Ice Cream Cone Manufacturing business आइसक्रीम उद्योग पर आधारित बिज़नेस इसलिए है क्योंकि इसका उपयोग आइसक्रीम बनाने वाले या बेचने वाले उद्यमियों द्वारा अपनी आइसक्रीम को ग्राहकों को बेचते वक्त किया जाता है | यह वस्तु इंडिया में मुख्य रूप से गर्मियों में जब आइस क्रीम की बिक्री अधिक मात्रा में होती है बहुत बड़े पैमाने पर उपयोग में लायी जाती है | Ice Cream cone नामक इस वस्तु के बाहर से Texture design की जाती है और इसकी मदद से Ice Cream को बिना कटोरी चम्मच के आराम से खाया जा  सकता है | यद्यपि बाज़ार में आइसक्रीम भिन्न भिन्न Verities में उपलब्ध होती हैं इसलिए इन्हें ग्राहकों को बेचने के तरीके भी अलग अलग होते हैं | बहुत सारी आइसक्रीम को कटोरी में खाया जाता है तो किसी को कप में इसके अलावा ब्रिक्स, कैंडीज, स्लाइस में भी आइसक्रीम उपलब्ध हैं | लोगों की जीवनशैली में हो रहे दिनोदिन परिवर्तनों के कारण आइसक्रीम का उपयोग क्षेत्र भी बढ़ा है | आयोजन चाहे किसी प्रकार का हो चाहे व्यवसायिक हो या पारिवारिक आइसक्रीम को Menu का हिस्सा अवश्य बनाया जाता है | आइसक्रीम को सर्व करने का जो सबसे प्रचलित एवं सुरक्षित तरीका है वह है  आइस क्रीम कोन में रखकर सर्व करना, क्योकि यह तरीका सुरक्षित होने के अलावा वातावरण को साफ़ सुथरा बनाने में भी मदद करता है आइसक्रीम के साथ साथ Ice Cream Cone को भी खाया जा सकता है इसलिए इसे उपयोग में लाने पर किसी प्रकार की Disposal की समस्या नहीं आती है |

Ice Cream Cone manufacturing-business

Ice Cream Cone manufacturing Business Kya Hai:

Ice cream cone एक शंकु आकार की वस्तु होती है जिसमे आइसक्रीम भरकर खायी जाती है | शंकु आकार होने के कारण इसे Cone की संज्ञा दी गई है | इसका उपयोग आइसक्रीम खाने में सबसे प्रचलित है जहाँ कप, कटोरी में आइसक्रीम खाने से कप और चम्मच को कही न कहीं फेंकना पड़ता है | अक्सर लोग dustbin न मिलने के कारण इन्हें सड़कों पर ही फ़ेंक देते हैं जबकि Ice Cream cone को उपयोग में लाने से यह समस्या ही ख़त्म हो जाती है | इसलिए वातावरण को साफ़ सुथरा बनाने के उद्देश्य से भी इनका उपयोग उचित है | जब किसी उद्यमी द्वारा आइस क्रीम कोन बनाकर इन्हें आइसक्रीम बनाने वाले बेचने वाले दुकानदारों को बेचकर अपनी Kamai की जाती है, तो हम कह सकते हैं की वह व्यक्ति Ice Cream Cone Manufacturing business कर रहा है |

बिक्री संभाव्यता (Market Potential) :

जैसा की हम उपर्युक्त वाक्य में बता चुके हैं की आइस क्रीम कोन की खपत लोगों के आइस क्रीम खाने की आदतों पर निर्भर करती है वर्तमान में लोगों द्वारा कप में आइसक्रीम डालकर चम्मच के माध्यम से भी आइसक्रीम खायी जाती है | लेकिन साफ़ सफाई के प्रति लोगों में बढती जागरूकता और वर्तमान सरकार द्वारा चलाया गया अभियान कही न कही लोगो को साफ़ सफाई के प्रति सोचने को आकर्षित करता है | जहाँ पहले आइसक्रीम को लोग इसे आइस क्रीम पार्लर में जाकर या फिर सडको की साइड में जाकर खाया करते थे आजकल इसका चलन अनेक कार्यक्रमों जैसे शादी, बर्थ डे पार्टी एवं अन्य आयोजनों में भी हो रहा है | इस बिज़नेस को करने का मार्केटिंग की दृष्टि से एक और फायदा होता है की लोग आइस क्रीम को तो ब्रांड के नाम से अवश्य जानने की कोशिश करते हैं लेकिन जब बात Ice Cream Cone की आती है तो आइस क्रीम बेचने वाले से कोई नहीं पूछता है की यह कौन सी कंपनी की है इसलिए कोई नया उद्यमी भी इस बिज़नेस को शुरू करके अपने उत्पाद को स्थानीय बाज़ार में उपलब्ध आइसक्रीम विक्रेताओं को आसानी से बेच सकता है |

Required Raw Materials and Machinery to making Ice Cream Cone:

Ice Cream Cone Manufacturing business में विभिन्न प्रकार की मशीनरी एवं Raw Materials उपयोग में लायी जाती है | हालांकि बाज़ार में Automatic आइस क्रीम कोन Making Machine भी उपलब्ध है जो अन्य सभी सहायक मशीनरी जैसे Sifter, Dough Kneader, Sugar Pulverizer इत्यादि के साथ आती है | लेकिन यदि उद्यमी थोडा कम निवेश करके यह बिज़नेस स्टार्ट करना चाहे तो उसके लिए मशीनरी एवं उपकरणों की लिस्ट निम्नवत है |

  • कच्चे माल को मिक्स करने का टैंक |
  • स्टैंड के साथ Dough Collector Tank |
  • Ice Cream Cone Making Machine |
  • लैब उपकरण |

इस बिज़नेस को स्टार्ट करने में प्रयुक्त होने वाले कच्चे माल की लिस्ट कुछ इस प्रकार से है |

  • गेहूं का आटा
  • मक्के का आटा
  • अरारोट पाउडर
  • सोडा
  • चीनी एवं रंग
  • बैंकिंग पाउडर, नमक इत्यादि |

Manufacturing Process of Ice Cream Cone:

Ice Cream cone manufacturing process में सर्वप्रथम आवश्यकतानुसार गेहूँ के आटे, अरारोट पाउडर, बैंकिंग पाउडर, रंग , नमक, चीनी को मिला दिया जाता है | उसके बाद इस मिश्रण को मनचाहा रंग देने के लिए इसमें रंग मिलाकर इसे लगभग 30 minutes के लिए छोड़ दिया जाता है | Uniform Cups की मदद से सर्विस प्लेटर से इस पतले मिश्रण को ले लिया जाता है और एक जगह पर रख दिया जाता है | इसके साथ ही Cone making machine को चालित करके Machine में लगे Moulds को गरम किया जाता है और उसे कुछ समय के लिए लॉक किया जाता है | उसके बाद मिश्रण को मशीन में डालकर समान रूप से फैलाया जाता है और मशीन के उपरी भाग को लगभग 12-15 minutes के लिए लॉक कर दिया जाता है | उसके बाद मशीन को खोलकर निर्मित Ice Cream Cone को किसी बर्तन में निकाला जाता है | उसके बाद उद्यमी इनकी पैकेजिंग करके आइस क्रीम बेचने वाले उद्यमियों को बेचकर अपनी कमाई कर सकता है |

Ice Cream Cone Manufacturing business खाद्य पदार्थ से सम्बंधित बिज़नेस होने के कारण उद्यमी को इसका उत्पादन PFA act के तहत दिए गए दिशानिर्देशों के अंतर्गत करना पड़ेगा और FSSAI से लाइसेंस लेना अनिवार्य है |

यह भी पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published

error: