सर्जिकल बैंडेज निर्माण बिजनेस. Surgical Bandage Manufacturing Business.

इसमें कोई दो राय नहीं की Surgical Bandage का इस्तेमाल अनेकों तरह की सर्जरी के बाद घावों के उपचार में किया जाता है । जैसा की हम सब अच्छी तरह से जानते हैं की इस धरती पर सिर्फ मनुष्य को ही नहीं, बल्कि अन्य जीवों को चोटें आती रहती हैं । और रोगों के उपचार के लिए सर्जन द्वारा शरीर के विभिन्न भागों की सर्जरी भी करनी पड़ती है जिससे शरीर में घाव आना साधारण सी बात है। और इन घावों का उपचार करने के लिए स्वास्थ्य देखभाल केन्द्रों एवं हॉस्पिटल द्वारा बड़ी मात्रा में पट्टियों का इस्तेमाल किया जाता है। भले ही इस पट्टी का नाम Surgical Bandage हो, लेकिन इसका इस्तेमाल केवल सर्जरी के दौरान या बाद में नहीं किया जाता अपितु इस पट्टी का इस्तेमाल सभी प्रकार के घावों के उपचार के लिए किया जाता है। इनमें सतही घावों की आम ड्रेसिंग से लेकर फ्रैक्चर वाली हड्डियों के जोड़ने की प्रक्रिया में पट्टियों का इस्तेमाल शामिल है। कहने का आशय यह है की हर छोटी बड़ी चोट को ठीक करने एवं उसका उपयुक्त ढंग से उपचार करने के लिए बड़े पैमाने पर Surgical Bandage का उपयोग किया जाता है। और चूँकि इस तरह के व्यवसाय को मध्यम या छोटे स्तर पर कम पैसे लगाकर भी शुरू किया जा सकता है, इसलिए आज हम हमारे इस लेख के माध्यम से इस व्यवसाय से सम्बंधित हर प्रकार की जानकारी देने का प्रयत्न कर रहे हैं। ताकि देश के युवाओं में रोजगार एवं उद्यमिता के प्रति जानकारी के अभाव को थोड़ा कम किया जा सके, और देश में रोजगार एवं उद्यमिता को बढ़ावा मिल सके।

Surgical Bandage Manufacturing business plan

सर्जिकल बैंडेज क्या है? (What is Surgical Bandage)

Surgical Bandage को आम भाषा में पट्टी भी कहा जाता है इसका इस्तेमाल हर प्रकार के घावों का उपचार करने के लिए किया जाता है। इसे उपयुक्त गुणवत्तायुक्त वाइट ब्लीचड कॉटन गेज कपड़े से तैयार किया जाता है। और यह पट्टी 3 से 4 मीटर की लम्बाई के साथ रोल रूप में बाज़ारों में उपलब्ध होती है। सर्जिकल कॉटन को बेहद अच्छे अवशोषित करने वाले ऊन या फिर शुद्ध कपास के रूप में भी जाना जाता है। इसका उपयोग सर्जरी से उत्पन्न घावों की ड्रेसिंग, सूजन वाले शरीर के भागों में सामान्य तापमान बनाये रखने एवं सूती बिस्तर के तौर पर बड़े पैमाने पर किया जाता है। यही कारण है की सर्जिकल बैंडेज का इस्तेमाल हॉस्पिटल, डिस्पेंसरी, नर्सिंग होम इत्यादि स्थलों पर बड़े पैमाने पर किया जाता है। इसे बनाने के लिए अच्छी गुणवत्तायुक्त शोषक कपास का इस्तेमाल किया जाना अति आवश्यक है। चूँकि देश में धीरे धीरे प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों एवं अस्पतालों की संख्या बढती जा रही है जिस कारण Surgical Bandage का इस्तेमाल भी कई गुना बढ़ गया है। चूँकि किसी भी घाव ड्रेसिंग में इसका इस्तेमाल सबसे अधिक होता है इसलिए आइये जानते हैं की यह ड्रेसिंग होती क्या है?

ड्रेसिंग क्या है?

एक ड्रेसिंग को हम स्टेराइल पैड भी कह सकते हैं या फिर इसे एक ऐसा संपीडित कह सकते हैं जो घाव को ठीक करने या किसी अन्य नुकसान से बचाने के लिए लगाया जाता है। ड्रेसिंग को इस तरह से डिजाईन किया गया है की वह घाव के सीधे संपर्क में रहे। ड्रेसिंग का काम संक्रमण को कम करना एवं घाव को बैक्टीरिया इत्यादि से बचाना है। यद्यपि ड्रेसिंग अनेकों तरह की पट्टियों की मदद जैसे चिपकने वाली पट्टियाँ, साधारण पट्टियाँ इत्यादि से की जाती हैं।

सर्जिकल बैंडेज की बिक्री संभाव्यता (Market Potential of Surgical Bandage):

बहुत सारी आपदाएं जैसे भूकंप इत्यादि के कारण चोटिल, दुर्घटनाओं की संख्या में बढ़ोत्तरी एवं खेल के दौरान लगने वाली चोटों के बढ़ने के कारण Surgical Bandage की मांग भी काफी बढ़ गई है। और यह बढ़ोत्तरी वैश्विक स्तर पर दर्ज की गई है और आने वाले समय में इसके और बढ़ने की संभावना जताई गई है। लोगों की बढती उम्र के कारण उत्पन्न बीमारियाँ, आपतकालीन बढती घटनाओं के चलते भी इस उत्पाद की मांग वैश्विक स्तर पर बड़ी तेजी से बढ़ रही है। घाव संक्रमण की बढती घटनाएँ भी इस  बाजार  को बढ़ाने के लिए जिम्मेदार हैं। यह बाजार सिर्फ भारत में ही तेजी से बढ़ने वाले औद्योगिक क्षेत्र में शामिल नहीं है, अपितु सम्पूर्ण विश्व में यह एक ऐसा क्षेत्र है जो तेजी के साथ वृद्धि कर रहा है। लोगों के स्वास्थ्य सम्बन्धी खर्चे धीरे धीरे बढ़ते जा रहे हैं और उनमें ड्रेसिंग को लेकर जागरूकता का भी प्रादुर्भाव हो रहा है इसलिए कहा जा सकता है आने वाले वर्षों में इस बाजार को और प्रोत्साहन मिलेगा।

सर्जिकल बैंडेज बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें? (How to Start Surgical Bandage Manufacturing Business):

जैसा की हम पहले भी बता चुके हैं की Surgical Bandage Manufacturing बिजनेस को छोटे स्तर पर कम निवेश के साथ भी शुरू किया जा सकता है । लेकिन चूँकि इस उत्पाद को ड्रग्स कण्ट्रोल एक्ट के तहत विनियमित किया जाता है। इसलिए इस तरह का यह बिजनेस शुरू करने वाले उद्यमी को ड्रग्स कंट्रोल अधिनियम के तहत ड्रग लाइसेंस यानिकी सर्जिकल बैंडेज बनाने के लिए विनिर्माण लाइसेंस की आवश्यकता होगी। तो आइये जानते हैं की कैसे कोई इच्छुक व्यक्ति खुद का इस तरह का यह बिजनेस शुरू कर सकता है।

1. स्थानीय स्तर पर रिसर्च करें

Surgical Baggage Manufacturing Business शुरू करने के लिए सर्वप्रथम उद्यमी को स्थानीय स्तर पर रिसर्च करने की आवश्यकता होती है। इस रिसर्च में उद्यमी को अनेकों बातों की जानकारी जुटानी होती है जैसे उस एरिया विशेष में इस उद्योग में इस्तेमाल में लाया जाने वाला कच्चा माल तो आसानी से मिल जायेगा या फिर नहीं। शुरूआती दौर में वह अपने उत्पाद को किन किन बाज़ारों में बेचने की योजना बना रहा है और उस शहर विशेष में हॉस्पिटल एवं स्वास्थ्य केन्द्रों की संख्या कितनी है। इसके अलावा उस एरिया विशेष में कोई पहले से तो इस तरह का बिजनेस नहीं शुरू कर रहा है। यदि हाँ तो उद्यमी उससे इस बिजनेस प्रतिस्पर्धा में कैसे आगे बढ़ सकता है। इत्यादि बातों पर रिसर्च करनी होती है इसके अलावा उस एरिया में बिजली एवं पानी की आपूर्ति कैसे है इस बात का भी निरीक्षण करना होता है। क्योंकि सर्जिकल बैंडेज बनाने के बिजनेस में जिस भी मशीनरी एवं उपकरणों का इस्तेमाल होता है उनमें से अधिकतर विद्युत् द्वारा ही चालित होती है। इसलिए उस एरिया विशेष में ठीक ठाक विद्युत् आपूर्ति होना नितांत आवश्यक है।      

2. जगह का प्रबंध करें (Land and Building for Surgical Bandage Business):

जैसा की हम बता चुके हैं की Surgical Bandage Manufacturing बिजनेस शुरू करने के लिए एक ऐसे एरिया की आवश्यकता होती है जहाँ पर सड़कें तो ठीक हो हीं, साथ में बिजली, पानी इत्यादि आधारभूत सुविधाओं की अच्छी आपूर्ति होना भी अति आवश्यक है। अर्थात एरिया ऐसा बिलकुल नहीं होना चाहिए की जहाँ बिजली बड़े लम्बे समय के लिए चली जाती हों। और इस तरह का व्यापार शुरू करने के लिए 300-400 square feet जगह भी उपयुक्त रहेगी। इसलिए यदि उद्यमी की स्वयं की जगह है तो वह उसमें निर्माण कार्य शुरू करवा सकता है लेकिन यदि वह जगह या बिल्डिंग किराये पर लेता है तो उसे लीज या रेंट एग्रीमेंट अवश्य बनवा लेना चाहिए।      

3. जरुरी लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन करें

लैंड एवं बिल्डिंग का प्रबंध करने के बाद Surgical Bandage बनाने के बिजनेस को शुरू करने के लिए उद्यमी का अगला कदम जरुरी लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन के बारे में पता करके इन्हें करा लेना चाहिए । उद्यमी चाहे तो अपने व्यवसाय को प्रोप्राइटरशिप के तहत रजिस्टर करके उसे एक वैधानिक स्वरूप प्रदान कर सकता है। उद्यमी को फैक्ट्री अधिनियम के तहत भी अपने व्यवसाय को रजिस्टर करने की आवश्यकता हो सकती है। जीएसटी रजिस्ट्रेशन के अलावा उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन की भी आवश्यकता हो सकती है। इस बिजनेस को शुरू करने में जो सबसे महत्वपूर्ण लाइसेंस की आवश्यकता होती है वह है ड्रग लाइसेंस चूँकि सर्जिकल बैंडेज नामक यह उत्पाद ड्रग कण्ट्रोल अधिनियम के तहत विनियमित है। इसलिए इसके निर्माण के लिए निर्माण लाइसेंस की आवश्यकता अनिवार्य रूप से होती है।      

4. मशीनरी उपकरण खरीदें

जहाँ तक मशीनरी का सवाल है Surgical Bandage Manufacturing Business शुरू करने में इस्तेमाल में लायी जाने वाली मशीनरी एवं उपकरणों को खरीदने में उद्यमी को लगभग तीन से चार लाख रूपये खर्च करने पड़ सकते हैं।इस व्यवसाय में इस्तेमाल में लायी जाने वाली प्रमुख मशीनरी एवं उपकरणों की लिस्ट निम्नवत है।

  • रोलिंग मशीन
  • ट्रिमिंग मशीन
  • कपड़े को काटने के लिए कटिंग उपकरण
  • गेज के लिए फोल्डिंग एवं प्रेसिंग मशीन
  • मेडिकेटिड ड्रेसिंग प्रोसेस करने के लिए मिक्सिंग टैंक
  • हॉट एयर ड्राई ओवन
  • स्टीम स्ट्रेलाइजर
  • काम करने के लिए टेबल एवं बेंच
  • बैंडेज प्रिंटिंग मशीन
  • क्वालिटी कण्ट्रोल उपकरण

जहाँ तक मशीनरी एवं उपकरणों के सप्लायर का सवाल है उद्यमी चाहे तो इन्हें ऑनलाइन भी ढूंढ सकता है। और फिर उनसे संपर्क करके विभिन्न सप्लायर से कोटेशन मंगा सकता है। कोटेशन का तुलनात्मक रूप से तुलना करने के पश्चात सप्लायर का चयन किया जा सकता है। लेकिन इस दौरान किसी भी धोखे से अपने आपको सुरक्षित रखना बेहद आवश्यक होता है । 

5. आवश्यक कच्चा माल ( Raw Material for Surgical Bandage Manufacturing):

Surgical Bandage Manufacturing Business में प्रयुक्त होने वाला प्रमुख कच्चा माल कपास का धागा या सूती कपड़ा होता है। जिसका उत्पादन देश के भिन्न भिन्न भागों में स्थित टेक्सटाइल कम्पनियों द्वारा किया जाता है। प्रमुख रूप से इस व्यवसाय में ब्लीच्ड कॉटन गेज कपड़े को इस्तेमाल में लाया जाता है। इस प्रकार का यह कपडा उत्तर पूर्वी क्षेत्रों में नहीं बनाया जाता है इसलिए उद्यमी को इसे वहां से मंगाना होगा जहाँ इसका निर्माण होता हो। इसके अलावा कच्चे माल के तौर पर पैकेजिंग सामग्री जैसे ब्राउन पेपर इत्यादि भी इस्तेमाल में लाया जाता है। इसके अलावा चिपकाने वाली पट्टी बनाने के लिए चिपकने वाले जिप की भी आवश्यकता हो सकती है।   

6. कर्मचारियों की नियुक्ति करें

उद्यमी को Surgical Bandage की फैक्ट्री शुरू करने के लिए विभिन्न स्किल एवं योग्य उम्मीदवारों की आवश्यकता होती है। इस कार्य को छोटे स्तर पर भी सफलतापूर्वक करने के लिए उद्यमी को एक प्लांट मैनेजर रखने की आवश्यकता होती है। जो पूरे प्लांट के कार्य को प्रबंधित कर सके। प्लांट में एक केमिस्ट नियुक्त करने की आवश्यकता होती है। इसके अलावा सुपरवाइजर, स्टोर कीपर, सेल्समैन, अकाउंटेंट एवं अन्य श्रमिकों को नियुक्त करने की भी आवश्यकता होती है। 

7. निर्माण प्रक्रिया शुरू करें (Start Manufacturing Process of Surgical Bandage):

अब यदि उद्यमी ने सभी कार्य पूर्ण कर लिए हों तो अब Surgical Bandage Business शुरू कर चुके उद्यमी को इसका निर्माण शुरू कर देना चाहिए। सर्जिकल बैंडेज का निर्माण करने के लिए सर्वप्रथम उपयुक्त क्वालिटी का सूती कपड़ा खरीद लिया जाता है। उसके बाद इस कपड़े से अशुद्धियाँ दूर कर दी जाती हैं उसके बाद कपड़े को ढ़ोया और ब्लीच किया जाता है। यानिकी कपड़े को बैक्टीरिया मुक्त करने के लिए एक प्रक्रिया से होकर गुज़ारा जाता है उसके बाद कपड़े को सुखाया जाता है। उसके बाद कपड़े को रोल कर दिया जाता है और उसे मशीन में बने उसके स्थान पर रख दिया जाता है। कटिंग मशीन पहले से सेट किये हुए साइज़ के आधार पर कपड़े को काटना शुरू करती है। उसके बाद कपड़े को सर्जिकल बैंडेज मेकिंग मशीन की तरफ पास कराया जाता है और जब Surgical Bandage तैयार हो जाती है उसके ऊपर ब्राउन पेपर लपेटकर पैक कर दिया जाता है।

यह भी पढ़ें  

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है मैं इस ब्लॉग का लेखक और सह संस्थापक हूँ । मुझे व्यापार, रोजगार, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, निवेश, कैरियर विकल्पों और कमाई के स्रोतों के बारे में जानकारी जुटाना, और उन्हें दूसरों के साथ साझा करना अच्छा लगता है।

You cannot copy content of this page
Scroll to Top