Ceramic wall tiles से हमारा तात्पर्य बिल्डिंग या घर की दीवारों पर लगने वाली टाइल से हैं हालांकि दीवारों पर इन्हें सुन्दर, आकर्षक, चिकना दिखाई देने एवं इन्हें मौसम प्रतिरोधी बनाने के लिए Glaze की परत का इस्तेमाल किया जाता है यही कारण है की इन्हें Glazed Ceramic Wall Tiles भी कहते हैं |

सिरेमिक टाइल की यदि हम बात करें तो यह निर्माण कर्ताओं द्वारा ग्राहकों की पसंद के अनुरूप विभिन्न साइज़, शेप, टेक्सचर एवं फिनिशिंग के साथ तैयार की जाती हैं ताकि उपयोगकर्ता अपनी रचनात्मकता के अनुसार अपने घर या व्यवसायिक बिल्डिंगों की दीवारों पर Ceramic Tiles का उपयोग कर सके |

घरों या व्यवसायिक बिल्डिंगों की दीवारों पर टाइल लगाने का फायदा यह होता है की ये किफायती टिकाऊ होने के साथ साथ अग्नि प्रतिरोधी, नमी प्रतिरोधी एवं साफ़ करने में बेहद आसान होते हैं | इसलिए Glazed Ceramic wall tiles  को अधिकतर तौर पर घर या बिल्डिंग के ऐसे स्थानों पर लगाया जाता है जिन स्थानों की गंदे होने की संभावना अधिक रहती है |

Glazed Ceramic Wall Tiles manufacturing-business

टाइल्स बनाने का व्यापार क्या है?

जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में बता चुके हैं की वर्तमान में भी इसके निर्माण कर्ताओं द्वारा Ceramic Tiles को भिन्न भिन्न साइज़, शेप, टेक्सचर एवं फिनिशिंग के साथ तैयार किया जा रहा है, ताकि उपयोगकर्ता अपने बिल्डिंग या घर के लिए टाइल का चुनाव करते समय अपनी रचनात्मकता का इस्तेमाल करते हुए Ceramic Tiles का चुनाव कर सके |

इस प्रकार की टाइल को वैसे तो इनके डिजाईन, टेक्सचर, साइज़, शेप इत्यादि के आधार पर विभिन्न श्रेणियों में विभाजित किया जा सकता है लेकिन मुख्य रूप से दो श्रेणियों Unglazed tiles एवं Glazed Tiles में इन्हें बांटा जा सकता है | Unglazed tiles Glazed tiles की तुलना में कम चिकनी एवं चमकदार होती हैं, इसलिए इनका उपयोग फर्श इत्यादि पर अधिक किया जाता है |

और इसके विपरीत Glazed tiles का उपयोग फर्श की तुलना में दीवारों पर अधिक किया जाता है, लोगों की इसी आवश्यकता अर्थात दीवारों पर टाइल लगाने की आवश्यकता को ध्यान में रखकर जब किसी उद्यमी द्वारा Ceramic Tiles बनाने का काम किया जाता है तो उसके द्वारा किया जाने वाला यह बिज़नेस अर्थात व्यापार Glazed Ceramic wall tiles manufacturing business कहलाता है |

टाइल्स के बिकने की संभावनाएँ:

इस बिज़नेस के Market Potential को इसके उपयोग क्षेत्र के दायरे लो समझकर समझा जाता है अक्सर होता क्या है की जिस वस्तु की उपयोगिता लगभग हर एक मनुष्य के लिए बराबर होती है तो उस वस्तु की बिक्री होने के विकल्प यानिकी अवसर अधिक होते हैं | हालांकि जैसा हर बिज़नेस में होता है उद्यमी को इस बिज़नेस में भी शुरूआती दौर में प्रतिस्पर्धा देखने को मिल सकती है क्योंकि इंडिया में कुछ प्लेयर्स पहले से लोगों की इसी आवश्यकता की भरपाई करने की कोशिश कर रहे हैं |

यह बिज़नेस स्टार्ट  करने से पहले उद्यमी को अपने क्षेत्र में इस बात का अवश्य विश्लेषण करना चाहिए की क्या उस क्षेत्र में पहले से कोई उद्यमी Ceramic Tiles बनाने का काम तो नहीं कर रहा है |

जहाँ तक टाइल के उपयोग क्षेत्र की बात है इसका उपयोग लगभग सभी प्रकार के बाथरूम चाहे वह किसी व्यवसायिक बिल्डिंग के हों या घरों के, रसोईघर , रेलवे एवं बस स्टेशनों पर उपलब्ध टॉयलेट इत्यादि जगहों पर किया जाता है | वह इसलिए क्योंकि इस उत्पाद में विभिन्न गुण जैसे मौसम प्रतिरोधी, रसायन प्रतिरोधी, उच्च मजबूती, चमकदार सतह के साथ विभिन्न रंगों  की मनमोहक उपस्थिति इत्यादि समाहित होते हैं |

इसके अलावा लोगों का बेहतर जीवन स्तर होने के साथ साथ भी Glazed Ceramic Tiles की बाज़ार में मांग बढती जा रही है वर्तमान में चाहे घर हों, अस्पताल हों, रेलवे स्टेशन हों, मेट्रो स्टेशन हों, किसी भी प्रकार के संस्थान शैक्षणिक हो या अनुसन्धान करने वाले, होटल रेस्टोरेंट, सिनेमा हाल इत्यादि सभी के बाथरूम, टॉयलेट, रसोई में Ceramic Tiles दिखाई देती हैं |

इन टाइलों की डिमांड नवीनीकरण कार्य के कारण भी बढती है जैसे यदि कोई व्यक्ति अपने घर या व्यवसायिक स्थल का नवीनीकरण करवाता है तो उसे  टाइलों की आवश्यकता हो सकती है | चूँकि इन टाइल्स को आसानी से साफ़ सुथरा रखा जा सकता है और गंदे होने पर ये आसानी से साफ़ हो जाते हैं इसलिए सरकार द्वारा भी इस प्रकार के बिज़नेस को प्रोत्साहित किया जा रहा है क्योंकि विभिन्न सार्वजनिक स्थानों पर इस प्रकार की टाइलों का उपयोग किया जा रहा है |

टाइल्स बनाने के लिए मशीनरी और कच्चा माल

glazed Ceramic wall tiles Manufacturing business के लिए उपयोग में लाया जाने वाला मुख्य कच्चा माल स्थानीय मिटटी, चीनी मिटटी, बॉल क्ले, Wollastonite चिप्स इत्यादि हैं | चूँकि यह बिज़नेस भरी भरकम निवेश अर्थात कम से कम पांच करोड़ से शुरू किया जाने वाला बिज़नेस है इसलिए इसमें प्रयुक्त होने वाली मशीनरी एवं उपकरणों की लिस्ट इस प्रकार से है |

  • मोटर एवं अन्य उपकरणों के साथ बाल मिल |
  • मोटर एवं अन्य उपकरणों के साथ Agitator |
  • पंप, क्लॉथ फ़िल्टर इत्यादि के साथ हाइड्रोलिक फ़िल्टर प्रेस |
  • मोटर इत्यादि के साथ पैन मिल |
  • बाल्टी, लिफ्ट एवं सिलोस |
  • उपयुक्त डाई एवं मोटर के साथ हाइड्रोलिक प्रेस |
  • ब्लोअर और मोटर के साथ कनेक्टेड ग्लेज़िंग लाइन कन्वेयर |
  • मोटर के साथ ग्लेज़िंग के लिए बाल मिल |
  • वर्टीकल पंप एवं Agitator के साथ glaze वैट |
  • पॉट मिल |
  • ड्रायर एवं शटल |
  • बुलर रिंग मशीन |
  • लेबोरेटरी उपकरण |

आवश्यक कच्चे माल की लिस्ट निम्नवत है |

  • लोकल क्ले
  • चाइना क्ले
  • बाल क्ले
  • Talc
  • glaze
  • Wollastonite

निर्माण प्रक्रिया (Manufacturing process of glazed wall tiles):

सबसे पहले कच्चे माल जैसे लोकल क्ले, चाइना क्ले, बाल क्ले, वोलटाटोनाइट चिप्स इत्यादि को अच्छी तरह मिला दिया जाता है | उसके बाद इस मिश्रण को एक Agitator में उतार दिया जाता है, उसके बाद इस मिश्रण की चुम्बकीय जांच की जाती है और इसे एक agitating tank में आवश्यक flocculants के साथ रखा जाता है | उसके बाद घुलनशील लवन से छुटकारा पाने के लिए एवं इसे प्लास्टिक में परिवर्तित करने के लिए इस सामग्री को फ़िल्टर प्रेस के माध्यम से पास कराया जाता है |

इस प्लास्टिक बॉडी को एक ड्रायर में सूखा दिया जाता है और जब तक इसमें केवल 5-6% नमी रह जाय तब तक इसे ड्रायर के माध्यम से सुखाया जाता है | सूखी हुई इस सामग्री को PAN Mill में डाला जाता है | Pan Mill से निकलने वाले उत्पादन को Vertical Silos में संग्रहित किया जाता है | अब यह मिश्रण टाइल दबाने के लिए तैयार है दबाई गई हरे रंग की टाइलों को भट्ठे पर 3 फीट तक की ऊंचाई पर ढेर लगा दिया जाता है जो भट्ठे से आने वाली अपशिष्ट हवा से सूखते रहते हैं |

इन टाइलों को लगभग 20 घंटों तक सुखाया जाता है सूखे टाइलों को भट्टे में धकेल दिया जाता है और लगभग 20 घंटों तक इन्हें आग में रखा जाता है | इस प्रक्रिया से उत्पादित उत्पदान को बिस्कुट के नाम से जाना जाता है | ऐसी गरम टाइलें जिनका तापमान 250-300°C के बीच हो इन्हें प्राकृतिक रूप से ठंडा होने के लिए छोड़ दिया जाता है |

जब ठन्डी टाइल एक सामान्य तापमान 30-40°C वाले कमरे में लायी जाती हैं उसके बाद ऑनलाइन सोर्टिंग के माध्यम से जांच अर्थात स्क्रीनिंग की जाती है इसमें Hammer Test, Brushing, water spraying एवं ग्लेज़िंग प्रक्रिया को अंजाम दिया जाता है | उसके बाद इस glazed सामग्री को एक कन्वेयर में refractory cassettes में लोड कर दिया जाता है | उसके बाद इन cassettes को Glost Kiln car यानिकी दस्ताने भट्ठा कार में लोड कर इन्हें लगभग 1040°C तापमान  में 18 घंटों तक गरम किया जाता है |

उसके बाद ठंडी टाइलों को कैसेट से निकल लिया जाता है और ऑनलाइन इंस्पेक्शन किया जाता है | टाइल को उनके ग्रेड के आधार पर ग्रेड 1st एवं 2nd को व्यापारिक दृष्टि से वाणज्यिक उपयोग के उपयुक्त माना गया है जबकि 3rd Grade को रिजेक्ट कर दिया जाता है | टाइलों की छंटाई करके उनमे स्टाम्प इत्यादि करके उन्हें संग्रहित करने या पैकिंग के लिए भेज दिया जाता है |

जहाँ तक Glazed Ceramic wall tiles की गुणवत्ता का सवाल है ब्यूरो ऑफ़ इंडियन स्टैण्डर्ड ने इसके लिए IS-777-1970,IS-2840-1965, IS-4589-1979 इत्यादि मानकों का निर्धारण किया है |

यह भी पढ़ें

3 Comments

  1. Avatar for Nitesh Nitesh
  2. Avatar for Jahid malik Jahid malik
    • Avatar for Mahadev GOSWAMI Mahadev GOSWAMI

Leave a Reply

Your email address will not be published