प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना की जानकारी। पात्रता, ईनाम, आवेदन प्रक्रिया।

Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana in Hindi : यह भारतीय नागरिको के लिए परिणाम आधारित अर्थात (Output Based) एक प्रक्षिक्षण योजना है। जिसका लक्ष्य भारतीय नागरिको को उनके दिलचस्पी के मुताबिक कार्यो का प्रशिक्षण देना है । इस योजना को सफल बनाने हेतु भारत सरकार ने एक नए मंत्रालय कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय (Ministry of Skill Development & Entrepreneurship (MSDE) की रचना की है । वर्तमान में यह योजना MSDE के ही नियंत्रण में कार्यरत है ।

Pradhan-Mantri-Kaushal- Vikas-Yojana
Pradhan-Mantri-Kaushal- Vikas-Yojana

कौशल विकास योजना का उद्देश्य

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PMKVY) का उद्देश्य ऐसे नौजवानो को अपने अन्दर कौशल पैदा करने के लिए प्रोत्साहित करना है । जो दसवी या बारहवी करके पढाई छोड़ चुके हैं । और ऐसे  लोगो को भी एकत्र करना है । जिनके पास हुनर तो है, लेकिन उस हुनर का प्रमाण पत्र न होने के कारण उन्हें काम ढूंढने और काम पाने में काफी मुसीबतो का सामना करना पड़ता है ।

और सामान्य लोग वे लोग जिन्हे अभी तक कुछ काम नहीं आता वो इस योजना के साथ जुड़कर अपने आप में कौशल पैदा कर, उस कौशल का प्रमाणपत्र लेकर अपनी आजीविका की तलाश या खुद कर सकते हैं  या फिर प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के अंतर्गत (Mentorship Program) के द्वारा उन्हें काम ढूँढने में सहायता प्रदान की जाएगी। जो व्यक्ति कौशल विकास योजना के अंतर्गत अपना प्रशिक्षण पूरा कर लेते हैं । उनको प्रमाण पत्र के अलावा पैसे भी इनाम स्वरूप दिए जा सकते हैं।

योजना की विशेषताएं:

  1. इस योजना के तहत प्रशिक्षण उद्योग जगत से जुडी राष्ट्रीय निकायों के मानको के आधार पर दिया जायेगा । इसके तहत यदि कोई तीसरा पक्ष अर्थात प्रशिक्षण देने वाली संस्था इत्यादि सरकार के कौशल विकास अभियान से जुड़ेगी, तो उसका मूल्यांकन अंतराष्ट्रीय मानको के आधार पर किया जायेगा । जिससे प्रशिक्षण लेने वालो को उच्च Industry Driven प्रशिक्षण मिल सके ।
  2. प्रक्षिक्षण देने वाली संस्थाओ या एजेंसी को लोगो की जरुरतो अर्थात मांग के हिसाब से लक्ष्य दिया जायेगा । जैसे कौन से काम का प्रशिक्षण कौन से जिले कौन से शहर में देना है इत्यादि ।
  3. इस योजना में केंद्र द्वारा संचालित अभियानों, योजनाओ जैसे Make In India, नेशनल सोलर मिशन, स्वच्छ भारत, डिजिटल इंडिया इत्यादि को ध्यान में रखकर ही व्यक्तियों को प्रशिक्षित किया जायेगा ।
  4. इस योजना के अंतर्गत विशेष तौर पर 10th, 12th के बाद स्कूल छोड़ने वाले । और पूर्वोत्तर एवं जम्मू कश्मीर राज्यों के नौजवानो पर विशेष ध्यान दिया जायेगा । क्योकि बेरोजगार युवा गलत व्यक्तियों की संगत में जल्दी आ जाते है ।
  5. इस योजना के अंतर्गत ऐसे लोग जो काम तो जानते हैं लेकिन उसका प्रमाण पत्र न होने की वजह से उस काम की उनके पास मान्यता प्राप्त नहीं है, इसलिए वे अनौपचारिक कामो में लग जाते हैं । वे भी अपने हुनर को बढ़ा कर उसका प्रमाणपत्र हासिल कर सकते हैं ।
  6. 6.योजना के तहत प्रशिक्षण पूरा करने के बाद दिया जाने वाला पैसो का इनाम अलग अलग प्रशिक्षार्थी पर अलग अलग देय होगा । ज्यादा इनाम निर्माण, कंस्ट्रक्शन, Plumbing के क्षेत्र में प्रशिक्षण लेने वाले प्रशिक्षार्थी को दिए जाने की संभावना है ।
  7. लोगो को प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के बारे में जाग्रत करने के लिए जिलास्तरीय कौशल मेला भी प्रारम्भ किया जायेगा । जिसमे राज्य सरकार और संसद के सदस्यों की सहभागिता होगी । इस योजना को देश की 543 लोकसभा क्षेत्रो तक पहुँचाने और देश में कौशल विकास के लिए एक माहौल बनाने का लक्ष्य रखा गया है ।
  8. इस योजना के तहत प्रशिक्षण के पाठयक्रम में सुधार किया जायेगा प्रत्येक प्रशिक्षण लेने वाले प्रशिक्षार्थी को Soft Skill, व्यक्तिगत विकास,साफ़ सफाई के लिए व्यवहार में परिवर्तन, अच्छा काम अर्थात नैतिकता का प्रशिक्षण दिया ही दिया जायेगा ।

Training Monitoring Process (प्रशिक्षण पर निगरानी)

  • Sector Skill Council अर्थात एसएससी द्वारा प्रशिक्षण देने वालो को प्रशिक्षण देते समय Skill Development Management सिस्टम परवीडियो रिकॉर्डिंग करने को निर्देशित किया जायेगा ।
  • मूल्यांकन के समय प्रामाणिक मूल्यांकन कर्ताओ को प्रशिक्षण की गुणवत्ता जानने के लिए प्रशिक्षण केंद्र भेजा जायेगा । SSCs पाठयक्रम को मंजूरी देना एसएससी की जिम्मेदारी होगी । एसएससी यह सुनिश्चित करेगी की जो प्रशिक्षण दिया जा रहा है वह काम Market में ऐसे ही होता है, जैसे पाठ्यक्रम में सम्मिलित है। अर्थात पाठयक्रम की विषयवस्तु व्यवहारिक/वास्तविक होगी। या हम यह कहें तो कुछ गलत नहीं होगा की इस योजना के अंतर्गत प्रशिक्षार्थी को प्रशिक्षण लेने के बाद काम मिल जायेगा।
  • एसएससी ट्रेनिंग सेंटर को, सफल प्रशिक्षणार्थी के लिए प्रमाण पत्र जारी करने के लिए अनुमोदित करेगी ।
  • एसएससी द्वारा किसी भी प्रशिक्षण केंद्र में कभी भी निरिक्षण किया जा सकता है ।
  • प्रशिक्षण लेने के बाद अर्थात पूरा होने के बाद  प्रशिक्षणकर्ता प्रशिक्षणार्थी की काम ढूंढने में मदद करेगा यह मदद प्रशिक्षणकर्ता प्रशिक्षणार्थी को किसी कंसल्टेंसी का नंबर देके भी कर सकता है ।

 योजना के तहत मिलने वाला इनाम (Reward)

जैसा की मैं उपर्युक्त वाक्य में बता चूका हूँ की प्रशिक्षण लेने के बाद अर्थात सफल प्रशिक्षणार्थी को दिया जाने वाला Reward अर्थात इनाम क्षेत्र, क्षेत्र पर निर्भर करेगा | इस इनाम को कौशल केंद्र द्वारा सीधे प्रशिक्षार्थी के बैंक खाते में ट्रांसफर किया जायेगा । इनाम का उल्लेख कुछ इस प्रकार है। रिवॉर्ड अर्थात इनाम प्राप्त करने के लिए आधार कार्ड और बैंक खाते का होना जरुरी है ।

 For Skills TrainingFor Recognition of Prior Learning (RPL)
NSQF Levelsनिर्माण, प्लंबिंग और कंस्ट्रक्शन क्षेत्र अन्य क्षेत्र निर्माण, प्लंबिंग और कंस्ट्रक्शन क्षेत्रअन्य क्षेत्र
लेवल 1 to 27500500025002000
लेवल 3 to 4100007500
लेवल 5 to 61250010000

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के लिए पात्रता

यह योजना देश के युवाओं में कौशल विकास को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से शुरू की गई है। और 2015 से 2022 तक इन सात सालों में लाखों लोग कौशल विकास प्रशिक्षण केन्द्रों से प्रशिक्षण ले भी चुके हैं।

लेकिन जो अन्य लोग इस योजना का लाभ लेने पर विचार कर रहे होते हैं, उनके दिमाग में अपनी पात्रता को लेकर प्रश्न अवश्य आता है। अर्थात वे यह जानना चाहते हैं की क्या वे भी इस योजना का लाभ लेने के लिए पात्र हैं या नहीं। तो आइये जानते हैं की इस योजना का लाभ लेने के लिए कौन कौन पात्र हैं।

  • ऐसे युवा जिन्होंने दसवीं या बारहवीं के बाद अपनी पढाई बीच में छोड़ दी होगी, वे इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • देश के सभी बेरोजगार युवा जो कोई नया स्किल सीखना चाहते हों, या कार्यरत युवा जो अपने स्किल में बढ़ोत्तरी करना चाहते हों प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना का लाभ लेने के लिए पात्र हैं।
  • आवेदन करते समय आवेदक से विभिन्न दस्तावेज जैसे आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, बैंक डिटेल्स, फ़ोन नंबर ईमेल आईडी इत्यादि मांगी जा सकती है।
  • प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के लिए आवेदन करते समय आवेदक के पास सभी दस्तावेज जो आवेदन करने के लिए आवश्यक हैं होने चाहिए।    

PMKVY के तहत कौन कौन से कोर्स किये जा सकते हैं

इस योजना के तहत कई तरह के कोर्स किये जा सकते हैं जिनमें से कुछ प्रमुख कोर्सों की लिस्ट निम्नवत है।

  • फैशन एवं परिधान कोर्स
  • इलेक्ट्रिक और इलेक्ट्रॉनिक कोर्स
  • दूर संचार कोर्स
  • प्लम्बिंग का कोर्स
  • एग्रीकल्चर का कोर्स
  • माइनिंगका कोर्स     
  • सिक्यूरिटी सर्विस
  • जीवन विज्ञान का कोर्स
  • दिव्यांगों के लिए स्किल काउंसलिंग
  • बीमा, बैंकिंग एवं वित्त से जुड़े कोर्स
  • लैदर के उत्पाद बनाने के कोर्स
  • रबर उत्पादों के कोर्स
  • टूरिज्म और हॉस्पिटैलिटी कोर्स
  • कारपेंटर एवं फर्नीचर कोर्स
  • कंस्ट्रक्शन कोर्स
  • ब्यूटी पार्लर एवं अन्य वेलनेस कोर्स
  • स्वास्थ्य देखभाल से जुड़े कोर्स
  • लोजिस्टिक से जुड़े कोर्स
  • खाद्य प्रसंस्करण से जुड़े कोर्स
  • पॉवर उद्योग से जुड़े कोर्स
  • लोहा और इस्पात उद्योगों से जुड़े कोर्स  

2023 में कौशल विकास योजना की वर्तमान स्थिति  

PMKVY की ऑफिसियल वेबसाइट के मुताबिक वर्तमान में 6 राज्यों के 114 जिलों में 200 से ज्यादा PMKVY Training Center उपलब्ध हैं। और अभी तक इस योजना के तहत 33 से अधिक सेक्टर का प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है ।

इस योजना की अधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से इस योजना से सम्बंधित लगभग सभी प्रक्रियाएँ घर बैठे ऑनलाइन पूर्ण की जा सकती हैं । लेकिन प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए कौशल प्रशिक्षण केन्द्रों में जाना अनिवार्य है। इस योजना के तहत अब तक 50 लाख से अधिक सर्टिफिकेट दिए जा चुके हैं।  

योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन कैसे करें?

  • Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana (PMKVY) के अंतर्गत आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको PMKVY official की वेबसाइट पर जाना होगा ।
  • उसके बाद Find a Center पर क्लिक करना होगा ।
  • फिर आपको अपने Search को फिलटर करना होगा अर्थात आप कौन सी ट्रेनिंग कौन से राज्य के कौन से जिले के कौन से शहर में चाहते हैं ।
  • उसके बाद Find Now पर क्लिक करें, तो आपके सामने परिणाम अर्थात ट्रेनिंग सेंटर उपलब्ध होंगे ।
  • उनसे बात कीजिये और प्रशिक्षण लेने की प्रक्रिया जाने । बाकी काम प्रशिक्षणकर्ता अपने आप कर लेंगे ।
PMKVY के लिए हेल्पलाइन नंबर क्या हैं?

विद्यार्थियों के लिए  8800055555 और NSDC TP के लिए 9289200333 हेल्पलाइन नंबर जारी किये गए हैं।

कौशल विकास ट्रेनिंग सेण्टर कैसे ढूंढें?

कौशल विकास प्रशिक्षण केंद्र ढूँढने के लिए सबसे पहले इसकी अधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ और Find a Training Center पर क्लिक करके आसानी से अपना नजदीकी प्रशिक्षण केंद्र ढूंढें।   

यह भी पढ़ें: