कार धोने का व्यापार कैसे शुरू करें How to start car wash business in hindi

Car wash business का हिन्दी में अर्थ कार धोने के व्यापार से लगाया जा सकता है वर्तमान समय में जब सब कुछ सम्भावित तौर पर बेहद तेज गति से चल रहा है तो इस स्थिति में कोई भी कार का मालिक अपनी कार किसी पेशेवर व्यक्ति से ही धुलवाना पसंद करता है | क्योंकि साधारण व्यक्ति की तुलना में पेशेवर व्यक्ति को Car wash करने में समय भी कम लगता है और कार की धुलाई भी अच्छे ढंग से हो जाती है | हालांकि हम यह बिलकुल नहीं कहेंगे की इंडिया में कार के मालिक अपनी कार की रोज धुलाई करने को आतुर रहते हैं बल्कि हफ्ते दो हफ्ते में या फिर जब कार के पहिये एवं अन्य पार्ट्स अधिक गंदे हो जाएँ तभी लोग कार की धुलाई करवाना पसंद करते हैं | लेकिन इन सब स्थितियों के बावजूद भी Car wash business एक सफलतम बिज़नेस के रूप में किया जा सकता है | क्योंकि आने वाला समय स्वच्छता पसंद लोगों का है और अपनी कार को साफ़ एवं स्वच्छ रखना लोगों की प्राथमिकताओं में से एक हो सकता है |

Car wash business

कार धोने का व्यापार क्या है (What is Car Wash business in Hindi):

जैसा की हम सबको विदित है एक शहर में हर रोज हजारों लाखों कारें सड़कों पर दौड़ती नज़र आती है इसके बावजूद भी हर साल लाखों लोगों द्वारा नई कारें खरीदी जाती हैं | जब कार नई होती है तो वह दिखने में स्वच्छ एवं आकर्षक होती है उसके बाद सड़कों पर चलते हुए वह एवं उसके कुछ हिस्से बेहद गंदे हो जाते हैं जिन्हें सिर्फ धुलाई से ही साफ़ किया जा सकता है | ऐसे में उस कार मालिक का रुख Car wash business कर रहे उद्यमियों द्वारा दी जाने वाली सर्विस की तरफ होता है | कहने का आशय यह है की कारों की धुलाई का काम ही कार धोने का व्यापार कहलाता है | जिसमे लोगों की कार धोने के बदले उद्यमी की कमाई हो रही होती है | हालांकि कार की धुलाई, सफाई, सुखाना और पोलिश करना इत्यादि सेवाएँ Car wash business कर रहे उद्यमी द्वारा अपने ग्राहकों को दिए जाते हैं | लेकिन किसी भी प्रकार का रिपेयरिंग एवं  वाहन के पार्ट को यहाँ पर नहीं बदला जाता है | इस व्यापार का प्रारूप स्वचालित यानिकी आटोमेटिक एवं मैन्युअल हो सकता है | आटोमेटिक इकाई शुरू करने के लिए उद्यमी को मैन्युअल इकाई की तुलना में अधिक टूल, तकनीक एवं उपकरण खरीदने पड़ सकते हैं | लेकिन कार धोने का व्यापार किसी भी प्रारूप को ध्यान में रखकर किया जाय इसमें गर्म पानी, हल्के दबाव, भाप, डिटर्जेंट और तरल मोम की आवश्यकता तो होती ही होती है |

कार वाश बिज़नेस में कौन होंगे मुख्य ग्राहक:

Car wash business यानिकी कार धोने के व्यापार में उद्यमी के मुख्य ग्राहक के तौर पर कार के मालिक ही होते हैं | हालांकि इंडिया में कुछ साल पहले तक की बात करें तो कार धोने का यह व्यापार केवल समाज के उच्च वर्गों तक ही सिमित था अर्थात कुछ शानदार कारों के मालिक ही अपनी कारों की धुलाई पेशेवर व्यक्तियों से कराते थे | लेकिन वर्तमान में मध्यमवर्गीय परिवारों के पास भी न सिर्फ कार है बल्कि वे अपनी कार को सुरक्षित एवं स्वच्छ रखने के लिए एवं ब्रांड नई दिखाने के लिए हर एक साधन को अपनाते हैं | इसलिए संभावित तौर पर यह कहा जा सकता है की हर वो आदमी जिसके पास कार है और वह अपनी कार से प्यार करता है Car Wash business करने वाले उद्यमी का तब तक ग्राहक रह सकता है जब तक उसे उच्च श्रेणी की सेवा उचित दामों या सस्ते दामों में मिल रही हो | व्यापार से कमाई की संभावना को बढ़ाने के लिए उद्यमी अपने सेण्टर को किसी पॉश आवासीय एरिया या जहाँ अधिकतर समय वाहनों की आवाजाही होती हो वहां खोल सकता है | उद्यमी के मुख्य ग्राहक के तौर पर उस एरिया में स्थित कार मालिक होते हैं |

इंडिया में Car Wash Business किस किस तरह से शुरू किया जा सकता है?

इंडिया में कार धोने का व्यापार यानिकी Car Wash Business को मुख्य रूप से दो तरह से किया जा सकता है जिनका संक्षिप्त वर्णन कुछ इस प्रकार से है |

  1. लोगों के घरों में यह सर्विस देना(Door to Door Service):

इस तरह का Car Wash business शुरू करने के लिए उद्यमी को अपना बिज़नेस विभिन्न बिज़नेस Entities में से किसी एक का चयन करके कंपनी के तौर पर रजिस्टर करना होगा | उसके बाद अपने बिज़नेस के लिए कुछ पार्ट टाइम एवं कुछ फुल टाइम स्टाफ भी नियुक्त करना होगा | इस तरह के व्यापार में उद्यमी द्वारा कार धोने या सफाई की फैसिलिटी कार मालिकों को उनके घरों में अपने आदमी भेजकर दी जाती है | यह काम मुख्य रूप से सुबह सुबह का होता है इसलिए उद्यमी को इसी आधार पर स्टाफ की नियुक्ति करनी होगी | नियुक्ति के बाद उनका पुलिस वेरिफिकेशन इत्यादि कराना बेहद जरुरी होता है और उन्हें आइडेंटिटी कार्ड देना भी जरुरी होता है | कार मालिक व्यक्तिगत व्यक्तियों की तुलना में Car wash Company की सर्विस लेना इसलिए अधिक पसंद करेंगे क्योंकि कंपनी द्वारा भेजे गए कर्मचारी पुलिस एवं कंपनी से सत्यापित होंगे | वैसे देखा जाय तो अभी तक अधिकतर भारतीय कार के मालिक अपनी कार को किसी Car Wash Center में ले जाने के आदि नहीं है इसलिए उन्हें यह सर्विस घर पर ही देकर उद्यमी अपनी कमाई कर सकता है | इस तरह का Car wash Business का यह भी फायदा होता है की इसमें न तो उतनी जगह चाहिए होती है और न ही भारी भरकम सेटअप |

  1. सेण्टर या आउटलेट खोलना (Car Wash Center):

Car wash center खोलना उपर्युक्त बताये गए इस बिज़नेस के प्रकार से महंगा पड़ सकता है क्योंकि इसमें उद्यमी को न सिर्फ उपयुक्त जगह चाहिये होती है जहाँ पर कारों की धुलाई हो सके | बल्कि विभिन्न प्रकार के टूल, उपकरण, मशीन एवं तकनीकी ज्ञान का होना भी आवश्यक होता है | इन सबके अलावा उद्यमी को अनेकों परमिशन जैसे कमर्शियल इकाई स्थापित करने के लिए स्वीकृति, केमिकल को उपयोग में लाने की अनुमति इत्यादि भी लेनी पड़ सकती हैं | उद्यमी चाहे तो किसी प्रसिद्ध Car Wash company की फ्रैंचाइज़ी भी ले सकता है |

कार धोने का व्यापार कैसे शुरू करें (HOW to start car wash business in Hindi):

जैसा की हर बिज़नेस के साथ होता है कोई भी बिज़नेस अपने आप सफल नहीं हो जाता है बल्कि हर सफल बिज़नेस के पीछे उसके संस्थापकों की समझ, व्यापारिक रणनीति, एवं उनके द्वारा लिए गए निर्णय शामिल होते हैं | इसलिए Car Wash Business को शुरू करने वाले उद्यमी द्वारा व्यापार शुरू करने से पहले बिज़नेस की योजना बना लेनी चाहिए | इसके अलावा अपना कार धोने का व्यापार शुरू करने के लिए उद्यमी को इस बात का भी निर्णय लेना होता है की वह इस व्यापार का कौन सा प्रारूप जैसे डोर टू डोर सर्विस, सेण्टर खोलना या फ्रैंचाइज़ी में से क्या शुरू करना चाहता है | इस बिज़नेस में लोकेशन की भी अहम भूमिका होती है इसलिए उद्यमी को एक ऐसे एरिया का चयन करना चाहिए जहाँ कार मालिकों की संख्या अधिक हो | एक अच्छी बिज़नेस लोकेशन का चुनाव कैसे करें के लिए पढ़ें |  उद्यमी को चाहिए की वह चयनित एरिया में अपने संभावित बाजार का अनुमान लगाने की कोशिश करे और जल्दबाजी में निर्णय लेने से बचे | यदि उस एरिया में पहले से ही कोई Car wash business कर रहा हो तो उद्यमी को इस बात की भी पड़ताल करनी होगी की क्या उसकी सर्विस से ग्राहक खुश हैं यदि नहीं तो क्यों ताकि उद्यमी वह गलती न करे जो पहले वाले ने की हो |

कार धोने के व्यापार का रजिस्ट्रेशन:

यदि उद्यमी द्वारा Car wash Business का डोर टू डोर प्रारूप चयन किया जा रहा है तो उद्यमी को अपना व्यापार एक कंपनी के तौर पर पंजीकृत करना पड़ सकता है | इसके लिए उद्यमी इन बिज़नेस Entities में से किसी एक का चयन कर सकता है और स्थानीय प्राधिकरण से भी लाइसेंस इत्यादि की आवश्यकता हो सकती है | इन सबके अलावा बिज़नेस ग्रो करने के साथ साथ वर्तमान प्रणाली के तहत टैक्स रजिस्ट्रेशन की भी आवश्यकता हो सकती है | Car wash center के लिए भी स्थानीय प्राधिकरण की स्वीकृति की आवश्यकता हो सकती है | हालांकि प्रत्येक शहर में नियमों एवं दिशानिर्देशों का अपना एक व्यक्तिगत सेट होता है जो किसी भी उद्यमी को उनके अनुरूप ही एक जिम्मेदार नागरिक की तरह व्यवहार करने को मजबूर करते हैं | इसलिए उद्यमी को उस शहर विशेस में यह भी पता करना होगा की क्या वहाँ अपशिष्ट जल के लिए स्वच्छता सीवेज, पानी के अधिकतम उपयोग की सीमायें, मूल्य निर्धारण  सम्बन्धी कोई विशेष नियम तो नहीं है |

कितनी हो सकती है कमाई:

Car wash business से कितनी कमाई होगी यह सब उद्यमी के पास आने वाले ग्राहकों की संख्या पर निर्भर करता है | और ग्राहकों की संख्या बिज़नेस लोकेशन, उद्यमी द्वारा दी जाने वाली सेवा की गुणवत्ता, ग्राहकों के प्रति उद्यमी का व्यवहार, मार्केटिंग रणनीति, उद्यमी द्वारा अपनाई जाने वाली मार्केटिंग तकनीक इत्यादि पर निर्भर करती है | यदि आपकी बिज़नेस की योजना एकदम सही है और आप उसी को आधार मानकर कार्यान्वित हैं तो आपकी कमाई होने के आसार अधिक हैं | यदि उद्यमी के पास शुरू में निवेश करने के लिए ज्यादा पैसे नहीं हैं तब भी उद्यमी साधारण सी Car Wash and Bike Wash service लोगों को दे सकता है और धीरे धीरे इसे विस्तारित कर सकता है |

कार धोने के व्यापार की खामियां:

इंडिया में इस बिज़नेस की कुछ खामियां अर्थात कमियां हैं जिनकी लिस्ट कुछ इस प्रकार से है |

  • यद्यपि इंडिया में बढ़ते समय के साथ कार मालिकों की संख्या में तो वृद्धि हो रही है लेकिन Car wash Business के लिए उपयुक्त मात्रा में ग्राहक मिल पाना हर शहर एवं लोकेशन पर संभव नहीं है | कहने का आशय यह है की हर लोकेशन पर ऐसे ग्राहकों की संख्या पर्याप्त नहीं है जो उद्यमी की आजीविका चलाने के लायक कमाई कर पाने में समर्थ हो |
  • कार धोने की फैसिलिटी घर पर अपने आदमी भेजकर भी दी जा सकती है लेकिन इसमें भी अधिकतर लोग जो यह खर्चा वहन कर सकते हैं वे या तो अपने घरेलू नौकर से ही यह काम करा लेते हैं या फिर किसी व्यक्तिगत व्यक्ति को इस काम के लिए पकड़ते हैं | और बाकी लोग अपने घर पर खुद भी अपने कार की सफाई धुलाई करने लगते हैं |
  • कार धुलाई व्यापार अर्थात Car Wash Business का एक नकरात्मक पहलू यह भी है लोग अपनी गाड़ी की धुलाई तभी जरुरी समझते हैं जब उसके पहियों एवं अन्य भागों पर मिटटी चढ़ जाती है क्योंकि बाकी सफाई तो वे खुद या उनका नियमित कार सफाई करने वाला भी कर देता है | और पहियों एवं गाड़ी के अन्य भागों पर मिटटी चढ़ना मौसम पर निर्भर करता है | इसलिए इस प्रकार के व्यापार से साल के बारह महीने कमाई कर पाना थोड़ा मुश्किल है |
  • धुलाई मशीनों एवं उपकरणों का खराब हो जाना भी इस व्यापार की कमियों में शामिल है खास तौर पर जब ग्राहक सर पर खड़ा हो और मशीन खराब हो जाय तो इस स्थिति में उद्यमी की कमाई पर तो फर्क पड़ता ही है साथ में उसकी साख पर भी फर्क पड़ता है जिसकी वजह से उसके नियमित ग्राहक भी उससे दूर जा सकते हैं |

यह भी पढ़ें:

पुरानी कारों को निरीक्षण करने का बिज़नेस कैसे शुरू करें?

कार उपकरणों (Accessories) का व्यापार कैसे शुरू करें?

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

3 thoughts on “कार धोने का व्यापार कैसे शुरू करें How to start car wash business in hindi

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *