आईएएस ऑफिसर कैसे बनें | Step by Step Process to Become an IAS Officer.

IAS officer आपने अपने जीवनकाल में कभी न कभी अवश्य सुना होगा जी हाँ और सुनें भी क्यों नहीं क्योंकि अगर बस चले तो लगभग हर विद्यार्थी बड़ा होकर IAS Officer अवश्य बनना चाहेगा | लेकिन आईएएस ऑफिसर बनना न ही इतना आसान है और न ही हर कोई विद्यार्थी या व्यक्ति इसके योग्य | यद्यपि आपको आश्चर्य हो रहा होगा की कमाई टिप्स के इस ब्लॉग पर हम IAS officer बनने की प्रक्रिया के बारे में क्यों बता रहे हैं | तो इसका जवाब यह है की जैसे की हम सबको विदित है की कमाई की जब भी बात होती है तो या तो कुछ बनकर कमाई करने की होती है या फिर कुछ करके कमाई करने की होती है | इसलिए कुछ बनकर कमाई करने की दिशा में हमने कुछ दिनों पहले कैरियर टिप्स नामक श्रेणी को अपनी वेबसाइट का हिस्सा बनाया है ताकि इस श्रेणी में हम समय समय पर कुछ बनकर कमाई करने के माध्यमों के बारे में वार्तालाप करते रहें | यही कारण है की आज का भी हमारा यह लेख कुछ बनकर कमाई करने पर आधारित है | यद्यपि हर मनुष्य का सपना अपनी जिन्दगी में केवल कमाई करने का ही नहीं होता है बल्कि समाज सेवा, देश सेवा एवं मानवता की भलाई का भी होता है और इन्सान को चाह रहती है की उसके पास इतनी शक्तियाँ निहित हों ताकि वह समाज सेवा, देश सेवा एवं मानवता की भलाई कर पाने में अपने आपको सक्षम महसूस करे | हालांकि हम यहाँ पर यह बिलकुल कहना नहीं चाहते की जिसके पास अथॉरिटी या शक्तियाँ नहीं है वे देश, समाज या मानवता की सेवा नहीं कर सकते हर सेवा भाव रखने वाला इन्सान ऐसा कर सकता है | लेकिन अथॉरिटी एवं शक्तियों की बदौलत वह सेवा में और अधिक तल्लीन हो सकता है | IAS Officer भी एक ऐसी ही शख्सियत होती है जिनके पास काफी सारी अथॉरिटी एवं शक्तियाँ व्यापत होती हैं ताकि वे अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन ईमानदारी एवं निष्पक्षता के साथ कर सकें | लेकिन एक सच्चाई यह भी है की नौकरशाही पर हमेशा राजनीती हावी रही है | इसके बावजूद युवाओं के मन में IAS Officer बनने का सपना पलता है वह इसलिए ताकि वे अपनी पारिवारिक, सामाजिक दायित्वों का निर्वहन कर सकें | इसलिए आज हम यहाँ पर IAS Officer बनने की सम्पूर्ण प्रक्रिया के बारे में विस्तार से वार्तालाप करने की कोशिश करेंगे |

IAS Officer kaise bane

आईएस ऑफिसर क्या है (What is an IAS Officer in Hindi):

IAS की यदि हम बात करें तो यह Indian Administrative Service का संक्षिप्त रूप है | जिसका हिंदी में शाब्दिक अर्थ भारतीय प्रशासनिक सेवा होता है | इस प्रकार की यह सेवा चौबीस सबसे प्रतिष्ठित सेवाओं जैसे आईपीएस, आईएफएस इत्यादि में से एक बेहद प्रतिष्ठित सेवा है | इस तरह की सेवा में उम्मीदवारों के चयन के लिए यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन (UPSC)  द्वारा सिविल सर्विस एग्जामिनेशन (CSE) आयोजित की जाती है | सिविल सर्विस एग्जामिनेशन परीक्षा पास करके ही कोई व्यक्ति IAS Officer बन सकता है | और उसे विभिन्न भूमिकाओं जैसे कलेक्टर, आयुक्त, पब्लिक सेक्टर की इकाइयों के प्रमुख, मुख्य सचिव, कैबिनेट सचिव इत्यादि बखूबी निभानी पड़ सकती हैं | केवल कमाई करने, अनुभव प्राप्त करने एवं चुनौती का सामना करने के लिए नहीं अपितु लाखों लोगों के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने की क्षमता रखने वाले इस अद्वितीय कैरियर को लोगों ने बेहद पसंद किया है |

आईएएस ऑफिसर बनने के लिए पात्रता मानदंड (Eligibility Criteria to Become an IAS Officer in Hindi):

  • उम्मीदवार किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से स्नातक पास हो |
  • ऐसे विद्यार्थी जिन्होंने फाइनल year की परीक्षा दे दी हो लेकिन रिजल्ट अभी आया नहीं हो वे भी IAS Office बनने या UPSC Exam के लिए आवेदन कर सकते हैं |
  • उम्मीदवार भारत का नागरिक हो |
  • सामान्य वर्ग के उम्मीदवार की कम से कम उम्र 21 साल एवं अधिक से अधिक उम्र 32 साल होनी चाहिए |
  • ओबीसी वर्ग से जुड़े उम्मीदवार की कम से कम उम्र 21 साल एवं अधिक से अधिक उम्र 35 साल होनी चाहिए |
  • अनुसूचित जाति/जनजाति से जुड़े उम्मीदवार की कम से कम उम्र 21 साल एवं अधिक से अधिक उम्र 37 साल होनी चाहिए |
  • किसी भी देशी/विदेशी या परेशान क्षेत्र में शत्रुता के दौरान विकलांग हुए रक्षा सेवाओं के कर्मियों के लिए ऊपरी आयु सीमा 35 वर्ष निर्धारित की गई है |
  • IAS Officer बनने या UPSC Exam देने के लिए पूर्व-सैनिकों के लिए ऊपरी आयु सीमा जिसमें कमीशन अधिकारी और ईसीओ/ एसएससीओ शामिल हैं, जिन्होंने कम से कम पांच साल की सेवा की है के लिए उपरी आयु सीमा 37 वर्ष निर्धारित किये गए हैं |
  • अंधे, बहरे मूक और रूढ़िवादी रूप से विकलांग व्यक्तियों के लिए ऊपरी आयु सीमा 42 वर्ष निर्धारित की गई है |

IAS Officer बनने या UPSC Exam के लिए कितनी बार प्रयास कर सकते हैं?

एक सामान्य श्रेणी का व्यक्ति 21-32 साल की उम्र में IAS Officer बनने के लिए प्रयास कर सकता है लेकिन इसका मतलब यह बिलकुल नहीं है की वह 11 बार UPSC Exam पास करने के लिए प्रयास कर सकता है | बल्कि सच्चाई यह है की वह इस परीक्षा में कितनी बार हिस्सा ले सकता है इस पर भी कुछ प्रतिबंध हैं, जो भिन्न भिन्न श्रेणियों के लिए अलग अलग हैं जैसा की नीचे बताया गया है |

  • सामान्य श्रेणी से जुड़ा व्यक्ति अपनी 32 वर्ष की आयु तक अधिकतम केवल 6 बार IAS Officer बनने के लिए प्रयास कर सकता है |
  • ओबीसी श्रेणी से जुड़ा व्यक्ति अपनी 35 वर्ष की आयु तक अधिकतम केवल 9 बार IAS Officer बनने के लिए प्रयास कर सकता है |
  • अनुसूचित जाति/जनजाति श्रेणी से जुड़ा व्यक्ति अपनी 37 वर्ष की आयु तक अनलिमिटेड अर्थात कितनी बार भी IAS Officer बनने के लिए प्रयास कर सकता है |
  • सामान्य श्रेणी से संबंधित शारीरिक रूप से विकलांग / अक्षम उम्मीदवार अपनी 42 वर्ष की आयु तक UPSC Exam पास करने के लिए अधिकतम केवल 9 बार प्रयास कर सकते हैं |

आईएएस ऑफिसर कैसे बनें (How to Become an IAS Officer in Hindi):

यद्यपि IAS Officer बनने के लिए कड़ी मेहनत करनी होती है वह इसलिए क्योंकि हर साल लाखों विद्यार्थी UPSC Exam अच्छे मेरिट के साथ पास करने का सपना संजोये हुए UPSC Exam में बैठते हैं | लेकिन सफलता कुछ गिने चुने लोगों को ही मिल पाती है फिर भी लोग हिम्मत नहीं हारते हैं और अगले साल की तैयारी में जुट जाते हैं | वह इसलिए क्योंकि IAS Officer बनकर कोई भी व्यक्ति न सिर्फ अपने माता पिता का नाम रोशन करता है बल्कि उस स्कूल जहाँ वह पढ़ा हो, वह गाँव जहाँ वह पला हो, जिला, राज्य सभी लोगों को गर्व महसूस कराता है | इसलिए आइये जानते हैं की IAS Officer बनने के लिए किसी व्यक्ति को क्या क्या करना पड़ता है |

  1. दसवीं या उससे पहले से ही IAS Officer के बारे में जानें :

अक्सर होता क्या है जैसे जैसे हम किसी व्यक्ति, पद, उसकी अथॉरिटी, अधिकार, जीवनशैली इत्यादि के बारे में जानने लगते हैं तो हम अपने आप में अनुमान लगा लेते हैं की हमें उसके जैसा बनना है की नहीं | इसलिए IAS Officer बनने के इच्छुक विद्यार्थी को आईएएस ऑफिसर के बारे में दसवीं से या उससे पहले से जानने की कोशिश करनी चाहिए | माता पिता को भी चाहिए की वे अपने बच्चे से IAS Officer के अधिकारों, वेतन जीवनशैली, कामकाज इत्यादि के बारे में वार्तालाप करते रहें ताकि वह इन बातों से प्रेरणा लेता रहे और उस पर आईएएस ऑफिसर बनने का जूनून सवार हो जाय |

  1. इंटरमीडिएट अर्थात बारहवीं की परीक्षा पास करें :

अक्सर IAS Officer बनने की चाह रखने वाले विद्यार्थियों या उनके माता पिता के मन में यह सवाल उठता है की वे इंटरमीडिएट में कौन से विषय या वर्ग का चुनाव करें जिससे की आईएएस ऑफिसर बनने में कोई बाधा न आये | ऐसे लोगों को हम बता देना चाहेंगे की वे किसी भी विषय एवं वर्ग का चुनाव करके इंटरमीडिएट की परीक्षा पास कर सकते हैं IAS officer बनने के लिए यह जरुरी नहीं है की व्यक्ति साइंस स्ट्रीम से, कॉमर्स स्ट्रीम से या आर्ट स्ट्रीम से ही होना चाहिए | बल्कि किसी भी स्ट्रीम का विद्यार्थी स्नातक के बाद UPSC Exam के लिए आवेदन कर सकता है | इसलिए सबसे पहले विद्यार्थी को इंटरमीडिएट की परीक्षा किसी भी स्ट्रीम से पास करनी होगी |

  1. ग्रेजुएशन अर्थात स्नातक की पढाई करें:

अब चूँकि अब तक आपने इंटरमीडिएट तक की परीक्षा पास कर ली है और अब तक आपको पता चल गया होगा की आप कौन से विषय में कमजोर हैं और कौन से विषय में मजबूत हैं | कहने का अभिप्राय यह है की ग्रेजुएशन करते वक्त उसी विषय का चुनाव करें जिसे पढने एवं समझने में आपकी रूचि हो और आपको मजा आता हो | क्योंकि IAS Officer बनने के लिए किसी एक विषय में महारत हासिल होना भी जरुरी है और यह विद्यार्थी के आगे के मार्ग को सरल बना देता है | चूँकि UPSC Exam में शरीक होने के लिए उम्मीदवार का कम से कम स्नातक पास होना जरुरी है इसलिए IAS Officer बनने की चाह रखने वाले विद्यार्थी को ग्रेजुएशन तक की पढाई अवश्य पूरी करनी चाहिए | हालांकि ऐसे लोग जो फाइनल इयर की परीक्षा दे चुके हैं लेकिन रिजल्ट आया नहीं है वे भी UPSC Exam के लिए आवेदन कर सकते हैं |

  1. सिविल सर्विस एग्जाम (CSE) के लिए अप्लाई करें:

जैसे की हम पहले भी बता चुके हैं की सिविल सर्विस एग्जाम (CSE) यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन (UPSC) द्वारा आयोजित किया जाता है | जहाँ पहले इस परीक्षा के लिए फॉर्म इत्यादि डाक द्वारा भेजकर आवेदन किया जाता था | वहीँ वर्तमान में आवेदनकर्ता UPSC की अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकता है | यह ऑनलाइन एप्लीकेशन UPSC द्वारा निर्धारित अंतिम तिथि तक भरी जा सकती है | प्रत्येक उम्मीदवार को परीक्षा शुरू होने से तीन हफ्ते पहले e-Admission Card  जारी किया जाता है | जिसे उम्मीदवार  UPSC की इस अधिकारिक वेबसाइट से डाउनलोड कर सकता है | IAS Officer बनने के इच्छुक विद्यार्थी को सिविल सर्विस एग्जाम के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा | आवेदन करने के बाद विद्यार्थी को Preliminary Exam, Main Exam एवं इंटरव्यू जैसी प्रक्रियाओं से होकर गुजरना पड़ता है |

  1. IAS Officer बनने के लिए Preliminary Exam पास करें:

सिविल सर्विस एग्जाम (CSE) के लिए आवेदन करने के बाद विद्यार्थी को Preliminary Exam देना होता है | इस एग्जाम में दो पेपर होते हैं | पहला पेपर जनरल स्टडी पर जो की 200 मार्क्स का होता है और दूसरा पेपर Aptitude test  होता है यह भी 200 मार्क्स का हो होता है और सभी प्रश्न ऑब्जेक्टिव टाइप होते हैं | यह परीक्षा केवल स्क्रीनिंग टेस्ट के तौर पर होती है | क्योंकि इस परीक्षा में निर्धारित अंक लाने के बाद ही योग्य उम्मीदवार मुख्य परीक्षा के योग्य माने जाते हैं | मुख्य परीक्षा में विभिन्न सेवाओं और पदों में वर्ष भर में भरने वाली रिक्तियों की कुल अनुमानित संख्या का 13-14 गुना संख्या ही ली जाती है | इसलिए IAS officer बनने की चाह रखने वाले विद्यार्थी को Preliminary Exam में भी बेहतर प्रदर्शन के लिए कड़ी मेहनत करने की आवश्यकता होगी | प्रारम्भिक परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन करने वाले उम्मीदवारों में से ही आयोग द्वारा मुख्य परीक्षा के लिए उम्मीदवारों का चयन किया जाता है |

  1. मुख्य परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन करें (Main Exam):

IAS Officer बनने के लिए मुख्य परीक्षा का उद्देश्य उम्मीदवारों की समग्र बौद्धिक लक्षणों और उनकी जानकारी और स्मृति की सीमा की समझ की गहराई का आकलन करना है । इसमें जनरल स्टडीज पेपर में प्रश्नों की प्रकृति और मानक इस तरह से निर्धारित किये जाते हैं की एक अच्छी तरह से शिक्षित व्यक्ति बिना किसी विशेष अध्ययन के इन सवालों का जवाब दे पाने में सक्षम होगा । मुख्य परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्न उमीदवार की सामान्य जागरूकता का परीक्षण करने, उसकी बुनियादी समझ का परिक्षण करने, विश्लेषण करने की क्षमता का आकलन करने, विवादित आर्थिक सामाजिक लक्ष्यों को समझने की क्षमता का आकलन करने, उद्देश्यों, मांगों एवं विचार करने की क्षमता मापने के लिए विभिन्न विषयों पर आधारित होंगे और सिविल सेवाओं में कैरियर के लिए प्रासंगिक होंगे | IAS Officer बनने के इच्छुक विद्यार्थी का मुख्य परीक्षा में अव्वल प्रदर्शन करना बेहद जरुरी है | मुख्य परीक्षा का यह रिटेन टेस्ट 1750 अंकों का होता है |

  1. व्यक्तिगत परीक्षण के लिए इंटरव्यू दें:

अब यदि विद्यार्थी ने मुख्य परीक्षा नामक सीढी भी पार कर ली हो तो अब IAS officer बनने की ओर उसका अगला कदम इंटरव्यू देने का होना चाहिए | हालांकि इंटरव्यू 275 अंको का होता है लेकिन इसमें कम से कम अंको की कोई सीमा नहीं है इसलिए उम्मीदवार की फाइनल रैंकिंग मुख्य परीक्षा एवं इंटरव्यू में प्राप्त अंकों के आधार पर ही बनती है | कौन से उम्मीदवार को कौन सी सेवा और पद दिया जायेगा यह उनके द्वारा प्राप्त रैंक केर आधार पर एवं उनकी प्राथमिकताओं को ध्यान में रखकर आवंटित किया जाता है | इंटरव्यू के दौरान IAS Officer बनने की चाह रखने वाले उम्मीदवारों का साक्षात्कार एक बोर्ड द्वारा किया जाता है | इसमें उम्मीदवारों से जनरल इंटरेस्ट पर प्रश्न पूछे जाते हैं |

IAS Officer बनने के लिए बेहद मेहनत, लगन एवं जूनून की आवश्यकता होती है इसलिए इस तरह का ऑफिसर बनकर व्यक्ति न केवल अपनी कमाई कर रहा होता है | बल्कि समाज, राज्य, देश की भी सेवा कर रहा होता है |

कैरियर से सम्बंधित अन्य लेख:

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *