नौकरी खोजने के बेहतरीन तरीके। Best ways to find a Job in India hindi.

इसमें कोई दो राय नहीं की नौकरी हमेशा से कमाई करने की पहली पसंद रही है अर्थात अधिकतर लोग नौकरी करके ही अपनी जीवन रुपी गाड़ी को सड़क पर कमाई रुपी ईधन से चलाना चाहते हैं । इसलिए यदि आपके पास उपयुक्त योग्यता एवं डिग्री होने के बावजूद भी आप नौकरी नहीं ढूंढ पा रहे हैं या आपको नौकरी नहीं मिल पा रही है। कहने का अभिप्राय यह है की सभी जरुरी योग्यता एवं डिग्री होने के बावजूद भी यदि आप समझ नहीं पा रहे हैं की आप नौकरी कैसे ढूंढ सकते हैं। तो आज का हमारा यह लेख आपके लिए काफी मददगार साबित हो सकता है। वह इसलिए क्योंकि आज हम हमारे इस लेख के माध्यम से नौकरी ढूँढने के बेहतरीन तरीकों के बारे में बात करने वाले हैं। चूँकि पढाई या कोई व्यवसायिक पाठ्यक्रम पूरा करने के बाद कोई भी व्यक्ति जो सबसे पहला काम करता है वह होता है अपनी योग्यतानुसार एक अच्छी से नौकरी ढूँढने का। लेकिन देश में बेरोजगारी के आंकड़े इस तरह से बढे हुए हैं की किसी योग्य व्यक्ति के लिए भी नौकरी पाना मुश्किल होता जा रहा है। सिक्के का दूसरा पहलु यह भी है की हर साल बहुत सारी नौकरियों पर नियुक्तियाँ इसलिए नहीं हो पाती, क्योंकि उस कंपनी या संगठन को योग्य उम्मीदवार नहीं मिल पाते। ऐसे में प्रश्न यह उठता है की कैसे कोई व्यक्ति अपनी योग्यतानुसार जॉब पा सकता है। इसलिए आज हम जॉब या नौकरी ढूँढने के आसान तरीकों के बारे में बात कर रहे हैं।

Naukri-khojne-ke-tarike

1. अपना रिज्यूमे अप टू डेट रखें:

जैसा की हम सबको विदित है की जॉब ढूँढने के लिए रिज्यूमे की जरुरत होती ही होती है इसलिए यदि आप नौकरी ढूंढना चाहते हैं तो आपको अपना रिज्यूमे अप टू डेट रखना होगा। विशेष रूप से कांटेक्ट डिटेल्स जैसे ईमेल आईडी एवं फोन नंबर को अपडेट करके रखें। ताकि नियोक्ता या कंसलटेंट जब आपसे नौकरी के सम्बन्ध में बात करना चाहें वे आराम से यह कार्य कर सकें।   

2. एक अलग सा ईमेल अकाउंट बनायें:

एक अलग सा ईमेल अकाउंट बनायें और इसका इस्तेमाल केवल जॉब पाने सम्बन्धी कार्यों के लिए करें क्योंकि अक्सर सामान्य ईमेल में हम कभी कभी जॉब सम्बन्धी ईमेल को नजरअंदाज कर देते हैं। इससे हो सकता है की हम किसी अच्छे नौकरी के अवसर को खो दें। इसलिए यदि आप जॉब पाना चाहते हैं या नौकरी ढूंढना चाहते हैं तो आपको एक अलग सा ईमेल अकाउंट बनाना होगा ताकि आप किसी भी नौकरी के अवसर को अपने हाथ से न जाने दें।  

3. विभिन्न जॉब पोर्टल पर रजिस्टर करें:

भारत में बहुत सारे ऑनलाइन जॉब पोर्टल विद्यमान हैं जो किसी भी योग्य व्यक्ति को घर बैठे नौकरी खोजने में मदद करते हैं। इसलिए ऐसे व्यक्ति जो घर बैठे नौकरी ढूंढ रहे हैं वे भारत में उपलब्ध विभिन्न जॉब पोर्टल जैसे Naukri.com, Indeed.com, Monster.com, timesjobs.com इत्यादि पर रजिस्टर करके खुद की जॉब प्रोफाइल बना सकते हैं । इन वेबसाइट की सेवाएँ लगभग हर क्षेत्र से जुड़ी कम्पनियाँ योग्य कर्मचारियों की नियुक्ति के लिए लेती हैं । इसलिए घर बैठे नौकरी ढूँढने का यह सबसे आसान एवं प्रभावी तरीका है।   

4. सोशल मीडिया पर जॉब सर्च करें:

इन दिनों की यदि हम बात करें तो सोशल मीडिया बेहद प्रचलित नाम है जिसे लगभग हर जगह इस्तेमाल में लाया जाता है। लिंक्डइन एक ऐसी सोशल मीडिया वेबसाइट हैं जो पेशेवर लोगों में काफी प्रचलित है। इसलिए कोई भी व्यक्ति इस सोशल मीडिया प्लेटफार्म का इस्तेमाल करके आसानी से नौकरी सर्च कर सकता है और न सिर्फ जॉब सर्च कर सकता है। बल्कि कंपनी प्रोफाइल और उस कम्पनी में कार्यरत कर्मचारियों की संख्या के बारे में भी जान सकता है । और कंपनी द्वारा पोस्ट की गई जॉब पर आवेदन भी कर सकता है। लेकिन यह सब काम करने के लिए आपको लिंक्ड इन पर अपना प्रोफाइल बनाना होगा जैसा की अन्य जॉब पोर्टल पर बनाना होता है। सोशल मीडिया जैसे की फेसबुक या ट्विटर इत्यादि से जॉब ढूँढने का तरीका यह है की जिस क्षेत्र में आप जॉब ढूंढना चाहते हैं। उस बारे में आप अपने अकाउंट से पोस्ट कर सकते हैं और यदि आपके सर्किल में किसी को उस विशेष कार्य के लिए आवश्यकता होगी तो वह आपको आपका रिज्यूमे भेजने को कहेंगे।       

5. विभिन्न जॉब सर्विस पेशेवरों की मदद लें:

जॉब ढूँढने के लिए आप चाहें तो कैरियर काउंसलर की मदद ले सकते हैं हालांकि इनका मुख्य काम आपको जॉब ढूँढने के लिए प्रेरित करना होता है। लेकिन फिर भी यदि व्यक्ति जॉब ढूंढ ढूंढ कर थक गया हो या बार बार इंटरव्यू में फेल हो जाता है तो स्वाभाविक है की उसके मन में निराशा ने जन्म ले लिया होगा। ऐसे व्यक्तियों को कैरियर काउंसलर की मदद लेनी चाहिए ताकि उनमें जॉब ढूँढने के प्रति दुबारा से उर्जा प्रज्वलित हो सके। इसके अलावा व्यक्ति को उस क्षेत्र में स्थित एम्प्लॉयमेंट एक्सचेंज में भी अपना नाम दर्ज करा लेना चाहिए। और व्यक्ति चाहे तो जॉब ढूँढने के लिए कॉलेज के प्लेसमेंट सेल, पब्लिक लाइब्रेरी इत्यादि की भी मदद ले सकता है।     

6. इन्टरनेट पर सर्च करें:

वर्तमान में लोग किसी भी समस्या का समाधान पाने के लिए इन्टरनेट का इस्तेमाल तो करते ही करते हैं इसलिए जैसे आप कोई रेसिपी जानने, खरीदारी करने इत्यादि के लिए इन्टरनेट का इस्तेमाल करते हैं। ठीक उसी प्रकार नौकरी ढूँढने के लिए भी सर्च इंजन की मदद ले सकते हैं। इसमें जिस भी कीवर्ड  का आप इस्तेमाल करते हैं उसके बेस्ट परिणाम पहले पेज पर ही दिखाई देते हैं। लेकिन आप चाहें तो अन्य पेज के परिणाम जानने के लिए भी आगे बढ़ सकते हैं।    

7. नजदीकी जॉब कंसल्टेंसी एवं प्लेसमेंट एजेंसी से संपर्क करें:

भारत में जॉब ढूँढने का यह एक पारम्परिक तरीका है जो अब भी बेहद प्रभावशाली है, जी हाँ दोस्तो कम्पनियाँ अपनी कम्पनी में योग्य कर्मचारियों की नियुक्तियाँ करने के लिए किसी प्लेसमेंट एजेंसी या जॉब कंसल्टेंसी फर्म से संपर्क करती हैं। जिनका काम कम्पनियों में इंटरव्यू देने के लिए योग्य कर्मचारी भेजने का होता है। कभी कभी कम्पनियों द्वारा इन्हें बड़ी तादात में एक साथ कर्मचारियों की नियुक्ति करने की जिम्मेदारी दी होती है, इस स्थिति में कम्पनी द्वारा कुछ औपचारिकतायें पूरी कर लेने के बाद व्यक्ति को नौकरी दे दी जाती है । लेकिन नौकरी ढूँढने का यह तरीका ज्यादातर श्रमिक वर्ग के लिए ज्यादा प्रभावी है।  

8. रेफेरेंस के माध्यम से जॉब पायें:

वर्तमान में योग्य कर्मचारियों की प्राप्ति के लिए अधिकतर कंपनियों ने अपना रेफ्फरल कार्यक्रम शुरू किया है। इस कार्यक्रम के तहत कंपनी में कोई वेकेंसी निकलने पर, यदि कंपनी का कोई मौजूदा कर्मचारी किसी व्यक्ति का रेफरेंस देता है और वह व्यक्ति चयनित हो जाता है। तो इस स्थिति में कम्पनी उस मौजूदा कर्मचारी को कुछ प्रोत्साहन राशि देती है। यही कारण है की जिस कंपनी में नियुक्तियाँ निकलती है उस कम्पनी के मौजूदा कर्मचारी अपने जान पहचान में उस पोस्ट के लिए योग्य व्यक्तियों की तलाश शुरू कर देते हैं। इसलिए ऐसे दोस्त जो पहले से नौकरी कर रहे हैं, आपके सीनियर्स जो कार्यरत हो से खुद के लिए जॉब ढूँढने की इच्छा व्यक्त करें। यह बिलकुल न सोचें की आप उन्हें परेशान कर रहे हैं बल्कि आपको जॉब दिलाकर उनकी भी कमाई हो सकती है।

नौकरी ढूँढने के उपर्युक्त तरीकों के अलावा कुछ और तरीके जैसे विभिन्न कम्पनियों के कैरियर पेज पर जाकर चेक करना, सहकर्मियों या सहपाठियों के साथ टच में रहना, जॉब फेयर अटेंड करना, समाचार पत्रों पर नजर बनाये रखना इत्यादि भी हैं। इसलिए योग्य व्यक्ति के लिए बेरोजगारी के बावजूद भी नौकरी ढूंढना एवं पाना दोनों आसान हो सकते हैं।

यह भी पढ़ें:

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *