Flex Printing Business – How to Start in India Hindi.

Flex Printing Business – How to Start in India Hindi.

यद्यपि प्रिंटिंग बिज़नेस में केवल Flex printing Business ही लाभकारी नहीं है अपितु सभी प्रकार के प्रिंटिंग के काम चाहे वह शादी के कार्ड छपवाने से जुड़े हुए हों, sign board बनाने से जुड़े हुए हों या फिर अन्य किसी प्रिटिंग से लेकिन जब बात Flex Printing Business की आती है तो यह आउटडोर विज्ञापन छपवाने एवं लगवाने का एक बेहतरीन तरीका माना जाता है | कहने का आशय यह है की कंपनियों, राजनैतिक दलों, व्यक्तियों या अन्य किसी संस्था द्वारा flex में अपने बैनर छपवाकर होर्डिंग्स, unipole इत्यादि में लगाये जाते हैं ताकि इसके माध्यम से वे इसका प्रचार प्रसार कर पाने में सक्षम हों | यही कारण है की वर्तमान में लगभग हर शहर में Flex Printing Business किसी न किसी उद्यमी द्वारा किया जा रहा है और यह बिज़नेस करके अच्छी खासी लाभ की भी कमाई उद्यमियों द्वारा की जा रही है, इन सबके बावजूद इस प्रकार के सर्विस की बढती हुई मांगों के चलते शहर में ऐसी इकाइयाँ और स्थापित की जा सकती हैं |

flex-printing-business-starting-process

Flex Printing Business Kya Hai:

Flex की यदि हम बात करें तो यह एक PVC अर्थात Poly Vinyl Chloride की एक शीट होती है जिसे अधिकतर तौर पर उच्च गुणवत्तायुक्त डिजिटल प्रिंटिंग के लिए उपयोग में लाया जाता है | चूँकि इस प्रकार की शीट का उपयोग आउटडोर होर्डिंग्स एवं बैनर बनाने के उपयोग में किया जाता है इसलिए यह हाथ से निर्मित बैनर इत्यादि से अधिक गुणवत्तायुक्त एवं अधिक चलने वाली होती है | वर्तमान में तरह तरह के उत्पादों, पार्टियों, संस्थाओं इत्यादि में प्रतिस्पर्धा के चलते हर कोई हर एक क्षेत्र में एक दूसरे से आगे बढ़ने की होड़ में लगा रहता है और आउटडोर मार्केटिंग अर्थात सड़क, पुल, फ्लाईओवर, दुकानों, शोपिंग मॉल में लगे बड़े बड़े बैनर एवं होर्डिंग ग्राहकों के दिमाग को प्रभावित करते हैं | कुछ नई कंपनियां इस तरह के विज्ञापनों का उपयोग सिर्फ इसलिए भी करतें हैं ताकि अधिक से अधिक लोग उनके ब्रांड या उत्पाद को पहचाने | कंपनियों, संस्थाओं, राजनैतिक पार्टियों एवं व्यक्तियों की इन्ही आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर जब किसी उद्यमी द्वारा इस तरह का काम किया जाता है तो उसके द्वारा किया जाने वाला यह काम Flex printing Business कहलाता है |

Market Potential in Printing Business:

जहाँ तक Flex Printing Business के Market Potential की बात है इसका अंदाज़ा हम इसी बात से लगा सकते हैं की आये दिन जब हम सड़कों पर निकलते हैं तो हमें हर कही चाहे वह मेट्रो स्टेशन हो, शोपिंग माल हो, सड़क का किनारा हो, होर्डिंग हो, unipole हो सब पर कुछ न कुछ बैनर अवश्य लगे हुए होते हैं | इन सभी बैनरों या अधिकतर बैनरों पर फ्लेक्स प्रिंटिंग हुई होती है | कंपनियां अपने उत्पादों की मार्केटिंग के लिए ऐसे बैनर तो छपवाती ही छपवाती हैं साथ में विभिन्न स्थानीय एवं राष्ट्रीय राजनैतिक  दल भी विभिन्न अवसरों पर ऐसे बैनर छपवाते हैं | इसके अलावा देश में जितने भी संसथान हैं चाहे वे शैक्षणिक हो, गैर सरकारी हो, सरकारी हो सभी अपने इवेंट पर कुछ न कुछ बैनर अवश्य छपवाते हैं | कहने का आशय यह है की बीतते समय के साथ इस प्रकार के बैनरों का उपयोग बढ़ता जा रहा है अब इनका उपयोग लोग विभिन्न शुभ अवसरों जैसे जन्म दिन, सालगिरह चाहे व्यक्तियों की हो या किसी संसथान की एवं अन्य सामाजिक प्रक्रियाओं में भी किया जाने लगा है |

How to Start Flex printing Business in Hindi:

यद्यपि Flex Printing Business में जो सबसे बड़ा निवेश होता है वह होता है विभिन्न मशीनरी एवं उपकरणों पर आने वाला खर्चा वर्तमान में बाज़ार में तरह तरह के फ्लेक्स प्रिंटिंग मशीन उपलब्ध हैं इनमे से उद्यमी अपने बजट के एवं बिज़नेस प्लान के मुताबिक इनका चयन कर बिज़नेस शुरू कर सकता है लेकिन इन सबके अलावा उद्यमियों को इस तरह का बिज़नेस करने के लिए अन्य कदम भी उठाने पड़ते हैं जिनका विवरण कुछ इस प्रकार से है |

  1. Create a Business plan with project report:

Flex Printing Business start करने के लिए उद्यमी को सर्वप्रथम अपना एक बिज़नेस प्लान बनाना होगा जिसमे बिज़नेस की लगभग सभी गतिविधियाँ एवं भविष्य के लक्ष्य भी उल्लेखित होंगे | कहने का अभिप्राय यह है की इस बिज़नेस प्लान में बिज़नेस के बारे में सब कुछ जैसे बिज़नेस का प्रकार, प्रकृति, लोकेशन, बिज़नेस चलाने का तरीका, मार्किट सर्वेक्षण, उत्पाद एवं सेवा के बारे में, सेल और मार्केटिंग, प्रतिस्पर्धात्मक विश्लेषण, वित्तीय प्लान, अनुमानित लागत एवं अनुमानित कमाई इत्यादि सामिलित होते हैं | एक प्रभावी बिज़नेस प्लान कैसे बनाये के लिए पढ़े |

  1. Arrangement of Finance:

अब यदि उद्यमी ने अपने Flex Printing Business के लिए बिज़नेस प्लान बना लिया हो तो उद्यमी को उसके प्रोजेक्ट में आने वाली अनुमानित लागत का पता चल गया होगा इसलिए अब उद्यमी को चाहिए की वह अपनी प्रोजेक्ट रिपोर्ट के मुताबिक वित्त का प्रबन्ध करे | वित्त का प्रबंध वह अनेकों सरकारी योजनाओं जैसे प्रधान मंत्री मुद्रा योजना, प्रधान मंत्री एम्प्लॉयमेंट जनरेशन प्रोग्राम इत्यादि के अंतर्गत ऋण लेकर या फिर बैंक की अन्य योजनाओं के अंतर्गत ऋण लेकर या Angel Investors के माध्यम से भी कर सकता है |

  1. Choose a suitable location for business:

अब यदि उद्यमी ने अपने Flex printing Business के लिए वित्त का प्रबंध कर लिया हो तो अगला कदम उद्यमी का अपने बिज़नेस के लिए लोकेशन का चुनाव करने का हो सकता है | हालांकि इस प्रकार के बिज़नेस के लिए किसी विशेष प्रकार की लोकेशन की आवश्यकता नहीं होती है अर्थात इस प्रकार का यह बिज़नेस शहर के किसी भी लोकेशन से आसानी से चलाया जा सकता है | लेकिन फिर भी यदि उद्यमी चाहता है की वह अच्छी लोकेशन का चुनाव कैसे करे? तो वह हमारा यह लेख पढ़ सकता है |

  1. Register your Business:

हालांकि छोटे स्तर पर इस तरह का बिज़नेस करने के लिए ROC के साथ पंजीकरण अनिवार्य नहीं है लेकिन इस प्रकार का यह बिज़नेस करने के लिए शॉप्स एंड establishment एक्ट  के तहत पंजीकरण अनिवार्य हो सकता है इसलिए उद्यमी को चाहिए की वह इसके अलावा अन्य स्थानीय पंजीकरण की जानकारी के लिए स्थानीय प्राधिकरण जैसे नगर निगम, नगर पालिका, महानगर पालिका, जिला उद्योग केंद्र इत्यादि से संपर्क करे | Shops and Establishment Act के तहत पंजीकरण के अलावा यदि उद्यमी का सालाना टर्नओवर 20 लाख से अधिक एवं कुछ विशेष राज्यों में 10 लाख से अधिक है तो इस स्थिति में जीएसटी पंजीकरण कराना भी अनिवार्य है |

  1. Purchase machinery and Equipment:

अपने Flex printing Business के लिए बिज़नेस पंजीकरण के बाद अब उद्यमी का अगला कदम मशीनरी एवं उपकरणों एवं फ्लेक्स इत्यादि सामान को खरीदने का होना चाहिए | वर्तमान में बाज़ार में भिन्न भिन्न प्रकार की Flex Printing Machine विद्यमान हैं इसके अलावा उद्यमी चाहे तो चीन इत्यादि देशों से भी इस पारकर की मशीनरी एवं उपकरणों को Import कर सकता है |  जानिये चीन से सामान कैसे आयात करें |

  1. Hire Manpower:

उद्यमी को चाहिए की Flex printing Business को शुरूआती दौर में छोटे स्तर पर शुरू करे, इसके लिए उद्यमी को लगभग 3 कर्मचारी काम पर रखने पड़ सकते हैं इनमे एक Graphic Designer दूसरा मशीन ऑपरेटर एवं तीसरा ऑफिस बॉय कम सहायक हो सकते हैं जहाँ तक उद्यमी का सवाल है वह क्लाइंट रिलेशनशिप एवं बिलिंग इत्यादि संभाल सकता है, या उद्यमी खुद Graphic Designer है तो वह केवल दो आदमियों से भी शुरूआती दौर में काम चला सकता है |

  1. Promote your business:

जैसा की हम सबको विदित है की इन दिनों बिना प्रमोशन के किसी बिज़नेस की सफलता की कल्पना तक नहीं की जा सकती इसलिए उद्यमी का अंतिम लेकिन सबसे जरुरी कदम अपने Flex printing business को प्रमोट करने का होना चाहिए इसके लिए उद्यमी ऑफलाइन जैसे बैनर मार्केटिंग, ऑफिस में जाकर विसिटिंग कार्ड छोड़ आना इत्यादि एवं ऑनलाइन वेबसाइट बनाकर गूगल एडवर्ड, फेसबुक, इत्यादि में Campaign चलाना हो सकता है |

Comments

  1. By Yogendra Singh

    Reply

  2. By B.D.KUKRETI

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: