2022 में बड़े पैमाने के बिजनेस । Top 11 Big Business Ideas in Hindi.

Top Big Business Ideas in India in Hindi : भारत में कई लोग ऐसे भी हैं जो बड़े पैमाने के व्यापारों में से किसी को अपनाकर अपने बिजनेस करने के सपने को साकार करना चाहते हैं। लेकिन केवल कुछ ही लोग ऐसे होते हैं जो अपने बिजनेस आईडिया को धरातल के पटल पर उतारकर अपनी योजनाओं को पूरा कर पाते हैं। वह शायद इसलिए क्योंकि एक बिजनेस को शुरू करने के लिए जितनी मात्रा में वित्त की आवश्यकता होती है, वे उस वित्त का प्रबंध नहीं कर पाते हैं।

लेकिन यहाँ पर ध्यान देने वाली बात यह है की यदि आप किसी बड़े पैमाने पर आधारित कोई व्यापार करना चाहते हैं, तो तुलनात्मक रूप से इस तरह का व्यवसाय शुरू करने के लिए अधिक पैसों की आवश्यकता होती है। यद्यपि वर्तमान में यदि आपके बिजनेस आईडिया में दम है, और आपकी योजना लाभकारी है तो आप किसी बैंक या वित्तीय संस्थान से बिजनेस लोन लेने के लिए भी अप्लाई कर सकते हैं।  

बड़े व्यवसायों की यदि हम बात करें तो इनका भारतीय अर्थव्यवस्था में अहम् योगदान है। वह इसलिए क्योंकि इन्हें जितने बड़े बुनियादी ढाँचे की आवश्यकता होती है, उतने ही अधिक इन्हें कर्मचारियों की भी आवश्यकता होती है। जिससे देश में रोजगार में वृद्धि होती है। भारत में बड़े पैमाने के बिजनेस किसे माना जाता है, आइये अब हम यह जान लेते हैं ।

बड़े पैमाने के बिजनेस क्या हैं (What are big business Ideas)

बड़े बिजनेस की यदि हम बात करें तो इनमें वे उद्योग शामिल होते हैं जिन्हें बड़े बुनियादी ढाँचे के साथ बड़ी मात्रा में कर्मचारियों और पूँजी की आवश्यकता होती है। ऐसे उद्योग जिनकी अचल सम्पति 10 करोड़ रूपये से अधिक है उन्हें बड़े पैमाने के बिजनेस कह सकते हैं। भारतीय अर्थव्यवस्था के विकास, विदेशी मुद्रा के सृजन और लाखों लोगों को रोजगार देने में इन बड़े उद्योगों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

बड़े पैमाने के उद्योगों के लाभ

बड़े पैमाने के बिजनेस के कुछ लाभ जो देश और देश की अर्थव्यवस्था को हो सकते हैं, उनकी लिस्ट कुछ इस प्रकार से है।

  1. बड़े पैमाने के उद्योग देश की अर्थव्यवस्था को गति प्रदान करने में सहायक होते हैं।
  2. इस प्रकार के उद्योगों में मशीनरी, उपकरण , रसायन आदि का उत्पादन होता है जिससे ये बड़ी मात्रा में पूँजी पैदा करते हैं।
  3. ये उद्योग नई टेक्नोलॉजी को पैदा करने के लिए अनुसन्धान और विकास में पैसा खर्च करने में सक्षम होते हैं। जिससे देश और इंडस्ट्री को नई टेक्नोलॉजी प्राप्त होती है।
  4. चूँकि बड़े उद्योगों में बड़े पैमाने पर उत्पादन होता है, इसलिए उनमें प्रोडक्ट को बनाने में आने वाली लागत को कम करने की क्षमता भी होती है।
  5. इनका बुनियादी ढांचा बड़ा होता है और उत्पादन भी अधिक होता है तो इन्हें काम करने वाले लोगों की भी आवश्यकता अधिक होती है। जिससे देश में रोजगार बढ़ता है।

बिग बिजनेस आइडियाज (Top Best 11 Big Business Ideas in Hindi)  

चलिए आगे हम कुछ ऐसे लाभकारी बड़े पैमाने के व्यापारों की एक लिस्ट पेश कर रहे हैं। जिन्हें भारत में शुरू करना कमाई की दृष्टि से और बाज़ार की दृष्टि से काफी फायदेमंद हो सकता है। लेकिन इतना जरुर है की इन बिजनेस को शुरू करने में उद्यमी को अन्य बिजनेस की तुलना में काफी बड़े पैमाने पर निवेश की आवश्यकता होती है।

Big Business Ideas in Hindi

1. सीमेंट बनाने का प्लांट (Cement Plant Business)

वैसे देखा जाय तो भारत दुनिया में सीमेंट उत्पादन करने में दुसरे नंबर पर है। लेकिन यहाँ के घरेलु बाज़ार में ही सीमेंट की माँग इतनी है की उत्पादन और माँग में अन्तर आ जाता है। एक आंकड़े के मुताबिक हमारे देश भारत में 2025 तक सीमेंट की माँग प्रति वर्ष 550-600 मिलियन टन तक हो जाएगी।  

सीमेंट का इस्तेमाल भवन, घरों एवं अन्य निर्माण कार्यों में बड़े पैमाने पर किया जाता है। बढती जनसँख्या, संयुक्त परिवारों का विघटन, शहरीकरण, औद्योगिकीकरण इत्यादि सीमेंट की बढती माँग के पीछे के कारण हो सकते हैं। इसलिए यदि आप कोई लाभकारी बड़ा बिजनेस शुरू करना चाहते हैं, तो सीमेंट प्लांट पर विचार कर सकते हैं।    

2. पेपर मिल (Paper Mill Big Business)

कागज़ उद्योग भारत में एक पारम्परिक उद्योग है, क्योंकि पेपर मिल में कागज़ का निर्माण सैकड़ों वर्षों पूर्व से किया जा रहा है। आज आपको लगता होगा की सब कुछ तो डिजिटल है, तो भला कागज की क्या आवश्यकता होगी। लेकिन सच्चाई यह है की इस डिजिटल युग में भी कागज़ की उपयोगिता और इस्तेमाल कम नहीं हुआ है। और आज भी देश में कागज की माँग निरन्तर बढती जा रही है।

इसलिए यदि आप कोई बड़े पैमाने का बिजनेस करने पर विचार कर रहे हैं तो पेपर मिल शुरू करना भी फायदेमंद हो सकता है। लेकिन मिल या फैक्ट्री में लगातार कच्चे माल की उपलब्धता बनी रहे इसके लिए उद्यमी को इस बिजनेस को ऐसे एरिया में शुरू करना चाहिए जहाँ उसे उसकी फैक्ट्री के लिए कच्चा माल उचित दामों में वर्ष भर मिलता रहे।

3. राइस मिल (Rice Mill)

चावल से तो आप सब अच्छी तरह अवगत हैं जी हाँ चावल भारत में सबसे महत्वपूर्ण खाद्य पदार्थों में से एक है। भारत की लगभग 65% आबादी भोजन में चावल का इस्तेमाल करती है। यदि आप एक ऐसे क्षेत्र में रह रहे हैं जहाँ पर चावल का उत्पादन अच्छा होता है, तो आप वहाँ पर इस बिजनेस को शुरू करने पर विचार कर सकते हैं।

एक चावल मिल में न केवल धान से चावल निकालने का काम किया जाता है, बल्कि चावल के आकार, साइज, गुणवत्ता के आधार पर चावलों की ग्रेडिंग करके उन्हें अलग अलग नाम देकर अलग अलग कीमत में बाज़ारों में बेचा भी जाता है।     

4. टेक्सटाइल मिल (Textile Mill)

दुनिया में कोई भी समाज हो आज इतना सभ्य हो गया है की उसे अपना तन ढकने के लिए कपड़ों की आवश्यकता होती ही होती है। भारत में कपड़ा उद्योग का इतिहास भी काफी पुराना रहा है, इसलिए यह भी पारम्परिक उद्योगों की श्रेणी में शामिल है।

टेक्सटाइल मिल में कताई करके कपड़ा तैयार करना, कपड़े से परिधान और वस्त्र तैयार करना इत्यादि शामिल है। इसमें कई आधुनिक मशीनरी और उपकरणों का इस्तेमाल किया जाता है। और इस तरह का व्यापार शुरू करने के लिए सरकार द्वारा भी अनेकों प्रोत्साहन योजनाएँ चलाई गई हैं।    

5. बियर और वाइन प्रोडक्शन

इसमें कोई दो राय नहीं की बियर और वाइन मादक पदार्थ हैं, और इनका नियंत्रण और नियमन भी राज्य अपनी आबकारी नीतियों के हिसाब से करता है। कुछ राज्यों में राज्य सरकारों ने बियर और शराब की बिक्री पर रोक भी लगाई हुई है। लेकिन हम अपने इर्द गिर्द सच्चाई यही देखते हैं की बियर और शराब की कीमतें भले ही कितनी ही बढ़ जाएँ, लोग इन्हें खरीदना छोड़ते नहीं है।

शहरों की तनावपूर्ण भरी जिन्दगी में बीयर और शराब का सेवन करने वाले लोगों की संख्या में दिन प्रतिदिन वृद्धि होती जा रही है। हालांकि इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए न सिर्फ बड़ी पूँजी की आवश्यकता होती है, बल्कि राजनैतिक जान पहचान की भी आवश्यकता हो सकती है। क्योंकि उद्यमी को कई विभागों से परमिशन और लाइसेंस की आवश्यकता होती है।

5. टीएमटी रॉड निर्माण फैक्ट्री (TMT Factory)

टीएमटी रॉड को आम बोलचाल में सरिया भी कहते हैं, इसका इस्तेमाल भी कंस्ट्रक्शन कार्यों के लिए किया जाता है। घर, भवन बनने से लेकर फ्लाईओवर, पुल इत्यादि के निर्माण में भी टीएमटी रॉड का इस्तेमाल बड़े पैमाने पर किया जाता है। इसलिए सच कहें तो इस उत्पाद को बेचने में उद्यमी को कहीं कोई कठिनाई नहीं होने वाली है।

लेकिन इतना जरुर है की यह बड़े पैमाने के बिजनेस की लिस्ट में शामिल है इसलिए इस बिजनेस को शुरू करने में करोड़ों रूपये निवेश करने की आवश्यकता हो सकती है। भारत सरकार की नई औद्योगिक निति में लोहा और इस्पात क्षेत्र को सार्वजनिक क्षेत्र के लिए आरक्षित उद्योगों की लिस्ट से हटाकर निजी क्षेत्रों को भी इस प्रकार के उद्योगों को स्थापित करने की इजाजत दे दी है।     

6. मेटल फेब्रिकेशन प्लांट (Metal Fabrication Plant) 

एक मेटल फेब्रिकेशन प्लांट में विभिन्न कंस्ट्रक्शन कार्यों में इस्तेमाल में लाये जाने वाले विभिन्न धातुओं से निर्मित गेट, रेलिंग, शटर, लोहे के दरवाजे से लेकर कई तरह की धातु संरचनाओं का निर्माण किया जाता है। हालांकि इसमें कुछ काम ऐसे हैं जिनका निर्माण आपकी गली मोहल्ले में स्थित फेब्रिकेशन का काम करने वाले कारीगर भी कर देंगे। लेकिन एक फेब्रिकेशन प्लांट में बड़ी बड़ी कंस्ट्रक्शन साइटों में इस्तेमाल होने वाले धातु संरचनाओं का भी निर्माण किया जाता है।

यही कारण है की इस तरह का व्यापार शुरू करने के लिए आपको कई आधुनिक मशीनरी और उपकरणों की आवश्यकता होती है। और इंजिनियर एवं कुशल कारीगरों की भी आवश्यकता होती है, जिसके कारण इस व्यवसाय को शुरू करने में आने वाली लागत काफी अधिक हो जाती है।         

7. नाईट क्लब बिजनेस (Big Business Night Club)

भले ही नाईट क्लब बिजनेस किसी उत्पाद के उत्पादन से जुड़ा हुआ व्यवसाय नहीं है, लेकिन यदि आप इसे किसी प्रसिद्ध शॉपिंग माल में शुरू करते हैं तो इसे शुरू करने की लागत कई करोड़ रूपये हो सकती है। यही कारण है की इसे भी हमने इस लिस्ट में शामिल किया है।         

एक नाईट क्लब में लोग मनोरंजन, मौज मस्ती और एन्जॉय करने आते हैं, इसलिए एक ऐसी स्थापना जिसमें बार और डिस्को करने की सुविधा हो, और व शाम से लेकर सुबह तक खुला रहता हो नाईट क्लब कहलाता है। लोगों का यहाँ पर आने का उद्देश्य अपनी जिन्दगी में चल रहे तनाव को कम करना या मौज मस्ती करना भी हो सकता है।

शहरों में नाईट क्लब का चलन बढ़ता जा रहा है, इसलिए एक ऐसा व्यक्ति जिसके पास बिजनेस शुरू करने के लिए अच्छे खासे पैसे मौजूद हैं। वह खुद का नाईट क्लब खोलने पर विचार कर सकता है।       

8. हॉस्पिटल और मेडिकल कॉलेज खोलना

वर्तमान में मनुष्य एक दुसरे की देखा देखी के चलते हर वो चीज पाना चाहता है, जिसे वह किसी अपने पडोसी, मित्र या किसी अन्य के पास देखता है। जिन्दगी में बहुत कुछ पाने की चाहत कई लोगों को तनाव देकर विभिन्न बीमारियों का शिकार बना रही है। इसके अलावा मिलावटी खानपान, और जैविक खाद्य पदार्थों की कमी के चलते भी लोगों में विभिन्न प्रकार के अवसाद जन्म ले रहे हैं। यही कारण है की लोगों को बार बार हॉस्पिटल की आवश्यकता होती है।

हालांकि खुद का हॉस्पिटल और मेडिकल कॉलेज खोलने के कई नियम राज्य सरकारों और केंद्र सरकार द्वारा निर्धारित है। और इसमें कहीं न कहीं एक नियम यह भी है की एक अनुभवी डॉक्टर ही खुद का हॉस्पिटल या मेडिकल कॉलेज शुरू कर सकता है। जिसका जीवंत उदाहरण हम अपने आस पास देखते भी हैं।

इसलिए यदि आप एक डॉक्टर हैं तो आप बड़े बिजनेस के तौर पर खुद का हॉस्पिटल और मेडिकल कॉलेज भी खोल सकते हैं। लेकिन यदि आप डॉक्टर नहीं हैं तो आप किसी डॉक्टर को अपना पार्टनर या बोर्ड सदस्य बनाकर भी इस तरह का यह बिजनेस कर सकते हैं।         

9. पेट्रोल पंप का बिजनेस (Petrol Pump Business)

आप शायद रोड के किनारे कोई भी एक पेट्रोल पंप ऐसा नहीं देखते होंगे, जहाँ वाहनों ईधन भरने के लिए वाहनों की कतार नहीं लगी हो। कहने का आशय यह है की पेट्रोल पम्प बिजनेस एक ऐसा लाभकारी बिजनेस है, जिसे शुरू करने के लिए हर व्यक्ति तरसता रहता है। देश में कई पेट्रोलियम कंपनियाँ हैं, जो आम तौर पर जिस एरिया में उन्हें पेट्रोल पम्प खोलना होता है, उसके लिए अपनी अधिकारिक वेबसाइट और अख़बारों में विज्ञापन देती हैं ।

ये कंपनियाँ उन लोगों को तबज्जो देती हैं, जिनकी उस विशेष एरिया में खुद की भूमि हो, या लीज पर ली हुई भूमि हो। इसके अलावा भारत सरकार के निर्देशों के मुताबिक ये कंपनियाँ कुछ वर्गों जैसे शहीद हुए सेना के जवानों के परिवारों इत्यादि को इस व्यापार को शुरू करने के मदद के तौर पर उनके आवेदन को प्राथमिकता देती हैं।   

10. गैस एजेंसी बिजनेस (Gas Agency)

यह Big Business भी एक ऐसी वस्तु से जुड़ा हुआ है जिसका इस्तेमाल न सिर्फ घरों बल्कि हर होटल, भोजनालयों, खाद्य पदार्थ बेचने वाली रेहड़ी पटरियों पर होता ही होता है। कुछ भी हो जाए यदि रसोईघर में एलपीजी गैस का सिलिंडर खाली होगा, तो उस दिन हो सकता है की भूखा सोना पड़ जाय। यही कारण है की इस तरह का या व्यवसाय भी बेहद लाभकारी Big Business की लिस्ट में शामिल है।

बड़े बिजनेस में इसलिए क्योंकि इसे शुरू करने के लिए भी कंपनियाँ एक बड़ी राशि सिक्यूरिटी डिपाजिट के रूप में मांगती हैं । और जो उद्यमी खुद की गैस एजेंसी खोलना चाहता है उसे न सिर्फ ऑफिस की आवश्यकता होती है । बल्कि सिलिंडर स्टोर करने के लिए गोदाम, डिलीवरी के लिए वाहनों और उनकी पार्किंग के लिए एक बड़ी सी जगह की आवश्यकता होती है।

11. पिज़्ज़ा हट/डोमिनोज की फ्रैंचाइज़ी

यह बिग बिजनेस आइडियाज केवल शहरों और मेट्रो सिटिज के लिए है, क्योंकि अर्धनगरीय या ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों की आमदनी इतनी नहीं होती है की वे पिज़्ज़ा खरीद पाएँ। पिज़्ज़ा हट/ डोमिनोज भारत की दो प्रसिद्ध एवं लोकप्रिय पिज़्ज़ा बनाने वाली और घर तक डिलीवर करने वाली कंपनियों में से हैं । शहरों में लोग पिज़्ज़ा, बर्गर इत्यादि जंग फ़ूड खाना बेहद पसंद करते हैं।

चूँकि ये दोनों कंपनियाँ इस बाज़ार में लीडर हैं, इसलिए इनकी फ्रैंचाइज़ी का बिजनेस करना भी बिलकुल भी सस्ता नहीं है, बल्कि एक अच्छे एरिया में पिज़्ज़ा हट या डोमिनोज की फ्रैंचाइज़ी का बिजनेस करने के लिए उद्यमी को कई करोड़ रुपयों का निवेश करने की आवश्यकता होती है।  

बिग बिजनेस आईडियाज क्या हैं?

ऐसे बिजनेस जिन्हें शुरू करने में अधिक लागत आती है, वे Big Business Ideas की लिस्ट में शामिल हैं ।

क्या इस लिस्ट में कुछ ऐसे बिग बिजनेस भी हैं जिनमें रिस्क कम है?

जी हाँ इस लिस्ट में पेट्रोल पम्प खोलना और गैस एजेंसी का बिजनेस कुछ ऐसे बिजनेस हैं जिनमें जोखिम तुलनात्मक रूप से बहुत कम है।

यह भी पढ़ें