प्रधान मंत्री आवास योजना (PMAY) की सम्पूर्ण जानकारी हिन्दी में |

प्रधान मंत्री आवास योजना (PMAY) की सम्पूर्ण जानकारी हिन्दी में |

प्रधान मंत्री आवास योजना (PMAY in Hindi) पर बात करने से पहले हमें इस Yojana को संचालित करने की जरुरत क्यों पड़ी, उसके बारे में जानना जरुरी है | आइये Pradhan Mantri Awas Yojana के बारे में हम एक कहानी के माध्यम से समझने की कोशिश करते हैं | अपने माँ बाप की इकलौती बेटी थी वह, पापा सेना से रिटायर्ड थे | घर में तीन लोग थे वो और उसके माँ बाप, कभी शादी की बाद आती थी, तो वह बोल उठती थी पापा मम्मी मैं आपको छोड़कर कहीं नहीं जाउंगी | लेकिन मां पापा को क्या पता था की यह तो अपने दिल में किसी और को ही स्थान दे चुकी है | बेटी की बढ़ती हुई उम्र को देखते हुए माँ बाप भी भला कब तक उसकी बात खेल खेल में लेते | तो एक बार पापा ने गंभीरता से अपनी लाड़ली को पूछ ही लिया | और वह भी घबरा गई, और बोल पड़ी हां में एक लड़के से प्यार करती हूँ और उसी से शादी करने वाली हूँ | पापा और मम्मी की ख़ुशी का ठिकाना नहीं था | उसने लड़के को माता पिता से मिलाया उनको अच्छा लगा | शादी से पहले लड़की ने लड़के के सामने शर्त रखी की मैं अपने माँ बाप के साथ ही रहूंगी और आप भी यही रहना | लड़का मान गया शादी हो गई | कुछ सालों बाद बुजुर्ग माँ बाप चल बसे, लेकिन जाते जाते अपनी जिंदगी भर की Kamai मकान अपनी बेटी के नाम कर गए | एक दिन पति आता है, और बोलता है लाड़ली मुझे अपना नया व्यापार शुरू करना है | बैंक में लोन के लिए अप्लाई किया था तो उन्होंने रिजेक्ट मार दिया कहते हैं आपके नाम की तो कोई प्रॉपर्टी है ही नहीं | लाड़ली बोली अरे आप भी खामखाह चिंता करते हैं, इसमें कौन सी बड़ी बात है ये जो घर है, ये मेरे नाम पर है मैं तुम्हारे नाम पर कर दूंगी, तो बन जायेगा न तुम्हारा काम? पति हाँ लेकिन ……………

Pradhan-mantri-Awas-Yojna-

Pradhan-mantri-Awas-Yojana-

लाड़ली अरे लेकिन क्या ………….. और अगले ही दिन लाड़ली ने घर अपने पति के नाम कर दिया | और उसके बाद शुरू हुई लाड़ली की अंतहीन दर्दनाक कथा ……….. बात बात पर प्रताड़ित करना, छोटी से छोटी बात पर घर छोड़ के चले जाओ कहना, मानो अब उसके पति का फैशन बन चूका था | लाड से पली बढ़ी लाड़ली अब घुट घुट के जी रही थी |

ये तो दोस्तों एक काल्पनिक कहानी थी | लेकिन वास्तव में भी हमारे देश में औरतो के साथ यह सब होता है | और पता नहीं कितनी लाडलियो को बात बात पर घर से निकाले जाने की धमकी दी जाती है | कितना अच्छा होता, अगर वह घर किसी आदमी के नाम पर न होकर किसी औरत के नाम पर होता | महिला शशक्तिकरण को बढ़ावा देने हेतु, महिलाओ की स्तिथि सुधारने हेतु भारत सरकार द्वारा जारी Pradhan Mantri Awas Yojana में महिलाओ को प्राथमिकता दी गई है | तो आइये जानते हैं प्रधानमंत्री आवास योजना के बारे में |

प्रधान मंत्री आवास योजना की अवधारणा

घर अर्थात आवास के बिना मनुष्य की जिंदगी हमेशा इसी संघर्ष में गुज़र जाती है । की एक न एक दिन अपना भी घर होगा । लेकिन आजकल के समय में एक सामान्य आदमी के लिए शहरो में घर खरीदने का सपना चाँद को छूने जैसा हो गया है । भारत के शहरो में 20 मिलियन अर्थात 2 करोड़ से भी अधिक लोग झोपड़ी या फिर बिना घर के रहते हैं । और हर दस वर्षो में झोपड़ियो या सड़क पर रहने वाले लोगो की संख्या में लगभग 34% की वृद्धि होती है, जो बहुत डरावनी है । इसी बात के मद्देनज़र भारत सरकार ने Pradhan Mantri Awas Yojna की शुरुआत करी है । 

Pradhan Mantri Awas Yojana (PMAY) Kya hai:

अन्य योजनाओ की तरह यह भी भारत सरकार द्वारा संचालित एक Yojna है । जो विशेषकर शहर में झोपडी और बिना घर के रहने वाले लोगो के हितो हेतु संचालित की गई है । इस योजना का लक्ष्य 2022 तक सबको सस्ती दरों पर अपना आवास उपलब्ध कराना है ।

प्रधान मंत्री आवास योजना  (PMAY) की शुरुआत कब हुई ?

भारत सरकार ने इससे पहले Hosuing for All नामक योजना की शुरुआत इसी लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए करी थी | लेकिन बाद में इसके नाम में सुधार करके इस योजना को प्रधान मंत्री आवास योजना का नाम दिया गया | इस योजना की शुरुआत भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने 25 जून 2015 को करी थी |

प्रधान मंत्री आवास योजना का लक्ष्य :

इस योजना का लक्ष्य 2015 से 2022 तक इन सात वर्षो में लगभग 2 करोड़ तक आवास बनाना | और उन आवासो को सस्ती दरों पर जरुरतमंदो को उपलब्ध कराने से है | इस योजना के अंतर्गत पूरे भारतवर्ष से हर राज्य से शहरों का चुनाव किया गया है | Pradhan Mantri Awas Yojana का लाभ आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग अर्थात (Economically Weaker Section) EWS और कम आय वाले वर्ग अर्थात Lower Income Group (LIG) को दिया जायेगा |

चूंकि प्रधानमंत्री आवास योजना में लगभग 2 करोड़ आवास बनाने के लिए समय सीमा 7 वर्ष 2015 से 2022 तक की तय की गई है | इसलिए इस योजना को सुचारू रूप से क्रियान्वित और अधिक से अधिक लोगो को इसका लाभ पहुँचाने के लिए यह योजना तीन चरणो में विभाजित की गई है | प्रत्येक चरण में इस योजना का लक्ष्य अलग अलग निर्धारित किया गया है |

पहला चरण : प्रधान मंत्री आवास योजना (PMAY) का पहला चरण 2015 से शुरू होकर मार्च 2017 तक चलेगा | इस चरण में लगभग 100 शहरो को विकसित बनाने की योजना है | अर्थात 2017 तक 100 शहरो में आवास की समस्या का निदान संभावित है |

दूसरा चरण : दूसरा चरण इस योजना का अप्रैल 2017 से शुरू होकर मार्च 2019 तक चलेगा | इस चरण में लगभग 200 से अधिक शहरो को विकसित और आवास की समस्या से निजात दिलाई जाएगी |

तीसरा चरण : यह चरण अप्रैल 2019 से 2022 तक चलेगा | और इस चरण के अंतर्गत जितने भी बचे हुए शहर होंगे उनको विकसित करके आवास की समस्या से निजात दिलाई जाएगी |

प्रधान मंत्री आवास योजना के तहत किन किन लोगों को प्राथमिकता दी जाएगी.

प्रधान मंत्री आवास योजना के अंतर्गत निम्न व्यक्तियों को प्राथमिकता दिए जाने का प्रावधान है |

  • महिलाएं (चाहे वो किसी भी जाति या धरम से सम्बन्ध रखती हों |   
  • आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग
  • अनुसूचित जाति
  • अनुसूचित जनजाति

उपर्युक्त वर्गो से सम्बंधित लाभार्थी को भारत सरकार द्वारा सब्सिडी प्रदान की जाएगी | जो एक लाख रूपये से 2.5 लाख रूपये तक दी जा सकती है |

प्रधान मंत्री आवास योजना के अंतर्गत लाभार्थी को दिए जाने वाले लाभ.

  1. आर्थिक रूप से कमजोर और निम्न आय वाले वर्गो को इस योजना के तहत भारत सरकार द्वारा लाभार्थियों को ब्याज दर पर लगभग 6.5 % तक की सब्सिडी अर्थात माली मदद प्रदान की जाएगी | यह सब्सिडी अधिक से अधिक 15 वर्षो के लिए दी जाएगी | और यह सब्सिडी केवल 6 लाख तक के लोन पर ही वैध होगी | उससे अधिक के लोन पर यह सब्सिडी लागू नहीं होगी |
  2. नए घर बनाने के अलावा यदि आप अपने घर में एक कमरा और बना रहे हैं, किचन बना रहे हैं या फिर टॉयलेट बना रहे हैं | तब भी 6.5 % सब्सिडी वैध होगी |
  3. विकलांगो/दिव्यांगों या बूढ़े लोगो को ग्राउंड फ्लोर देने के लिए प्रमुखता दी जाएगी | जिससे उनको ऊपर चढ़ना या उतरना न पड़े |
  4. प्रधान मंत्री आवास योजना के अंतर्गत बनाये जाने वाले आवास हर तकनिकी से परिपूर्ण होंगे | अर्थात इन आवासो को पर्यावरण के अनुकूल बनाया जायेगा |
  5. इस योजना के तहत घर की वयस्क महिला सदस्यों को प्रमुखता दी जाएगी | या पति पत्नी दोनों को संयुक्त खाते के अंतर्गत घर दोनों के नाम किया जायेगा | यदि उस घर में कोई वयस्क महिला नहीं है इस स्तिथि में घर पुरुष सदस्य के नाम से होगा |
  6. इस योजना के तहत आने वाले सभी लाभार्थियों को औसतन भारत सरकार की ओर से लगभग एक लाख रूपये की सहायता प्रदान की जाएगी |
  7. यदि कोई व्यक्ति जो आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग की श्रेणी से हो | बैंक से लोन लेके नहीं अपने आप अपना घर बना रहा है | या फिर घर में कुछ कमरे और बनवा रहा है | तो सरकार उसको रूपये 1.5 लाख तक की अनुदान राशि देगी | इसमें शर्त यह है की बढ़ाया हुआ एरिया 30 स्क्वायर मीटर से कम न हो |
  8. इस योजना के तहत लगभग 35% आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को फायदा देना सुनिश्चित किया गया है | जिससे सिर्फ उन्ही को घर मिल सके जिनके पास वास्तव में घर नहीं है |

प्रधान मंत्री आवास योजना के तहत कैसे घर बनेंगे?

प्रधान मंत्री आवास योजना के तहत बनने वाले आवासो का ढांचा सरकार ने पहले ही तैयार करके रखा है | इस योजना के तहत बनने वाले घरो अर्थात आवासो का फर्श का क्षेत्र लगभग 30 स्क्वायर मीटर यानिकि लगभग 322 स्क्वायर फ़ीट तक होगा | इस क्षेत्रफल और अन्य सेवाओ को कम या ज्यादा करने का निर्णय राज्य सरकार केंद्रीय मंत्रालय से राय परामर्श करके ले सकती है | Pradhan Mantri Awas Yojna के तहत बनने वाले घरो में बुनियादी सेवाएं जैसे साफ़ सफाई, सीवर लाइन, पानी,सड़क , बिजली आवश्यक रूप से होनी चाहिए | इस योजना के तहत बनने वाले घरो में तकनिकी का उपयोग करके इनको संरचनात्मक सुरक्षा जैसे भूकम्परोधी,बाढ़ झेलने की क्षमता,चक्रवात,भूस्खलन इत्यादि के हिसाब से सुरक्षित बनाया जायेगा |

Pradhan Mantri Awas Yojana Ke liye Online Apply Kaise Kare.

वर्तमान में Ministry of Housing and Urban Poverty Alleviation ने PMAY हेतु Online apply करने के लिए PMAYMIS नामक एक Online Portal की संरचना की है |

pradhan-mantri-awas-yojana-online-application-process

जिसमे Citizen Application नामक एक Menu रखा गया है | झुग्गी में निवासित व्यक्ति ‘’For Slum Dwellers’’ नामक Option का चयन करके आगे बढ़ सकता है | इसके अलावा Beneficiary Led Construction or enhancement, Affordable housing in Partnership, Credit Linked Subsidy के इच्छुक योग्य व्यक्ति ‘’Benefits Under other 3 components’’ का चुनाव करके प्रधान मंत्री आवास योजना हेतु Online apply कर सकते हैं | इस Official portal के माध्यम से Submit की गई Online application का Print out भी लिया जा सकता है | और PMAY हेतु दी गई Application के status को Track भी किया जा सकता है | Pradhan Mantri Awas Yojana के लिए Online apply हेतु यहाँ Click करें |

Comments

  1. By sumit phulwani

    Reply

  2. By rahul sahare

    Reply

  3. By Balram mujalde

    Reply

  4. By dharmendra singh

    Reply

  5. By VIJAY SAGATHIYA

    Reply

  6. By Sunil Gadriya

    Reply

  7. By Anjali

    Reply

  8. By Anjali

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: