Hawai Chappals Manufacturing Business. - iKamai-Kamai Tips In Hindi

Hawai Chappals Manufacturing Business.

Hawai Chappals Manufacturing business से तात्पर्य Rubber sheet का इस्तेमाल करके चप्पलों का निर्माण करने से है | यद्यपि शहरों में जहाँ चप्पलों का उपयोग सिर्फ घरों में पहनने हेतु किया जाता है वहीँ ग्रामीण इलाकों में लोग चप्पलें पहनकर एक दुसरे के घर, खेतों खलिहानों में, जंगलों में विभिन्न दैनिक कार्यों को निपटाने के लिए जाते हैं | यदि Hawai Chappals की हम बात करें तो इनकी उत्पति पैरों को जमीन पर रहने वाले विभिन्न प्रकार के कंकड़, पत्थर, कांटे, कीड़े मकोड़े इत्यादि से बचाने हेतु हुई थी | किन्तु वर्तमान जीवनशैली में Hawai Chappals लोगों की आधारभूत आवश्यकता में शुमार हैं | आज हम अपनी इस पोस्ट के माध्यम से Hawai Chappals Manufacturing business के बारे में जानने की कोशिश करेंगे |

Hawai Chappals Manufacturing

Hawai Chappals Manufacturing Business Kya Hai:

Hawai Chappals मनुष्य द्वारा अपने पैरों को कीट पतंगों, कंकड़ पत्थर, कांटो से सुरक्षित रखने हेतु पहनी जाती हैं | लेकिन वर्तमान में जैसे मनुष्य जीवन के लिए कपड़े महत्वपूर्ण हैं वैसे ही Chappals भी महत्वपूर्ण होते जा रहे हैं | Hawai Chappals rubber sheet से निर्मित पैरों में पहनी जाने वाली एक वस्तु है जिसका उपयोग पैरों को सुरक्षित रखने के अलावा फैशन के मुताबिक भी किया जाता है | जब कोई उद्यमी rubber sheet को कच्चे माल में उपयोग में लाकर उससे विभिन्न रंग, आकार की Hawai Chappals का निर्माण करता है तो हम कह सकते हैं की वह अमुक उद्यमी Hawai Chappals Manufacturing Business में संलिप्त है |

Market Potential in Hawai Chappals Making Business:

Hawai Chappals का उपयोग दोनों क्षेत्रों ग्रामीण एवं शहरों में किया जाता है | शहरों में जहाँ इनका उपयोग अधिकतर तौर पर फैशन के आधार पर अर्थात अलग अलग आकार रंग की चप्पलों का उपयोग किया जाता है वही ग्रामीण इलाकों में इसका उपयोग इसकी आधारभूत आवश्यकता को मद्देनज़र पैरों को सुरक्षित बनाने हेतु किया जाता है | ग्रामीण इलाकों में जहाँ Hawai Chappls पहनकर लोग प्रतिदिन 5-10 किलोमीटर की यात्रा कर देते हैं जिससे इनके Replacement की अच्छी demand होती है | इसके अलावा शहरों में फैशन के तौर पर इसका उपयोग होने के कारण एक व्यक्ति के पास एक जोड़ी से अधिक Hawai Chappals हो सकती हैं | इसलिए भारत में इनकी पूरे वर्ष अच्छी Demand बनी रहती है इसके अलावा उद्यमी चाहे तो अपने द्वारा उत्पादित उत्पाद को अन्य देशों की तरफ निर्यात भी कर सकता है |

Required Machinery and Raw Materials for Making Hawai Chappals:

Hawai Chappals Manufacturing business start करने के लिए कच्चे माल के तौर पर मुख्य रूप से Light Rubber Sheet की आवश्यकता होती है | Rubber sheet के अलावा strap और पैकेजिंग material भी चाहिए होता है | यद्यपि इस बिज़नेस में काम आने वाला कच्चा माल स्थानीय बाजारों में भी उपलब्ध रहता है लेकिन यदि आसानी से कच्चा माल उपलब्ध न हो तो Google Search करके या India Mart की वेबसाइट के माध्यम से भी कच्चे माल के लिए सप्लायर का चुनाव किया जा सकता है | जहाँ तक मशीनरी का सवाल है कम निवेश में यह बिज़नेस स्टार्ट करने हेतु मशीनरी एवं उपकरणों की लिस्ट निम्नवत है |

  • हाथ से चालित सोल काटने की मशीन (Hand operated sole cutting machine)
  • सोल पर छेद करने वाली मशीन (Hole making machine)
  • फिनिशिंग मशीन (Finishing Machine )
  • विभिन्न आकार, प्रकार रंग की डाई काटने की मशीन (Dies of different colors and designs)
  • अन्य हस्तचालित उपकरण (Hand operated tools & equipments)

यह भी पढ़ें –

जूते बनाने का काम कैसे शुरू करें |

जूते बनाने की प्रक्रिया की जानकारी |  

Manufacturing Process Of Hawai Chappals:

Hawai Chappals बनाने की विधि को मुख्य रूप से दो भागों में विभाजित किया जा सकता है |

  • हवाई शीट या strap तैयार करना |
  • शीट की साइज़ के आधार पर कटिंग और strap लगाना |

सर्वप्रथम Rubber sheet को आकार देकर Cutting Mould Machine के माध्यम से काट लिया जाता है, सोल काटने के बाद उसमे छेद करना होता है जिसे ड्रिलिंग मशीन से भी अंजाम दिया जा सकता है | उसके बाद तैयार किये गए strap को चप्पल पर लगाया जाता है | Hawai Chappals Manufacturing में उसके बाद Finishing Machine की मदद से Finishing Process को अंजाम दिया जाता है | फिनिशिंग की प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद Hawai Chappals का गुणवक्ता की दृष्टि से निरीक्षण किया जाता है | निरीक्षण बिन्दुओं पर खरा उतरने के बाद चप्पल को पैकेजिंग करके मार्किट में बेचकर कमाई की जा सकती है |

Comments

  1. By Ganesh Patil

    Reply

  2. By Manoj kumar

    Reply

  3. By Mithun

    Reply

  4. By शेरसिह

    Reply

  5. By ganesh

    Reply

  6. By ganesh

    Reply

  7. By Dharmendra khoja

    Reply

  8. By b Marothiya

    Reply

  9. By Ramdeva Ram

    Reply

  10. By Sunil kumar kushwaha

    Reply

  11. By Rahul singh

    Reply

  12. By shahid

    Reply

  13. By My Bargujar

    Reply

  14. By MADAN SINGH NEGI

    Reply

  15. By shiv Kumar

    Reply

  16. By jalandhar singh

    Reply

  17. By dev prakash

    Reply

  18. By Vinod kumar

    Reply

  19. By JITENDRA PRASAD

    Reply

    • By Chhitar Gurjar

    • By J varade

  20. By Abhijit magdum

    Reply

  21. By susheel sahu

    Reply

  22. By javid

    Reply

  23. By Asfak Ahmed

    Reply

  24. By ANIL SAXENA

    Reply

  25. By raja kumar

    Reply

  26. By तिमीर उपाध्याय

    Reply

  27. By Pramod tiwary

    Reply

  28. By Sultan

    Reply

  29. By Govind patidar

    Reply

  30. By jannat hussain

    Reply

  31. By Tarachand

    Reply

    • By kapil

  32. By rajk5

    Reply

    • By kapil

  33. By pankaj maurya

    Reply

  34. By pintu

    Reply

  35. By Irshad Ahmad

    Reply

  36. By Kundan Sahay

    Reply

  37. By Anurag Agarwal

    Reply

  38. By juned

    Reply

  39. By Azad kumar

    Reply

  40. By Rabindra mahato

    Reply

  41. By Deendayal

    Reply

  42. By Ram Chander Bishnoi

    Reply

  43. By SANDIP Gupta

    Reply

  44. By Rahul kumar

    Reply

  45. By raju rao

    Reply

  46. By Ajeet

    Reply

  47. By सुधीर कुमार चौरसिया

    Reply

  48. By abhishek soni

    Reply

  49. By vijay gupta

    Reply

  50. By प्रकाश शिंदे

    Reply

  51. By Rambilash

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: