Uber Cab के साथ कैब का बिजनेस कैसे शुरू करें ।

एप्लीकेशन आधारित कैब सर्विस में Uber Cab भी भारतवर्ष में सबसे प्रचलित कैब सेवाओं में से एक है । हालांकि यह एप्लीकेशन आधारित टैक्सी कंपनी भारत में भी काफी सारे विवादों में रही है। लेकिन इन सबके बावजूद यह टैक्सी कंपनी भारत में एक प्रचलित कैब सर्विस प्रोवाइडर के तौर पर उभरकर सामने आई है। इसलिए भारत में Uber Cab के साथ बिजनेस करके भी लोग अच्छी खासी कमाई कर पाने में समर्थ हुए हैं। इसलिए यदि आप भी अपनी कार इस कंपनी के साथ जोड़कर पैसे की कमाई करना चाहते हैं, तो आज हम हमारे इस लेख के माध्यम से इसी विषय पर विस्तृत जानकारी देने का प्रयत्न कर रहे हैं। कहने का अभिप्राय यह है की भारत में भी Uber Cab  उन लोगों के लिए एक पसंदीदा मंच बन गया है जो उद्यमिता की ओर अग्रसित होना चाहते हैं। यद्यपि बिजनेस कोई भी हो उसमें जोखिम तो होता ही है इसलिए बिजनेस से सिर्फ लाभ ही होगा यह कहना बेहद ही मुश्किल है।

Uber-cab-ke-sath-business

उबर कैब के बारे में (about Uber Cab in Hindi):

Uber Cab की यदि हम बात करें तो यह एक ट्रांसपोर्टेशन नेटवर्क कंपनी है जिसका हेडक्वार्टर सैन फ्रांसिस्को, कैलिफोर्निया में स्थित है। यह कंपनी दुनिया के लगभग 785 से अधिक महानगरीय क्षेत्रों में अपनी सेवाएँ मुहैया कराती हैं। लोग इसकी सेवा लेने के लिए इसकी वेबसाइट या मोबाइल एप का इस्तेमाल करते हैं। भारत में Uber Cab की सेवाएँ विभिन्न शहरों जैसे अहमदाबाद, मुंबई, बंगलौर, कोलकाता, चंडीगढ़, हैदराबाद, नई दिल्ली, चेन्नई, इंदौर, जयपुर, कोच्ची, भुबनेश्वर, नागपुर, पुणे, सूरत, मैसूर, विशाखापटनम इत्यादि में उपलब्ध हैं। इन्टरनेट के बढ़ते उपयोग के कारण इस तरह का यह बिजनेस तेजी से अन्य शहरों की तरफ भी फ़ैल रहा है। इसलिए यदि आप ऐसे किसी भी शहर में रहते हैं जहाँ उबर कैब की सेवाएँ उपलब्ध हैं तो आप इस कंपनी के साथ खुद का बिजनेस शुरू कर सकते हैं।

उबर कैब के साथ बिजनेस करने हेतु आवश्यक दस्तावेज (Documents required to attach a car with Uber Cab):

यहाँ पर यह तो स्पष्ट है की Uber Cab के साथ बिजनेस करने के लिए कमर्शियल नंबर की कार की आवश्यकता होती है। लेकिन इससे पहले की हम Uber Business के लिए सही कार का चयन कैसे करें? विषय पर बाते करें। पहले यह जान लेते हैं की उद्यमी को यह बिजनेस शुरू करने के लिए किन किन दस्तावेजों की आवश्यकता हो सकती है।

  • वाहन की आरसी की कॉपी की आवश्यकता हो सकती है अर्थात Uber cab के साथ बिजनेस करने के लिए उद्यमी को वाहन के रजिस्ट्रेशन कॉपी की आवश्यकता होती है। यदि वाहन की आरसी किसी और के नाम से है तो उद्यमी को 20 रूपये के स्टाम्प पेपर पर नोटराइज्ड एनओसी सबमिट करनी होगी। यदि आपने नई कार खरीदी है और आपके पास टेम्पररी आरसी है तो वही उपयुक्त रहेगी।
  • वाहन बीमा की कॉपी सबमिट कराने की आवश्यकता हो सकती है।
  • टूरिस्ट एवं अन्य परमिट।
  • ड्राईवर की फोटो के साथ कमर्शियल ड्राईवर लाइसेंस एवं ड्राईवर की उम्र कम से कम 19 वर्ष होनी अनिवार्य है।
  • ड्राईवर का पुलिस वेरिफिकेशन की कॉपी।
  • पैन कार्ड की कॉपी ।
  • बैंक डिटेल्स ।

उबर बिजनेस के लिए कार का चुनाव ( choose right car for uber business):

Uber cab के साथ बिजनेस शुरू करने के लिए आवश्यक दस्तावेजों के बारे में हम उपर्युक्त वाक्यों में बात कर चुके हैं। लेकिन अब बात यह करते हैं की उबर बिजनेस के लिए सही कार का चुनाव कैसे करें? क्योंकि उबर द्वारा विभिन्न कारों को मुख्य तौर पर तीन श्रेणियों में विभाजित किया गया है और प्रति किलोमीटर इनके रेट भी श्रेणियों के आधार पर अलग अलग हो सकते हैं। इसलिए जिस शहर में आप रहते हैं वहाँ के लोगों की कैब सम्बन्धी आवश्यकताओं को समझते हुए आपको इस बात का पता करना होगा की वहाँ किस प्रकार की कैब की अधिक माँग हो सकती है। ताकि उसी आधार पर आप इस बात का निर्णय ले पायें की आपके लिए कौन सी कार उपयुक्त रहने वाली है। Uber Cab ने रेट के आधार पर इन्हें मुख्य रूप से तीन भागों में विभाजित किया है जिनका विवरण निम्नवत है।

1. उबर गो (Uber Go):

चार दरवाजों से सुसज्जित हैच बेक कार जिनमें ड्राईवर के अलावा चार लोगों के बैठने की जगह उपलब्ध हो। यदि सीएनजी से चालित है तो 2010 के बाद का मॉडल होना चाहिए और यदि डीजल से चालित है तो 2011 के बाद का। इनमें कुछ प्रचलित कारें फोर्ड फिगो, हुंडई eon, मारुति रिट्ज, वैगनआर, टाटा इंडिका इत्यादि शामिल हैं।

2. उबर एक्स (Uber X):

इस तरह की ये चार दरवाजों से सुसज्जित नई सेडान कार 6-10 लाख के बीच आसानी से खरीदी जा सकती है। इनमें ड्राईवर के अलावा चार व्यक्तियों के बैठने की जगह विद्यमान होती है। Uber Cab के साथ बिजनेस करने के लिए उद्यमी को सीएनजी की 2010 के बाद के मॉडल एवं डीजल 2011 के बाद के मॉडल चाहिए हो सकते हैं। इनमें कुछ पोपुलर कारें होंडा अमेज़, हुंडई एक्सेंट, स्विफ्ट डिजायर, टाटा इंडिगो, टाटा मंजा, टोयटो Etios इत्यादि शामिल हैं।

3. उबर एक्सल (Uber XL):

इस श्रेणी के अंतर्गत उबर ने एसयूवी कारें रखी हुई है जिनमें ड्राईवर के अलावा कम से कम छह सीटें विद्यमान हो। इस श्रेणी की पोपुलर कारें शेवरोलेट एन्जॉय, होंडा मोबिलिओ, सुजुकी इर्टीगा इत्यादि हैं।

उबर कैब के साथ बिजनेस कैसे शुरू करें (How to start business with Uber Cab):

अब इस लेख में हम आगे इसी बात पर फोकस करेंगे की कैसे कोई अपनी कार को Uber Cab के साथ अटेच कर सकता है। या भारत में कैसे कोई Uber Business शुरू कर सकता है। आगे इस प्रक्रिया को हम स्टेप बाई स्टेप समझने की कोशिश करें, तो हम पाएंगे की इसे चार चरणों में अंजाम तक पहुँचाया जा सकता है।

how to start cab business with uber cab

1. दस्तावेजों का इंतजाम करें:

जैसा की हम इस लेख के उपरी हिस्से में Uber Cab के साथ बिजनेस करने के लिए आवश्यक दस्तावेजों की सूची दे चुके हैं। इसलिए इच्छुक उद्यमी जो अपनी कार को उबर के साथ अटेच कर अपनी कमाई करना चाहता है को चाहिए की वह अपने दस्तावेजों का निरीक्षण करे। और यदि दस्तावेजों में कुछ भी कमी है तो उनको ठीक करने का इंतजाम करे जो दस्तावेज नहीं हों, उसको बनाने का कार्य करे। यदि उद्यमी के पास सभी दस्तावेज उपलब्ध हैं और वह उबर से जुड़ने के लिए ऑनलाइन आवेदन करना चाहता है तो उसे सभी आवश्यक दस्तावेज स्कैन करके रखने होंगे। ताकि वह ऑनलाइन आवेदन करते समय उन्हें अपलोड कर सके। और यदि उद्यमी अपने शहर में स्थिति कंपनी के कार्यालय में जाकर आवेदन करने की सोच रहा है तो उसे हर दस्तावेज की हार्डकॉपी की आवश्यकता होगी।

2. ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन करें:

Uber Cab के साथ बिजनेस करने का इच्छुक उद्यमी जब अपनी कार से जुड़े एवं अपने से जुड़े सभी दस्तावेजों का प्रबन्ध कर लेता है तो अब उसका अगला कदम कंपनी से जुड़ने के लिए  ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन करने का होना चाहिए। जहाँ तक ऑनलाइन आवेदन करने की बात है इसकी प्रक्रिया बेहद ही सरल है। उद्यमी चाहे तो इस अधिकारिक लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन आवेदन के लिए आगे बढ़ सकता है। लेकिन इस प्रक्रिया में कंपनी से स्वीकृति मिलने में थोड़ा समय लग सकता है इसलिए यदि आपके शहर में Uber Cab का कार्यालय है तो आप कार्यालय में जाकर आसानी से आवेदन कर सकते हैं। वहाँ पर कार्यरत अधिकारीगण आपके दस्तावेजों की पुष्टी हाथों हाथ कर सकते हैं, और आपको गाड़ी का निरीक्षण कराने हेतु ऑफिस में बुला सकते हैं।

3. कार का निरीक्षण कराके कंपनी की स्वीकृति लें:

Uber Cab के साथ बिजनेस करने के लिए अब उद्यमी का अगला कदम अपनी कार का निरीक्षण कराने का होता है हालांकि जब उबर कार्यालय में उपस्थित कंपनी के अधिकारीयों द्वारा दस्तावेजों की पुष्टी कर ली जाती है। तो वे उद्यमी से वाहन का निरीक्षण कराने को कहते हैं और जब उन्हें तय मानकों पर कार खरी उतरती दिखती है तो वे उद्यमी को उनके साथ बिजनेस करने की इजाजत दे देते हैं। यद्यपि पुरानी कार को स्वीकृति मिलने में थोड़ा समय लग सकता है जबकि नई कार को स्वीकृति मिलने में किसी प्रकार की कोई अड़चन नहीं आती है। और कंपनी द्वारा उद्यमी को स्मार्टफोन, नेट पैक इत्यादि की फैसिलिटी मुहैया करायी जा सकती है ।

4. Uber Cab से अनिवार्य प्रशिक्षण अटेंड करें:

कंपनी से सब कुछ स्वीकृत हो जाने के बाद Uber Cab  द्वारा नए ड्राईवर को प्रशिक्षण दिया जाता है जिसे हर नए ड्राईवर को अटेंड करना ही होता है। इसमें ड्राईवर को उबर एप से सम्बंधित विशेष जानकारी दी जाती है। जिसमें ड्राईवर को उस एप को इस्तेमाल करने के बारे में और सामान्य दिशा निर्देशों के बारे में अच्छी तरह समझाया जाता है। और जब उद्यमी द्वारा प्रशिक्षण प्राप्त कर लिया जाता है तो उसके बाद वह उबर ड्राईवर के तौर पर कार्य कर सकता है और एप से मिलने वाले पैसेंजर के माध्यम से अपनी कमाई कर सकता है।

कमाई कैसे और कितनी हो सकती है:

जहाँ तक Uber Cab के साथ बिजनेस करके कमाई करने का सवाल है अक्सर होता क्या है की इस कंपनी की एप को इस्तेमाल में लाने वाले लाखो करोड़ों लोग विद्यमान हैं उन्हें जब भी टैक्सी या कैब की जरुरत महसूस होती है। वे Uber App के माध्यम से टैक्सी बुक कराते हैं और जैसे ही वे कैब बुक कराते हैं वह बुकिंग उस एरिया में स्थित नजदीकी ड्राईवर को मिल जाती है। फिर ड्राईवर उस लोकेशन पर पहुंचकर गेस्ट को पिक करके उसके कहे मुताबिक ड्राप कर देता है। इस प्रकार ड्राईवर जितने अधिक पिक ड्राप करेगा उतनी ही अधिक उसकी कमाई भी होगी। जहाँ तक कमाई कितनी होगी का सवाल है यह सब इस बात पर निर्भर करता है की उद्यमी कौन से शहर में Uber Cabs के साथ बिजनेस शुरू कर रहा है। जहाँ पहले इस एप के माध्यम से एक कार महीने में 1 लाख से डेढ़ लाख रूपये तक की कमाई कर रही थी। वही वर्तमान में विभिन्न कारणों से इनकी कमाई में काफी गिरावट आई है और इस गिरावट में भी एक आंकडें के मुताबिक  मेट्रो शहरों में एक कार से व्यक्ति लगभग 30-35 हजार रूपये महीने का शुद्ध लाभ प्राप्त कर सकता है बशर्ते ड्राइविंग वह खुद कर रहा हो ।   

यह भी पढ़ें: 

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *