Carpet Cleaning Business Plan. कार्पेट साफ करने का व्यवसाय कैसे शुरू करें ।

यदि आप खुद का बिज़नेस शुरू करके कमाई करना चाहते हैं या बॉस फ्री लाइफ जीना चाहते हैं तो आप अपने खुद का Carpet Cleaning Business शुरू कर सकते हैं । ऐसा इसलिए क्योंकि बड़े बड़े कार्यालयों एवं घरों में कार्पेट का उपयोग हुआ होता है इसलिए इनकी सफाई के लिए उन्हें किसी ऐसी कंपनी या व्यक्ति की आवश्यकता होती है जो Carpet Cleaning का काम कर रहे हों । जब भी कोई व्यक्ति बिज़नेस करने की सोचता है तो वहाँ पर दो प्रमुख घटकों की आवश्यकता होती है पहला घटक यह है की उद्यमी के पास कुछ उत्पाद या सेवा बेचने के लिए होनी चाहिए दूसरा यह की उस उत्पाद या सेवा को खरीदने के लिए ग्राहक मौजूद होने चाहिए। कोई भी बिज़नेस इन्हीं दो प्रमुख घटकों के बीच कार्य करता है। जहाँ तक Carpet Cleaning की बात है यह कोई राकेट साइंस तो नहीं है लेकिन इस प्रकार के बिज़नेस शुरू करने के लिए कार्पेट की सामान्य सफाई, दाग धब्बे हटाने एवं इस प्रक्रिया के दौरान इस्तेमाल में लाये जाने वाले सफाई उपकरणों की जानकारी का होना अत्यंत आवश्यक है। कार्पेट की सफाई को मुख्य तौर पर तीन भागों ड्राई फोम कार्पेट क्लीनिंग, लिक्विड एक्सट्रैक्शन कार्पेट क्लीनिंग एवं हाइब्रिड लिक्विड एक्सट्रैक्शन में विभाजित किया जा सकता है। अधिकतर लोग जो इस बिज़नेस में संलिप्त हैं वे लिक्विड एक्सट्रैक्शन कार्पेट क्लीनिंग विधि का इस्तेमाल अधिक करते हैं क्योंकि यह अन्य विधियों से कम लागत वाली एवं अच्छी सफाई करने वाली विधि है।

Carpet-Cleaning-Business

Carpet Cleaning Business क्यों शुरू करना चाहिए

हालांकि भारतवर्ष में अभी इस तरह का यह बिज़नेस हर भौगौलिक क्षेत्र में नहीं किया जा सकता इसका कारण यह है की अभी कार्पेट का इस्तेमाल का बोलबाला नहीं है। कहने का अभिप्राय यह है की कुछ गिने चुने महानगरों जहाँ औद्यौगिक इकाइयों एवं कार्यालयों की भरमार हो में Carpet Cleaning Business शुरू करना कमाई की दृष्टी से लाभकारी हो सकता है । एक ऐसा क्षेत्र जहाँ के लोग अपने घरों या कार्यालयों में कार्पेट का इस्तेमाल अधिक करते हों में इस तरह का बिज़नेस किया जा सकता है । Carpet Cleaning Business शुरू करने से पहले जिस क्षेत्र में आप यह बिज़नेस शुरू करना चाहते हैं में यह पता करने का प्रयास करें की उस एरिया विशेष में ऐसे कितने लोग हैं जिनके घरों एवं कार्यालयों में कार्पेट का इस्तेमाल होता है और उन्हें इसे अच्छी तरह साफ़ करने की आवश्यकता कब होती है । जब आपको यह पता लग जायेगा तो आप इस बात से भी अवश्य परिचित हो जायेंगे की आपको कालीन सफाई का कार्य क्यों करना चाहिए।   

कार्पेट साफ करने का व्यापार कैसे शुरू करें (How to Start Carpet Cleaning Business ):

कार्पेट साफ़ करने का व्यापार शुरू करने के लिए उद्यमी को अनेकों कदम उठाने की आवश्यकता हो सकती है लेकिन सबसे पहले उद्यमी को इस बात का निर्णय लेना होगा की वह Carpet Cleaning Business को किसी प्रसिद्ध कंपनी की फ्रैंचाइज़ी लेकर शुरू करना चाहता है। या फिर खुद के स्वामित्व तले इस बिज़नेस को शुरू करना चाहता है। तो आइये जानते हैं की कैसे कोई व्यक्ति इस बिज़नेस को शुरू कर सकता है ।

1. फ्रैंचाइजी या खुद का बिजनेस :

कोई भी व्यक्ति जो Carpet Cleaning Business शुरू करना चाहता है को सर्वप्रथम खुद से एक प्रश्न करना होगा की वह यह बिज़नेस फ्रैंचाइज़ी लेकर शुरू करना चाहता है या फिर वह खुद का स्वामित्व देकर इस व्यापार को शुरू करना चाहता है। फ्रैंचाइज़ी का विकल्प ऐसे लोगों के लिए बेहतर है जो यह चाहते हैं की उनके बिज़नेस में शुरुआत से लेकर ही किसी प्रकार की कोई गलतियाँ न हों जो अक्सर एक बिज़नेस को स्टार्ट करने में आती हैं। लेकिन यदि उद्यमी चाहता है की बिज़नेस के सभी अवयवों पर उसका नियंत्रण रहे और उसके द्वारा कमाया हुआ लाभ हिस्सों में न विभाजित हो तो उसे खुद के स्वामित्व के तहत  यह बिज़नेस शुरू करना चाहिए ।

2. बिजनेस प्लान बनाइये:

Carpet Cleaning Business शुरू करने का इच्छुक उद्यमी जब इस बात का निर्णय ले लेता है की वह यह व्यापार स्वतंत्र इकाई के तौर पर शुरू करेगा या पहले से चल रहे बिज़नेस की फ्रैंचाइज़ी लेकर करेगा। उसके बाद उद्यमी का अगला कदम एक सरल सा बिज़नेस प्लान बनाने का होना चाहिए जिसका वह आसानी से अनुसरण कर सके। हालांकि एक प्रभावी बिज़नेस प्लान में व्यापार के हर एक पहलू का बारीकी से अध्यन करके लक्ष्य इत्यादि निर्धारित किये जाते हैं। लेकिन इस तरह के व्यापार को शुरू करने के लिए यदि उद्यमी इतने विस्तृत तौर पर बिज़नेस की योजना नहीं भी बनाता है तो भी चलेगा। फिर भी उद्यमी को एक ऐसे बिज़नेस प्लान की आवश्यकता हो सकती है जिसमें कम से कम इन निम्न प्रश्नों का उत्तर शामिल हो ।

  • पहला प्रश्न यह की मेरा बिज़नेस लाभ कैसे अर्जित करेगा अर्थात यह बिज़नेस करके मेरी कमाई कैसे होगी?
  • मेरे बिज़नेस के ग्राहक के तौर पर कौन से लोग होंगे अर्थात मेरे टारगेट कस्टमर कौन होंगे?
  • मैं अपने टारगेट कस्टमर को अपने बिज़नेस के साथ कैसे जोड़ पाउँगा?
  • मेरे अल्प अवधि एवं दीर्घ अवधि के फाइनेंसियल लक्ष्य क्या क्या होंगे?

   ध्यान रहे उद्यमी को अपने Carpet Cleaning Business के वित्तीय रिकॉर्ड ठीक ढंग से मेन्टेन करने अति आवश्यक हैं । क्योंकि विस्तृत वित्तीय रिकॉर्ड से उद्यमी नकदी प्रवाह एवं कमाई के बारे में जान पायेगा जो उसके बिज़नेस को सफल बनाने में अहम् योगदान देंगे। चूँकि किसी भी बिज़नेस को  सफलतापूर्वक चलाने के लिए वित्त की आवश्यकता होती है। और एक अच्छा एवं व्यवहारिक बिज़नेस प्लान उद्यमी को बैंक इत्यादि वित्तीय संस्थानों से ऋण दिलाने में भी मदद कर सकता है।   

3. बिजनेस स्टार्ट करने के लिए जगह का चुनाव:

Carpet Cleaning Business शुरू करने के लिए उद्यमी का अगला कदम जगह का चुनाव करने का होना चाहिए यद्यपि शुरूआती दौर में उद्यमी चाहे तो इस तरह के इस व्यापार को घर से भी शुरू कर सकता है। लेकिन जैसे जैसे उसका बिज़नेस बढ़ता जाएगा वैसे वैसे उसको अपने उपकरणों इत्यादि के लिए कोई स्टोर इत्यादि किराये पर लेना पड़ सकता है। इसलिए जगह का चुनाव करते समय उद्यमी को यह तय करना होगा की क्या वह यह बिज़नेस घर से चला पायेगा यदि नहीं तो फिर जगह किराये पर लेना उचित होगा।   

4. आवश्यक लाइसेंस एवं पंजीकरण:

भारत में इस तरह का बिज़नेस छोटे स्तर पर करने के लिए किसी प्रकार के लाइसेंस एवं पंजीकरण की बाध्यता नहीं है। लेकिन चूँकि इस बिज़नेस में उद्यमी के ग्राहक के तौर पर घरों के अलावा बड़े छोटे कार्यालय भी हो सकते हैं। और कार्यालयों में अक्सर देखा जाता है की वे उन्हीं लोगों से उत्पाद या सेवा लेना पसंद करते हैं जिनका ढंग से टैक्स रजिस्ट्रेशन इत्यादि हुआ हो। इसलिए उद्यमी चाहे तो अपने बिज़नेस को proprietorship इकाई के तौर पर स्थापित करके, टैक्स रजिस्ट्रेशन, बैंक खाता, पैन कार्ड इत्यादि सभी कुछ अपने बिज़नेस के नाम से बना सकता है।     

5. सफाई के लिए आवश्यक मशीनरी एवं उपकरण खरीदें:

हालांकि Carpet Cleaning के लिए बाजार में तरह तरह की मशीनरी एवं उपकरण विद्यमान हैं इसलिए उद्यमी अपने बजट एवं सुविधा के अनुसार इनका चयन कर सकता है। लेकिन ऐसे मशीनरी एवं उपकरण जिन्हें आसानी से क्लाइंट की साईट पर ले जाया सके उद्यमी के लिए शुरूआती दौर में बेहतर साबित हो सकते हैं। इनमें कच्चे माल के तौर पर कुछ केमिकल एवं डिटर्जेंट पाउडर इत्यादि का इस्तेमाल हो सकता है । इसलिए उद्यमी को मशीनरी एवं उपकरणों की खरीदारी करते वक्त उस विक्रेता से इनमें इस्तेमाल में लाये जाने वाले कच्चे माल के बारे में भी अवश्य जानना चाहिए।   

6. कर्मचारी नियुक्त करें:

Carpet Cleaning Business शुरू कर रहे उद्यमी को चाहे वह कितने ही छोटे स्तर से इसकी शुरुआत करे, फिर भी दो तीन लोगों की आवश्यकता हो ही हो सकती है। क्योंकि यह एक श्रम प्रधान बिज़नेस है इसलिए इसे शुरू करने में श्रमिकों की नितांत आवश्यकता है। लेकिन शुरूआती दौर में उद्यमी को हर रोज काम मिलना मुश्किल है इसलिए उद्यमी चाहे तो श्रमिकों को स्थायी रखने की बजाय उन्हें तब मजदूरी पर रख सकता है जब उसे काम करवाने किसी क्लाइंट की साईट पर जाना हो। क्योंकि इसमें अधिक कौशल की आवश्यकता नहीं होती है इस काम को कुछ मिनटों में ही किसी को समझाया जा सकता है जो मशीनों एवं उपकरणों की मदद से कार्पेट की सफाई करने में सक्षम हो पायेगा। कहने का आशय यह है की यदि उद्यमी का बजट स्थायी रूप से कर्मचारियों को नियुक्त करने की आज्ञा देता हो तो उद्यमी शुरूआती दौर में 2-3 कर्मचारियों को नियुक्त कर सकता है। लेकिन यदि बजट इस बात की आज्ञा नहीं देता हो तो वह काम मिलने पर श्रमिकों को दैनिक मजदूरी पर भी रख सकता है।      

ग्राहक बनायें और कमायें:

जैसा की हम सबको विदित है की Carpet का इस्तेमाल हर घर या कार्यालय में नहीं होता है बल्कि कुछ घर एवं कार्यालय ही ऐसे होते हैं जहाँ कार्पेट का इस्तेमाल हुआ होता है। ऐसे में उद्यमी उस क्षेत्र विशेष में उन घरों या कार्यलयों की पहचान आराम से कर सकता है जिनमें कार्पेट का इस्तेमाल हुआ हो। कहने का अभिप्राय यह है की Carpet Cleaning Business में उद्यमी के टारगेट ग्राहक के तौर पर सिर्फ वही लोग रहने वाले हैं जिनके घरों या कार्यालयों में कार्पेट का इस्तेमाल होता हो। इसलिए इन घरों या कार्यालयों की पहचान करके उद्यमी को इनके संपर्क में रहना चाहिए और इन तक अनेकों मार्केटिंग तकनीक के जरिये अपनी पहुँच बनाने की कोशिश करनी चाहिए। उद्यमी जितने अधिक ग्राहकों को अपनी सेवा बेच पाने में सफल हो जायेगा वह उतनी अधिक कमाई कर पाने में भी सफल होगा।

यह भी पढ़ें

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *