एसी किराये पर देने का व्यापार कैसे शुरू करें | How to Start AC rental Business.

AC Rental Service से शायद बेहद कम लोग अवगत होंगे | क्योंकि यह एक ऐसा व्यवसाय है जिसका उदय शहरों में तो हो चूका है लेकिन ग्रामीण इलाके इस बिज़नेस से अभी कोषों दूर हैं | वर्तमान में गर्मियों के मौसम में इतनी गर्मी पड़ती है की पंखे एवं कूलर की हवा से काम चलाना बड़ा मुश्किल हो जाता है | आम तौर पर एयर कंडीशन का काम गर्मियों के मौसम में ही वातावरण को ठंडा करने का  होता है, इसलिए कंपनियां, छोटे बड़े उद्यम और किराये पर रहने वाले लोगों के लिए यह उपयुक्त रहता है | क्योंकि व्यवसायिक एवं शैक्षणिक कारणों से लोगों को अपने घर से बाहर रहना पड़ता है ऐसे लोगों को एसी खरीदना इसलिए पसंद नहीं होता क्योंकि एक तो नए एसी की कीमत बहुत अधिक होती है, दूसरा इनका इस्तेमाल भी मौसमी होता है, तीसरा उन्हें शहर छोड़ते वक्त यह सब सामान अपने साथ ले जाना पसंद नहीं होता है | यही कुछ कारण है जिसके फलस्वरूप AC Rental Business की उत्पति हुई है | इसके अलावा कंपनिया, व्यवसायिक इकाइयाँ, छोटे बड़े उद्यम भी खुद के एसी खरीदने की बजाय इन्हें किराये पर लेना इसलिए पसंद करते हैं क्योंकि इनका रखरखाव भी उसी कंपनी द्वारा किया जाता है जो इन्हें उस अमुक कंपनी को किराये पर देती है | इसलिए कंपनी अपनी जिम्मेदारी एवं कास्ट कम करने के उद्देश्य से अक्सर ऐसी इकाइयों से ही एसी किराये पर लेना पसंद करते हैं जो उनकी व्यापार आवश्यकता को समझकर उनके उद्देश्यों को पूर्ण करने की योग्यता रखते हों | तो आइये जानते हैं आखिर यह AC rental Business है क्या?

AC rental business

एसी किराये पर देने का बिज़नेस क्या है (What is AC Rental Business in Hindi):

AC Rental Business जैसा की नाम से ही स्पष्ट है की यह एसी किराये पर देने का व्यापार होता है, यानिकी इसमें उद्यमी व्यक्तिगत व्यक्तियों, एवं व्यवसायिक इकाइयों को एसी किराये पर देकर अपनी कमाई कर रहा होता है | वर्तमान परिदृश्य में जैसा की हम सबको विदित है की हर किसी को विलासिता पूर्ण जीवन जीने की तीव्र उत्कंठा होती है इसके लिए मनुष्य जी तोड़ मेहनत पर लगा रहता है | जहाँ तक एसी की आवश्यकता का सवाल है यह वर्तमान में एक आम जरुरत भी बनती जा रही है क्योंकि साल हर साल धरती पर गर्मीं बढती जा रही है | लेकिन हर किसी के पास इस विलसिता की वस्तु को खरीदने के पैसे नहीं होते हैं तो बहुत सारे लोग ऐसे भी होते हैं जो एसी खरीदने का सामर्थ्य रखते भी हैं लेकिन अपनी भविष्य की योजनाओं को ध्यान में रखते हुए वे एसी को किराये पर लेना ही पसंद करते हैं | इसके अलावा बिज़नेस इकाइयाँ भी अपनी जिम्मेदारी एवं कास्ट को कम करने के उद्देश्य से एसी खरीदने की बजाय उन्हें किराये पर लेना पसंद करती हैं | इन्ही बातों को ध्यान में रखकर जब किसी व्यक्ति द्वारा एसी किराये पर देने का व्यापार शुरू किया जाता है तो उसके द्वारा किया जाने वाला यह व्यापार AC Rental Business कहलाता है |

एसी किराये पर देने के व्यापार की आवश्यकता:

हालांकि हम यहाँ पर यह बिलकुल नहीं कहेंगे की AC Rental Business एक ऐसा बिज़नेस है जो मनुष्य की नितांत आवश्यकताओं से जुड़ा है बल्कि सच्चाई यह है की आवासीय घरों की यदि हम बात करें तो आज भी लोग एसी किराये पर लेने की बजाय इन्हें खरीदना पसंद करते हैं हाँ कुछ किराये पर रहने वाले लोग जो नया एसी खरीद पाने में अक्षम हैं, या वे इस बात को सोचते हैं की जब वे यह शहर छोड़ के जायेंगे तो इस एसी को कहाँ ले जायेंगे जैसे लोग AC Rental Business के आंशिक ग्राहक हैं |  इसके अलावा व्यवसायिक इकाइयों को किराये पर एसी लेने से बहुत फायदे होते हैं और वे लेते भी हैं लेकिन वे किसी ऐसी कंपनियों से यह सब काम करवाना पसंद करते हैं जिनकी क्षमता उनकी आवश्यकता के अनुरूप काम करने की हो | कहने का अभिप्राय यह है की धीरे धीरे ही सहीं लेकिन Act rental नामक यह बिज़नेस विस्तृत हो रहा है और इसकी विस्तृता हमें यह ज्ञात कराती है की कम ही सही लेकिन लोगों को इसकी आवश्यकता है |

एसी किराये पर देने का व्यापार शुरू करने की प्रक्रिया (Step by Step Process to Start AC Rental Business):

हालांकि AC Rental Business को शुरू करना बेहद आसान प्रक्रिया समझा जाता है क्योंकि लोगों को लगता है की एसी खरीदने के बाद उन्हें किराये पर दे देना ही इस बिज़नेस का आरम्भ करना कहलाता है | बल्कि सच्चाई यह है की बिज़नेस को शुरू करने के लिए व्यक्ति को अनेकों प्रक्रियाओं से होकर गुजरना पड़ता है | उद्यमी को जिन संभावित प्रक्रियाओं से होकर गुजरना पड़ता है उनका संक्षिप्त विवरण कुछ इस प्रकार से है |

  1. ऑफिस किराये पर लें (Rent an Office) :

AC Rental Business केवल शहरों में शुरू किया जा सकता है इसलिए ग्रामीण इलाकों में निवासित किसी भी व्यक्ति को इस व्यापार को शुरू करने का जोखिम नहीं उठाना चाहिए | किसी भी शहर में इस तरह के बिज़नेस को स्टार्ट करने के लिए उद्यमी को एक ऑफिस किराये पर लेने की आवश्यकता होगी | ध्यान रहे ऑफिस की जगह इतनी होनी चाहिए की उसे दो तीन भागों में विभाजित किया जा सके एक तरफ वह जगह जहाँ उद्यमी रिपेयर किये जाने वाले एसी रख सके | दूसरी तरफ ऐसा एरिया जहाँ किराये पर दिए जाने वाले चालित एसी रखे जा सकें | तीसरी तरफ वह एरिया जहाँ उद्यमी खुद का ऑफिस स्थापित कर सके | हालांकि AC Rental Business शुरू करने से पहले उद्यमी को अपने आंशिक ग्राहकों के बारे में जानकारी जुटाकर संभावित कमाई का विश्लेषण जरुर करना चाहिए | अन्यथा उद्यमी को भारी नुकसान भी उठाना पड़ सकता है | सबसे पहले किराये पर ऑफिस लेना इसलिए जरुरी हो जाता है क्योंकि बिज़नेस रजिस्ट्रेशन के समय उद्यमी को यही पता समबन्धित अथॉरिटी के कार्यालय को देना होगा |

  1. निवेश का आकलन करें (Make an Estimate for the investment ):

AC Rental Business में आने वाली निवेश का लागत उद्यमी चाहे तो सबसे पहले भी कर सकता है क्योंकि जब तक उद्यमी को यह पता नहीं हो पायेगा की इस बिज़नेस को शुरू करने में उसके कितने पैसे लग जायेंगे तब तक वह इस बिज़नेस को शुरू करने का या न करने का निर्णय ले पाने में असमर्थ होगा | यद्यपि AC Rental Business में आने वाली प्रमुख लागत एसी खरीदने में आने वाली लागत है एक नए एसी की कीमत 25-35 हज़ार के बीच हो सकती है इसलिए शुरूआती दौर में उद्यमी चाहे तो इस्तेमाल में लाये हुए एसी यानिकी सेकंड हैण्ड एसी भी अपने बिज़नेस के लिए खरीद सकता है | निवेश का आकलन करते समय ऑफिस का किराया एवं शुरूआती दौर में दो स्टाफ का खर्चा भी मानकर चलना चाहिए क्योंकि यदि उद्यमी एसी रिपेयरिंग इत्यादि का काम जानता है तो ठीक है अन्यथा उद्यमी को एक दो ऐसे स्टाफ की आवश्यकता हो सकती है जिन्हें एसी रिपेयरिंग का काम आता हो क्योंकि इन्हें जरुरत पड़ने पर क्लाइंट की साईट में एसी ठीक करने भेजना पड़ सकता है | सामान्य तौर पर उद्यमी को 8-12 हज़ार के किराये में ऑफिस एवं 20-22 हज़ार प्रति महीने स्टाफ के खर्चे का आकलन करना चाहिए |

  1. रजिस्ट्रेशन कराये (Licence and Registration):

हालाँकि छोटे स्तर पर इस बिज़नेस को उद्यमी केवल स्थानीय प्राधिकरण जैसे नगर पंचायत, नगर निगम इत्यादि से लाइसेंस एवं परमिशन लेकर शुरू कर सकता है | लेकिन यदि उद्यमी चाहता है की उसके ग्राहक के तौर पर व्यवसायिक इकाइयाँ हों तो उसे किसी भी Business Entities का चुनाव करके खुद की कंपनी रजिस्टर करनी पड़ सकती है | और जीएसटी पंजीकरण भी कराना पड़ सकता है | इन पर और अधिक जानकारी के लिए नीचे दिए गए लेखों को पढ़ें |

  1. एयर कंडीशन खरीदें (Purchase the Air Conditioner):

 बिज़नेस रजिस्ट्रेशन या पंजीकरण के बाद उद्यमी को Ac Rental Service के लिए एसी एवं इनके उपकरण खरीदने की आवश्यकता हो सकती है | इसलिए शुरूआती दौर में चाहे तो उद्यमी पुराने एसी भी किराये पर देने के लिए खरीद सकता है और एक या दो एसी ठीक करने वाले व्यक्तियों की नियुक्ति करके जरुरत पड़ने पर उन्हें ग्राहकों की साईट पर भेज सकता है | चूँकि इस बिज़नेस में उद्यमी एसी को गर्मी के मौसम में चालू रखने की पूरी जिम्मेदारी लेता है इसलिए ग्राहक को इन सब बातों से कोई फर्क नहीं पड़ता है की एसी नया है या पुराना | हां इतना जरुर है की यदि एसी बिजली की खपत अधिक करेगा तो ग्राहकों को इसके बारे में अवश्य शिकायत होगी इसलिए एसी खरीदने से पहले उनकी Power Efficiency का भी ध्यान रखना बेहद जरुरी है |

  1. स्टाफ नियुक्त करें(Hire the Skilled Staffs):

AC Rental Business Start करने के लिए उद्यमी को कम से कम दो स्टाफ वह भी उस स्थिति में जब उद्यमी को खुद एसी रिपेयरिंग या इससे जुड़ा हुआ काम आता हो चाहिए ही चाहिए | शुरूआती दौर में  उद्यमी को ऐसे स्टाफ की नियुक्ति करनी चाहिए जिनसे वह थोड़ा बहुत मार्केटिंग का भी काम ले सके अन्यथा मार्केटिंग तो उद्यमी को खुद ही देखनी चाहिए | स्टाफ के तौर पर उद्यमी को टेक्निकल स्टाफ जिन्हें एसी रिपेयरिंग, इंस्टालेशन इत्यादि की जानकारी हो चाहिए होगा |

  1. कंपनियों एवं लोगों के बीच मार्केटिंग कराये:

अब उद्यमी ने यदि AC Rental Business Start करने के लिए उपर्युक्त प्रक्रियाएं पूर्ण कर ली हों तो अब उसका अगला कदम अपने बिज़नेस के नाम से बिज़नेस कार्ड, पम्पलेट, पोस्टर, बैनर इत्यादि छपवाने का होना चाहिए | और बाद में इन प्रिंटिंग सामग्री को लेकर अपने आंशिक ग्राहकों के बीच बंटवाना चाहिए जिससे उद्यमी के व्यापार का प्रचार प्रसार हो | कुछ प्रिंटिंग सामग्री में उद्यमी को ऐसे कंटेंट भी प्रिंट कराने होंगे जो ग्राहकों को यह बताएँगे की उन्हें एसी खरीदने की बजाय एसी किराये पर क्यों लेने चाहिए अर्थात एसी किराये पर लेने के उन्हें क्या क्या फायदे हो सकते हैं इत्यादि | क्योंकी वर्तमान में कोई भी व्यक्ति हो या फिर कोई व्यापारिक इकाई किसी भी उत्पाद या सेवा को खरीदने से पहले अपना फायदा अवश्य देखते हैं | इसके अलावा उद्यमी इन मार्केटिंग तकनीक को अपनाकर भी बिज़नेस की मार्केटिंग कर सकता है |

  1. एसी किराये पर दें और पैसे कमायें:

जब आप अपने आंशिक ग्राहकों के बीच अपनी सेवा को प्रचलित कर देंगे और साथ में उन्हें उस सुविधा को अपनाकर उनके फायदे के बारे में समझाने में भी कामयाब हो जायेंगे तो उसके बाद लोग आपको आपके फोन या आपके कार्यालय के माध्यम से संपर्क करने की कोशिश अवश्य करेंगे | इसलिए अब अपने AC Rental Business को सुपरहिट बनाने के लिए नियमित तौर पर नई नई रणनीतियां बनायें और उन्हें अमल में लायें | ध्यान रहे जितने अधिक ग्राहक होंगे उतनी ही अधिक आपकी कमाई भी होगी |

किराये से सम्बंधित अन्य बिज़नेस:

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *