसोईघर को स्थापित करने में लगभग 5-7 लाख रूपये का खर्चा आ सकता है । और किचन के कच्चे माल पर शुरूआती दौर में एक दो लाख रूपये तक का खर्चा आ सकता है अब चूँकि उद्यमी रेस्टोरेंट के अलावा बार भी खोल रहा है तो उसे 10-12 लाख की ड्रिंक भी खरीदनी पड़ सकती है ।

  1. सर्विस एरिया, रेस्टोरेंट और बार का निर्माण:

अब यदि उद्यमी द्वारा किचन के लिए आवश्यक उपकरण एवं कच्चा माल खरीद लिया गया हो और किचन की स्थापना पूर्ण हो गई हो तो अब उसका अगला कदम सर्विस एरिया, रेस्टोरेंट एवं बार के निर्माण का होना चाहिए । Restaurant and bar Business करने वाले उद्यमी को इस बात को समझना होगा की आम तौर पर लोग इस तरह के स्थलों पर आराम एवं आनंद लेने एवं अपना अच्छा समय बिताने आते हैं । इसलिए उद्यमी को अपने रेस्टोरेंट के रंग एवं माहौल को ऐसा बनाना होगा जो इस तरह की भावना को बढ़ावा देने में सहायक हों । वार्म रंगों को आम तौर पर रेस्तरां इत्यादि में प्राथमिकता दी जाती है और फर्नीचर भी काफी आरामदायक होना जरुरी है । इसलिए ऐसे स्थलों में मेहमानों को बैठाने के लिए आरामदायक कुर्सियां रखने की सलाह दी जाती है । हालांकि इस काम के लिए उद्यमी चाहे तो किसी इंटीरियर डिज़ाइनर को नियुक्त कर सकता है । इंटीरियर एवं फर्नीचर में 12-15 लाख या इससे भी अधिक खर्च हो सकते हैं ।

  1. लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन (License & Registration Required for Restaurant and Bar Business):

एक Restaurant and Bar Business शुरू करने के लिए इंडिया में अनेकों प्रकार के लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता हो सकती है । इस बिज़नेस को शुरू करने के लिए दस से भी अधिक लाइसेंस की आवश्यकता हो सकती है जिनका संक्षिप्त वर्णन कुछ इस प्रकार से है ।

  • मदिरा बेचने का लाइसेंस (Liquor License) राज्य के आबकारी विभाग से लिया जा सकता है।
  • शॉप एंड एस्टाब्लिश्मेंट लाइसेंस की आवश्यकता हो सकती है ।
  • खाद्य हाउस के लिए पुलिस डिपार्टमेंट से लाइसेंस ।
  • स्थानीय प्राधिकरण जैसे नगर निगम, नगर पालिका से लाइसेंस ।
  • फ़ूड लाइसेंस खाद्य एवं सुरक्षा मानक प्राधिकरण से लिया जा सकता है ।
  •  नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट फायर डिपार्टमेंट से लिया जा सकता है ।
  • जीएसटी रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन भी अप्लाई किया जा सकता है ।
  • गाना बजाने का लाइसेंस (Music License) ।
  • पर्यावरण मंजूरी का प्रमाण पत्र भी चाहिए हो सकता है ।
  • टेन नंबर टीडीएस काटने के लिए जरुरी होता है ।
  1. स्टाफ की नियुक्ति:

शुरूआती दौर में Restaurant and bar Business शुरू करने के लिए उद्यमी को कम से कम 22-25 Staffs की आवश्यकता हो सकती है जिसमे मैनेजर से लेकर सैफ, हेल्पर, वेटर, कैप्टेन, बर्तन धोने वाले, बार टेंडर, स्टोर कीपर इत्यादि सभी सम्मिलित हैं । जिनकी महीने की सैलरी लगभग 4 लाख रूपये तक हो सकती है । हालांकि प्रत्येक स्टाफ की सैलरी उसके अनुभव एवं कौशल पर निर्भर करेगी ।

  1. स्टाफ के लिए ड्रेस निर्धारित करना :

उद्यमी को अपने स्टाफ के लिए ड्रेस का निर्धारण करना बेहद जरुरी होता है क्योंकि ड्रेस में कर्मचारी साफ़ सुथरे एवं आकर्षक लगते हैं जो ग्राहकों पर अनुकूल प्रभाव डालते हैं । इसमें Restaurant and bar का बिज़नेस कर रहे उद्यमी को इस बात का विशेष ध्यान रखना होगा की किचन स्टाफ की अलग, उसमे भी सैफ कोट अलग, हेल्पर ड्रेस अलग, वेटर एवं कैप्टेन इत्यादि की ड्रेस अलग अलग होनी चाहिए । स्टाफ के लिए ड्रेस इत्यादि बनाने में भी उद्यमी का 35-50 हज़ार रूपये खर्च हो सकते हैं ।

सही दिशा में मार्केटिंग एवं कमाई:

अपने बिज़नेस की मार्केटिंग के लिए उद्यमी मेनू इत्यादि को आकर्षक ढंग से प्रकाशित करवा सकता है इसके अलावा यदि किसी ग्राहक द्वारा घर के लिए खाना पैक कराने को कहा जाता है तो उसमे एक प्रिंटेड पेपर का टुकड़ा जिसमे उसकी सभी आइटम इत्यादि का विवरण हों उस आर्डर के साथ डाल सकता है। लेकिन प्रिंटिंग सम्बन्धी यह काम कराने से पहले किसी डिज़ाइनर से मिलकर अपने रेस्टोरेंट के लिए लोगो डिजाईन करें । लोगो डिजाईन के बाद ही मार्केटिंग के लिए बैनर, पोस्टर, मेनू, पम्पलेट इत्यादि छपवायें । उद्यमी चाहे तो इन मार्केटिंग तकनीक को भी अपनाकर मार्केटिंग कर सकता है ।

यह भी पढ़ें

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

One thought on “Restaurant and Bar Business in Hindi । रेस्टोरेंट एवं बार कैसे खोलें.

  1. रेस्टोरेंट बिज़नस के बारे में आपने काफी बारीकी से बताया. यकीनन आपकी पोस्ट से काफी लोगों को मदद मिलेगी

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *