Atal Pension Yojana का उद्देश्य हम आपको एक कहानी के माध्यम से समझाने की कोशिश करेंगे । क्योकि किसी भी Yojana (Scheme) को समझने से पहले वो किस उद्देश हेतु लागू की गई है , यह जानना जरुरी है।

अटल पेंशन योजना का उद्देश्य (Objective of Atal Pension Yojana in Hindi):

हरी सिंह एक किसान हुआ करते थे । उनका एक बेटा और एक बेटी थी ।हरी सिंह अपने खेतों में काम करने के अलावा गांव के पास ही एक फैक्ट्री में दैनिक मज़दूरी पर भी काम किया करते थे ।  जब तक शरीर में जान थी । उन्होंने खूब मेहनत की अपने बच्चो को पढ़ाया हालाँकि बेटी को वो इंटरमीडिएट तक ही पढ़ा पाये । उसके बाद उसके हाथ पीले कर दिए गए, अर्थात उसकी शादी कर दी गई । बेटी तो होती ही पराया धन है, ये बात ग्रामीण इलाको में ज्यादा प्रचलित है । और लोग बखूबी इसका पालन भी करते हैं । अर्थात लड़कियों की शादी जल्दी करवा देते हैं । बेटे को उन्होंने इंटरमीडिएट करके शहर पढ़ने भेजा । ये सोचकर की बेटा बुढ़ापे  की लाठी अर्थात सहारा बनेगा । लेकिन बेटा कॉलेज में ही किसी मधुमती के प्रेम में पड़ चूका था । और कॉलेज पूरा करने के बाद मधुमती ने उससे इस शर्त पर शादी की कि वह गांव में नहीं रहेगी । मुझसे शादी करनी है तो तुम्हे शहर में ही कोई नौकरी ढूँढ के, मुझे भी अपने साथ ही रखना पड़ेगा । बेटा भी क्या करता प्यार जो करता था मधुमती से, मान गया। और शहर में 10-12 हज़ार की नौकरी शुरू की, अब हरी सिंह के भी थोड़े हाथ पाँव चलते थे । थोड़ा बहुत खेतो में काम कर लिया करते थे । और 1000-2000 रूपये महीने के, बेटा भेज दिया करता था । आराम से गुज़र बसर हो रही थी । लेकिन 1 साल बाद हरी सिंह का पोता हुआ, और बेटे की भी तनख्वाह 15 से 20 हज़ार हो गई । अब बेटा चाहकर भी अपने माँ बाप के लिए पैसे नहीं भेज पा रहा था । कभी तो उसका मन करता की बीवी बच्चो को घर छोड़कर अकेले रहूँगा, तो थोड़ा बहुत बचा लूँगा । जिससे माँ बाप की भी देखभाल हो जाएगी । लेकिन मधुमती गांव जाना चाहती ही नहीं थी । अब हरी सिंह जी के हाथ पैरो ने भी जवाब दे दिया था । अर्थात अब वो खेतो में काम करने में असमर्थ थे । अब उनको अपने बेटे की Kamai की सबसे अधिक जरुरत थी । लेकिन बेटा चाहकर भी पैसा भेज पाने में असमर्थ था । क्योकि शहर में उसकी Kamai से उसी के खर्चे पूरे नहीं हो पा रहे थे । अब आप ही सोचिए कमाई के अभाव में कैसे कटा होगा हरी सिंह जी का बुढ़ापा | हमारे देश में लाखो करोड़ों हरी सिंह हैं, जिनका बुढ़ापा Kamai के अभाव में कटता है ।इसी समस्या के मद्देनज़र और बच्चो पर माँ बाप की निर्भरता को कम  करने के लिए वर्तमान सरकार ने Atal Pension Yojana (APY) की शुरुआत करी है ।

आज हम अपनी वेबसाइट की योजना श्रेणी के अंतर्गत बात करने वाले हैं । Atal Pension Yojana (APY) की । जैसा की हमेशा होता है । हमारे मष्तिष्क में किसी भी नई योजना या वस्तु को जानने के लिए प्रशन उठता है की वह है क्या ?।

अटल पेंशन योजना क्या है (What is Atal Pension Yojana)

Atal pension yojana in hindi
Atal-Pension-Yojana-

Atal Pension Yojana (अटल पेंशन योजना ) असंगठित क्षेत्र से जुड़े लोगो के लिए भारत सरकार द्वारा जारी की गई एक पेंशन योजना है । जिसका लाभ इस योजना से जुड़ा हुआ व्यक्ति अपने बुढ़ापे में अर्थात 60 सालो से ऊपर की अवस्था में ले सकता है । इस योजना का लक्ष्य छोटे असंगठित कार्यक्षेत्रों से जुड़े हुए लोगो में आर्थिक सुरक्षा को बढ़ावा देना है । Atal Pension Yojana (APY) के तहत व्यक्ति अपने कामकाजी दिनों में महीने में तीन महीने में, छ महीने में या फिर साल भर में अपने खाते में क़िस्त जमा करेगा । जो उसको उसके बुढ़ापे में पेंशन के तौर पर दी जाएगी । और इस योजना का नाम भूतपूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी बाजपेयी के नाम से रखा गया है।

Atal Pension Yojana Ki Shuruaat Kab Hui.

अटल पेंशन योजना की घोषणा वर्तमान वित्तमंत्री अरुण जेटली जी ने अपने 2015 के बजट भाषण के दौरान की थी । और बाद में वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने 9 मई 2015 को कोलकाता में इसका शुभारम्भ किया था । और इसको 1 जून 2015 से क्रियान्वयन में लाया गया ।

योजना के तहत पात्रता (Eligibility Criteria of Atal Pension Yojana)

  •  यदि आपकी उम्र 18-40 वर्षो के बीच है । अर्थात 18 या 18 वर्षो से ज्यादा, और 40 या 40 वर्षो से कम, फिर आप इस योजना से जुड़ सकते हैं ।
  • यदि आपके पास आपका आधार कार्ड है । तब तो बहुत बढ़िया है, क्योकि सरकार को आधार कार्ड के माध्यम से KYC में सहायता प्रदान होती है । और आपका पैसा जल्दी और सुचारू रूप से आपको ही मिलता है । अर्थात आधार कार्ड आपके पैसे को गलत हाथो में जाने से बचाएगा । अगर नहीं है तो कोई बात नहीं, पहले आप इस योजना में नामांकन कीजिये उसके बाद आधार कार्ड बनवा के बैंक में जमा कर दीजिये ।
  • आपका किसी भी बैंक में खाता होना अनिवार्य है ।

अटल पेंशन योजना के तहत पेंशन (Pension under Atal Pension Yojana)

  • अटल पेंशन योजना के तहत 1000 से 5000 धनराशि तक का, पेंशन का प्रावधान है ।
  • अलग अलग पेंशन धनराशि के लिए अलग अलग योगदान धनराशि निर्धारित की गई है ।
  • योगदान धनराशि की मासिक क़िस्त व्यक्ति की उम्र पर निर्भर करेगी । अर्थात यदि आप 18 साल के हैं । तो 60 साल बाद 1000 रूपये महीने की पेंशन पाने के लिए आपको 42 रूपये प्रति माह, और यदि आप 40 साल के हैं, तो 1000 रूपये महीने की पेंशन लेने के लिए आपको 291 रूपये प्रति माह जमा कराने होते हैं ।

जैसा की नीचे तालिका में दिखाया गया है ।

उम्र योगदान के कुल साल   रूपये 1000 हर माह पेंशन के लिए मासिक क़िस्त रूपये 2000 हर माह पेंशन के लिए मासिक क़िस्त रूपये 3000 हर माह पेंशन के लिए मासिक क़िस्त रूपये 4000 हर माह पेंशन के लिए मासिक क़िस्त रूपये 5000 हर माह पेंशन के लिए मासिक क़िस्त
18 42 साल 42 रूपये 84 रूपये 126 रूपये 168 रूपये 210 रूपये
19 41 साल 46 रूपये 92 रूपये 138 रूपये 183 रूपये 228 रूपये
20 40 साल 50 रूपये 100 रूपये 150 रूपये 198 रूपये 248 रूपये
21 39 साल 54 रूपये 108 रूपये 162 रूपये 215 रूपये> 269 रूपये
22 38 साल 59 रूपये 117 रूपये 177 रूपये 234 रूपये 292 रूपये
23 37 साल 64 रूपये 127 रूपये 192 रूपये 254 रूपये 318 रूपये
24 36 साल 70 रूपये 139 रूपये 208 रूपये 277 रूपये 346 रूपये
25 35 साल 76 रूपये 151 रूपये 226 रूपये 301रूपये 376 रूपये
26 34 साल 82 रूपये 164रूपये 246 रूपये 327 रूपये 409 रूपये
27 33 साल 90 रूपये 178 रूपये 268 रूपये 356 रूपये 446 रूपये
28 32 साल 97 रूपये 194 रूपये 292 रूपये 388 रूपये 485 रूपये
29 31 साल 106 रूपये 212 रूपये 318 रूपये 423 रूपये 529 रूपये
30 30 साल 116 रूपये 231 रूपये 347 रूपये 462 रूपये 577 रूपये
31 29 साल 126 रूपये 252 रूपये 379 रूपये 504 रूपये 630 रूपये
32/td> 28 साल 138 रूपये 276 रूपये 414 रूपये 551 रूपये 689 रूपये
33 27 साल 151 रूपये 302 रूपये 453 रूपये 602 रूपये 752 रूपये
34 26 साल 165 रूपये 330 रूपये 495 रूपये 659 रूपये 824 रूपये
35 25 साल 181 रूपये 362 रूपये 543 रूपये 722 रूपये 902 रूपये
36 24 साल 198 रूपये 396 रूपये 594 रूपये 792 रूपये 990 रूपये
37 23 साल 218 रूपये 436 रूपये 654रूपये 870 रूपये 1087 रूपये
38 22 साल 240 रूपये 480 रूपये 720 रूपये 957 रूपये 1196 रूपये
39 21 साल 264 रूपये 528 रूपये 792 रूपये 1054 रूपये 1318 रूपये
40 20 साल 291 रूपये 582 रूपये 873 रूपये 1164 रूपये 1454 रूपये

जैसा की उपर्युक्त तालिका में भरी जाने वाली मासिक किस्तों का विवरण स्पष्ट है । अब यदि किसी योगदानकर्ता की मृत्यु 60 साल में हो जाती है | तो उसकी पेंशन उसके पति/पत्नी को दी जाएगी । दोनों की मृत्यु होने पर इस तालिका के हिसाब से शेष धनराशी नामांकित व्यक्ति को दी जाएगी ।

पेंशन के प्रकार कोष राशि जो नामांकित व्यक्ति को दी जाएगी
1000 रूपये प्रति माह की पेंशन 1.7 लाख
2000 रूपये प्रति माह की पेंशन 3.4 लाख
3000 रूपये प्रति माह की पेंशन 5.1 लाख
4000 रूपये प्रति माह की पेंशन 6.8 लाख
5000 रूपये प्रति माह की पेंशन 8.5 लाख

अटल पेंशन योजना में प्रीमियम भरने का तरीका :

  • आप इस योजना में योगदान राशि का भुगतान महीने में, तीन महीने में, और छ महीने की किस्तें बनवाकर कर सकते हैं ।
  • आप जैसे ही अपनी क़िस्त का समय तय करेंगे । अर्थात महीने में, तीन महीने में या छ महीने में, बैंक स्वतः ही आपके खाते से पैसे काटकर इस योजना के अंतर्गत जमा करवा देगा । बशर्ते आपके खाते में पैसे होने चाहिए ।

Atal Pension Yojana Me Sarkar Ki Bhumika :

इस Yojana को सफल बनाने हेतु सरकार ने छोटे क्षेत्रो से जुड़े लोगो अर्थात जिनका EPF और EPS नहीं कटता उनको रियायत दी है । ऐसे लोग जो 31 मार्च 2016 से पहले पहले Atal Pension Yojana से जुड़ेंगे सरकार उन्हें उनकी क़िस्त में 50% तक की रियायत देगी । अर्थात 50% तक क़िस्त भारत सरकार द्वारा बैंक को दी जाएगी । लेकिन यह योगदान राशि अधिकतम सीमा 1000 रूपये प्रतिवर्ष होगी । और जो अधिकतम पहले पांच वर्षो के लिए ही दी जाएगी ।

यह योगदान राशि में रियायत सिर्फ उन्ही लोगो को दी जाएगी । जो आयकर के दायरे में नहीं आते और जिनका EPF और EPS नहीं कटता ।

Kya Hoga Yadi Aap Yogdaan Rashi Samay Par Nahi Bhar Paye :

यदि आप योगदान राशि भरने में विलम्ब करते हैं । तो आपको 1 रूपये से लेके 10 रूपये तक दंड राशि भुगतान करनी पड़ सकती है । और अधिक देरी करने पर आप इस Atal Pension Yojana का लाभ लेने से भी चूक सकते हैं ।

  • यदि आपने Atal Pension Yojana के तहत 100 रूपये भर दिए हैं । और बाद में आप क़िस्त भरने में विलम्ब करते हैं । तो आपको हर महीने 1 रूपये दंड राशि के तौर पर देना होगा ।
  • यदि आप 100 से ज्यादा और 500 से कम इस योजना में योगदान राशि भर चुके हैं । तब आपको 2 रूपये प्रति माह दंड राशि के तौर पर देनी होगी ।
  • 501 रूपये से 1000 रूपये तक की योगदान राशि दे चुके हैं। तो आपको हर महीने 5 रूपये दंड राशि के तौर पर देने होंगे ।
  • और 1000 से अधिक भुगतान कर चुके हैं । तो दंड राशि 10 रूपये प्रति माह होगी ।
  • यदि 6 महीने तक आप अपनी योगदान राशि भरने में निष्फल रहे । तो आपके खाते की कुछ क्रियाएँ बंद कर दी जाएँगी । अर्थात आपका खाता जाम कर दिया जायेगा ।
  • 12 महीने अर्थात एक साल तक यदि आपके खाते में पैसे न डाले गए तो आपका खाता निष्क्रिय कर दिया जायेगा । आप इसमें पैसे डाल के दुबारा से सक्रीय करवा सकते हैं ।
  • 24 महीने अर्थात 2 साल तक यदि आप अपने खाते में पैसे डालने में असफल रहे, तो आपका खाता बंद कर दिया जायेगा ।

अटल पेंशन योजना के लाभ (Benefits of APY in Hindi) :

    1. इस Yojana के तहत जुड़ने पर आपको 60 साल की उम्र के बाद आपके प्लान के हिसाब से रूपये 1000 से लेके रूपये 5000 तक की पेंशन मिलने का सरकारी प्रावधान है ।
    2. Atal Pension Yojana विशेषतः उन लोगो को ध्यान में रख के संचालित की गई है । जो बहुत छोटे क्षेत्रो से जुड़े हुए है इनमे दैनिक मजदूरी पर काम करने वाले मज़दूर भी आते हैं ।
    3. जो लोग आयकर के दायरे से बाहर हैं । अर्थात करदाता नहीं है, उनको भारत सरकार की ओर से पहले पांच वर्षो के लिए एक वर्ष में 1000 रूपये तक की रियायत का प्रावधान है ।
    4. Atal Pension Yojana  की कम से कम समय सीमा 20 वर्ष है । इस योजना का लाभ अर्थात पेंशन व्यक्ति को 60 साल पूरे होने के बाद ही मिलेगी ।
    5. यदि 60 वर्ष की आयु के बाद लाभार्थी अर्थात धारक की मृत्यु हो जाती है । तो अटल पेंशन धारक के पति या पत्नी को मिलेगी । दोनों की मृत्यु होने की दशा में पूरे कोष की धनराशि नामांकित व्यक्ति अर्थात नॉमिनी को दी जाएगी ।
    6. कोष धनराशि 1000 रूपये पेंशन पर 7 लाख और 5000 पेंशन पर 8.5 लाख होगी ।
    7. यदि लाभार्थी अर्थात धारक की मृत्यु 60 साल से पहले हो जाती है । तो पूरी की पूरी धनराशि ब्याज सहित नामांकित व्यक्ति को दे दी जाएगी ।और खाता बंद कर दिया जायेगा।

अन्य लेख भी पढ़ें

One Response

  1. Avatar for RAVI KUMAR RAVI KUMAR
    September 11, 2017

Leave a Reply

Your email address will not be published

error: