[2023] घरेलू महिलाओं के लिए बिजनेस आईडिया। Business Ideas for Housewife in Hindi.

क्या आप जानते हैं की घरेलू महिलाओं के लिए व्यापार (Business Ideas for Housewife) क्या होते हैं? ऐसे बिजनेस जिसे कोई भी घरेलू महिला अपनी मौजूदा जिम्मेदारियों के साथ घर से या बाहर से शुरू कर सकती है, उन बिजनेस को घरेलू महिलाओं के लिए उपयुक्त माना जाता है।

यदि आप एक गृहिणी हैं और स्वयं का कोई बिजनेस करना चाहती हैं, तो आज का हमारा यह लेख आपके लिए काफी उपयोगी हो सकता है । हालांकि अब से तीन चार दशक पहले की बात करें तो भारत में महिलाओं को बाहर काम करने की आज़ादी कम ही परिवारों में हुआ करती थी।

लेकिन आज हम पति पत्नी दोनों को अपने काम पर जाते हुए देख सकते हैं। कहने का आशय यह है की इस पुरुष प्रधान समाज में भी नारी ने मौका मिलने पर अपने काम से सफलता के झंडे गाढे हैं। आज ऐसी कई महिलाएं हैं जो अपनी सूझ बूझ , लगन एवं मेहनत के बल पर कई संस्थानों, संगठनों इत्यादि का नेतृत्व कर रही हैं ।

आज भी अधिकतर परिवारों में नारी को घर के कामों की जिम्मेदारी जिसमें रसोई सँभालने से लेकर, बच्चों को सँभालने और घर की साफ़ सफाई इत्यादि के काम शामिल है दिए जाते हैं । लेकिन यदि कोई गृहिणी स्वयं का कोई काम काज करना चाहती है, आज के सभ्य समाज में उसे यह करने की आज़ादी लगभग सभी परिवार दे ही देते हैं ।

हालांकि यहाँ पर स्पष्ट कर देना जरुरी है की ऐसा कोई बिजनेस नहीं है जिसे कोई महिला या घरेलू महिला नहीं कर सकती हैं। लेकिन इसके बावजूद कुछ ऐसे बिजनेस हैं जिन्हें शुरू करने एवं संचालित करने में महिलाओं को आसानी होती है । बस आज ऐसे ही कुछ बिजनेस को हम इस लेख का हिस्सा बनाने जा रहे हैं।

housewife business ideas in hindi

महिलाओं के लिए बिजनेस आइडियाज (Business Ideas for House wife in Hindi):

कुछ ऐसे बिजनेस होते हैं जिन्हें घरेलू महिलाएं यानिकी गृहणियाँ अपने घरेलू कार्यों के साथ साथ भी कर सकती हैं। हालांकि इसमें कुछ व्यवसाय ऐसे होते हैं जिसमें किसी खास कौशल की आवश्यकता होती है, तो कुछ ऐसे भी होते हैं जिन्हें कोई भी महिला आसानी से शुरू कर सकती है । तो आइये जानते हैं ऐसे कौन कौन से बिजनेस हैं जिन्हें घरेलू महिलाएं अपने घर के कार्यों के साथ भी शुरू कर सकती हैं।

घर में ट्यूशन पढ़ाने का बिजनेस

मेरा हमेशा से मानना रहा है की पढाई के मामले में लड़कियाँ लड़कों से हमेशा दो कदम आगे रही हैं। और यह बात बार बार हमारे सामने तब निकलकर आती है जब किसी प्रतियोगिता परीक्षा का परिणाम या फिर किसी स्कूल, कॉलेज, यूनिवर्सिटी की परीक्षा का परिणाम हमारे सामने आता है। यह अलग बात है की हर किसी को जीवन में उसकी पढाई का उतना मूल्य मिल पपाता है या नहीं।

लेकिन यदि आप एक गृहिणी हैं और अच्छी पढ़ी लिखी हैं तथा किसी विषय की प्रगाढ़ जानकारी रखती हैं, तो आप बच्चों को अपने घर से ही ट्यूशन पढ़ाने का काम कर सकती हैं। अच्छी बात यह है की इस तरह का यह बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको किसी तरह का कोई पैसा खर्चा करने की आवश्यकता नहीं होती है। इसके अलावा इसमें समय की भी फ्लेक्सिबिलिटी है, यानिकी जब आपके पास दिन में समय हो तब आप बच्चों को ट्यूशन के लिए समय दे सकती हैं ।

कहने का आशय यह है की यह काम ऐसा है की इसमें घरेलू महिलाओं के अन्य घरेलू काम बाधित नहीं होते हैं। उन्हें बच्चों को ट्यूशन पढ़ाने का काम अपने खाली समय में करना होता है। हालांकि यदि आपके घर में कोई कमरा खाली है तो आपको कुछ पैसे बच्चों के बैठने और उनको समझाने में काम आने वाले फर्नीचर और वाइटबोर्ड पर खर्च करने होंगे। जिसमें आप चाहें तो ₹7000 से ₹10000 तक का निवेश कर सकते हैं।        

लेडिज ब्यूटी सलून

लोग अपनी साजो सज्जा, लुक के प्रति काफी जागरूक हो गए हैं, वे कृत्रिम तरीकों का इस्तेमाल करके किसी फंक्शन या अन्य समारोह में सुन्दर दिखना चाहते हैं । खैर यह बात पुरुष और महिलाएं दोनों पर लागू होती हैं। लेकिन खास तौर पर महिलाएं ब्यूटी पार्लर जैसे इकाइयों की अच्छी ग्राहक हैं।

आज की जीवनशैली ऐसी है की यहाँ हर महीने कुछ न कुछ त्यौहार, सेलिब्रेशन, फंक्शन इत्यादि आते रहते हैं, ऐसे में महिलाओं का लेडिज ब्यूटी सलून की ओर रुख करना स्वाभाविक हैं। यदि आप उन महिलाओं में से हैं जिन्हें बारात में दुल्हन को सजाना, सखियों को सजाना, मेकअप करना इत्यादि अच्छा लगता है, तो आप इस तरह का यह बिजनेस कर सकते हैं।

इसके लिए आपको कहीं बाहर किराये पर दुकान लेने की आवश्यकता नहीं है, यदि आपके घर में कोई कमरा खाली है तो आप उसका इस्तेमाल भी ब्यूटी सलून के तौर पर कर सकती हैं । लेकिन यदि ऐसा नहीं है तो आप लोगों के घर जाकर जिनके यहाँ शादी या अन्य कोई फंक्शन हो वहीँ जाकर अपनी सर्विस प्रदान कर सकती हैं।

लेकिन इस बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको ब्यूटी पार्लर एवं लेडिज मेकअप सम्बन्धी पूरा काम आना चाहिए। यदि आपको यह काम नहीं आता है तो आप इसकी ट्रेनिंग ले सकती हैं। वर्तमान में लगभग हर सफल ब्यूटी पार्लर इच्छुक महिलाओं को इसकी ट्रेनिंग प्रदान करता है, जिस कोर्स की कुछ फीस भी होती है।

ऐसी महिलाएं जिन्हें यह काम पहले से आता है उन्हें इस बिजनेस को शुरू करने में कुछ निवेश यहाँ तक की ₹5000 से भी कम निवेश की आवश्यकता होती है । यह भी तब होती है जब उन्हें मेकअप का सामान खुद लाना होता है।          

ब्लॉग्गिंग और कंटेंट राइटिंग

अपने घरेलू कामों को निपटाने के बाद आपके पास बहुत अधिक समय बच जाता है । आप बोर हो जाती हैं और आपको समझ नहीं आता की आप अपने इस समय का इस्तेमाल कैसे करें । यदि ऐसा है और आपको लिखने का शौक है तो आप खुद का किसी टॉपिक (Niche) पर ब्लॉग शुरू कर सकते हैं। हालांकि यह एक दिन से ही आपको पैसे देना शुरू नहीं करेगा, लेकिन एक दिन जरुर देगा।

इसका मतलब यह है की ब्लॉग्गिंग शुरू करने के तुरंत बाद ही आप पर पैसों की बारिश नहीं होने वाली हैं । यहाँ तक की आपको छह महीने या साल भर तक तो एक रुपया भी नहीं मिलने वाला है। लेकिन जब आप लगातार काम करते जाते हैं तो आपका ब्लॉग सर्च इंजन पर रैंक शुरू होना होता है, और उसके बाद आपके ब्लॉग पर ट्रैफिक आता है । और उसके बाद ही एडसेंस के माध्यम से आप इससे कमाई कर पाने में सक्षम हो पाते हैं।

लेकिन यदि आप छह महीने या साल भर इंतजार करने को तैयार नहीं है तो फिर आप किसी अन्य ब्लॉग या कंपनी के लिए कंटेट राइटिंग कर सकते हैं । आम तौर पर एक 1500 शब्दों का आर्टिकल लिखने पर आपको ₹300 तक आसानी से मिल जाते हैं, जबकि अंग्रेजी में लिखने पर इससे अधिक पैसे मिल जाते हैं।

यदि आप खुद का ब्लॉग शुरू करते हैं तो आपके पास दो विकल्प होते हैं इनमें एक विकल्प बिलकुल फ्री का है जिसमें आपको एक रुपया भी खर्चा करने की जरुरत नहीं होती । वह यह है की आप गूगल के ब्लॉगर प्लेटफोर्म पर जाकर अपना ब्लॉग बनाएँ। दुसरे तरीके में आपके डोमेन और होस्टिंग को मिलाकर लगभग ₹5000 तक खर्च हो सकते हैं। इसमें आपको डोमेन नाम और होस्टिंग खरीदने की आवश्यकता होती है ।    

बुटीक बिजनेस

यदि आपको महिलाओं के कई तरह के कपड़े सिलने का अनुभव है, और आप लेटेस्ट फैशन से अच्छी तरह से अवगत हैं । तो आप अपने एरिया में एक बुटीक खोल सकते हैं। बुटीक में आपको अपने डिजाईन किये हुए खुद से बनाये हुए कपड़े बेचने होते हैं, इसलिए इस तरह का यह बिजनेस शुरू करने के लिए आपको फैशन और कपड़ों की डिजाइनिंग के बारे में अच्छी जानकारी होनी चाहिए।

इसे भी आप चाहें तो अपने घर के किसी खाली कमरे से या फिर स्थानीय बाज़ार में कोई छोटी सी दुकान किराये पर लेकर भी शुरू कर सकती हैं । चूँकि यह आपका अपना बिजनेस होता है इसलिए यह आपको समय की फ्लेक्सिबिलिटी प्रदान करता है, आप अपने घरेलू कार्यों को निपटाकर अपने खाली समय में यह काम आसानी से कर सकती हैं ।

बुटीक बिजनेस शुरू करने के लिए आपको सिलाई मशीन के अलावा अन्य कई उपकरणों और कच्चे माल के तौर पर भी विभिन्न कपड़े और उससे जुड़ी सहायक वस्तुओं की आवश्यकता होती है । इसलिए इस तरह का बिजनेस शुरू करने के लिए आपको ₹25000 से ₹35000 तक खर्चा करने की आवश्यकता हो सकती है।  

सिलाई ट्रेनिंग सेण्टर

यह महिलाओं से जुड़ा बिजनेस (Business Ideas for housewife) भी उन्हीं महिलाओं के लिए है, जिन्हें सिलाई का काम अच्छी तरह से आता हो । और सबसे जरुरी बात की वे उस सिलाई से अच्छी तरह से वाकिफ हों जो वर्तमान में चलन में हो । कहने का आशय यह है की फैशन के हिसाब से लोगों के पहनावे में बदलाव होता रहता है, इसलिए इस तरह का बिजनेस शुरू करने वाली महिला को वह सारे कपड़े सिलने आने चाहिए, जो वर्तमान में लोगों द्वारा पहने जा रहे हों।

इस तरह का यह बिजनेस शुरू करने के लिए आपको एक से अधिक सिलाई मशीन की आवश्यकता होती है । यह हाथ से चालित, पाँव से चालित, इलेक्ट्रिक सिलाई मशीन कुछ भी हो सकती हैं। इसे आप चाहें तो अपने घर के किसी खाली कमरे से या फिर कोई अन्य सस्ता कमरा किराये पर लेकर भी शुरू कर सकती हैं ।

अच्छी बात यह है की यह जरुरी नहीं है की आप इसे किसी भीड़ भाड़ वाली जगह या बाज़ार में ही खोलें बल्कि आप किसी भी रिहायशी एरिया जहाँ पर आपको लगता है की सिलाई सीखने वाली महिलाएं एवं लड़कियों की पर्याप्त संख्या है वहाँ पर अपना सिलाई टट्रेनिंग सेण्टर शुरू कर सकती हैं।

इस बिजनेस को शुरू करने में आपको लगभग ₹35000 से ₹50000 तक निवेश करने की आवश्यकता हो सकती है।    

बेकरी बिजनेस

महिलाओं को अन्नपूर्णा यों ही नहीं कहा जाता, जी हाँ उन्हें स्वादिष्ट से स्वादिष्ट खाना बनाने में महारत हासिल होता है। उन्हें केक बनाना, पेस्ट्री बनाना, कुकीज बनाना भी काफी पसंद होता है। घर में जब किसी सदस्य का जन्मदिन या सालगिरह होती है तो घर की महिलाओं की कोशिश यही रहती है की वह इसके लिए केक इत्यादि अपने घर पर ही बनाएँ और कुछ महिलाएं बनाती हैं।

कहने का आशय यह है की अधिकतर घरेलू महिलाओं को केक बनाना, पेस्ट्री बनाना, कुकीज बनाना, पेटीज, समोसे इत्यादि बनाना अच्छी तरह से आता है। यदि आप भी उन महिलाओं में से हैं जिन्हें यह काम आता है तो आप अपने घर से ही बेकरी का बिजनेस शुरू कर सकते हैं।

हालांकि एक बेकरी में आपको कई सारे आइटम खुद बनाने होते हैं तो कई सारे आइटम मार्किट से खरीदने भी होते हैं। इसलिए यह बिजनेस उन घरेलू महिलाओं के लिए है जो अपने बिजनेस में कम से कम ₹2 -3 लाख का निवेश कर सकती हैं।

एक बार इस बिजनेस के रफ़्तार पकड़ लेने पर इससे अच्छी खासी कमाई की उम्मीद की जा सकती है।       

आचार पापड़ का बिजनेस

भारत में शायद ही ऐसी कोई घरेलू महिला होगी जो आचार पापड़ बनाना न जानती हो। भारतीय खान पान में आचार और पापड़ का बड़ा महत्व है इन्हें एक पाचन करने में सहायक वस्तु के तौर पर खाया जाता है। और यही कारण है की आचार और पापड़ का इस्तेमाल हर तरह के खाने के साथ किया जा सकता है ।

माना की आप तो अपने घर परिवार के लिए आचार और पापड़ खुद ही बना लेती हैं, लेकिन ऐसे कई परिवार हैं जो इन सबको बाज़ार से खरीदते हैं । वह इसलिए नहीं की उन्हें आचार पापड़ घर में बनाना नहीं आता, बल्कि इसलिए की या तो उनके पास समय नहीं है या फिर वे इसे बनाने की झंझट में पड़ना नहीं चाहते ।

इसलिए यदि आप एक घरेलू महिला हैं तो आप आचार और पापड़ बनाना तो अवश्य जानती होंगी। यदि आपके पास खाली समय बचता है तो आप कुछ महिलाओं का एक समूह बना सकती हैं, जिसमें आपको आचार और पापड़ बनाना है। यदि आप ग्रामीण परिवेश से हैं तो आपको इसे बनाने के लिए कच्चा माल भी स्थानीय लोगों से ही आसानी से मिल जाएगा ।

लेकिन यदि आप शहरी परिवेश से हैं तो भी आपको आचार पापड़ बनाने में इस्तेमाल में लाया जाने वाला कच्चा माल स्थानीय बाज़ार से आसानी से मिल जाएगा। इसलिए आप चाहें तो अपने आस पड़ोस की महिलाओं के साथ मिलकर भी इस बिजनेस को कर सकती हैं।

यह भी पढ़ें – आचार बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें

            पापड़ बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें       

टिफ़िन सर्विस

घरेलू महिलाएं खाना बनाने में निपुण होती हैं। लेकिन क्या यह टिफ़िन सर्विस बिजनेस हर लोकेशन पर चल सकता है, जवाब है नहीं । वह इसलिए क्योंकि सबसे पहले हमें इस बिजनेस के लिए एक ऐसी आबादी चाहिए जो अपने घरों से दूर रहती है और उसे घर का बना हुआ खाना नहीं मिल पाता। क्योंकि वे अपनी नौकरी के दौरान अपने लिए खाना बनाने के लिए भी समय निकालने में सक्षम नहीं हो पाते।

जी हाँ बड़े शहरों में एक बड़ी आबादी ऐसी रहती है जो अपने घर परिवार से दूर अपनी गुजर बसर करने या फिर कुछ उस शहर में आई होती है । और यहाँ पर उन्हें अपनी जॉब या करियर का इतना तनाव होता है की वे अपने लिए खाना बनाने का समय भी नहीं निकाल पाते।

नतीजतन उन्हें बाहर के खाने होटल, रेहड़ी, पटरी, ढाबे के खाने पर निर्भर रहना पड़ता है। लेकिन सड़क किनारे उपलब्ध अनहाईजेनिक फ़ूड मनुष्य को कई तरह की बीमारियाँ दे देता है । इसलिए लोग अब घर जैसे खाने की माँग करने लगे हैं ।

ऐसे में यदि आप किसी ऐसे शहर में रहते हैं जहाँ पर प्रवासियों एवं नौकरीपेशा लोगों की संख्या बहुत अधिक है तो आप खुद का टिफ़िन सर्विस बिजनेस शुरू कर सकते हैं।  

यह भी पढ़ें – भारत में खुद का टिफ़िन सर्विस बिजनेस कैसे शुरू करें   

राखी बनाने का बिजनेस

रक्षाबंधन हिन्दुओं का प्रमुख त्यौहार है इस दिन बहिनें भाइयों को राखी बाँधती हैं। जी हाँ बचपन में आपने इस तरह का यह निबंध अवश्य पढ़ा होगा। लेकिन इसमें कोई दो राय नहीं की रक्षाबंधन पर्व को भारत में बड़े धूमधाम के साथ मनाया जाता है । इस दिन बहिनें जो भाइयों को राखी बांधती हैं उनमें से अधिकतर राखी असंगठित सेक्टर द्वारा ही बनाई जाती है ।

वह इसलिए क्योंकि राखी एक साल में केवल एक बार आती है इसलिए इसकी माँग भी बाज़ारों में केवल 10-15 दिनों के लिए बनी रहती है। शायद यही कारण है की कोई बड़े कंपनी इस तरह के व्यवसाय में कोई बड़ा निवेश करने से झिझकती है ।

दूसरा कारण यह है की किसी भी डिजाईन और रंग बिरंगी राखी को बड़ी आसानी से कुछ छोटे छोटे उपकरणों का इस्तेमाल करके आसानी से बनाया जाता है। यदि आप एक गृहिणी हैं तो हो सकता है की आपने भी कभी न कभी राखी बनाई हो ।

आम तौर पर जब रक्षाबंधन का त्यौहार आने वाला होता है आप उसके एक महीने पहले से राखी बनाने का बिजनेस शुरू कर सकते हैं। अच्छी बात यह है की इस बिजनेस में आपको बहुत अधिक निवेश करने की भी जरुरत नहीं होती है।     

बिंदी बनाने का बिजनेस

जहाँ पाँव में पायल, हाथ में कंगन हो माथे पर बिंदिया, वाला गाना तो याद है न आपको । जी हाँ भारतीय संस्कृति में बिंदियाँ का अपना बहुत बड़ा महत्व हैइसे माथे पर लगाने के अलग अलग मायने हैं । लेकिन जो सबसे बड़ी बात है वह यह है की आज भी महिलाएं संजने सँवरने के दौरान कई तरह की बिंदियों का इस्तेमाल करती हैं, जो उनके रूप को और भी अधिक सुन्दर बनाता है ।

खैर यदि आप खुद एक महिला हैं तो बिंदी के महत्व को अच्छी तरह से समझती होंगी । और आपके पास भी एक रंग और डिजाईन की बिंदियाँ नहीं बल्कि कई रंगों की बिंदियाँ होंगी । जी हाँ सिर्फ आप ही के पास नहीं बल्कि लगभग सभी महिलाओं के पास बिंदी का एक से अधिक पत्ता होता ही होता है।

इसलिए यदि आप अपने घरेलू कार्य के साथ कुछ बिजनेस करने पर विचार कर रही हैं तो आप बिंदी बनाने का बिजनेस शुरू कर सकती हैं । और इस बिजनेस में अपनी आस पड़ोस की महिलाओं को शामिल करके उन्हें भी घर बैठे काम दिलाने में मदद कर सकती हैं।

बिंदी बनाने में इस्तेमाल में लाया जाने वाला कच्चा माल, इसकी पैकेजिंग मटेरियल और मशीनरी बाज़ार में आसानी से उपलब्ध है ।

यह भी पढ़ें  – बिंदी बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें   

मोमबत्ती बनाने का बिजनेस

कहीं आपको भी ऐसा तो नहीं लगता की मोमबत्ती का इस्तेमाल केवल दीपावली पर ही होता है। जी नहीं मोमबत्तियों का इस्तेमाल कैंडल मार्च निकालने, कैंडल लाइट डिनर, सजावट के तौर पर और रोशनी के लिए बड़े पैमाने पर होता है । वर्तमान में लोगों द्वारा कई तरह की डेकोरेटिव कैंडल भो बनाई जाती हैं जिनका इस्तेमाल लोग अपने घरों में सजावट के लिए करते हैं।

कैंडल बनाने के लिए कच्चे माल के तौर पर मोम और कुछ सांचों की जरुरत होती है। जहाँ तक मोमबत्तियों के रंगों का सवाल है जिस रंग की मोमबत्ती का निर्माण करना होता है मोम में उस तरह का रंग मिलाया जाता है। और जिस आकार की मोमबत्ती बनाई होती है उस आकार के सांचे का इस्तेमाल मोमबत्ती बनाने के लिए किया जाता है ।

मोमबत्ती बनाने का बिजनेस भी एक ऐसा बिजनेस है जिसे महिलाएं अपने घरेलू कार्यों के साथ भी कर सकती हैं। और इस बिजनेस को शुरू करने में बहुत अधिक निवेश करने की भी जरुरत नहीं होती है ।

यह भी पढ़ें – मोमबत्ती बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें   

फ़ूड रेसिपी व्लोगर

यदि आप एक गृहिणी हैं तो स्वभाविक है की आप रोज नए नए व्यंजन एवं डिश अपने परिवार के सदस्यों के लिए बनती होंगी । इस तरह का यह बिजनेस शुरू करने के लिए आपको ज्यादा कुछ नहीं करना है, जो भी व्यंजन और डिश आप अपने परिवार के सदस्यों एवं रिश्तेदारों के लिए बनती हैं , उन्हें सिर्फ रिकॉर्ड करना है । और यदि आप रिकॉर्ड करते समय इनके बारे में कुछ नहीं भी बता पाते हैं तो बाद में विडियो के अनुसार वौइसओवर करके उस रिकॉर्डिंग में अपनी वौइस् डालकर अपने देखने वाले दर्शकों को वह डिश कैसे बनाई जाती है के बारे में अच्छे से समझा सकती हैं ।

यह बिजनेस भी ऐसा नहीं है की आज आपने यूट्यूब चैनल पर अपनी एक विडियो डाली और गले दिन से ही आप पैसे कमाने लग जाएँगी। इसमें भी आपको निरन्तरता बनायीं रखनी पड़ेगी ।और लम्बे समय तक धैर्य बनाने की आवश्यकता होती है जब आपके चैनल पर सब्सक्राइबर और व्यूज बढ़ते हैं, उसके बाद आप अपने चैनल को एडसेंस की मदद से मोनेटाइज कर पाएंगे।  

योगा ट्रेनिंग सेण्टर      

महिलाएं अपनी फिटनेस और लुक के प्रति काफी जागरूक हो गई हैं, और इसके लिए उन्हें तरह तरह के योगासन करना भी पसंद है। यदि आप भी उन महिलाओं में से हैं जो एकदम फिर और योगा का ज्ञान रखती हैं, तो आप खुद का योग ट्रेनिंग सेण्टर भी शुरू कर सकती हैं।

घर के कामों के साथ इस बिजनेस को करना इसलिए आसान होता है क्योंकि इसके लिए आप योगा सीखने के इच्छुक महिलाओं को सुबह या शाम जब भी आपके पास समय हो का टाइम दे सकते हैं । इसमें आपको कुछ नहीं एक खुली जगह या खुले रूम की आवश्यकता होती है, जहाँ पर आप चटाई लगाकर लोगों को योगासन सीखा राजे होते हैं।

घरेलू महिलाओं के लिए बिजनेस (Business Ideas for house wife in Hindi) की कोई कमी नहीं है । जिनके बारे में हमने ऊपर बताया हुआ है इनके अलावा भी बहुत सारे ऐसे बिजनेस हैं जो महिलाओं द्वारा किये जा सकते हैं, लेकिन यहाँ पर हमने कुछ खास ऐसे बिजनेस के बारे में बताया है जिन्हें महिलाएं अपने घरेलू कार्यों के साथ साथ कर सकती हैं ।   

यह भी पढ़ें