India Post Franchise Scheme (डाक विभाग के साथ बिज़नेस करके कमाई करने का मौका)

India Post Franchise Scheme (डाक विभाग के साथ बिज़नेस करके कमाई करने का मौका)

India Post Franchise Scheme की अवधारणा भारतवर्ष में भारतीय डाक की पहुंच को हर क्षेत्र चाहे वह ग्रामीण हो या शहरी तक करने की है | हालांकि यह सत्य है की दुनिया में भारतीय डाक नामक यह नेटवर्क सबसे बड़ा नेटवर्क है जिसके पूरे देश में 1.55 लाख से अधिक डाकघर स्थापित हैं | लेकिन इसके बावजूद डाकघरों की मांग जारी है इसी प्रकार की मांग को प्रभावी ढंग से पूर्ण करने के उद्देश से डाक विभाग द्वारा India Post Franchise Scheme की शुरुआत की गई है जिससे इच्छुक व्यक्ति भारतीय डाक के साथ अपना बिज़नेस शुरू करके जरुरतमंदो को डाक सेवाएँ उपलब्ध करा सकें | यह डाकघर विभाग द्वारा शुरू की गई योजना शहरी एवं ग्रामीण दोनों क्षेत्रों में डाक सुविधाओं को विस्तृत कराने के उद्देश से चलाई गई है कहने का आशय यह है की यह India Post Franchise Scheme किसी क्षेत्र विशेष के लिए नहीं अपितु सम्पूर्ण भारत के लिए है | इस योजना के तहत दो तरह की Franchise की अवधारणा रखी गई है |

indiapost-franchise-scheme

  1. उन क्षेत्रों में जहाँ डाक सेवाओं की मांग है लेकिन वहां कोई डाकघर नहीं खुला है में Franchise आउटलेट के माध्यम से डाक काउंटर सेवाएँ उपलब्ध कराने की अवधारणा |
  2. दूसरी प्रकार की Franchise अवधारणा डाक एजेंटों के माध्यम से डाक टिकट एवं अन्य स्टेशनरी की बिक्री सम्बन्धी है |

India Post Franchise Scheme की विशेषताएं:

  • इस स्कीम के अंतर्गत केवल काउंटर सेवाओं को Franchised किया जा सकता है डिलीवरी एवं हस्तांतरण समबन्धि सेवाएँ विभाग ही देखेगा |
  • Franchise द्वारा न्यूनतम निर्धारित तय समय के मुताबिक काउंटर सेवाएँ प्रदान की जायेंगी | यद्यपि यह समय फ्लेक्सिबल रह सकता है |

स्कीम के अंतर्गत Franchise द्वारा दी जाने वाली सेवाएँ :

  • फ्रैंचाइज़ी द्वारा डाक टिकट एवं अन्य स्टेशनरी की बिक्री की जा सकती है |
  • फ्रैंचाइज़ी द्वारा Registry योग्य दस्तावेजों की बुकिंग, स्पीड पोस्ट की बुकिंग, मनी आर्डर, इ पोस्ट इत्यादि सेवाएँ लोगों को असिमित तौर पर दी जा सकती हैं | लेकिन कमीशन के अलावा और किसी प्रकार की कोई छूट थोक बुकिंग पर नहीं मिलेगी | हालांकि समय समय पर कमीशन के प्रतिशत में बदलाव किये जा सकते हैं | Franchise को इस बात का बेहद ध्यान रखना पड़ेगा की वह थोक बुकिंग BNPL अर्थात Book Now pay letter वाले ग्राहकों की नहीं कर सकते | कहने का आशय यह है की ऐसे ग्राहक जो कहते हैं की बुक अभी कर दो भुगतान बाद में कर देंगे उनकी थोक बुकिंग नहीं हो सकती |
  • India Post Franchise Scheme के अंतर्गत स्थापित किसी भी आउटलेट में 100 रूपये से कम का मनी आर्डर बुक नहीं किया जा सकता है |
  • फ्रैंचाइज़ी Postal Life Insurance Scheme के प्रत्यक्ष एजेंट के रूप में कार्य कर सकती है इसमें प्रीमियम इकट्ठा करना इत्यादि क्रियाएं हो सकती हैं |
  • Revenue Stamps, CRF Stamps इत्यादि की फूटकर विक्री |
  • इस स्कीम के अंतर्गत ई-गवर्नेंस और नागरिक केंद्रित सेवाओं की सुविधा फ्रैंचाइज़ी द्वारा दिए जाने का प्रावधान भी किया गया है |
  • भविष्य में यदि किसी प्रकार की भी अन्य कोई सेवा डाक विभाग द्वारा शुरू की जाती है तो इसकी सूचनाये फ्रैंचाइज़ी आउटलेट को दी जायेंगी |

India post franchise Scheme के अंतर्गत निर्धारित मॉडल में दी जाने वाली सेवाओं की श्रंखला में विभिन्न प्रकार की सेवाओं को जोड़ने के लिए पर्याप्त लचीलापन है | इस स्कीम के अंतर्गत समय समय पर फ्रैंचाइज़ी द्वारा दी जाने वाली सेवाओं को आवश्यकतानुरूप विस्तारित किया जा सकता है | अलग अलग आउटलेट के लिए उसकी लोकेशन एवं राजस्व उत्पन्न करने की क्षमता को देखते हुए यह निर्णय लिया जा सकता है |

Franchise Scheme के अंतर्गत फ्रैंचाइज़ी लेने के लिए योग्यता:

इस स्कीम के अंतर्गत भारतीय डाक की फ्रैंचाइज़ी लेने के लिए कोई भी व्यक्ति/संस्थान/संगठन एवं अन्य इकाई जैसे कोने की दुकान वाला, पानवाला, किरयाना स्टोर वाला, स्टेशनरी की दुकान वाला एवं छोटे से छोटा दूकानदार चाहे वह ग्रामीण क्षेत्र से या शहरी क्षेत्र दोनों में से कही से भी सम्बद्ध रखता हो आवेदन कर सकता है | यहाँ तक की नए आने वाले शहरी टाउनशिप, Special Economic Zone, हाईवे प्रोजेक्ट, आने वाले नए औद्योगिक केंद्र, कॉलेज, पॉलिटेक्निक, यूनिवर्सिटीज, व्यवसायिक कॉलेज इत्यादि India Post Franchise scheme के अंतर्गत फ्रैंचाइज़ी कार्य करने के लिए योग्य हैं | व्यक्तिगत आवेदक की स्थिति में एग्रीमेंट समबन्धित व्यक्ति एवं डाक विभाग के बीच होता है और संस्थान या संगठन की स्थिति में संस्थान/संगठन के प्रमुख के बीच यह एग्रीमेंट होगा |

  • डाकघर में काम करने वाले कर्मचारियों के परिवार के सदस्य उस डिवीज़न में फ्रैंचाइज़ी लेने के लिए पात्र नहीं है जिस डिविजन में उनके घर का कोई सदस्य डाकघर में कार्यरत हो | इसमें घर के सदस्यों से आशय कार्यरत कर्मचारी की पत्नी, बच्चे, सौतेले बच्चे एवं अन्य निर्भर लोगों से है |
  • इस स्कीम के अंतर्गत फ्रैंचाइज़ी के लिए आवेदन करने वाले व्यक्ति की आयु 18 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए |
  • आवेदनकर्ता का आठवीं पास होना अति आवश्यक है |
  • ऐसे आवेदनकर्ता जो पोस्टल पेंशनर हों एवं जो कंप्यूटर फैसिलिटी दे सकें को वरीयता दिए जाने का प्रावधान है |
  • आवेदनकर्ता भारतीय डाक के साथ बिज़नेस करने हेतु लगने वाले निवेश को लगाने का इच्छुक होना चाहिए | इसके अलावा आवेदनकर्ता को चाहिए की वह उस बिज़नेस परिसर को कैसे चलाएगा, खुलने का समय, बंद होने का समय, प्रस्तावित निवेश, बाज़ार की स्थिति, मार्केटिंग उत्पादों के लिए प्रस्ताव, आंशिक ग्राहकों में जागरूकता, स्थानीय समुदाय में भूमिका इत्यादि की डिटेल्स देनी होगी | जिस क्षेत्र में उद्यमी फ्रैंचाइज़ी खोलने की सोच रहा हो उस क्षेत्र से किसी आदरणीय व्यक्ति का Reference भी देना पड़ सकता है |
  • आवेदनकर्ता को एक प्रभावी बिज़नेस प्लान की भी आवश्यकता हो सकती है |
  • सिक्यूरिटी डिपाजिट National Saving Certificate (NSC) के तौर पर जमा होगा कम से कम 5000 रूपये सिक्यूरिटी डिपाजिट के तौर पर जमा किया जा सकता है और औसतन दैनिक revenue के आधार पर यह बढ़ भी सकता है |
  • आवेदनकर्ता का चुनाव मंडल प्रमुख के द्वारा आवेदन मिलने के 14 दिनों के अंतर्गत किये जाने का प्रावधान है | India Post franchise Scheme के अंतर्गत यह सुनिश्चित किया जायेगा की ऐसी ग्राम पंचायत में डाक फ्रैंचाइज़ी न खुले जिस ग्राम पंचायत में पहले से ही पंचायत सेवा योजना के तहत पंचायत संचार सेवा केंद्र खुला हुआ है |
  • एरिया के सब डिविज़नल इंस्पेक्टर द्वारा संक्षिप्त तौर पर उत्पादों, सेवाओं इत्यादि के बारे में समझाया जायेगा |

Franchise Scheme के अंतर्गत Postal Agents का चुनाव:

इस स्कीम के अंतर्गत पोस्टल एजेंट के लिए आवेदन करने के लिए सम्बंधित व्यक्ति को डाक विभाग द्वारा निर्धारित फॉर्म भरकर जमा कराना होगा जो की क्षेत्रीय भाषा एवं हिन्दी भाषा में उपलब्ध होगा | पोस्टल एजेंट चुनाव करने के पीछे साफ़ एवं स्पस्ट लक्ष्य यह है की डाक टिकट एवं अन्य स्टेशनरी जनता के लिए उपलब्ध हो सके | इसका चुनाव भी सम्बंधित विभाग के मंडल प्रमुख द्वारा आवेदन प्राप्त करने के बाद किया जायेगा | चयनित पोस्टल एजेंट को आवेदन प्राप्त करने के एक हफ्ते बाद मंडल प्रमुख द्वारा एक फोटो पहचान पत्र जारी किया जायेगा | पोस्टल एजेंट के लिए आवेदन करने के लिए भी उपर्युक्त दी गई शर्ते अर्थात फ्रैंचाइज़ी लेने जैसी ही शर्ते हैं किन्तु इसमें शैक्षणिक योग्यता का उल्लेख नहीं किया गया है | इसके अलावा पोस्टल एजेंट को एग्रीमेंट हस्ताक्षर करने की और सिक्यूरिटी डिपाजिट करने की आवश्यकता नहीं है |India Post Franchise Scheme के अंतर्गत पोस्टल एजेंट को जारी किया जाने वाला प्रथम लाइसेंस एक साल के लिए वैध होगा उसके बाद दूसरा लाइसेंस तीन साल तक के लिए वैध होगा और हर तीन साल में लाइसेंस को Renew कराने की आवश्यकता होगी |

Comments

  1. By Pankaj Kumar

    Reply

  2. By Rankaj Verma

    Reply

  3. By sherejama khan

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: