क्रेन सर्विस बिजनेस कैसे शुरू करें? How to Start a Crane Service Business.

Crane Service की बात करें तो जब से क्रेन नामक इस मशीनरी की खोज हुई है, तब से इसने कामकाज के परिदृश्य को काफी बदल दिया है । जी हाँ दोस्तों आज जो हम शहरों में ये गगनचुम्बी ईमारत देख पा रहे हैं इनको खड़ा करने में क्रेन नामक इस मशीनरी का अहम् योगदान है। जैसा की हम सबको विदित है की क्रेन का इस्तेमाल भारी चीजों को उठाने एवं उनको ट्रांसपोर्ट करने के लिए किया जाता है। इसलिए इसका इस्तेमाल न सिर्फ कंस्ट्रक्शन सेक्टर में होता है बल्कि किसी दुर्घटनाग्रस्त वाहन को खाई, गड्ढों से निकालने एवं उसे रिपेयर करने के लिए रिपेयर शॉप तक पहुँचाने का काम भी क्रेन द्वारा किया जाता है। और ध्यान रहे क्रेन को इस प्रकार से डिजाईन किया जाता है, की इनका इस्तेमाल किसी भी भूखंड में आसानी से किया जा सकता है। अर्थात जहाँ अन्य वाहन चलने में अक्षम होते हैं क्रेन का इस्तेमाल ऐसे भूखंडों में भी आसानी से किया जा सकता है। इसके अलावा कंस्ट्रक्शन साईट पर क्रेन चारों तरफ घूम भी सकती है और भारी वस्तुओं जिनका भार टनों में हो, उन्हें भी आसानी से उठाकर उन्हें उनके निर्धारित स्थान पर स्थानांतरित कर सकती हैं। चूँकि एक क्रेन के एक नहीं बल्कि अनेकों इस्तेमाल किये जा सकते हैं। इसलिए वर्तमान में Crane Service Business शुरू करना किसी भी उद्यमी के लिए बेहद लाभकारी साबित हो सकता है।

Crane Service Business kaise start kare

क्रेन सर्विस बिजनेस क्या है (What is Crane Service Business):

क्रेन की बात करें तो यह एक प्रकार की मशीन है, जो आम तौर पर विभिन्न केवल, पुल्ली, जंजीरों, शीशों इत्यादि से सुसज्जित रहती है। जिसका इस्तेमाल भारी भरकम वस्तुओं यहाँ तक की जिनका भार टनों में हो, उन्हें भी क्रेन की मदद से आसानी से उठाकर स्थानांतरित किया जा सकता है। कहने का आशय यह है की क्रेन का इस्तेमाल प्रमुख रूप से भारी चीजों को उठाने एवं उन्हें अन्य स्थानों को स्थानांतरित करने के लिए किया जाता है। लेकिन यह भी स्पष्ट है की हर क्रेन की भार उठाने की क्षमता अलग अलग होती है इसलिए एक क्रेन केवल उतने ही टन का भार उठाने में सक्षम होगी जितनी उसकी क्षमता होगी। कंस्ट्रक्शन चाहे किसी पुल का निर्माण हो रहा हो, फ्लाईओवर का निर्माण हो रहा हो, किसी व्यवसायिक बिल्डिंग का निर्माण हो रहा हो या फिर आवासीय फ्लेटों का निर्माण हो रहा हो लगभग सभी कार्यों के लिए क्रेन की आवश्यकता होती है। इसलिए जब किसी उद्यमी द्वारा इन्हीं सब आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए इस तरह का यह व्यापार शुरू किया जाता है, तो उसके द्वारा किये जाने वाले इस व्यापार को Crane Service Business कहा जा सकता है। 

वर्तमान परिदृश्य में क्रेन का इस्तेमाल

इक्कसवीं सदी में क्रेन सम्पूर्ण औद्योगिक परियोजनाओं को आगे बढाने में सहायक है क्योंकि इनका सर्वाधिक इस्तेमाल निर्माण स्थलों में भारी टन की वस्तुओं को उठाने एवं स्थानांतरित करने के लिए किया जाता है। जैसा की हम सबको विदित है की जनसँख्या बढती जा रही है, लेकिन भूमि मनुष्य के पास उतनी ही है। इसलिए वर्तमान में कम से कम जगह में अधिक से अधिक लोगों के रहने की व्यवस्था एवं रोजगार की व्यवस्था किये जाने का प्रयत्न लगातार किया जाता रहा है। कम भूमि का इस्तेमाल करके अधिक से अधिक लोगों को रहने की व्यवस्था दी जाय, और अधिक से अधिक व्यवसायों को कार्यालय बनाने की व्यवस्था दी जाय। इसके लिए व्यवसायिक बिल्डिंगों एवं रिहायशी फ्लेटों को एक नहीं बल्कि बहुमंजिला ईमारत के तौर पर बनाया जाता है। और इन बहुमंजिला इमारतों के निर्माण में, पुल, फ्लाईओवर, मेट्रो लाइन के निर्माण में Crane Service का अहम् योगदान है। इसलिए वर्तमान में बहुमंजिला इमारतों, पुलों, फ्लाईओवर इत्यादि का निर्माण बिना क्रेन के संभव नहीं है। यद्यपि अलग अलग क्रेन की भार उठाने की अलग अलग क्षमता होती है इसमें कुछ क्रेन बीस टन से अधिक का भी भार उठाने का सामर्थ्य रखती हैं।

क्रेन सर्विस बिजनेस कैसे शुरू करें (How to Start Crane Service Business)

Crane Service Business एक बेहद ही लाभकारी बिजनेस है इसमें कोई दो राय नहीं है लेकिन यह भी सत्य है की इस तरह का यह व्यापार शुरू करने के लिए भारी भरकम निवेश करने की आवश्यकता होती है। इसमें उद्यमी को न सिर्फ क्रेन खरीदनी होती है बल्कि मैनपावर की नियुक्ति करना भी इस व्यापार में नितांत आवश्यक है। चूँकि इसके लिए कुशल एवं अनुभवी कर्मचारियों को नियुक्त करने की आवश्यकता होती है इसलिए उद्यमी को इन्हें ठीक ठाक वेतन भी देना पड़ता है। और उद्यमी को अपनी सभी क्रेन का बीमा कराने की भी आवश्यकता होती है ताकि किसी प्रकार की कोई घटना या दुर्घटना उसके व्यापार को बहुत अधिक आर्थिक चोट नहीं पहुंचा पाए। यदि आप अब भी Crane Service Business शुरू करना चाहते हैं, तो हमारा यह लेख अंत तक अवश्य पढ़ें।

1. स्थानीय मार्किट का सर्वे करें

कोई भी बिजनेस शुरू करने से पहले यह जानना बेहद जरुरी हो जाता है की जहाँ अर्थात जिस एरिया में उद्यमी इस तरह का यह बिजनेस शुरू करने की सोच रहा है। वहाँ यह बिजनेस चलेगा या नहीं, इसलिए Crane Service Business के लिए भी सर्वप्रथम उद्यमी को यही जानने का प्रयत्न करना चाहिए की जिस एरिया में वह यह व्यापार शुरू करने की सोच रहा है वहां इसके चलने या सफल होने की संभावना है की नहीं। यदि उद्यमी कंस्ट्रक्शन इंडस्ट्री में है और उसे इसकी जानकारी है तो उसके लिए इस बात का पता करना अन्य की तुलना में आसान होगा की उस एरिया में क्रेन की मांग कितनी है। जहाँ तक इस तरह के व्यापार को शुरू करने की बात है यदि उस एरिया में लोगों को इसकी आवश्यकता है तो यह एक फायदेमंद व्यापार हो सकता है। इसके अलावा हो सकता है की उस एरिया विशेष में पहले से ही Crane Service Business किसी उद्यमी द्वारा चलाया जा रहा हो। लेकिन यदि उसके ग्राहक उससे खुश नहीं है तो किसी नए उद्यमी के लिए यह एक अच्छा मौका हो सकता है। उस एरिया में उद्यमी के लिए बिजनेस करना फायदेमंद होगा या नहीं इसका जायजा लेने के लिए उद्यमी उस एरिया में मौजूदा क्रेन सर्विस इकाइयों का सर्वेक्षण कर सकता है। इसके लिए उद्यमी चाहे तो उनके अधिकारिक वेबसाइट, सोशल प्रोफाइल, यूट्यूब चैनल इत्यादि ऑनलाइन प्लेटफोर्म का भ्रमण करके यह पता करने की कोशिश कर सकता है। की वे क्या क्या सर्विसेज अपने ग्राहकों को दे रहे हैं और क्या उनके ग्राहक उनसे संतुष्ट हैं या नहीं?।        

2. वित्त का प्रबंध करें (Fund Arrangement for Crane Service Business)

जैसा की हम पहले भी बता चुके हैं की Crane Service Business को शुरू करना हर किसी के बस की बात बिलकुल भी नहीं है। वह इसलिए क्योंकि इस तरह का यह व्यापार शुरू करने के लिए करोड़ों, करोड़  रूपये निवेश करने की आवश्यकता होती है। यही कारण है की इस तरह के बिजनेस शुरू करने का ख्वाब केवल वही व्यक्ति देख सकता है जिसके पास वित्तीय संसाधनों की कोई कमी नहीं हो। हालांकि यह जरुरी नहीं है की जो व्यक्ति इस तरह का यह व्यापार शुरू करेगा इस व्यापार में आने वाली सारी लागत में पैसे वही निवेश करेगा। यदि उसकी यह बिजनेस योजना फायदेमंद साबित होने वाली हो तो उद्यमी को कोई निवेशक भी मिल सकता है। इसके अलावा उद्यमी अनेकों वित्तीय संस्थानों एवं बैंक से भी ऋण के लिए आवेदन कर सकता है। लेकिन ध्यान रहे वित्त प्रबंध के अनौपचारिक साधन जैसे दोस्त, परिवार, नाते रिश्तेदारों से पैसे लेना इस तरह का व्यपार शुरू करने में नहीं चल पायेगा। क्योंकि उद्यमी को बड़े पैमाने पर वित्त का प्रबंध करना होता है जो की किसी औपचारिक साधन जैसे वित्तीय संस्थान, बैंक से ऋण, एंजेल इन्वेस्टर इत्यादि के माध्यम से ही संभव हो पायेगा।        

3. बिजनेस को रजिस्टर करें

चूँकि Crane Service business में उद्यमी को कंस्ट्रक्शन कंपनी जो सरकारी भी हो सकती हैं और निजी भी, के साथ काम करने की आवश्यकता होती है। इसलिए बिना रजिस्टर के इस तरह का बिजनेस करना कहीं से कहीं तक सही नहीं है। उद्यमी को अपने व्यापार को किसी भी वैधानिक स्वरूप चाहे वह वन पर्सन कंपनी हो, पार्टनरशिप कंपनी हो, प्राइवेट लिमिटेड कंपनी हो इत्यादि में से कोई एक स्वरूप प्रदान करना ही होगा। इस वैधानिक स्वरूप के अलावा उद्यमी को अपने बिजनेस के नाम से पैन कार्ड बनवाने, बैंक में चालू खाता खुलवाने, टैक्स रजिस्ट्रेशन करवाने इत्यादि की भी आवश्यकता होगी। इसके अलावा यदि उद्यमी की योजना साल में दस से अधिक कर्मचारियों को एक साथ काम पर रखने की है, तो उसे ईपीएफ, ईएसआई इत्यादि रजिस्ट्रेशन भी कराने पड़ सकते हैं।      

4. क्रेन इत्यादि खरीदें (Purchase Crane and Other Equipment)

अब जब उद्यमी ने सभी उपर्युक्त कार्यों को पूर्ण कर लिया हो, तो अब Crane Service Business शुरू करने के लिए उद्यमी का अगला कदम क्रेन एवं इसके सहायक मशीनरी को खरीदने का होना चाहिए। अपने देश भारत में भी क्रेन का निर्माण करने वाली एक नहीं बल्कि सैकड़ों कम्पनियां हैं इसलिए जिस एरिया में उद्यमी इस तरह का यह व्यवसाय शुरू करने की सोच रहा हो, उस एरिया में जिस कंपनी की भी क्रेन प्रचलित हो उद्यमी उसी को खरीद सकता है। यदि उद्यमी कंस्ट्रक्शन उद्योग से जुड़ा हुआ है तो उसे अच्छी तरह से पता होगा की उसके लिए उसकी आवश्यकता के अनुरूप किस कंपनी और कौन सी क्षमता वाली क्रेन उचित होगी। लेकिन यदि ऐसा नहीं है तो उद्यमी को यह कार्य निबटाने के लिए किसी विशेषज्ञ की आवश्यकता हो सकती है। जो उद्यमी को उसकी आवश्यकता के अनुरूप क्रेन खरीदवाने में मदद करेगा ।   

5. कर्मचारियों की नियुक्ति करें (Appoint Staff for Crane Service Business)

क्रेन को संचालित करने के लिए कुशल एवं अनुभवी कर्मचारियों की आवश्यकता होती है इसलिए उद्यमी को इस काम के लिए कर्मचारियों को अधिक वेतन भी देना पड़ सकता है। लेकिन जब उद्यमी को लगातार काम मिलना शुरू हो जाय तो उसे अपने Crane Service Business को सफलतापूर्वक संचालित करने के लिए और अधिक क्रेन एवं कर्मचारियों को नियुक्त करने की आवश्यकता हो सकती है।

उपर्युक्त सभी काम कर लेने के बाद उद्यमी को अपने बिजनेस को निरंतर आगे बढाने का प्रयत्न करना चाहिए इसके लिए उसे कंस्ट्रक्शन कम्पनियों, कांट्रेक्टर इत्यादि से अच्छी बिजनेस रिलेशनशिप विकसित करनी होगी। क्योंकि इन्हीं संस्थानों लोगों के माध्यम से उद्यमी को काम मिल पायेगा।

यह भी पढ़ें   

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |