Computer Assembling Business Ki Information Hindi Me.

Computer Assembling Business Ki Information Hindi Me.

Computer assembling business में कंप्यूटर के विभिन्न भागों को बाज़ार से अलग अलग खरीदकर उन्हें वर्कशॉप में लाकर एक दूसरे से जोड़ दिया जाता है जिससे कंप्यूटर का निर्माण होता है |  Technology आज की जीवन शैली में एक अहम् किरदार निभा रही है, आज Technology की ही बदौलत व्यक्ति को ऑटो जितने किराये में 5 मिनट के अन्दर अन्दर अपने सामने ओला कैब नज़र आती है, Technology की ही बदौलत व्यक्ति के दिमाग में उठ रहे सवालों का Google एक सेकंड में जवाब देने का सामर्थ्य रखता है, और Technology की ही मदद से व्यक्ति पैन कार्ड, Tan Card, Voter id card इत्यादि महत्वपूर्ण ID Address Proof Documents को बनाने के लिए घर बैठे बैठे आवेदन कर सकता है | यह Technology ही है की अब हमें खरीदारी जैसे अहम् काम के लिए भी बाज़ार जाने की आवश्यकता नहीं पड़ती बल्कि हम ऑनलाइन शोपिंग करके अपना सामान घर पर ही मंगवा लेते हैं | खैर उपर्युक्त जो स्थिति है शहरी क्षेत्रों पर तो लागू होती ही है लेकिन नोटबंदी के बाद Electronic Transaction में काफी इजाफा हुआ है, और इसका अनुकूल असर technology से जुडी पेटीएम जैसी अनेक कंपनियों में भी दिखा है | हमारे राष्ट्र में Cashless Economy की नीवं रखी जा चूकी है, जिसको आगे बढ़ाने में इन्टरनेट का अहम् योगदान होगा, और इन्टरनेट Personal Computer के use को विस्तारित करने में मदद करेगा | Cashless Economy बनने और बनाने वाली सोच आने वाले समय के साथ विस्तारित होती जाएगी, और इस सोच का फायदा Computer assembling business को भी होगा यह निश्चित है, शहरों में तो परचून की दुकान, रेहड़ी खोमचे इत्यादि को छोड़कर लगभग सभी प्रकार के Business में Computer से काम लिया ही जाता है, इसलिए यहाँ पर Computer assembling business उद्यमियों द्वारा पहले से भी सफलतापूर्वक चलाये जा रहे हैं | जहाँ तक बात छोटे नगर, ग्रामीण इलाकों की है इन क्षेत्रों में Business हो या फिर घर, सभी बिना कंप्यूटर के चलते हैं, लेकिन चूँकि वर्तमान में ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों को भी कंप्यूटर के फायदे समझ में आने लगे हैं इसलिए उनका रुझान भी Computer’s Purchasing की तरफ बढ़ा है | ग्रामीण इलाकों से Computer assembling business Start करने वाला उद्यमी आने वाले समय में अपनी अच्छी Kamai कर सकता है |

computer-assembling-business

Computer Assembling Business Kya Hai:

Computer Assembling business को समझने से पहले हमें यह समझना बेहद जरुरी है की कंप्यूटर क्या है?| सामान्य बोल चाल की भाषा में कहा जाय तो computer एक ऐसी मशीन अर्थात यंत्र है, जो Programming को आधार मानकर किसी व्यक्ति के निर्देशों का अनुपालन करता है | Computer शब्द की उत्पति अंग्रेजी भाषा के Compute जिसका Hindi में मतलब गणना से लगाया जाता है से हुई है | प्राचीन काल में जहाँ यह सिर्फ अंकगणितीय सवालों में उलझे व्यक्तियों की मदद करने में सक्षम था | वर्तमान में यह अंकगणितीय (Numerical), अक्षरांकीय (Alphanumerical), तार्किक (Logical), वैज्ञानिक (scientific) लगभग सभी प्रकार के सवालों का हल देने में सक्षम है |यद्यपि 1613 में एक अंग्रेजी लेखक रिचर्ड ब्रेथवेट अपनी पुस्तक ”The young Man Gleanings” में Computer शब्द का उपयोग कर चुके थे | लेकिन इसे हकीकत में बदलने का श्रेय अर्थात दुनिया का पहला कंप्यूटर बनाने का श्रेय एक अंग्रेज मेकेनिकल इंजिनियर चार्ल्स बेबेज़ को जाता है | जिन्होंने 1833 में पहले  Programming computer  की आधारशीला रखी, बाद में इसी पद्यति में सुधार करके अलग अलग तरह के, अलग अलग कंप्यूटर, अलग अलग लोगों ने बनाये | यद्यपि कंप्यूटर के अलग अलग स्वरूप Market में आज भी उपलब्ध हैं, लेकिन हम यहाँ पर business के Point of View से स्पष्ट कर देना चाहते हैं, की हम यहाँ पर Personal Computer की बात कर रहे हैं, इसमें Central Processing Unit (CPU),RAM (Random Access Memory),Hard disk Drive, Floppy Disk drive एवं बाह्य उपकरणों के रूप में Monitor, Keyboard, Mouse, Printer, Modem इत्यादि Configure एवं  Install किये जा सकते हैं |  अब चूँकि हमें समझ में आ गया है की Computer एक ऐसी device है,जिसका Use मनुष्य को नित्य प्रतिदिन के विभिन्न कामों को निपटाने में करना पड़ता है | इसलिए वर्तमान में इसकी मांग दुनिया के सभी देशों में है, इसलिए जो उद्यमी अपनी दुकान पर कंप्यूटर के अलग अलग Parts को जोड़कर कंप्यूटर का निर्माण करके उन्हें ग्राहकों को बेचकर अपनी कमाई करता है, हम कह सकते हैं की ऐसा उद्यमी  Computer Assembling business में संलिप्त है |

Market Potential In Computer Assembling Business:

इसमें कोई शक नहीं की Computer के आने से सभी क्षेत्रों चाहे शिक्षा का क्षेत्र हो, शोध का क्षेत्र हो, या कोई अन्य क्षेत्र हो सभी का परिदृश्य पूरी तरह से बदल गया है | या यूँ कहें की Computers ने सभी क्षेत्रों का परिदृश्य बदल दिया है, तो गलत नहीं होगा | यही कारण है की वर्तमान में कंप्यूटर निजी या व्यवसायिक कार्यों की पूर्ति हेतु एक आवश्यक यंत्र बन गया है, और इसकी मांग नित्य प्रतिदिन बढती जा रही है | ग्रामीण इलाकों में Market Potential की बात करें तो India में उसका एक स्वरूप और देखने को मिलता है | की बहुत छोटे छोटे उद्यमी, और ग्रामीण इलाकों में निवासित लोग अभी भी कंप्यूटर के फायदों से अनभिज्ञ हैं, इसलिए Computer assembling business के लिए ग्रामीण इलाकों में भी अवसरों की भरमार है | और शहरों में पहले के मुकाबले और तेजी से कम्प्यूटरी करण हो रहा है हर छोटी बड़ी इकाई को अपने बिज़नेस की Accounting, Sales, Communication इत्यादि के लिए कंप्यूटर जरुरी होता नज़र आ रहा है | इसके अलावा बैंकिंग क्षेत्र, Insurance Companies, हॉस्पिटल,Tour and Travel Industry, एवं अन्य सभी प्रकार के व्यापारिक संगठनो में computer का बहुतायत तौर पर उपयोग किया जाता है | एक आंकड़े के मुताबिक India में  200 से अधिक  छोटी बड़ी कंपनियां Computer assembling business में लगी हुई हैं इनमे से कुछ छोटी इकाइयाँ Multinational Companies से कीमत, गुणवत्ता, डिलीवरी, प्रोडक्ट बिक जाने के बाद की सेवा पर तगड़ा Competition Face  कर रही हैं |

Required Machinery and Raw material to start Computer Assembling Business:

Computer Assembling business को Start करने में अच्छे खासे निवेश की आवश्यकता होती है | लेकिन यह सब निर्भर करता है, उद्यमी द्वारा बनाये जाने वाले कंप्यूटर की संख्या और प्रकार पर | अगर उद्यमी Starting में केवल 10 computer assemble करके उन्हें बेचे फिर जो बेचकर Kamai हुई है, उन पैसो से Raw Material खरीद कर 20 Computer assemble करे और फिर उन्हें बेचे और इस प्रकार कंप्यूटर की संख्या को धीरे धीरे बढाता रहे, तो वह इस business का अनुभव लेने के साथ साथ अपने आप को सुरक्षित भी महसूस करेगा | तो आइये एक नज़र डालते हैं,Computer Assembling business में काम आने वाली मशीनरी एवं Raw Materials की लिस्ट पर पर |

  • Dual Trace Storage Oscilloscopes
  • Industrial Computer testing system CPU,  Monitor, Keyboard, FDD, HDD,
  • Communication Driver, Modem, Mouse, Printer and test software के साथ |
  • Digital  LCR-Q Meter
  • DC Regulated Power supply
  • Digit Digital Multimeter
  • Analog Multimeter
  • Screwdriver set
  • Jigs, Fixtures, Soldering Iron/Stations, IC Inserter, extractor इत्यादि
  • ऑफिस के लिए कुर्सी टेबल इत्यादि |

Computer assembling business में काम आने वाली Raw materials की लिस्ट कुछ इस प्रकार है |

  • Processors
  • Gilz/Chipset/with Mother Board.
  • Colour Monitor
  • Key Board and Mouse
  • CD ROM
  • Internal Modum
  • Floppy Disk Driver
  • SMPS with Cabinet & other accessories
  • RAM
  • System Case
  • Cables & Power Cords
  • Solders and Packing materials
  • Multimedia Speakers

Computer Assembling Process In Hindi:

Computer assembling business start कर रहे उद्यमी को Computer assembling process की जानकारी होना नितांत आवश्यक है | तभी उद्यमी इस Business को सफलतापूर्वक चला पायेगा, यहाँ पर हम संक्षिप्त रूप से इस process को समझने की कोशिश करेंगे |

  • Computer assembling process में सबसे पहले Components एवं Tools को एकत्रित करके उनका निरीक्षण किया जाता है की एक कंप्यूटर बनाने में लगने वाले सभी Components उपलब्ध हैं की नहीं | उसके बाद System Caseसे कवर हटा दिया जाता है | System case को assembling के लिए तैयार करने हेतु Plan layout तैयार किया जाता है |
  • उसके बाद Floppy Disk drive को Install किया जाता है | Hard disk drive एवं CD ROM को Configure किया जाता है |और उसके तुरंत बाद इन दोनों को Install कर लिया जाता है | उसके बाद Motherboard को Configured करना पड़ता है |
  • Motherboard को configure करने के बाद Processor को Install किया जाता है | Heat Sink को भी Install किया जाता है| Heat Sink केवल ऐसे Computer बनाने के लिए उपयोग में लाया जाता है, जो processor Integrated cooling के बिना होते हैं |
  • यदि किसी ग्राहक के order पर, या फिर उद्यमी की अपनी दूरदर्शिता कहती है की Cache module वाले system अधिक बिकेंगे तो Computer Assembling business कर रहे उद्यमी को उस खास सिस्टम में Cache module भी install करना चाहिए |
  • उपर्युक्त प्रक्रिया कर लेने के बाद Memory Modules Install करना पड़ेगा | उसके बाद Motherboard Install करने की प्रक्रिया को अंजाम दिया जा सकता है |
  • I/O port Connectors को  install किया जाता है |
  • अब Mouse Port/Keyboard connector install करने की बारी आती है | उसके बाद Motherboard को Case के साथ connect करने की |
  • अब अगला कदम Flopy Disk Drive को Motherboard के साथ Connect करने का होना चाहिए, और उसके बाद CD- ROM Drive को Motherboard के साथ Connect करने का | अंत में उद्यमी Computer assembling business हेतु कंप्यूटर का निर्माण करने के लिए Video Card Install करने का कदम उठा सकता है |

सम्पूर्ण Assembling प्रक्रिया पूर्ण कर लेने के बाद उद्यमी को अपने बनाये हुए computer का निरीक्षण करना चाहिए | यदि Computer Assembling business कर रहे उद्यमी को लगता है की सारे Components यथावत फिट हो गए हैं तो अब उद्यमी का उस सिस्टम को बाह्य उपकरणों जैसे Printers, Keyboard, Mouse को Connect करके चेक करना जरुरी है | और अंत में उद्यमी को चाहिए की वह System booting, Bios Setup, System test इत्यादि प्रक्रियाओं को अंजाम देके Hard disk में उपलब्ध जगह को विभाजित करे या  फिर Format करे,  उसके बाद CD-ROM Driver एवं Operating System को install करे |

Comments

  1. By Moid Nasri

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: