एचडीएफसी बैंक की लघु उद्योगों के लोन के लिए नई पहल ।

देश के दुसरे सबसे बड़े निजी क्षेत्र के बैंक Housing Development Finance Corporation (HDFC) ने लघु उद्योगों एवं मध्यम उद्योगों को सरलता से Loan उपलब्ध कराने के लिए digital service की शुरुआत की है । अब लघु उद्योग एवं मध्यम उद्योग से जुड़े businessman को Loan apply करने के लिए बैंक की शाखाओं के चक्कर लगाने की आवश्यकता नहीं है ।

Kya hai HDFC ki digital Service SME Portal:

Laghu udyog एवं medium उद्योगों को को जिस ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से लोन उपलब्ध कराया जायेगा । उस पोर्टल को SME Portal नाम दिया गया है । इस ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से लघु उद्योग एवं मध्यम उद्योग से जुड़े जरूरतमंद कारोबारी अपने ऑफिस में बैठे बैठे ही लोन के लिए apply कर सकते हैं ।

HDFC-digital-loan-for-laghu-medium-udyog

आवेदन कैसे करें (How to apply ):

हालांकि यह facility अभी HDFC Bank द्वारा केवल उसके वर्तमान कस्टमर को दी जा रही है | लेकिन लगभग एक महीने बाद इस Facility को नए कस्टमर्स के लिए भी चालू कर दिया जायेगा | Loan apply करने के लिए किसी भी लघु उद्योग एवं मध्यम उद्योग से जुड़े कारोबारी को सर्वप्रथम HDFC के SME पोर्टल पर जाना होगा | बैंक द्वारा पूछी गई डिटेल्स भरनी होगी, और कुछ जरुरी कागजाद अपलोड करने होंगे | उसके बाद बैंक कारोबारी से खुद संपर्क करके लोन लेने की प्रक्रिया को आगे बढ़ाएगा | और इसी पोर्टल के माध्यम से कारोबारी अपने लोन का status चेक कर सकेंगे |

Laghu  and Medium udyog ko kya labh honge:

HDFC Bank की इस पहल से SME से जुड़े businessman को निम्न लाभ हो सकते हैं ।

  • लघु उद्योग एवं medium उद्योगों से जुड़े कारोबारियों को लोन लेने के लिए बैंक की शाखाओं के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे । जिससे उनका काफी समय बचेगा और वे यह समय अपने business से सम्बंधित किसी अन्य गतिविधि को देने में कामयाब होंगे ।
  • Digital SME Bank facility कारोबारियों के लिए कंप्यूटर, मोबाइल एवं टेबलेट के माध्यम से दिन के 24 घंटे और हफ्ते के सातों दिन उपलब्ध करायी जाएगी ।
  • Business Man को document submit करने के लिए भी बैंक नहीं जाना पड़ेगा । जरूरती documents को SME Portal के माध्यम से आसानी से अपलोड किया जा सकता है ।
  • इस Portal के माध्यम से HDFC Bank छोटे और मध्यम उद्योगों को बैंक गारंटी, Letter of credit, विदेशी मुद्रा में रेमिटेंस, आयात बिल का अंडर कलेक्शन इत्यादि सेवाएँ पूरी तरह से ऑनलाइन ही देगा ।
  • लोन की Installment या अन्य नवीनीकरण/ एक्सपायरी सम्बन्धी अपडेट कारोबारियों को घर बैठे मिलते रहेंगे । जिससे वे समय रहते हुए आगे की कार्यवाही कर सकें ।
  • वे कारोबारी जो सिर्फ इस डर से की लोन के लिए बैंक के पता नहीं कितने चक्कर लगाने पड़ेंगे लोन के लिए apply नहीं कर पाते थे । अब वे भी लोन के लिए अप्लाई करके अपने business को नया मुकाम देने की सोच सकते हैं ।
  • चूँकि हमारे देश में Laghu udyog एवं medium उद्योगों की संख्या 6 करोड़ है | और इनसे लगभग 8 करोड़ लोगों को रोजगार मिला हुआ है । और इनकी GDP में हिस्सेदारी 8% की है । इसलिए इतने बड़े सेक्टर को ध्यान में रखते हुए आसानी से digital platform द्वारा लोन उपलब्ध कराना । बैंक और देश की अर्थव्यवस्था के लिए भी एक क्रन्तिकारी स्टेप हो सकता है ।

यह भी पढ़ें

Leave a Comment