Security Guard Service Business

Security Guard Service Business

Security Guard Service Business की यदि हम बात करें तो इसका चलन भारत में पांच या छह दशक पुराना है | जैसे की हर बिज़नेस के उदगम के पीछे उसकी आवश्यकता जुड़ी होती हैं आवश्यकता के अनुरूप ही वह बिज़नेस प्रचलित एवं आवश्यकता न होने पर लुप्त हो जाता है | Security Guard Service Business का उदगम भी समाज में बढ़ रहे चोरी, डकैती, लूट इत्यादि अपराधों के मद्देनज़र हुआ आज लगभग हर संस्थान, बिल्डिंग चाहे वह कार्यान्वित अवस्था में हो या बंद लेकिन सिक्यूरिटी गार्ड की आवश्यकता तो वहां पर होती ही है | कहने का आशय यह है की भारत जैसे विशालकाय देश में अपराधों पर नियंत्रण बनाने के लिए केवल पुलिस या अन्य आंतरिक सुरक्षा बल काफी नहीं हैं इसलिए लोगों ने अपनी आवश्यकता के अनुरूप प्राइवेट एजेंसी से सिक्यूरिटी गार्ड हायर करने शुरू किये जिससे आज बड़े पैमाने पर आवसीय बिल्डिंगों, व्यवसायिक बिल्डिंगों, बैंकों, एटीएम, सरकारी एवं गैर सरकारी कार्यालयों, रेलवे स्टेशनों, बस स्टैंडो इत्यादि में प्राइवेट सिक्यूरिटी गार्ड ड्यूटी करते दिखाई देते हैं |

Security-guard-service-business

Security Guard Service Business Kya Hai:

वैसे तो यह लेख पढने वालो को इस लेख का पहला वक्तव्य पढ़ते ही स्पष्ट हो गया होगा की Security Guard Service Business क्या है लेकिन फिर भी यहाँ पर हम थोडा और सरल भाषा में समझाने की कोशिश करेंगे लेकिन हाँ इतना जरुर है की वह व्यक्ति जो नौकरी पेशा है और कहीं भी चाहे वह फैक्ट्री, ऑफिस, होटल या अन्य कोई व्यवसायिक संस्थान में काम करता हो वह सिक्यूरिटी गार्ड का अर्थ तो जरुर समझ गया होगा और जहाँ तक इस बिज़नेस का सवाल है उसे हम समझा देते हैं | अक्सर सभी लोग शौपिंग मॉल, एटीएम, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड इत्यादि सार्वजनिक स्थानों पर जाते हैं और देखते हैं की वहां पर जो सिक्यूरिटी गार्ड ड्यूटी कर रहे होते हैं उनके पास सरकारी वर्दी न होकर किसी एजेंसी द्वारा दी गई यूनिफार्म होती है और उस यूनिफार्म में सिक्यूरिटी एजेंसी का नाम भी लिखा हुआ होता है | जब किसी उद्यमी या एजेंसी द्वारा आवासीय या व्यवसायिक स्थलों की आवश्यकता को देखते हुए उन्हें सिक्यूरिटी गार्ड मुहैया कराने का काम किया जाता है तो हम कह सकते हैं की वह उद्यमी या एजेंसी Security Guard Service Business में संलिप्त है |

Market Opportunity in Security Guard Service Business:

जैसा की हम पहले भी बता चुके हैं की देश और राज्य की आंतरिक सुरक्षा की जिम्मेदारी पुलिस पर होती है लेकिन पुलिस के लिए यह संभव नहीं है की वह हफ्ते के सातों दिन 24 घंटे देश और राज्य के प्रत्येक सार्वजनिक स्थल पर अपनी नज़र बनाये रखे इसलिए यही कारण है की वर्तमान में हर जगह शौपिंग माल से लेकर आवासीय कॉलोनी के गेट या फिर कार्यालयों में सिक्यूरिटी गार्ड की मांग दिनोंदिन बढती जा रही है | एक शौपिंग माल में सिर्फ एक या दो सिक्यूरिटी गार्ड से नहीं बल्कि पूरे 25-30 गुरद से काम चलता है इसी प्रकार दूर संचार से जुड़ी कंपनियों में भी उनके आकार एवं बिज़नेस ऑपरेशन के घंटों के आधार पर सिक्यूरिटी गार्ड की आवश्यकता होती है | मेट्रोपोलिटीयन शहरों में तो Security Guard Service Business अपनी चरम सीमा पर है और धीरे छोटे नगरों एवं शहरों की तरफ भी अग्रसित हो रहा है एक आंकड़े के मुताबिक वर्ष 2015 में यह बिज़नेस आर्थिक रूप से 40000 करोड़ प्रोजेक्टेड था और यह बिज़नेस 25% की वृद्धि दर के साथ प्रति वर्ष आगे बढ़ रहा है | इसलिए कहा जा सकता है की इस बिज़नेस में शहरों में अपार संभावनाएं हैं |

Requirement to start a Security Guard Service Business in Hindi:

Security Guard service business शुरू करने के लिए विभिन्न लाइसेंस एवं पंजीकरणों की आवश्यकता हो सकती है जिनका संक्षिप्त तौर पर जिक्र हम निम्नवत करेंगे |

  1. Business Entity का चुनाव:

Security Guard Service business की उत्पति ही अपराधों पर नियंत्रण के लिए हुई है इसलिए यह एक ऐसा बिज़नेस है जो बेहद संवेदनशील है यह बिज़नेस करने का इच्छुक उद्यमी वैसे चाहे तो विभिन्न Business entities में से किसी का भी चयन करके उसके अंतर्गत अपना बिज़नेस पंजीकृत करा सकता है | लेकिन  इस प्रकार का यह बिज़नेस B2C से अधिक B2B बिज़नेस है इसलिए उद्यमी को चाहिए की वह अपने बिज़नेस को प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के तौर पर पंजीकृत कराये | ताकि उसे अपने आंशिक ग्राहकों से बिज़नेस डील करते वक्त आसानी हो और उसे काम मिलने में सफलता हासिल हो सके |

इंडिया में प्राइवेट लिमिटेड कंपनी पंजीकृत कराने की प्रक्रिया जानने के लिए यह पढ़ें |  

  1. कर पंजीकरण:

यद्यपि Security Guard Service business सर्विस बिज़नेस की श्रेणी के अंतर्गत आता है इसलिए इस प्रकार के बिज़नेस करने के लिए Service tax Registration की आवश्यकता होती थी लेकिन कहा यह जा रहा है की 1 जुलाई 2017 से जो Goods and Service tax शुरू होगा उसमे सभी प्रकार के करों का (उन वस्तुओं को छोड़कर जिन पर कर में छूट है या उन्हें GST Regime से बाहर रखा गया है) विलय हो गया है | इसलिए यह संभव है की 1 जुलाई 2017 के बाद यह बिज़नेस स्टार्ट करने वाले उद्यमी को GST पंजीकरण की भी आवश्यकता हो सकती है | लेकिन इसमें एक शर्त निर्धारित थी की ऐसी सिक्यूरिटी एजेंसी जिसका वार्षिक टर्नओवर 10 लाख से ऊपर था सिर्फ उन्हीं को कर पंजीकरण कराने की आवश्यकता थी |

  1. PF and ESI Registration:

Security Guard Service business का जो वर्तमान में व्यापारिक मॉडल है वह यह है की Compliance जैसे ESI, EPF, Bonus इत्यादि सब सिक्यूरिटी एजेंसी द्वारा हैंडल किया जाता है हालांकि आर्थिक रूप से इसका वहन क्लाइंट अर्थात ग्राहक द्वारा किया जाता है | अपनी कमाई करने के लिए सिक्यूरिटी एजेंसी द्वारा  हर महीने सिक्यूरिटी गार्ड के वेतन में से 12-20% तक सर्विस चार्ज लगाया जाता है | इसलिए कोई भी उद्यमी जो Security Guard Service business कर रहा हो जितने अधिक सिक्यूरिटी गार्ड अपने ग्राहकों की आवश्यकता के अनुरूप नियुक्त करेगा उतनी अधिक उसकी कमाई होगी | किसी कंपनी में जब कर्मचारियों की संख्या 10 से अधिक हो जाती है तो उस कंपनी को ESI पंजीकरण कराना आवश्यक होता है | और जब यही संख्या 20 से अधिक हो जाती है तो PF अधिनियम के अंतर्गत EPF पंजीकरण कराना अनिवार्य होता है |

  1. TAN Registration:

जब किसी कंपनी द्वारा अपने कर्मचारियों को इतना वेतन दिया जाता है की वह आयकर कर प्रणाली के दायरे में आ जाता है अर्थात वेतन आयकर छूट दायरे से ज्यादा बढ़ जाता है तो कंपनी को कर कटौती करने के लिए TAN पंजीकरण की आवश्यकता हो सकती है |

  1. Security Agency License:

प्राइवेट सिक्यूरिटी एजेंसी अधिनियम 2005 के क्रियान्वयन के बाद कोई भी एजेंसी बिना Security Agency License के अपना बिज़नेस नहीं चला सकती | इसलिए  Security Guard Service business कर रहे उद्यमी को समबन्धित राज्य में सिक्यूरिटी एजेंसी लाइसेंस के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया के बारे में पता करना चाहिए | हालांकि कुछ राज्यों में इस प्रकार का लाइसेंस राज्य के पुलिस विभाग द्वारा जारी किया जाता है और कुछ राज्यों में राज्य का गृह मंत्रालय या गृह विभाग द्वारा इस प्रकार के लाइसेंस जारी किये जाते हैं | Security Agency License क्षेत्र के आधार पर जैसे जिला स्तर  केवल एक जिले के लिए, जिला स्तर 4-5 जिलों के लिए या फिर सम्पूर्ण राज्य के लिए जारी किये जाते हैं | जारी किया गया पांच वर्षों के लिए वैध होता है और Expire होने से पहले इसे फिर से Renew किया जा सकता है | लेकिन लाइसेंस के प्रकार के आधार पर जैसे 1 जिले हेतु लाइसेंस के लिए आवेदन करते कुछ कम लाइसेंस शुल्क लिया जायेगा तो पांच जिलों हेतु कुछ ज्यादा और सम्पूर्ण राज्य हेतु उससे भी अधिक शुल्क लाइसेंस बनाने के लिए लिया जा सकता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: