Cartridge Refilling Business | कार्ट्रिज में इंक भरने का व्यापार कैसे शुरू करें?

औद्योगिक क्षेत्र के विकास एवं कार्यालयों की बढती हुई संख्या को देखते हुए Cartridge Refilling business शुरू करना कमाई की दृष्टी से अत्यंत लाभकारी हो सकता है | Cartridges से शायद आप सभी लोग अच्छी तरह परिचित होंगे इनका उपयोग प्रिंटर एवं फोटोकॉपी करने वाली मशीनों में किया जाता है | इसलिए हर छोटे बड़े कार्यालय में इनकी आवश्यकता तो होती ही होती है, साथ में गली, मुहल्लों, सड़कों पर उपलब्ध इस प्रकार की दुकानों में भी इनकी आवश्यकता होती है | व्यापारिक संस्थानों एवं व्यक्तिगत व्यक्तियों की इन्हीं आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर कोई भी व्यक्ति अपनी कमाई करने के लिए Cartridge Refilling business शुरू कर सकता है | कार्ट्रिज रिफिलिंग एक ऐसा उद्योग है, जो इंडिया में भी धीरे धीरे उभर रहा है, चूँकि यह पर्यावरण के अनुकूल व्यापार है,  और इसे सबसे अच्छा, उत्कृष्ट लाभ प्रदान करने वाला व्यापार कहा जा सकता है |

cartridge refilling business

Cartridge refilling business क्या है:

Cartridge को प्रिंटर एवं फोटोकॉपी मशीनों का एक अवयव कहा जा सकता है जिसमे स्याही अर्थात इंक भरी हुई होती है | और कार्ट्रिज में भरी स्याही की एक निश्चित क्षमता होती है अर्थात एक निश्चित मात्रा में पेज का प्रिंटआउट या कॉपी करने के बाद कार्ट्रिज की स्याही खत्म हो जाती है | इस स्याही को भरने एवं कार्ट्रिज के दुबारा उपयोग का काम ही Cartridge Refilling Business के अंतर्गत किया जाता है | कहने का आशय यह है की यह व्यापार Cartridge की आवश्यकता से जुड़ा हुआ है इसलिए इसमें उद्यमी का संपर्क कार्यालयों में काम करने वाले लोगों एवं सड़क किनारे उपलब्ध फोटोकॉपी सेण्टर के मालिकों से अधिक होने की संभावना है | नए Cartridge की कीमत बहुत अधिक होने के कारण ग्राहकों को भी Cartridge refill कराने में बहुत अधिक फायदा होता है | हालांकि इंकजेट एवं टोनर दोनों प्रकार के Cartridges की Refilling संभव है | लेकिन इंकजेट के मुकाबले टोनर को रिफिल करना अधिक आसान होता है | कहा यह जाता है की एक खाली टोनर Cartridge को तीन चार बार दुबारा उपयोग में लाया जा सकता है | वर्तमान में Cartridge refilling business तेजी से बढ़ता हुआ उद्योग है जिसमे कमाई करवाने की अपार संभावनाएं छिपी हुई हैं |

Cartridge refilling business कैसे शुरू करें:

Cartridge refilling business शुरू करने का इच्छुक व्यक्ति इस व्यापार को शुरूआती दौर में घर से भी शुरू कर सकता है लेकिन चूँकि अधिकतर तौर पर उद्यमी के ग्राहक के तौर पर कार्यालय से जुड़े कर्मचारी एवं कंप्यूटर सेण्टर, फोटोकॉपी सेण्टर इत्यादि रहने वाले हैं | और कोई व्यक्तिगत व्यक्ति तो बिना इनवॉइस के काम चला भी ले, लेकिन कार्यालयों और अन्य कामकाजी लोगों को इसका इनवॉइस चाहिए हो सकता है इसलिए उद्यमी को वर्तमान कर प्रणाली के अंतर्गत कर पंजीकरण अर्थात जीएसटी रजिस्ट्रेशन शुरुआत में ही करा लेना चाहिए ताकि कोई ग्राहक इस वजह से उद्यमी की सेवा लेने से हिचके नहीं | कहने का आशय यह है की उद्यमी Cartridge refilling business को छोटे स्तर से शुरू करके बाद में इसे विस्तृत कर सकता है | उद्यमी चाहे तो किसी प्रचलित ब्रांड की फ्रैंचाइज़ी लेकर भी इस व्यापार में प्रवेश कर सकता है | फ्रैंचाइज़ी व्यापार में जहाँ उद्यमी को हर तरह की मदद जैसे तकनिकी, ऑपरेशनल, ब्रांडिंग मदद इत्यादि कंपनी से मिलेगी और साथ में कमीशन के माध्यम से उद्यमी की कमाई होगी | जबकि अपने आप व्यापार शुरू करने में लाभ अधिक होगा तो वहीँ जिम्मेदारी भी अधिक होगी इस स्थिति में व्यापार सम्बन्धी हर एक चीज उद्यमी को खुद ही प्रबंधित करनी होती है |

कार्ट्रिज रिफलिंग बिज़नेस के लिए आवश्यक स्किल:

बहुत सारे बिज़नेस ऐसे भी होते हैं जिन्हें कोई भी स्टार्ट कर सकता है अर्थात उन बिज़नेस के लिए किसी ख़ास स्किल की आवश्यकता नहीं होती है | लेकिन दुर्भाग्यवश यह Cartridge refilling business उन बिज़नेस की लिस्ट में सम्मिलित नहीं है | कहने का अभिप्राय यह है की यह व्यापार शुरू करने के लिए विभिन्न प्रकार के प्रिंटर कार्ट्रिज, टोनर एवं इंकजेट इत्यादि की जानकारी होना बेहद महत्वपूर्ण है | चूँकि विभिन्न प्रिंटर एवं फोटोकॉपी मशीनों में लगने वाली Cartridge अनेकों आकार एवं प्रकार में आती हैं इसलिए हर किसी की रिफिल करने की तकनीक अलग अलग होती है | इसलिए इस तरह का व्यापार शुरू करने वाले उद्यमी को अलग अलग Cartridge में इंक इंजेक्ट करने की कला सीखनी होती है | जिस व्यक्ति को इस क्षेत्र का अनुभव हो वह Cartridge refilling business कर सकता है और इच्छुक व्यक्ति एक्सपर्ट एवं इन्टरनेट पर उपलब्ध ऑनलाइन टुटोरिअल के माध्यम से भी इस व्यापार की तकनीक सीख सकता है |  यह व्यापार टेक्नोलॉजी से सम्बंधित है इसलिए उद्यमी को अपग्रेडेड प्रिंटर कार्ट्रिज से अपने आपको अपडेट रखना होगा |

व्यापार की योजना बनाना है जरुरी:

बिना योजना के कोई भी काम करने से उसकी सफलता के चांस कम होते हैं, इसलिए कोई भी महत्वपूर्ण कार्य करने से पहले उसकी योजना बनाना जरुरी है | व्यवसायिक भाषा में व्यापार की योजना को बिज़नेस प्लान कहते हैं | इसलिए इस बिज़नेस के लिए भी डिटेल में लिखा हुआ एक बिज़नेस प्लान होना जरुरी है | इसमें उद्यमी अपने Cartridge refilling business की मार्केटिंग रणनीति निर्धारित करेगा और यह भी उल्लेखित करेगा की उसके टारगेट कस्टमर कौन होंगे | उद्यमी को अपने व्यापार को शुरू करने वाली लागत की भी गणना योजना के तहत करनी होती है और साथ में अनुमानित लागत एवं व्यापार के लक्ष्यों का भी उल्लेखन जरुरी है | प्रभावी बिज़नेस प्लान कैसे बनायें के लिए यह पढ़ें |

लोकेशन का चयन एक महत्वपूर्ण कदम:

Cartridge Refilling Business ग्रामीण इलाकों में चलने वाला बिज़नेस बिलकुल नहीं है इसलिए भूलकर भी इस तरह के बिज़नेस को करने का जोखिम ग्रामीण इलाकों में नहीं लेना चाहिए | इस प्रकार का यह बिज़नेस मेट्रोपोलिटन शहरों एवं नगरीय, उपनगरीय क्षेत्रों में किया जा सकता है | ऐसे क्षेत्र जहाँ ऑफिस इत्यादि अधिक हों में इस प्रकार का बिज़नेस करना अत्यंत लाभकारी सिद्ध हो सकता है | अधिक से अधिक वाणज्यिक गतिविधियाँ वाले शहर में इस बिज़नेस की सफलता की अधिक संभावनाएं हैं | एक अच्छी बिज़नेस लोकेशन का चुनाव कैसे किया जाता है जानने के लिए पढ़ें |

आवश्यक मशीनरी उपकरण एवं कच्चा माल:

Cartridge Refilling Business शुरू करने के लिए उद्यमी को विभिन्न मशीनरी, उपकरणों एवं कच्चे माल की आवश्यकता हो सकती है | यदि कोई व्यक्ति यह व्यापार शुरू करना चाहता है तो उसे सीखना होगा की कैसे वह विभिन्न कार्ट्रिज में इंक इंजेक्ट कर सकता है | इसके लिए उद्यमी के पास विभिन्न उपकरण जैसे सिरंजी, हैण्ड ड्रिल, ग्लू गन, रिंच, इलेक्ट्रिकल टेप इत्यादि की आवश्यकता हो सकती है | अपने व्यापार के लिए उच्च गुणवत्तायुक्त उपकरण खरीदें | इसके अलावा Cartridge Refilling Business में उपयोग में लाये जाने वाले मुख्य कच्चे माल के तौर पर इंक एवं टोनर की आवश्यकता होती है | स्याही काले रंग के अलावा रंगीन भी हो सकती है | उद्यमी के पास थोड़े बहुत मात्रा में Cartridges के स्पेयर पार्ट्स भी होने जरुरी हैं ताकि रिप्लेसमेंट इत्यादि की आवश्यकता पड़ने पर वह उनको रिप्लेस कर सके |

अपने व्यापार को प्रमोट करें :

व्यापार चाहे कोई भी हो उसे प्रमोट करना बेहद जरुरी होता है इसलिए उद्यमी के लिए अपने Cartridge Refilling Business को भी प्रमोट करना जरुरी है | इसमें उद्यमी को ध्यान रखना होगा की प्रत्येक छोटे बड़े बिज़नेस हाउस, शैक्षणिक संस्थान, फैक्ट्री इत्यादि उसके ग्राहक हैं | उद्यमी को चाहिए की वह अपने बिज़नेस को प्रमोट करने के लिए ऑफलाइन मार्केटिंग टूल जैसे विजिटिंग कार्ड, ब्राऊचर, पम्पलेट इत्यादि बनाये और उन्हें अपने ग्राहकों में वितरित करे | थोक आर्डर इत्यादि पर अपने क्लाइंट को डिस्काउंट ऑफर करे और उन्हें डिलीवरी एवं पिक करने की भी सुविधा प्रदान करे | उद्यमी चाहे तो अपने बिज़नेस को प्रमोट करने के लिए इन मार्केटिंग टेकनीक का भी सहारा ले सकता है | वर्तमान में वर्डप्रेस के माध्यम से अपने बिज़नेस के लिए वेबसाइट बनाना बेहद आसान हो गया है, इसलिए उद्यमी चाहे तो अपनी एक व्यापारिक वेबसाइट बना सकता है और उसमे अपने संतुष्ट ग्राहकों से फीडबैक देने के लिए आग्रह कर सकता है | Cartridge Refilling Business रीसाइक्लिंग बिज़नेस से जुड़ा हुआ व्यापार है इसलिए जहाँ यह पर्यावरण के अनुकूल व्यापार है वहीँ यह ग्राहकों के पैसे बचत करने में भी सहायक होता है | रीसाइक्लिंग से जुड़े अन्य बिज़नेस आइडियाज के लिए यह पढ़ें |

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *