Coaching Center Open कैसे करें How to start Coaching Institute Business.

क्या आप कोई अध्यापक हैं, यदि आप अध्यापक नहीं भी हैं तो क्या शिक्षा में आपकी बहुत अधिक रूचि है यदि हाँ तो आप अपना Coaching Center open करके अपनी कमाई कर सकते हैं | कहने का आशय यह है की यदि शिक्षा में आपकी विशेष रूचि है तो आप अपना Coaching Institute Business शुरू कर सकते हैं | जैसा की आप सबको विदित है की वर्तमान में हर कोई माता पिता अपने बच्चों को बेहतर से बेहतर शिक्षा उपलब्ध कराना चाहते हैं और वे चाहते हैं की इस दुनिया की आपाधापी में उनके अपने बच्चे अन्य बच्चों से पीछे न रहें, यही कारण है की हमारे देश भारत में वर्तमान में ट्यूशन का चलन सा हो गया है | और इसी चलन ने जन्म दिया है Coaching Center Open करके कमाई करने के अवसर को, क्योंकि पिछले कुछ सालों में हमारे देश भारतवर्ष में देश में कोचिंग इंस्टिट्यूट का चलन बेहद तीव्र गति से बढा है | और बच्चों एवं अभिभावकों दोनों में कैरियर के प्रति जागरूकता बढ़ने, बेरोजगारी के चलते कम्पटीशन बढ़ने इत्यादि के कारण जगह जगह कोचिंग इंस्टिट्यूट की आवश्यकता देखने को मिल रही है और उद्यमियों द्वारा आवश्यकता को देखते हुए नई नई जगह पर नए नए Coaching Center Open किये भी जा रहे हैं | आज इस लेख के माध्यम से हम ये जानने की कोशिश करेंगे की कैसे कोई व्यक्ति अपना Coaching Institute Business Start कर सकता है |

Coaching center open kaise kare

Coaching Center open कैसे करें?

जहाँ तक कोचिंग सेण्टर की स्थापना अर्थात Coaching Center open करने का सवाल है इसकी प्रक्रिया बेहद आसान होती है | यहाँ तक की उद्यमी शुरू में इसे अपने घर के किसी कमरे या कमरों से भी शुरू कर सकता है | इसके अलावा उद्यमी चाहे तो Coaching Institute open करने के लिए Franchise Business Model का भी चुनाव कर सकता है कहने का तात्पर्य यह है की उद्यमी चाहे तो खुद के कोचिंग सेंटर की स्थापना भी कर सकता है और चाहे तो इस क्षेत्र में किसी नामी गिरामी कंपनी की फ्रैंचाइज़ी लेकर भी इस बिज़नेस को शुरू किया जा सकता है | हालांकि किसी नामी गिरामी कंपनी के साथ Coaching Franchise business start करने में थोड़ा अधिक निवेश इसलिए हो सकता है क्योंकि कंपनी अपने बिज़नेस पार्टनर से 4-5 लाख रूपये तक लाइसेंस शुल्क ले सकती हैं | जबकि स्वयं का छोटे स्तर पर Coaching Center Open करने के लिए उद्यमी को किसी प्रकार के लाइसेंस की आवश्यकता नहीं होती है लेकिन बिज़नेस बढ़ने के साथ उद्यमी को ट्रेड लाइसेंस एवं टैक्स रजिस्ट्रेशन दोनों की आवश्यकता होती है | तो आइये जानते हैं की उद्यमी स्वयं का Coaching Business start कैसे कर सकता है |

  1. अपने स्किल का मूल्यांकन करें:

हालांकि अक्सर देखा गया है की Coaching Center Open करने के लिए किसी खास स्किल की आवश्यकता नहीं होती है सिवाय इसके की उद्यमी किसी एक या एक से अधिक विषय में पारंगत है और उसे पढ़ाना बेहद अच्छा लगता है | लेकिन यदि उद्यमी इस बिज़नेस में दीर्घकाल के लिए शामिल होना चाहता है तो निम्नलिखित स्किल उसके Coaching Center Business को आगे बढ़ाने में मददगार साबित होंगे |

  • उद्यमी में मानव प्रबंधन का कौशल होना चाहिए क्योंकि उसे विद्यार्थियों को मैनेज करना पड़ेगा और भविष्य में बिज़नेस ग्रोथ होने पर अन्य व्यक्तियों को भी मैनेज करना पड़ सकता है |
  • शिक्षण सम्बन्धी संसाधन प्रबन्धन का ज्ञान |
  • किसी एक या एक से अधिक विषय की पूर्ण जानकारी |
  • टीम का निर्माण और उसका प्रबन्धन क्योंकि भविष्य में उद्यमी को फैकल्टी टीम का निर्माण करना पड़ सकता है |
  1. विषय एवं कक्षा का निर्धारण:

अब यदि उद्यमी ने अपने कौशल का मूल्यांकन कर लिया हो तो उद्यमी का Coaching Center open करने के लिए अगला कदम विषय एवं कक्षा का निर्धारण करने का होना चाहिए | विषय एवं कक्षा के निर्धारण से हमारा आशय उस प्रक्रिया से है, जिसमें उद्यमी को इस बात का निर्णय लेना होता है की वह किन किन विषयों की, एवं कितने तक की कक्षा वाले विद्यार्थियों को अपने कोचिंग सेण्टर द्वारा कोचिंग देगा | इस बिज़नेस को स्टार्ट करने के लिए यह निर्णय लेना बहुत जरुरी होता है ताकि उद्यमी इन्हीं सब के आधार पर संसाधनों का प्रबंधन कर सके | उदाहरणार्थ: यदि उद्यमी सिर्फ उसी विषय की कोचिंग विद्यार्थियों को देना चाहता है जिस विषय में वह पारंगत है तो उसे अन्य फैकल्टी की आवश्यकता नहीं होगी इसके विपरीत यदि उद्यमी दो या दो से अधिक विषय जिसकी उसे जानकारी नहीं है की कोचिंग भी विद्यार्थियों को देना चाहता है, तो उसे अन्य फैकल्टी की भी आवश्यकता होगी |    

  1. Coaching Center Open करने के लिए जगह का चुनाव:

यद्यपि जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में भी बता चुके हैं की Coaching center Open करने वाला उद्यमी शुरूआती दौर में अपने घर के किसी एक कमरे से भी इस बिज़नेस की शुरुआत कर सकता है |  लेकिन यदि उद्यमी अपने घर से नहीं बल्कि किराये पर जगह लेकर Coaching center Open करना चाहता हो तो उद्यमी को किसी ऐसे जगह की तलाश करनी चाहिये जहाँ विद्यार्थी आसानी से पहुँच सकें और वहां का माहौल ज्यादा शोर शराबा वाला न हो | क्योंकि पढ़ाई में किसी भी प्रकार का व्यवधान विद्यार्थियों का पढाई से ध्यान विचलित कर सकता है | इसके अलावा जगह कितनी बड़ी या छोटी होनी चाहिए यह सब उद्यमी द्वारा निर्धारित किये गए बिज़नेस प्लान पर निर्भर करेगा | क्योंकि नर्सरी से कक्षा पांच तक का कोचिंग सेंटर खोलने के लिए नर्सरी से कक्षा बारह तक का सेंटर खोलने की तुलना में कम जगह की आवश्यकता होगी |

  1. संसाधनों का इंतजाम (Arrangement of Resources):

हालांकि व्यक्तिगत तौर पर यानिकी केवल उसी विषय की कोचिंग देना और उस कक्षा तक देना जिस कक्षा तक उद्यमी को उस विषय विशेष पर पारंगता हासिल हो, के लिए संसाधन के तौर पर मुख्य रूप से विद्यार्थियों को पढ़ाने वाली जगह चाहिए होती है | इसके अलावा कुछ कुर्सियां, बेंच, वाइट बोर्ड, वाइट मार्कर या ब्लैक बोर्ड, चौक, डस्टर इत्यादि की आवश्यकता हो सकती है | लेकिन Coaching Center Open कर रहे उद्यमी को अपने पास एक कंप्यूटर या लैपटॉप और इन्टरनेट कनेक्शन अवश्य रखना चाहिए ताकि उद्यमी अपनी जानकारी बढ़ाने एवं किसी ऐसे टॉपिक की जानकारी लेने के लिए उसका उपयोग कर सके जो उसे नहीं आता हो | उद्यमी चाहे तो अपने विद्यार्थियों को मुफ्त लाइब्रेरी की सेवा भी उपलब्ध करा सकता है इसके लिए उद्यमी शुरूआती दौर में किसी अलमीरा इत्यादि का उपयोग किताबें रखने के लिए कर सकता है | यदि उद्यमी विभिन्न विषयों एवं विभिन्न कक्षाओं की कोचिंग देने की सोच रहा है तो उसे अन्य फैकल्टी का भी प्रबंध बिज़नेस का श्रीगणेश करने से पहले करना होगा |

  1. ट्यूशन फीस का निर्धारण (Decide Fees):

वर्तमान में शायद ऐसा कोई क्षेत्र हो जहाँ विद्यार्थी Coaching Center में ट्यूशन पढने न जाते हों | कहने का आशय यह है की वर्तमान में हर जगह कोचिंग सेंटर देखने को अवश्य मिल जायेंगे इसलिए Coaching Center Open कर रहे उद्यमी को सबसे पहले अपने प्रतिस्पर्धियों द्वारा ली जाने वाली फीस एवं दी जाने वाली फैसिलिटी का मूल्यांकन करना होगा, और शुरूआती दौर में हो सके तो फीस अपने प्रतिस्पर्धियों से कम रखने की ही कोशिश करनी चाहिए ताकि आप आसानी से विद्यार्थियों या उनके माता पिता को समझाने में कामयाब हो सकें की वह कम कीमत पर हर वो फैसिलिटी देने को तैयार हैं जो कोचिंग के दौरान किसी विद्यार्थी के लिए जरुरी होते हैं |

  1. अपने कोचिंग सेंटर की मार्केटिंग करें (Market Your Business):

अब चूँकि उद्यमी द्वारा Coaching Center Open करने की दिशा में सभी जरुरी कदम उठा लिए गए हैं इसलिए अब अगला कदम कोचिंग सेंटर की मार्केटिंग का होना चाहिये | इसमें उद्यमी को इस बात का विशेष ध्यान देना होगा की उसका मार्केटिंग प्लान जितना सफल होगा उसका बिज़नेस उतना ही आगे बढ़ता जायेगा | यद्यपि यदि कोचिंग सेंटर में बेहतर ढंग से कोचिंग होती हो तो विद्यार्थी ही कोचिंग सेंटर की मार्केटिंग कर देते हैं लेकिन शुरूआती दौर में उद्यमी द्वारा अपने कोचिंग सेंटर की मार्केटिंग के लिए निम्न टिप्स का अनुसरण किया जा सकता है |

  • उद्यमी को चाहिए की वह अपने कोचिंग सेंटर के पम्पलेट छपवाए और इन्हें घरों एवं स्कूलों में बटवाए |
  • अपने कोचिंग सेंटर का विज्ञापन स्थानीय केबल ऑपरेटर के माध्यम से भी देने की कोशिश की जा सकती है |
  • अपनी वेबसाइट बनाकर उसका विज्ञापन फेसबुक, गूगल इत्यादि में स्थानीय लोगों को टारगेट करके दिया जा सकता है |
  • विद्यार्थियों को आकर्षित करने के लिए उन्हें फ्री डेमो क्लास की फैसिलिटी मुहैया कराएँ, इससे सेंटर के प्रति उनकी विश्वसनीयता बढ़ेगी |
  • शुरूआती दौर में Coaching Center Open कर रहे उद्यमी का पूरा ध्यान मार्केटिंग में होना चाहिए इसके लिए वहह स्थानीय समाचार पत्रों में भी विज्ञापन दे सकता है | कुछ अन्य मार्केटिंग तकनीक जानने के लिए यह पढ़ें |

Coaching Center Open करने में अनुमानित लागत एवं कमाई:

Coaching Center Open करने में आने वाला मुख्य खर्चा जगह का होता है अर्थात यदि उद्यमी घर से यह बिज़नेस शुरू करना चाहता है तो वह किराये का पैसा बचा सकता है | और जगह का किराया शहर एवं जगह की लम्बाई चौड़ाई पर निर्भर करता है | हालांकि एक औसतन शहर में लगभग पच्चीस लोगों को एक साथ पढ़ाने का कमरा 2500-3500 रूपये  के बीच किराये में मिल जाता है | इसके अलावा उद्यमी को मशीनरी उपकरणों के तौर पर निम्न सामग्री की आवश्यकता हो सकती है |

  • वाइट बोर्ड, वाइट मार्कर
  • ब्लैक बोर्ड, चौक, डस्टर
  • पंखे, एयर कंडीसन,
  • लैपटॉप या डेस्कटॉप
  • बेंच या कुर्सियां, मेज

इस तरह से देखा जाय तो एक Coaching Center Open करने में कुल खर्चा लगभग 75000-100000 तक का आएगा और यह खर्चा One Time expense में शामिल है, हालांकि महीने के खर्च में Consumables एवं फैकल्टी को दिया जाने वाला वेतन आएगा | जहाँ तक कमाई का सवाल है Coaching center Open करके उद्यमी की कितनी कमाई होगी यह बच्चों की संख्या पर निर्भर करेगी माना उद्यमी के कोचिंग सेंटर में कुल सौ विद्यार्थी आते हैं और उद्यमी ने इन सौ विद्यार्थियों को चार बैच में बांटा हुआ है तो इस तरह से एक बैच में 25 विद्यार्थी सम्मिलित हुए, और बच्चों से ली जाने वाली औसतन फीस को हम 700 रूपये मान के चलते हैं तो उद्यमी की हर महीने प्रत्येक बैच से होने वाली कमाई 17500 और चारों batch से होने वाली कमाई 70000 रूपये होती है इसमें से तीस हज़ार रूपये अन्य फैकल्टी का वेतन भी निकाल लेते हैं तो उद्यमी की महीने में 30-32 हज़ार रूपये कमाई आराम से हो सकती है | बच्चे कम ज्यादा होने पर कमाई घट- बढ़ सकती है |

अन्य सम्बंधित लेख:

नोटबुक बनाने के व्यवसाय सम्बन्धी जरुरी जानकारी

स्टेशनरी एवं बुक स्टोर का व्यवसाय कैसे शुरू करें

फोटोकॉपी और बुक बाइंडिंग बिज़नेस कैसे स्टार्ट करें

पेपर पिन बनाने के व्यवसाय की जानकारी   

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

One thought on “Coaching Center Open कैसे करें How to start Coaching Institute Business.

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *