सही करियर का चुनाव करना पढाई के बाद मानो एक दुविधा सी बन जाती है। पढाई पूरी करने के बाद युवाओं को समझ में नहीं आता, की वे अपनी शिक्षा, कौशल और रूचि के हिसाब से सही करियर का चुनाव कैसे करें। क्योंकि जब आपकी शिक्षा पूर्ण हो जाती है, तो आप पर अपने परिवारजनों की अपेक्षाएँ जुड़ी होती हैं। यही कारण है की किसी के माता पिता या कानूनी संरक्षक ऐसे करियर के बारे में सोचते हैं। जिसमें कमाई अधिक और जोखिम कम हो, और यदि कोई ऐसा क्षेत्र जहाँ पर गृह क्षेत्र में रहकर ही काम किया जा सकता है, हो तो फिर तो बात ही क्या है।

अपने बच्चों ज्यादा अच्छा भविष्य देने के चक्कर में कभी कभी माता पिता बच्चों की इच्छाएँ भी जानना नहीं चाहते। परिणामस्वरूप बच्चे उस पाठ्यक्रम का हिस्सा तो बन जाते हैं, लेकिन कभी भी उसमें बहुत अधिक सफलता हासिल नहीं कर पाते। वह शायद इसलिए क्योंकि उनकी रूचि कुछ और करने में होती है। इसलिए भविष्य में आपके साथ ऐसा कुछ न हो, इसके लिए सही करियर का चुनाव करना आरम्भ में ही अत्यनत आवश्यक हो जाता है।

क्योंकि जैसे जैसे मनुष्य की उम्र बढती जाती है, वह जिम्मेदारियों के बोझ से भी दबता जाता है। और यह वह समय होता है, की जो वह काम कर रहा है। वह उसकी रूचि के मुताबिक नहीं है, लेकिन इसके बावजूद भी वही काम लगातार करना पड़ता है, क्योंकि उसका घर वही काम करके चलता है । अब जिस काम में किसी व्यक्ति की रूचि नहीं होगी, भला वह उस काम में तरक्की कैसे कर पाएगा।

सही करियर कैसे बनाएँ

चूँकि व्यक्ति सही समय रहते अपने रूचि मुताबिक सही करियर का चुनाव नहीं कर पाता है। इसलिए उसको इसका बोझ जिन्दगी भर उठाना पड़ता है। यदि आप भी अपने करियर को लेकर असमंजस की स्थिति में हैं, तो आज हम आपको इस लेख के माध्यम से सही करियर का चुनाव करने के बारे में ही बात करने वाले है। 

सही करियर का चुनाव कैसे करें?

यदि आप लोगों से पूछें की उनके जीवन में तीन सबसे महत्वपूर्ण एवं सार्थक चीजें क्या हैं? तो अधिकांश लोगों का जवाब परिवार, स्वास्थ्य और करियर ही होगा । कहने का आशय यह है की करियर मनुष्य के उन सबसे शीर्ष सार्थक हिस्सों में शामिल है, जो उनके जीवन में सबसे ज्यादा जरुरी हैं। इसलिए किसी भी मनुष्य के लिए सही करियर का चुनाव करना अत्यंत आवश्यक हो जाता है।

किसी भी व्यक्ति को उसके करियर बनाने या सही करियर का चुनाव करने में कुछ हफ्ते, कुछ महीने या कुछ साल भी लग सकते हैं। क्योंकि व्यक्ति अपनी नौकरी के दौरान भी करियर को बेहतर बनाने के लिए सीखते रहता है। कई बार जीवन में मनुष्य अपना करियर बदलने का भी सोचता है, लेकिन ऐसा एक निश्चित उम्र तक ही संभव हो पाता है।

1. सही करियर के चुनाव हेतु आत्म मूल्यांकन करें  

ध्यान रहे कोई भी महत्वपूर्ण निर्णय लेने से पहले, व्यक्ति को आत्म मूल्यांकन कर लेना चाहिए। यहाँ पर ध्यान देने वाली बात यह है, की हर काम को हर कोई नहीं कर सकता । सबसे पास उसकी जानकारी, शिक्षा, कौशल, अनुभव इत्यादि के आधार पर अलग अलग क्षमता मौजूद होती है।

आत्म मूल्यांकन करने के लिए, आपको कई बिन्दुओं पर विचार करने की आवश्यकता होती है । इनमें जैसे आप किस वातावरण में काम करना चाहते हैं? आपको कौन से काम करने में आनंद आता है? आप किसके साथ काम करना चाहते हैं? इत्यादि । इसके बाद आपको यह भी स्वयं से पूछना होगा, की जिस तरह के वातावरण में आप करना चाहते हैं, क्या उसके लिए आपके पास उपयुक्त शिक्षा, कौशल और अनुभव है।

ऐसे ही कई अन्य पप्रश्न हैं। जो आप सही करियर का चुनाव करने के लिए और खुद का मूल्यांकन करने के लिए खुद से पूछ सकते हैं। इसमें आपके बारे में कई ऐसे प्रश्न भी हो सकते हैं । जिसका स्पष्ट और सच्चा जवाब आपके पास न हो, इनका जवाब पाने के लिए आप अपने मित्रों, पारिवारिक सदस्यों, चिर – परिचितों की मदद ले सकते हैं। जैसे

  • आपकी Key Values क्या हैं? मतलब जैसे कोई अपने जीवन में फाइनेंसियल स्टेबिलिटी चाहता है, कोई दूसरों की मदद करना चाहता है, कोई स्वतंत्र रूप से रहना चाहता है इत्यादि।
  • आपके पास कौन कौन से सॉफ्ट स्किल्स हैं। सॉफ्ट स्किल्स गैर तकनिकी स्किल्स होते हैं जैसे टाइम मैनेजमेंट, कम्युनिकेशन, समस्या समाधान इत्यादि।
  • आपके पास तकनिकी स्किल्स में क्या है। तकनिकी स्किल्स किसी विशेष काम से सम्बंधित होते हैं। जैसे डाटा एनालिस्ट, प्लानिंग, रिसर्च, कोडिंग, डिजाइनिंग इत्यादि।
  • आपमें प्रकृति प्रदत्त योग्यता क्या है। यह योग्यता प्रकृति प्रदत्त होती है जैसे लिखने की योग्यता, नेतृत्व की योग्यता, बिक्री करने की योग्यता, प्रोजेक्ट मैनेजमेंट इत्यादि।
  • आपका व्यक्तित्व किस प्रकार का है। जैसे शांत, आत्मविश्वासी, मजाकिया, आक्रामक, वफादार इत्यादि।
  • आप सबसे अधिक किस्में रूचि रखते हैं। जैसे टेक्नोलॉजी, डिजाईन, विडियो एडिटिंग, कोडिंग इत्यादि।          

 2. जॉब से क्या चाहिए उन जरुरी चीजों की पहचान करें

सही करियर का चुनाव करने के लिए किसी व्यक्ति को जो अगला कदम उठाने की आवश्यकता होती है। वह यह है की उसे उन चीजों की पहचान करनी होती है, जो उसे उसके करियर या जॉब से चाहिए। ये ज्यादा वेतन से लेकर, जॉब के दौरान यात्रा, आवासीय सुविधा या कुछ और भी हो सकता है। कहने का आशय यह है की जब व्यक्ति को यह पता चल जाता है की उसे अपनी जॉब से क्या चाहिए। उसके बात वह सही करियर की दिशा में आगे बढ़ता है।  

  • क्या आप एक निश्चित वेतन पाना चाहते हैं। निश्चित वेतन से आशय जो आपने पहले ही निर्धारित किया हो।
  • क्या आप अपनी जॉब से अपेक्षा करते हैं की वह आपको हेल्थकेयर कवरेज और हफ्ते में निश्चित समय की छुट्टियाँ प्रदान करे।
  • क्या आप एक ऐसी जॉब चाहते हैं। जिसमें आपको यात्रा करने के अवसर प्राप्त हों।
  • क्या आप एक निश्चित लोकेशन पर जॉब चाहते हैं।
  • क्या आपको वर्क फॉर्म होम जैसी फ्लेक्सिबिलिटी चाहिए।
  • क्या आपको कोई विशिष्ट पद या जॉब टाइटल की आवश्यकता है।
  • क्या कुछ ऐसे काम हैं। जो आप अपनी नौकरी में नहीं करना चाहते।
  • क्या आपको अच्छे ढंग से काम करने के लिए एक निश्चित वर्क एनवायरनमेंट की आवश्यकता है।    

उपर्युक्त प्रश्नों के अलावा भी कई ऐसे प्रश्न हैं। जिन्हें किसी व्यक्ति को सही करियर का चुनाव करने के लिए स्वयं से पूछने की आवश्यकता हो सकती है। और इनकी एक लिस्ट भी बनानी पड़ सकती है। एक बार जब कोई भी व्यक्ति उन चीजों को निर्धारित कर देता है । जिनकी अपेक्षा उसे उसके आने वाली जॉब से है। उसके बाद रिसर्च करके वह अपने लिए ऐसी जॉब तलाश कर सकता है। जो उसकी अपेक्षाओं को पूर्ण करती हों।

3. जॉब की एक लिस्ट तैयार करें

जब व्यक्ति द्वारा जॉब के लिए स्वयं का मूल्यांकन और नौकरी से जुड़ी उसकी अपेक्षाओं के बारे में समझ लिया जाता है । तो उसके बाद सही करियर का चुनाव करने की ओर अगला कदम ऐसी नौकरी की तलाश करने का होता है, जो उम्मीदवार को दिलचस्प और अच्छी लगे। व्यक्ति चाहे तो ऐसे काम के बारे में भी लिख सकता है, जिसे वह जानता नहीं है, लेकिन उसकी दिलचस्पी उसमें है। और उस काम पर बाद में रिसर्च कर सकता है। जॉब की लिस्ट बनाने में निम्न सुझाव मददगार साबित हो सकते हैं।

  • यदि आपके नेटवर्क में ऐसे लोग हैं, जिनकी नौकरी आपको काफी दिलचस्प लगती है। तो आप उनसे उन नौकरियों के बारे में और अधिक जानकारी ले सकते हैं। और यदि नेटवर्क से बाहर आपको किसी व्यक्ति की नौकरी दिलचस्प लगती है। और उस नौकरी के बारे में भी अपने नेटवर्क में पता कर सकते है।
  • सही करियर का चुनाव करने के लिए सही इंडस्ट्री का चुनाव करना भी अत्यंत आवश्यक है। क्या कोई ऐसी विशेष इंडस्ट्री है जो आपको दिलचस्प और आकर्षक लगती है। तो आप उस इंडस्ट्री की जानकारी उन लोगों से ले सकते हैं, जो उस इंडस्ट्री में पहले से काम कर रहे हों।
  • सही करियर का चुनाव करने के लिए आपको उन चीजों को पहचानने की आवश्यकता होती है। जिन्हें करने में आप आनंदित महसूस करते हैं, यानिकी आपको उन कार्यों को पहचानना होता है जिन्हें करने में आपको मजा आता हो।
  • आप अपने लक्ष्यों और अपने मूल्यों को भी सूचीबद्ध कर सकते हैं। और आने वाले दस वर्षों में आप अपने करियर को कहाँ देखना चाहते हैं यह भी निर्धारित कर सकते हैं। आप नौकरी में कौन सी पदवी पाना चाहते हैं? आप दुनिया के कौन से शहर में रहना चाहते हैं? आप किस तरह की जीवन शैली आने वाले दस वर्षों में जीना चाहते हैं?
  • सही करियर का चुनाव तभी संभव है जब आप अपने हार्ड स्किल और सॉफ्ट स्किल का पता लगाएँ। कहने का आशय यह है की आपको अपनी ताकत और प्रतिभा का मूल्यांकन करने की आवश्यकता होगी।                               

  4. रिसर्च करें और अपनी सूची को संक्षिप्त करें

सही करियर का चुनाव करने के लिए अब इच्छुक व्यक्ति का अगला कदम गंभीर करियर संभावनाओं की एक लिस्ट बनाने की होनी चाहिए। यह लिस्ट दिलचस्प लगने वाली जॉब की लिस्ट में से ही होनी चाहिए। मतलब की इस प्रक्रिया में इच्छुक व्यक्ति दिलचस्प लगने वाली नौकरियों की लिस्ट में से कुछ गंभीर करियर संभावनाओं की लिस्ट बनाएगा, और उसके बाद उन पर रिसर्च करेगा।

आपका लक्ष्य उन एक या दो करियर विकल्पों तक पहुँचने का होना चाहिए, जिनके लिए आप सबसे ज्यादा उत्साहित हैं। इस रिसर्च को पूर्ण करने के लिए आप निम्नलिखित स्टेप्स को अपना सकते हैं ।

  • अपने लिए सही करियर का चुनाव करने के लिए आप चाहें तो खुद से एक प्रश्न पूछ सकते हैं, की उस विशेष नौकरी में आपका दिन कैसे गुजरेगा? या फिर आप अपने दिन को किस तरह से गुजारना चाहते हैं। और फिर जैसे आप अपने दिन को गुजारना चाहते हैं। यदि आपको कोई ऐसा विकल्प दिखाई देता है तो वह आपके करियर के लिए सही विकल्प हो सकता है।
  • आप अपनी जॉब से कितने वेतन की अपेक्षा कर रहे हैं। यदि आपको इस सवाल का जवाब मिल जाता है, तो फिर आप उसी वेतन रेंज में नौकरियों की तलाश कर सकते हैं । इस प्रक्रिया को अपनाकर भी कोई व्यक्ति अपने लिए सही करियर का चुनाव कर सकता है।
  • सही करियर का चुनाव करने से पहले, उस विशेष जॉब जो आप करना चाहते हैं। उसके लिए किन किन दस्तावेजों की आवश्यकता हो सकती है, उसके बारे में भी पूरा पता करें। दस्तावेजों से आशय प्रमाणपत्रों, डिग्री, ट्रेनिंग या अन्य क्रेडेंशियल्स से है।
  • आपके द्वारा चयन किये गए करियर में आगे बढ़ने या विकास की क्या संभावनाएं हैं । इसके बारे में पता करना भी बेहद जरुरी है। नौकरी की आवश्यकताओं को जानने के लिए जॉब डिस्क्रिप्शन को बेहद ध्यान से पढ़ें।
  • रूचि के मुताबिक जिस करियर का चुनाव आपने किया हो, उसकी हायरिंग ट्रेंड और जॉब ग्रोथ इत्यादि जानने के लिए ऑनलाइन और समाचार पत्रों में उसके बारे में पढ़ें। और सही करियर चुनने के लिए ऐसी नौकरियों के बारे में सोचें जो लम्बे समय तक बनी रहें और उनका लगातार विकास हो।     

5. ट्रेनिंग प्राप्त करें और रिज्यूमे अपडेट करें

जब आप सही करियर का चुनाव करने के लिए अपने चयन को केवल एक या दो करियर तक ही सिमित कर लेते हैं। तो उसके बाद आप आसानी से पता कर सकते हैं की, उन चयन किये गए करियर के लिए कोई अतिरिक्त कौशल, ट्रेनिंग या क्रेडेंशियल की जरुरत है या नहीं। बहुत सारे नियोक्ता ऐसे भी होते हैं, जो कर्मचारियों को नियुक्त करने के बाद ट्रेनिंग प्रदान करते हैं। तो कुछ ऐसे उम्मीदवारों को ही काम पर रखते हैं, जिनके पास आवश्यक कौशल पहले से मौजूद हो।

और जब आप पूरी तरह आश्वस्त हो जाते हैं, की आप उस चुने हुए करियर के लिए एक उपयुक्त उम्मीदवार बन गए हैं, तो उसके बाद आपको अपना रिज्यूमे अपडेट कर देना चाहिए।

6. नौकरी खोजें और अप्लाई करें

अब जब इच्छुक व्यक्ति ने अपने लिए सही करियर का चुनाव कर दिया हो, तो अब उसका अगला कदम अपने लिए उपयुक्त जॉब ढूँढने का होना चाहिए। इसके लिए इच्छुक व्यक्ति चाहे तो किसी प्लेसमेंट एजेंसी के ऑफिस में जाकर अपना रिज्यूमे सबमिट कर सकता है। या अपनी जान पहचान के लोगों को उसके लायक कोई जॉब निकलने पर सूचित करने को बोल सकता है।

वर्तमान में बहुत सारी जॉब वेबसाइट हैं, जिनसे कम्पनियां डायरेक्ट रिज्यूमे डाउनलोड करके, रिक्तियों से मिलान करके उम्मीदवारों को इंटरव्यू के लिए फोन करती हैं। इनमें Naukri.com, Indeed.com, Shine, Monster India, Linked in इत्यादि कुछ प्रमुख हैं।     

सही करियर का चुनाव कर लेने और जॉब पा लेने के बाद, किसी भी व्यक्ति का अगला कदम एक सफल करियर बनाने का होना चाहिए। सफल करियर बनाने के लिए व्यक्ति को लगातार सीखने की आवश्यकता होती है, और अपने कार्यों को नियत समय पर पूर्ण करने की भी आवश्यकता होती है।

यह भी पढ़ें

                

error: