iKamai-Kamai Tips In Hindi

बकरी की बीमारियों का आयुर्वेदिक ईलाज – Ayurvedic Treatment of Goat Diseases.

बकरी की बीमारियों का आयुर्वेदिक ईलाज करने हेतु उपयोग में लायी जाने वाली आयुर्वेदिक दवाइयों के बारे में जानने से पहले हम अपने आदरणीय पाठक गणों को यह बता देना चाहते हैं की इस लेख से पहले भी हम बकरी पालन व्यवसाय से जुड़े विभिन्न विषयों पर बात कर चुके हैं |और जहाँ तक बकरियों के स्वास्थ्य से जुड़े हुए विषयों का सवाल है इनमे हम बकरी की बीमारियाँ, लक्षणों के आधार पर बकरी के बीमारियों की पहचान इत्यादि लेख लिख चुके हैं, और इन लेखों के कमेंट बॉक्स में अनेक पाठक गणों ने हमसे बकरी के बीमारियों का आयुर्वेदिक ईलाज में उपयोग में लायी जाने वाली दवाइयों के बारे में जानने की इच्छा व्यक्त की है | यही कारण है की कृषि एवं फार्मिंग श्रेणी में आज हम यह जानने की कोशिश करेंगे की बकरियों की कुछ सामान्य बीमारियों में कौन कौन सी आयुर्वेदिक दवाइयां उपयोग में लायी जा सकती हैं | चूँकि पशु धन जैसे बकरियां इत्यादि किसी भी किसान की कमाई का मुख्य स्रोत होते हैं इसलिए इनका बीमारियों से बचाव करना बेहद जरुरी हो जाता है हालांकि बकरियों के बीमार होने पर पशु चिकित्सक के निर्देशानुसार ही दवाइयां देनी चाहिए | लेकिन यहाँ पर बकरी

Menthol Crystal Making Business की जानकारी.

Menthol Crystal Making business के बारे में हम अवश्य जानने की कोशिश करेंगे, लेकिन उससे पहले हमारे लिए यह जानना जरुरी है की यह Menthol Crystal है क्या? क्योंकि हमारे आदरणीय पाठक गणों में बहुत सारे पाठक गण ऐसे होंगे जिन्हें शायद यह विदित न हो की Menthol Crystal कहते किसे हैं | पुदीने का नाम तो हर किसी ने सुना होगा, और इसके स्वाद का मजा भी गर्मियों में लगभग सबने लिया होगा क्योंकि गर्मियों में पुदीने एवं नींबू के पानी को हर सार्वजनिक जगह जैसे बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन इत्यादि पर किसी न किसी द्वारा बेचते हुए देखा जा सकता है | पुदीने एवं नींबू के रस से निर्मित यह पानी गर्मियों में शरीर को ठंडक पहुँचाने एवं ताजगी देने का कार्य करता है | खैर आज का हमारा विषय पुदीने एवं नींबू पानी बेचने के बिज़नेस पर आधारित नहीं अपितु Menthol Crystal Making Business पर आधारित है | इसलिए हम कहना चाहेंगे की Menthol Crystal को पुदीने के तेल अर्थात Mint Oil से निर्मित किया जाता है | Menthol Crystal Making Business Kya hai: जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में बता चुके हैं की Menthol Crystal पुदीने के तेल (Mentha Oil) से बनाया जाता है इसलिए

Mutual Fund – पैसे निवेश करके कमाई करने का एक बेहतरीन तरीका.

आपने बहुत बार Mutual Fund का नाम किसी न किसी के मुहं से अवश्य सुना होगा या फिर बहुत बार टेलीविज़न देखते वक्त विज्ञापन में इसका नाम सुना होगा, तो आपके मष्तिष्क में यही प्रश्न कौंधता होगा की यह म्यूच्यूअल फण्ड है क्या? और कैसे कोई इसमें निवेश करके पैसे कमा सकता है? इन्हीं सब बातों के मद्देनज़र आज हम हमारी कमाई टिप्स नामक इस श्रेणी में Mutual Fund, इसकी योजनाओं एवं लाभों अर्थात फायदों के बारे में जानने की कोशिश करेंगे | यद्यपि म्यूच्यूअल फण्ड में निवेशित पैसा भी बाज़ार में अन्य सम्पतियों को खरीदने पर लगाया जाता है, इसलिए आम लोगों की नज़र में यह क्रिया शेयर बाज़ार में पैसे लगाने जैसी है | लेकिन सच तो यह है की Mutual Fund  बाज़ार में उपलब्ध बेस्ट इन्वेस्टमेंट विकल्पों में से एक विकल्प है इसलिए कहा जा सकता है की इसमें शेयर मार्किट में पैसा तो लगाया जाता है लेकिन यह पैसा मार्किट के जानकारों अर्थात विशेषज्ञों द्वारा लगाया जाता है, जिन्हें बाज़ार की अच्छी समझ होती है और यही कारण है की इसमें जोखिम कम हो जाता हैं | म्यूच्यूअल फण्ड क्या है (What is Mutual fund in Hindi): म्यूच्यूअल फण्ड को Money Market Mutual fund भी

Plaster Of Paris Manufacturing Business

आपने ही नहीं शायद सबने किसी न किसी के मुहं से Plaster Of Paris (POP) शब्द अवश्य सुना होगा जी हाँ इसे विभिन्न कार्यों को निष्पादित करने के उपयोग में लाया जाता है | यह एक अर्थात Plaster Of Paris एक मजबूत पदार्थ होता है जिसे जिप्सम में पानी मिलाकर फिर उसका निर्जलीकरण करके बनाया जाता है और इसका उपयोग टूटी हड्डियों को जोड़ने, टूटे हुए पैरों के डाट बनाने, मूर्तियाँ बनाने एवं अन्य कलाकृति बनाने में भी किया जाता है | इसलिए आज हम हमारे इस लेख के माध्यम से POP Manufacturing business के बारे में जानने की कोशिश करेंगे | इसकी उत्पति प्लास्टर के पाउडर अर्थात Gypsum में पानी मिलाकर होती है क्योंकि इसमें पानी मिलाने पर यह पेस्ट के रूप में उभरकर सामने आता है और इसका निर्जलीकरण किये जाने पर यह मजबूत रूप धारण कर लेता है उसके बाद Plaster of Paris को विभिन्न वस्तुओं अर्थात कलाकृतियों के निर्माण एवं अन्य कार्यों को निष्पादित करने के उपयोग में भी लाया जाता है | Plaster of Paris manufacturing business kya hai: Plaster of Paris को वैल्पिक नाम Dried Calcium Sulphate, Dried Gypsum या Calcium Sulphate hemihydrates के नाम से भी जाना जाता है और इसे दो

मधुमक्खी पालन- How to Start BeeKeeping Business Hindi.

मधुमक्खी पालन को अंग्रेजी में Beekeeping Business कहा जाता है, यद्यपि भारतवर्ष के ग्रामीण इलाकों में आपने अक्सर देखा होगा की घर में स्थित किसी छेद में मधुमक्खियाँ अपना छत्ता बना देती हैं चूँकि इस क्रिया में मधुमक्खियाँ अपने छत्ते के लिए खुद उपयुक्त स्थान का चयन करती हैं इसलिए इसे मधुमक्खी पालन या BeeKeeping business नहीं कहा जा सकता, क्योंकि इस एक छत्ते से अगर मनुष्य चाहे तब भी इतने शहद का उत्पादन नहीं कर सकता की इतनी कमाई हो जाय की वह अपनी गुज़र बसर कर सके | लेकिन इन सबके बावजूद मधुमक्खी पालन यानिकी BeeKeeping भारतवर्ष में हमेशा से ही अर्थात प्राचीनकाल से ही शहद एकत्रित करने का एक साधन रहा है, इसलिए इस बिज़नेस को एक पारम्परिक व्यवसाय भी कहा जा सकता है | समय व्यतीत होने के साथ साथ राष्ट्रीय एवं अंतराष्ट्रीय बाजारों में इसकी उपयोगिता के कारण शहद काफी लोकप्रिय होता गया, बस यही वह दौर था जहाँ से लोगों ने मधुमक्खी पालन को व्यवसायिक तौर पर अपनाकर अपनी कमाई का स्रोत बना डाला | मधुमक्खी पालन (BeeKeeping Business) क्या है प्रत्येक मनुष्य को अपने जीवन में विभिन्न पारिवारिक, सामाजिक जिम्मेदारियों का निर्वहन करना होता है, और इन जिम्मेदारियों के निर्वहन हेतु मनुष्य