हालांकि कंस्ट्रक्शन क्षेत्र में एक नहीं बल्कि अनेकों लाभकारी बिजनेस आइडियाज मौजूद हैं। Building Material Business इन्हीं में से एक है। हमारा देश जनसँख्या की दृष्टि से दूसरा सबसे बड़ा देश है, इसलिए हर व्यवसायिक क्षेत्र के लिए यह एक बड़ा बड़ा बाज़ार है। पिछले कुछ वर्षों की बात करें तो भारत में भवनों और अन्य कंस्ट्रक्शन के कार्यों में काफी तीव्र वृद्धि देखी गई है।

इसके परिणामस्वरूप Building Material के कारोबार में अप्रत्याशित उछाल देखा गया है और यही कारण है की ऐसे उद्यमी जो कंस्ट्रक्शन सामग्री के सप्लाई से जुड़े हुए हैं। वे अच्छा खासा लाभ कमा पा रहे हैं। लेकिन यहाँ पर एक बात का और ध्यान रखना भी जरुरी है की प्रमुख Building Material की लिस्ट में सीमेंट, सरिया, ईट, रेता, स्टील, पत्थर, टाइल, कांच, पाइप, दरवाजे, खिड़कियाँ, लोहे के ग्रिल इत्यादि शामिल हैं।

और इनमें यदि ग्रिल और रेते को छोड़ दिया जाय तो बड़ी बड़ी कंस्ट्रक्शन साईट पर Building Material देने की जिम्मेदारी इनका निर्माण करने वाली कंपनियों की होती है। कहने का आशय यह है की बड़ी कंस्ट्रक्शन साइटों पर निर्माण सामग्री को सीधे इन्हें बनाने वाली कम्पनियों से ख़रीदा जाता है।        

लेकिन यदि आपके शहर एवं एरिया में रिहायशी के लिए घर बन रहे हैं, तो उनमें जो भी Building Material इस्तेमाल में लाया जाता है, वह किसी स्थानीय बिल्डिंग सामग्री की दुकान से ही ख़रीदा गया होता है। इसलिए यदि आप सही एरिया में सही समय पर यदि यह व्यवसाय शुरू कर देते हैं, तो आप इससे अच्छा खासा पैसा कमाने में भी कामयाब हो सकते हैं।

building material business plan in hindi

Building Material Business क्या है?  

यह तो आप अच्छी तरह जानते हैं की जब भी कोई भवन, घर इत्यादि बनता है। तो उसे पूर्ण रूप से तैयार करने के लिए अनेकों सामग्री की आवश्यकता होती है। सबसे पहले जब आप अपना घर बनाने की सोचते हैं तो आपके मष्तिष्क में ईट, सीमेंट, सरिया, रेता, बजरी इत्यादि की तस्वीर के साथ साथ उनकी कीमत भी जानने की उत्सुकता जन्म लेती है। उसके बाद पत्थर/टाइल, खिड़की, दरवाजे, रेलिंग, ग्रिल इत्यादि की भी तस्वीर मष्तिष्क में उभरने लगती है।

उपर्युक्त जिस भी सामग्री की बात हमने की है वह सब Building Material की लिस्ट में शामिल है। लेकिन यह लिस्ट यही तक सिमित नहीं है, बल्कि इसमें किसी भवन या घर को बनाने में इस्तेमाल में लायी जाने वाली हर छोटी से छोटी और बड़ी से बड़ी चीज शामिल होती है।

यह जरुरी नहीं है की हर उद्यमी जो Building Material Business कर रहा है उसके पास बिल्डिंग निर्माण से सम्बंधित सभी सामग्री उपलब्ध होगी। स्थानीय बाज़ार में ऐसे भी उद्यमी हैं जिन्होंने केवल और केवल सीमेंट स्टोर खोलकर रखा हुआ है, कुछ केवल और केवल सरिया सप्लाई करते हैं। कुछ केवल ईट ही सप्लाई करते हैं, तो कुछ चुनिन्दा उद्यमी ऐसे भी हैं । जो बिल्डिंग मटेरियल से सम्बंधित सभी सामग्री में डील कर रहे होते हैं।

Building Material Business शुरू करने से पहले किन बातों का ध्यान रखें

इसमें कोई दो राय नहीं की Building Material Business शुरू करके आप अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं। वह इसलिए क्योंकि आप कम दामों में सामान खरीदकर उसे महंगे दामों में बेचकर लाभ कमा सकते हैं। लेकिन हमें इस बात का भी ध्यान रखना होगा की आज का ग्राहक बहुत ज्यादा जागरूक है। हो सकता है वह आपकी दुकान में पहले दस दुकानों से सामग्री की कीमत पता करके आया हो। यदि उसे लगा की आप उसे अन्य के मुकाबले अधिक कीमत पर वह समान ऑफर कर रहे हैं। तो आप उस ग्राहक को खो सकते हैं।

यही कारण है की आपको सही सप्लायर जो बाज़ार के हिसाब से उचित दामों पर आपको सामग्री प्रदान करे उसका चयन करना चाहिए। लेकिन अक्सर देखा गया है की जो लोग किसी भी सामग्री की अधिक मात्रा खरीदते हैं, उन्हें वह सामग्री तुलनात्मक रूप से सस्ते में मिल जाती है। इस हिसाब से देखें तो फिर आपको Building Material Business  शुरू करने में भारी भरकम निवेश करने की आवश्यकता हो सकती है।  

एक Building Material Store में कई सामान जैसे सीमेंट, सरिया, टाइल/पत्थर, पाइप/टंकी, पेन्ट/रंग इत्यादि रखने की आवश्यकता हो सकती है। यही कारण है की इस तरह का बिजनेस शुरू करने के लिए अन्य के मुकाबले अधिक जगह की आवश्यकता हो सकती है। इस जगह का प्रबंध उद्यमी कैसे और कहाँ से करेगा, और सामग्री को कैसे प्रबंधित करेगा उसे इस बात का भी ध्यान रखना होगा।

बिल्डिंग मटेरियल बिजनेस कैसे शुरू करें

हालांकि बहुत सारे लोगों को लगता होगा की, यदि उनके पास Building Material Business शुरू करने के लिए पर्याप्त पैसे है, तो वे यह काम आसानी से कर सकते हैं। लेकिन यह सच नहीं है इस तरह का बिजनेस शुरू करने के लिए भी आपको पिछले अनुभव की अत्यंत आवश्यकता होती है। यदि आप इस क्षेत्र से अनभिज्ञ हैं, तो यकीन मानिये आप इस व्यवसाय में सफलता प्राप्त नहीं कर सकते।

इसलिए इच्छुक व्यक्ति जो खुद का Building Material Business शुरू करना चाहता है, लेकिन इसकी उसे कोई जानकारी नहीं है। तो उसे सबसे पहले इस काम को करने का अनुभव प्राप्त करना चाहिए, इसके लिए अगर वो चाहे तो किसी मौजूदा निर्माण सामग्री स्टोर में काम करना प्रारम्भ कर सकता है।

1. सबसे पहले सामग्री की लिस्ट तैयार करें

जैसा की हम पहले ही बता चुके हैं की यह Building Material Business कर रहे उद्यमी पर निर्भर करता है, की वह किसी किस सामग्री को अपने स्टोर का हिस्सा बनाने जा रहा है। क्योंकि अलग अलग उद्यमी अपनी निवेश करने की क्षमता और ने मुद्दों को ध्यान में रखते हुए कोई केवल सीमेंट स्टोर खोलकर बैठा हुआ है, तो कोई केवल ईट बेचने का व्यापार कर रहा है, कोई केवल सरिया, कोई केवल छोटी मोटी वस्तुएँ जैसे नल, टैप, शीशे, टॉयलेट कमोड, शिंक, वाश बेसिन इत्यादि बेचने का व्यापार कर रहा है।

कुछ ही उद्यमी ऐसे हैं जो इन सब सामानों को यहाँ तक की पेन्ट तक को अपने Building Material Store  का हिस्सा बनाये हुए हैं। यह आप पर निर्भर करता है की आप कौन कौन सी सामग्री को अपने स्टोर का हिस्सा बनाना चाहते हैं। जिस भी सामग्री को आप अपने स्टोर का हिस्सा बनाना चाहते हैं, उसकी एक लिस्ट तैयार कर लें। ताकि उस सामान को ट्रैक करने और आर्डर देने में आपको परेशानी न हो।    

2. सामग्री के हिसाब से जगह का प्रबंध करें

Building Material की लिस्ट में हर छोटे से छोटा और बड़े से बड़ा सामान शामिल है। इसमें कोई दो राय नहीं की यदि आप सीमेंट, सरिया, पेन्ट, पाइप, टंकी इत्यादि को अपने स्टोर का हिस्सा बनाना चाहते हैं तो आपको तुलनात्मक रूप से बड़ी जगह की आवश्यकता होती है। जगह कितनी चाहिए वह भी इसी बात पर निर्भर करता है की आप अपनी दुकान में क्या क्या निर्माण सामग्री रखना चाहते हैं।

जो भी लिस्ट आपने तैयार की हो उसके हिसाब से ऐसी जगह पर दुकान के लिए जगह का चयन करें। जो स्थानीय मार्किट से जुड़ी हुई हो, और जहाँ पर सभी प्रकार के वाहन यहाँ तक की बड़े ट्रक भी आसानी से आ जा सकें और उनसे लोडिंग अनलोडिंग करते वक्त सामान्य ट्रैफिक प्रभावित न हो।     

3. जरुरी लाइसेंस और पंजीकरण प्राप्त करें

उद्यमी अपने व्यवसाय को प्रोप्राइटरशिप के तहत रजिस्टर कराकर स्थानीय प्राधिकरण से शॉप्स एंड एस्टाब्लिश्मेंट एक्ट के तहत लाइसेंस प्राप्त कर सकता है। चूँकि इसमें उद्यमी महंगे सामान को बेच रहा होता है, इसलिए उसका वार्षिक टर्नओवर आसानी से जीएसटी की सीमा को पार कर सकता है।

बेहतर यही है की उद्यमी पहले से अपने व्यवसाय का जीएसटी रजिस्ट्रेशन करा ले। उद्यमी को व्यवसाय के नाम से पैन कार्ड और एक करंट या बिजनेस बैंक अकाउंट खोलने की भी आवश्यकता हो सकती है।

4. Building Material कहाँ से खरीदेंगे

यह तो हम सब जानते ही हैं की एक Building Material Store में सैकड़ों प्रोडक्ट होते हैं। और इनका निर्माण किसी एक कंपनी ने नहीं, बल्कि अलग अलग कंपनियों ने किया हुआ होता है। इसलिए यदि आप सीधे इनके निर्माताओं से ही सामग्री खरीदना चाहते हैं, तो आपको अलग अलग कंपनियों की सेल्स टीम से संपर्क करना होगा।

और हर कंपनी के प्रोडक्ट का सैंपल अपने स्टोर में रखना होगा, ताकि ग्राहक की पसंद के अनुसार आप उन्हें वह सैंपल दिखा पाएँ । इस प्रणाली में आपको सामग्री कुछ सस्ते दामों में मिल सकती है, जो आपको प्रतिस्पर्धात्मक माहौल में टिके रहने में मदद करेगी।

दूसरी प्रणाली यह है की आप जिस एरिया में खुद का Building material Business कर रहे हैं, वहाँ पर पहले से मौजूद निर्माण सामग्री के स्टोर में जाकर उनसे उस एरिया के सप्लायर का नंबर लें, और उससे अपनी दुकान में भी माल सप्लाई करने के ऑफर प्रदान करें। लेकिन इसमें आपको सामग्री पहली प्रणाली की तुलना में थोड़े महंगे दामों में मिल सकती है। लेकिन इसका फायदा यह है की एक फोन कॉल के माध्यम से आर्डर की गई सामग्री आपके दुकान पर पहुँच जाती है।        

5. दुकान में कमर्चारीयों की नियुक्ति करें

यदि आपको इस व्यवसाय की पहले से कोई जानकारी और अनुभव है तो शुरूआती दौर में आप अपने Building Material Store को अकेले भी चला सकते हैं। लेकिन यदि आपकी योजना बड़े स्तर पर इस व्यवसाय को शुरू करने की है तो आपको एक नहीं बल्कि 4-5 कर्मचारियों की आवश्यकता हो सकती है।

जो ग्राहकों के द्वारा प्रदान की गई लिस्ट के मुताबिक स्टोर के अलग जगहों से सामान निकालकर, तोलकर, मापकर ग्राहकों को दे सकें। इसमें आप चाहें तो 1-2 अनुभवी कर्मचारी और 1-2 फ्रेशर कर्मचारियों की नियुक्ति कर सकते हैं।   

6. ग्राहकों को आकर्षित करें

आप अपने Building Material Store में सामान तो ले आए, लेकिन यदि आपके पास ग्राहक नहीं आएँ, तो भला आपकी कमाई कैसे होगी। बिजनेस चाहे कोई भी हो उसकी सबसे बड़ी चुनौतियों में यही बात शामिल है की ग्राहकों की संख्या कैसे बढाई जाए।

इसलिए यदि आप ग्राहक का विश्वास जितना चाहते हैं, तो शुरुआत में जब भी आपके पास ग्राहक आएँ आप अपने लाभ को कम कर सकते हैं। अर्थात यदि उसी बाज़ार में आपका प्रतिस्पर्धी किसी वस्तु पर दो रूपये कमा रहा है, तो आप केवल एक रूपये कमा सकते हैं, और एक रूपये का लाभ अपने ग्राहक को दे सकते हैं।

इसके अलावा उस एरिया में स्थित बिल्डिंग ठेकेदारों, राजमिस्त्रियों, प्लम्बर इत्यादि ऐसे लोग जिनकी बिल्डिंग बनाने में सक्रीय भूमिका होती है। उनसे अच्छा व्यवहार बनाये रखें और संभव हो तो उन्हें उनके द्वारा रेफर की गई खरीदारी पर कुछ ईनाम देने की भी योजना बनाएँ।     

घर तक सामग्री पहुँचाने की फैसिलिटी दें

Building Material भारी सामान होता है इसे कोई भी ग्राहक अपने हाथ पर या सिर में रखकर नहीं ले जा सकता। अगर संभव हो तो अपने दुकान के एक निश्चित दायरे जैसे तीन किलोमीटर के दायरे में ग्राहकों को उनके घर तक फ्री डिलीवरी फैसिलिटी प्रदान करें। और तीन किलोमीटर से अधिक दूरी के लिए उन्हें किराया देने के लिए कह सकते हैं।

वर्तमान में बहुत सारे Building Material Business करने वाले उद्यमी इलाके के रिक्शे, रेहड़ी, छोटा हाथ, ट्रक मालिकों के संपर्क में रहते हैं। ताकि जरुरत पड़ने पर वे उन्हें तुरंत अपने स्टोर पर बुलाकर सामान ग्राहक द्वारा निर्धारित पते तक पहुँचा पाएँ।      

Building Material Business शुरू करने में खर्चा

हालांकि Building Material Business शुरू करने में कितना खर्चा आएगा, वह इस बात पर निर्भर करता है की आप किन किन बिल्डिंग सामग्री को अपने स्टोर का हिस्सा बनाने जा रहे हैं । और आप प्रत्येक सामग्री की कितनी मात्रा खरीदने के इच्छुक हैं। बड़े स्तर पर इस तरह का यह बिजनेस शुरू करने में करोड़ों रूपये का निवेश संभावित है।

लेकिन यदि आप सीमेंट, सरिया, पाइप, पेन्ट और छोटे छोटे सामान के साथ एक छोटा स्टोर भी शुरू करना चाहते हैं। तो आप मान के चल सकते हैं की आपके 20-25 लाख रूपये तो इस बिजनेस को शुरू करने में लग ही जाएँगे।    

बिजनेस से होने वाली कमाई (Profit in Building Material Business) 

आम तौर पर देखा जाय तो Building Material Business को एक लाभकारी बिजनेस माना जाता है, क्योंकि इस तरह का व्यवसाय करके लोग लाखों रूपये तक महीने में कमा रहे होते हैं। लेकिन यह पूर्ण रूप से उद्यमी के पास आने वाले ग्राहकों की संख्या, उनके द्वारा की गई खरीदारी इत्यादि पर निर्भर करता है। बिजनेस के शुरूआती दौर में उद्यमी का लक्ष्य पैसे कमाने का नहीं बल्कि ग्राहकों का विश्वास जीतने का होना चाहिए।

इसके लिए वह चाहे तो अपने प्रॉफिट/मार्जिन को कम कर इसका सीधा फायदा ग्राहकों को दे सकता है। क्योंकि एक बार यदि उद्यमी ग्राहकों का विश्वास जीतने में कामयाब हो गया, तो वे ग्राहक बार बार उसी की दुकान पर आएँगे। और इस तरह से धीरे धीरे उद्यमी का Building Material Business से लाखों रूपये कमाई करने का सपना एक दिन जरुर पूरा होगा।  

यह भी पढ़ें