Courier Business की जानकारी एवं Starting प्रक्रिया |

Courier Business की जानकारी एवं Starting प्रक्रिया |

कोई भी उद्यमी जो सर्विस बिज़नेस की श्रेणी में बिज़नेस करने की सोचता होगा तो उसे Courier Business का अवश्य स्मरण होता होगा और फिर उस व्यक्ति को इस बिज़नेस के बारे में जानने की उत्सुकता भी होती होगी इसी बात के मद्देनज़र आज हमारा विषय Courier Business Start करने सम्बन्धी कुछ जरुरी जानकारी देने का है | सर्विस बिज़नेस में कूरियर नामक यह बिज़नेस प्रमुख व्यापारों में से एक है इसका मुख्य कारण आधुनिक जीवनशैली में बार बार इसकी आवश्यकता होना भी हो सकता है | कहने का आशय यह है Courier Business आधुनिक जीवनशैली रहन सहन के तरीके से मेल खाता हुआ बिज़नेस है | वर्तमान में एक देश में या एक Region में कंपनियों के विभिन्न कार्यालय मौजूद होते हैं जिनमे प्रतिदन नियमित तौर पर महत्वपूर्ण दस्तावेजों का आदान प्रदान चलता रहता है, इसके अलावा व्यक्तिगत लोग भी विभिन्न कार्यों को अंजाम तक पहुँचाने के लिए Courier Service का उपयोग करते हैं लेकिन वर्तमान में इस बिज़नेस को सकारात्मक रूप से जिसने प्रभावित किया है वह है ऑनलाइन शौपिंग अर्थात ऑनलाइन शौपिंग के कारण Courier Services की मांग देश में बहुत ज्यादा बढ़ गई है |

courier-business-kaise-start-kare-

Courier Business Kya hai:

Courier Service से हमारा अभिप्राय किसी कंपनी द्वारा अपने ग्राहकों को दी जाने वाली उस फैसिलिटी या सेवा से है जिसमे वह अपने ग्राहकों से Urgent Documents एवं अन्य सामग्री किसी पता विशेष पर डिलीवर कराने हेतु संग्रहित करती है | कहने का तात्पर्य यह है की जब किसी कंपनी द्वारा किसी कंपनी या व्यक्ति से कोई Shipment/Consignment इसलिए लिया जाता है ताकि वह उसे दिए गए पते तक सुरक्षित पहुंचा सके और बदले में वह ग्राहक से अपनी कमाई कर सके तो ऐसी कंपनी को हम Courier Company की संज्ञा दे सकते हैं |  दूसरे शब्दों में हम Courier Service को स्थानीय या अन्तराष्ट्रीय स्तर पर किसी कंपनी द्वारा वस्तुओं एवं दस्तावेजों की डिलीवरी एवं pick-up की Door to door service को भी Courier Service कह सकते हैं |

Courier Market in India:

भारतवर्ष में courier Industry की बात करें तो वर्ष 2015-16 के एक आंकड़े के मुताबिक इस इंडस्ट्री को 14000 करोड़ का आँका गया जबकि अभी Online Shopping का विस्तार भारतवर्ष के सिर्फ कुछ चुनिन्दा शहरों तक ही सिमित है | Online Shopping के बढ़ते प्रचलन को मद्देनज़र रखते हुए अगले तीन वर्षों में यह इंडस्ट्री 17% की दर से ग्रो करेगी यह आशंका लगाई जा रही है यही कारण है की वर्ष 2019-20 तक इस इंडस्ट्री के 20000 करोड़ पर पहुँचने की आशा है |  ऑनलाइन शौपिंग के अलावा अन्य आर्थिक गतिविधियों में हो रही वृद्धि एवं इसके फलस्वरूप हो रही व्यापारिक वृद्धि भी Courier business की ग्रोथ का प्रमुख कारण हैं | इसके अलावा ख़राब होने वाले पदार्थों के लिए तापमान नियंत्रण Logistic system भी इस क्षेत्र को आगे बढाने में सहायक रहा है | एक आंकड़े के मुताबिक यह इंडस्ट्री देश मे 2015-16 में लगभग 17 लाख 20 हज़ार लोगों को प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार दे रही थी | जो संख्या इंडस्ट्री की विस्तृता के साथ बढती जायेगी | इन सब उपयुक्त बातों से साबित होता है की भारत की Courier Industry एक उभरती हुई इंडस्ट्री है इसलिए हर छोटे बड़े उद्यमी के लिए इस इंडस्ट्री में अवसरों की भरमार है |

Courier Business Kaise Start Kare:

ऐसे लोग जो अपना Courier business शुरू करना चाहते हैं उनके पास बिज़नेस शुरू करने के दो विकल्प हैं |

अपनी खुद की कंपनी स्टार्ट करें:

यदि उद्यमी का बजट अपने बिज़नेस के प्रति अच्छा ख़ासा यानिकी ठीक ठाक है तो उद्यमी के लिए पहला विकल्प यह है की वह अपनी खुद की Courier Service Company स्टार्ट करे | लेकिन उद्यमी को इस बात का ध्यान रखना पड़ेगा की इस इंडस्ट्री में अपनी कंपनी खोलने के लिए बहुत बड़े निवेश की आवश्यकता होती है | इसलिए इस इंडस्ट्री में अपनी कंपनी स्थापित करने के लिए उद्यमी को फण्ड जुटाने के लिए निवेशक ढूंढने होंगे उद्यमी विभिन्न बिज़नेस Entities में से प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के तौर पर पंजीकरण कराके निवेशको को Share allot करके फण्ड जुटा सकता है | फण्ड मिलते ही उद्यमी के लिए इस प्रकार की कंपनी को साकार रूप देना आसान हो जायेगा | हालांकि इस बिज़नेस में इंडिया में पहले से ही बहुत सारी छोटी बड़ी कंपनियां अपना बिज़नेस सफलतापूर्वक चला रही हैं | इनमे से कुछ प्रमुख Courier Companies की लिस्ट कुछ इस प्रकार से है |

  • भारतीय डाक विभाग (Indian postal Services):
  • Blue dart Express Limited.
  • DHL India Pvt Ltd.
  • DTDC Coureir and cargo Ltd.
  • Fedex india
  • First Flight Courier Limited
  • Gati Limited
  • TNT Express
  • Overnight Express Limited
  • Trackon couriers pvt ltd.

किसी नामी गिरामी courier company की Franchise लेना:

भारतवर्ष में Courier Business  को करने की ख्वाहिश बहुत सारे उद्यमी रखते हैं लेकिन फण्ड की कमी के चलते हर कोई इस बिज़नेस को हकीकत के पटल पर नहीं उतार पाता | फण्ड की कमी के चलते कुछ उद्यमी जो इस Courier Business को मजबूती से अपने लिए चुन लेते हैं ऐसे में सबसे पहले वे किसी नामी गिरामी कूरियर कंपनी के साथ Franchise Business शुरू करते हैं | और इस बिज़नेस में आने वाली कठिनाइयों का धीरे धीरे अध्यन करके अणि रणनीति विकसित करते हैं | जब उन्हें इस बिज़नेस की मार्किट की लगभग सभी जानकारी हो जाती है तो उसके बाद वह कुछ बड़ा करने की सोचते हैं |

कहने का आशय यह है की Courier Business करने की चाह रखने वाले उद्यमी को चाहिए की पहले वह किसी स्थापित कूरियर कंपनी के साथ Franchise Business शुरू करे उसके बाद उसे सम्बंधित क्षेत्र का अनुभव एवं मार्किट की जानकारी हो जाएगी फिर उद्यमी चाहे तो कोई बड़ा Plan कर सकता है | Courier Franchise business में अपनी कंपनी की तुलना में बहुत कम निवेश आएगा भारतवर्ष में इन दिनों बहुत सारी कंपनियां अपनी Franchise Offer कर रही हैं इनमे से कुछ की लिस्ट निम्नवत है |

अधिकतर Courier Companies के साथ Franchise Business हेतु आवेदन करने के लिए उद्यमी के पास निम्नलिखित फैसिलिटी होनी चाहिए |

  • क़ानूनी रूप से स्थापित एक इकाई जिसका कर पंजीकरण एवं अन्य लाइसेंस लिए हुए हों |
  • Franchise Open करने के लिए जगह |
  • सिक्यूरिटी डिपाजिट जो कूरियर कंपनी के आधार पर अंतरित हो सकता है |
  • वित्तीय परिचय जैसे बैंक स्टेटमेंट की प्रति एवं पासबुक इत्यादि |
  • कूरियर कंपनी के मुख्य कार्यालय से स्वीकृति पत्र |
  • Franchise एवं कंपनी के बीच Logistic Agreement |

उपर्युक्त वस्तुएं उद्यमी के पास होने पर उद्यमी किसी Courier Company के साथ Courier Business अर्थात Franchise लेने के लिए आवेदन कर सकता है |

Comments

  1. Reply

  2. By Santosh sukhdeo shinde

    Reply

  3. By Ashu Hooda

    Reply

  4. By Ravi gupta

    Reply

    • By mahendra

    • By Aquib Ansari

  5. By JONTY

    Reply

    • By Santosh sukhdeo shinde

  6. By vijay

    Reply

  7. By Suhail

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: