Net Banking क्या है? इसके फायदे नुकसान एवं सुरक्षित इन्टरनेट बैंकिंग के तरीके.

इन दिनों Net Banking से अधिकतर लोग इसलिए परिचित होंगे क्योंकि रिलायंस जिओ के चलने से इन्टरनेट तक समाज के हर वर्ग की पहुँच हो चुकी हैं | इसके अलावा वर्तमान में अधिकतर लोग अपनी कमाई का कुछ न कुछ हिस्सा बैंक खाते में अवश्य जमा करते हैं इसलिए कहा जा सकता है की अधिकतर लोगों का किसी न किसी बैंक में बैंक खाता अवश्य होगा | चूँकि Net banking से बहुत सारे काम ऐसे होते हैं जो खाताधारक को बैंक की लाइन में खड़ा होने से बचाते हैं इसलिए हर कोई नेट बैंकिंग की सुविधा लेना चाहता है | कहने का आशय यह है की Net Banking से न सिर्फ खाते में कितने रूपये उपलब्ध है का पता लगाया जा सकता है | बल्कि बैलेंस चेक करने के अलावा Recurring Deposit, fixed Deposit, पैसे ट्रान्सफर इत्यादि भी किये जा सकते हैं | Net banking लोगों की कमाई से जुड़ा हुआ विषय है इसलिए आज हम हमारे इस लेख में इसके बारे में विस्तृत तौर पर जानने की कोशिश करेंगे |

Net banking kya hai

नेट बैंकिंग क्या है (What is net banking in Hindi):

Net banking को ऑनलाइन बैंकिंग भी कहा जाता है | यह एक ऐसा इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम होता है जो वित्तीय संस्थान या बैंक की वेबसाइट के माध्यम से उसके ग्राहकों को वित्तीय लेन देन एवं कुछ अन्य सुविधाएँ प्रदान करता है | जैसा की नाम से ही स्पष्ट है की Net Banking करने के लिए ग्राहकों के मोबाइल फोन या कंप्यूटर पर इन्टरनेट होना बेहद जरुरी होता है | कहने का अभिप्राय यह है की इन्टरनेट बैंकिंग ग्राहकों को अपने मोबाइल डिवाइस या कंप्यूटर के जरिए घर बैठे अर्थात बिना बैंक के चक्कर काटे पैसे के लेन देन एवं कुछ अन्य सुविधाएँ प्रदान करती हैं | हालांकि इंडिया में अभी भी लेन देन में नकदी के प्रवाह को देखा जा सकता है | लेकिन Net Banking के अधिक सुविधाजनक एवं सुरक्षित होने के कारण अब इसके इस्तेमाल में तेजी से वृद्धि हो रही है |

नेट बैंकिंग के फायदे (Benefits of Net Banking in Hindi):

Net Banking की तुलना यदि पारम्परिक बैंकिंग से करें तो हमें इसके कई फायदे नज़र आयेंगे जो खाते को सरल एवं सुविधाजनक बनाते हैं | यह ग्राहकों को बैंक की वेबसाइट या एप्लीकेशन का उपयोग करके विभिन्न प्रकार के लेनदेन की अनुमति के अलावा अन्य भी कई फायदे प्रदान करता है | Net Banking के कुछ मुख्य फायदे इस प्रकार से हैं |

  • Net Banking एक्टिवेट करने में सिंपल एवं ऑपरेट करने में बेहद आसान होती है |
  • यह काफी सुविधाजनक होता है क्योंकि इसका उपयोग करके ग्राहक अपने बिलों का भुगतान कर सकते हैं, एक खाते से दूसरे खाते में पैसे ट्रान्सफर कर सकते हैं, आवर्ती खाता खोल सकते हैं, फिक्स्ड डिपाजिट खाता खोल सकते हैं इत्यादि | अर्थात Net Banking का यह फायदा ग्राहकों को बैंक की लाइन एवं बिल जमा करने वाली लाइनों से बचाता है |
  • इन्टरनेट बैंकिंग की सुविधा ग्राहकों के लिए लगभग चौबीस घंटे एवं हफ्ते के सातों दिन उपलब्ध रहती है |
  • Net Banking के माध्यम से ग्राहक कोई भी टास्क कभी भी कहीं से भी यहाँ तक की रात्रि में जब बैंक बंद हो जाते हैं कर सकता है |
  • यह बेहद तेज प्रणाली है कहने का आशय यह है की इस प्रणाली के अंतर्गत पैसे एक खाते से दूसरे खाते में बड़ी जल्दी ट्रान्सफर किये जा सकते हैं |
  • इन्टरनेट बैंकिंग के माध्यम से एक व्यक्ति द्वारा अनेकों खाते आसानी से प्रबंधित किये जा सकते हैं |
  • ऑनलाइन बैंकिंग के माध्यम से ग्राहक अपने खाते से होने वाले लेन देन पर हमेशा नज़र बनाये रख सकता है | जिससे वह अपने खाते को हमेशा सुरक्षा मुहैया कराने में कामयाब रहता है | क्योंकि ग्राहक को जैसे ही किसी अनधिकृत गतिविधि का आभास अपने खाते में होता है वह इस बारे में समय रहते बैंक को सूचित कर सकता है |
  • ग्राहक Net banking के इस्तेमाल के लिए कोई भी डिवाइस जैसे मोबाइल फ़ोन, टेबलेट, लैपटॉप, डेस्कटॉप इत्यादि उपयोग कर सकता है |
  • इसमें सारे लेन देन स्वत: ही अपडेट हो जाते हैं यही कारण है की ग्राहक अपने अपडेटेड खाते को हमेशा देख सकता है |
  • Net banking के माध्यम से बैंक लगभग ग्राहक की जेब में हमेशा उपलब्ध रहता है, जिससे ग्राहक का समय एवं पैसा दोनों की बचत होती है |

नेट बैंकिंग के नुकसान (Disadvantages of Net Banking in Hindi):

जैसा की हम उपर्युक्त वाक्यों में इन्टरनेट बैंकिंग के अनेकों फायदों के बारे में जान चुके हैं और हम यह भी जानते हैं की इस दुनिया में जिसके फायदे हैं तो उसके कुछ नुकसान भी होते हैं | अर्थात ऐसी कोई चीज नहीं होती जिसके केवल फायदे ही फायदे होते हों | इसलिए Net Banking के भी कुछ नुकसान हैं जिनका विवरण कुछ इस प्रकार से है |

  • यद्यपि Net Banking को एक्टिवेट करना एवं इसका इस्तेमाल करना सरल है यहाँ तक की ग्राहक इसे ऑनलाइन भी एक्टिवेट कर सकते हैं | लेकिन इंडिया में अभी भी बहुत सारी जनता ऐसी है जिन्हें इन्टरनेट चलाना नहीं आता है इसलिए इन्टरनेट बैंकिंग की यह प्रणाली उनके समझ से बाहर है |
  • नेट बैंकिंग करने के लिए इन्टरनेट का होना बेहद जरुरी है बिना इन्टरनेट कनेक्शन के इसमें प्रवेश नहीं किया जा सकता |
  • इसमें लेनदेन की सुरक्षा हमेशा से एक बड़ा मुद्दा रहा है ग्राहक का खाता किसी अनधिकृत व्यक्ति के द्वारा हैक किया जा सकता है |
  • Net Banking में पासवर्ड की सुरक्षा सबसे महत्वपूर्ण है | यदि पासवर्ड रिसीव होने के बाद कोई व्यक्ति इसे बदलना भूल गया तो किसी अन्य द्वारा इसका दुरूपयोग होने का डर रहता है |
  • बैंक का सर्वर डाउन होने की स्थिति में इन्टरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है |
  • इन्टरनेट कनेक्शन के टूट जाने या बैंक के सर्वर डाउन होने की स्थिति में कभी कभी यह जानना बेहद मुश्किल हो जाता है की लेनदेन सफल हुआ है या नहीं |
  • नेट बैंकिंग से कोई भी ग्राहक नकदी जमा नहीं कर सकता है |

सुरक्षित नेट बैंकिंग करने के टिप्स (Safety Tips for net banking in Hindi):

इंडिया में आज भी एक बहुत बड़ी आबादी है जो Net banking का इस्तेमाल करने से कतराते हैं क्योंकि उन्हें लगता है की इसका इस्तेमाल करने से उनके साथ ठगी एवं धोखा हो सकता है अर्थात उनका खाता हैक हो सकता है और जिसके कारण उन्हें अपनी मेहनत की कमाई खोनी पड़ सकती है | हालांकि यह सच है की इन्टरनेट की दुनियां में सौ फ़ीसदी कोई भी सुरक्षित नहीं है लेकिन क्या इस डर से हमें Net banking का इस्तेमाल करना छोड़ देना चाहिए? नहीं बल्कि इन्टरनेट बैंकिंग के इस्तेमाल के समय यदि कुछ सुरक्षा के टिप्स अपनाएं जाएँ तो इन्टरनेट पर होने वाले छल, कपट से आसानी से बचा जा सकता है | तो आइये जानते हैं ऐसे कौन से Safety Tips हैं जिनको अपनाकर सुरक्षित नेट बैंकिंग की जा सकती है |

  1. Net Banking के लिए मजबूत पासवर्ड रखें और अक्सर उसे बदलते रहें:

इन्टरनेट बैंकिंग के लिए पासवर्ड सेट करते समय इस बात का अवश्य ध्यान रखें की आपके द्वारा सेट किया गया पासवर्ड मजबूत अर्थात शब्दों, अंकों एवं विशेष चिन्हों का मिश्रित रूप होना चाहिए | इसके अलावा सुरक्षित नेट बैंकिंग की दृष्टी से ग्राहकों को अपना पासवर्ड अक्सर बदलते रहना चाहिए | ध्यान रहे Net banking में वह पासवर्ड बिलकुल इस्तेमाल न करें जो आप अपने ईमेल अकाउंट या अन्य ऑनलाइन अकाउंट के लिए कर रहे हों |

  1. सार्वजनिक कंप्यूटर एवं नेटवर्क से बचें :

कभी ऐसा हो सकता है की जब आपको लगेगा की आपको Net banking के इस्तेमाल की अत्यंत आवश्यकता है | ऐसे में यदि आप साइबर कैफ़े इत्यादि में जाकर इन्टरनेट बैंकिंग करते हैं तो यह सुरक्षा की दृष्टी से आपके खाते पर खतरा हो सकता है, क्योंकि साइबर कैफ़े में एक नहीं बल्कि अनेकों लोग आते हैं तो ऐसे में कोई भी आपकी नेटबैंकिंग में लॉग इन कर सकता है | इसलिए सुरक्षित ऑनलाइन बैंकिंग के लिए सार्वजनिक कंप्यूटर एवं नेटवर्क से बचना चाहिए |

  1. खाते की डिटेल्स शेयर न करें

अक्सर ऐसे लोगों के फोन कॉल आते हैं जो कहते हैं की वे आपके बैंक से बोल रहे हैं और आपसे आपके खाते की डिटेल्स मांगने लगते हैं | ध्यान रहे आपको किसी को भी अपने खाते की डिटेल्स नहीं देनी चाहिए क्योंकि यदि व्यक्ति आपके बैंक से होगा तो उसके पास आपकी सारी डिटेल्स पहले से मौजूद होगी और वह आपसे आपकी कोई भी डिटेल्स मांगेगा नहीं, बल्कि आपको बताएगा | यदि किसी व्यक्ति द्वारा किसी को भी उसका Net banking का लॉग इन आईडी एवं पासवर्ड दिया जाता है तो ऐसे में व्यक्ति अपनी मेहनत से कमाई हुई कमाई को खो सकता है |

  1. फिशिंग हमलों से सावधान रहें?

ये फिशिंग हमले Net banking से ही नहीं बल्कि साधारण बैंकिंग से भी सम्बद्ध हो सकते हैं | अर्थात ऐसे ईमेल, फ़ोन कॉल, सोशल चैट इत्यादि जिनमें आपसे अकारण ही काफी सारी डिटेल्स जिसमे बैंक खातों इत्यादि की डिटेल्स भी शामिल हो मांगी जा रही हो | तो सावधान हो जाइये यह आप पर फिशिंग अटैक हो सकता है जो आपको आर्थिक रूप से क्षति पहुंचा सकता है | ऐसे में व्यक्ति को इन ईमेल, फ़ोन कॉल, सोशल चैट इत्यादि पर अपनी कोई डिटेल्स साझा नहीं करनी चाहिए |

  1. ईमेल पर दिए गए लिंक पर क्लिक करके लॉग इन न करें

कभी कभी क्या होता है की हैकर या ठगों द्वारा व्यक्ति के ईमेल पर ऐसे ईमेल भेजा जाता है जैसे व्यक्ति को लगेगा की यह ईमेल उसके बैंक से आया है | लेकिन जैसे ही व्यक्ति उस पर क्लिक करता है वह इस जाल में फंस सकता है क्योंकि ईमेल पर भेजा गया लिंक फेक हो सकता है | इसलिए Secure net banking के लिए ईमेल पर दिए गए लिंक पर कभी क्लिक न करें | बल्कि बैंक के लॉग इन एड्रेस को बुकमार्क कर लें |

  1. अक्सर अपने खाते का निरीक्षण करते रहें

Net Baking का इस्तेमाल दो तीन दिनों के अन्तराल पर करते रहने से व्यक्ति को उसके द्वारा खर्च किये गए व्ययों का ब्यौरा मिल जाता है | और यदि व्यक्ति को लगता है की उसके खाते से कुछ ऐसे लेन देन हुए हैं जो उसने नहीं किये हैं तो ऐसी स्थिति में वह सम्बंधित बैंक से तुरंत संपर्क कर सकता है |

  1. अंतिम लॉग इन की डिटेल्स चेक करें

वर्तमान में हर एक बैंक जिसके द्वारा भी अपने ग्राहकों को Net banking की सुविधा दी जा रही है द्वारा अंतिम लॉग इन डिटेल्स जैसे समय, लोकेशन, तिथि इत्यादि को निरीक्षण या देखने का भी विकल्प दिया जा रहा है | इसका निरीक्षण करने के बाद यदि व्यक्ति को लगता है की किसी ने उसके खाते में अनधिकृत प्रवेश किया है तो व्यक्ति को तुरंत पासवर्ड बदल देना चाहिए |

  1. अपनी डिवाइस में प्रभावी एवं अपडेटेड एंटीवायरस का उपयोग करें

इन्टरनेट पर अपने आप को सुरक्षित बनाने के लिए जरुरी है की आप अपनी डिवाइस या कंप्यूटर को सुरक्षित बनायें | इसके लिए आप किसी विश्वसनीय एंटीवायरस का उपयोग अपनी डिवाइस या कंप्यूटर में कर सकते हैं | इससे न सिर्फ आपकी Net banking सुरक्षित होगी बल्कि उस डिवाइस या कंप्यूटर से जो भी आप काम करते हैं सभी सुरक्षित हो पाएंगे | इसके अलावा हमेशा याद रखें की Net banking के उपयोग के बाद अपने खाते को Log Out अवश्य करें |

नेट बैंकिंग के लिए आवेदन कैसे करें (How to apply for Net Banking in Hindi):

इससे पहले की हम यह जानें की Net banking के लिए अप्लाई कैसे किया जाता है उससे पहले यह जान लेते हैं की क्या इस सुविधा के लिए बैंकों द्वारा कोई चार्ज वसूला जाता है? अर्थात Net banking Free है या इसके लिए पैसे देने पड़ते हैं? | इस प्रश्न का साधारण एवं स्पष्ट जवाब यह है की इन्टरनेट बैंकिंग फ्री है कोई भी बैंक इस सुविधा के बदले अपने ग्राहकों से पैसे नहीं लेता है | हाँ लेकिन कुछ परिस्थितियों जैसे पासवर्ड रिसेट इत्यादि करने में कुछ बैंकों द्वारा जैसे स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया द्वारा 1 रूपये वसूला जाता है | जहाँ तक इन्टरनेट बैंकिंग के लिए अप्लाई करने की प्रक्रिया की बात है यह अलग अलग बैंकों  में अलग अलग हो सकती है | लेकिन अधिकतर बैंकों में यह प्रक्रिया एटीएम या ऑनलाइन की जा सकती है | जैसे स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया में Net Banking Registration की यह प्रक्रिया ऑनलाइन की जा सकती है तो HDFC Bank में ऑनलाइन एवं एटीएम के माध्यम से इस प्रक्रिया को अंजाम दिया जा सकता है |

अन्य भी पढ़ें:

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

One thought on “Net Banking क्या है? इसके फायदे नुकसान एवं सुरक्षित इन्टरनेट बैंकिंग के तरीके.

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *