Cleaning Powder Making Business

Cleaning Powder Making Business

Cleaning Powder से हमारा अभिप्राय डिटर्जेंट पाउडर से नहीं है बल्कि बर्तनों इत्यादि को साफ़ करने के उद्देश से उपयोग में लाये जाने वाले पाउडर से है | डिटर्जेंट पाउडर को जहाँ कपड़े धोने अर्थात कपड़ों को साफ़ करने के उपयोग में लाया जाता है वहीँ Cleaning Powder का उपयोग खाने पीने के बर्तनों एवं अन्य शीशे से निर्मित वस्तुओं या चीनी मिटटी से निर्मित बर्तनों से मिटटी, ग्रीज़, धूल, तेल इत्यादि को दूर करने के उपयोग में लाया जाता है | साधारण शब्दों में हम यह कह सकते हैं की Cleaning Powder का उपयोग बर्तनों, शीशे से निर्मित सामान एवं चीनी मिटटी से निर्मित सामग्री की सफाई हेतु किया जाता है | हालांकि पहले इस प्रकार की आवश्यकता के लिए साबुन का इस्तेमाल होता था लेकिन बाद में सफाई पाउडर ने इसकी जगह ले ली | घरों में उपयोग होने के अलावा इस प्रकार के पाउडर को औद्योगिक सफाई की क्रियाओं हेतु भी उपयोग में लाया जाता है | जहाँ साबुन इत्यादि से साफ़ करने में शीशे एवं अन्य बर्तनों में खरोंच अर्थात निशान आने की आशंका बनी रहती थी लेकिन पाउडर के उपयोग से इस आशंका का निदान हो गया |

Cleaning-Powder-final

Cleaning Powder Making Business Kya hai:

Cleaning powder को हम बर्तन साफ़ करने का पाउडर भी कह सकते हैं, हालांकि इंडिया में अभी बहुत बड़े पैमाने पर बर्तन बार का उपयोग बर्तनों की सफाई करने हेतु किया जाता है | यदि हम थोड़े पुराने समय की बात करें या आज भी दूर सुदूर किसी ग्रामीण भारत के इलाके की बात करें तो हम पाएंगे की बर्तनों को साफ़ करने के लिए चिकनी मिटटी या राख का उपयोग किया जाता था/ या किया जाता है | इनसे जहाँ बर्तनों की सफाई अच्छे ढंग से नहीं हो पाती है वही बर्तनों में खरोंच भी लग जाती हैं जो जब तक बर्तन उपयोग में लाया जाता है तब तक दिखती रहती हैं | यही कारण है की लोगों का सफाई की तरफ बढ़ता रुझान एवं बर्तनों को सुरक्षित रखने की दृष्टि से भी लोगों द्वारा बर्तनों की सफाई हेतु Cleaning Powder का उपयोग किया जाने लगा है | लोगों की इसी आवश्यकता को मद्देनज़र रखकर जब किसी उद्यमी द्वारा बर्तनों की सफाई का पाउडर बनाने का काम किया जाता है तो हम कह सकते हैं की वह व्यक्ति Cleaning Powder Making Business से जुड़ा हुआ उद्यमी है |

Market Potential in Cleaning Powder:

यद्यपि जैसा की हम पहले भी बता चुके हैं की घरों में बर्तन साफ़ करने के उपयोग में लाये जाने वाले में बर्तन बार भी सम्मिलित है लेकिन इसके बावजूद Cleaning Powder का उपयोग घरों के अलावा, होटलों एवं अन्य खाद्य स्टालों पर भी किया जाता है | यही कारण है की इसका उपयोग बढ़ने के साथ साथ इसकी डिमांड भी मार्किट में बढती जा रही है | Cleaning Powder का उपयोग विभिन्न प्रकार के बर्तनों जैसे एल्युमिनियम, स्टेनलेस स्टील, शीशा, चीनी मिटटी इत्यादि से निर्मित बर्तनों को साफ़ करने में किया जाता है | जहाँ तक रसोईघर या घरों में प्रयोग होने वाले बर्तनों को साफ़ करने की प्राचीन विधि का सवाल है वह राख एवं लसलसी मिटटी से साफ़ करने की विधि बर्तनों को काफी नुकसान अर्थात खरोंच पहुंचा देती थी और मनचाही सफाई करने में भी नाकामयाब थी | इन नुकसानों के चलते लोगों ने सफाई पाउडर को उपयोग में लाने में तनिक भी देर नहीं की यही कारण है की आज भी Cleaning powder की डिमांड मार्किट में बनी हुई है | चूँकि सफाई पाउडर बर्तनों एवं अन्य सामग्री की सफाई करने के उपयोग में लाया जाने वाला एक महत्वपूर्ण केमिकल है | इसका उपयोग फर्श या दीवार पर लगी टाइलों, फर्श इत्यादि को साफ़ करने में भी किया जाता है | शहरों में प्रत्येक आर्थिक रूप से वर्गीकृत वर्ग द्वारा इसका उपयोगं किया जाता है तो वहीँ ग्रामीण इलाकों में भी लोगों की आय में वृद्धि एवं जीवनस्तर में सुधार के चलते इसकी मांग में वृद्धि की संभावना लगाई जा सकती है |

Required Machinery and Raw Material:

Cleaning Powder Making Business में प्रयुक्त होने वाला मुख्य कच्चा माल केल्साइट पाउडर इत्यादि हैं लेकिन प्रयुक्त होने वाली मशीनरी एवं उपकरणों की लिस्ट निम्नवत है |

  • रिबन ब्लेंडर
  • auger filler
  • स्टोरेज करने के लिए बर्तन |
  • मापने की मशीन |
  • पैकेट पैकिंग मशीन |

Raw Materials की लिस्ट इस प्रकार से है |

  • केल्साइट पाउडर
  • सोडा ऐश
  • Acid slurry
  • Sodium मेटासिलिकेट
  • Trisodium फॉस्फेट
  • Packing materials

यह भी पढ़ें:-
Soap Making Business in India in Hindi

Detergent Powder Manufacturing business in India in Hindi.

Production process of Cleaning Powder:

Cleaning powder का Production करने के लिए सर्वप्रथम कच्चा माल आवश्यकतानुसार बाज़ार से खरीद लिया जाता है उसके बाद कच्चे माल को निर्धारित मात्रा में लेकर रिबन ब्लेंडर के माध्यम से उसको मिक्स करना होता है जब कच्चा माल एक दुसरे में अच्छी तरह से मिक्स हो जाता है तो मिक्स किये हुए material को रिबन ब्लेंडर के नीचे अर्थात बॉटम की सतह से बाहर निकाल दिया जाता है | उसके बाद Cleaning Powder के दानों में समानता लाने के लिए उसे एक चलनी से पास कराया जाता है और छाने गए पाउडर को पैकेट में पैकेजिंग कर मार्किट में बेचकर कमाई की जाती है |

Comments

  1. By Ganesh Godik

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: