आर्गेनिक फूड स्टोर कैसे खोलें? How to Start a Organic Food Store Business.

वर्तमान में देखा जाय तो देश में ही नहीं अपितु सम्पूर्ण वैश्विक स्तर पर Organic Food Store की संख्या में तेजी से वृद्धि देखने को मिल रही है। इसका मूल कारण लोगों में बढती जागरूकता एवं अपने स्वास्थ्य के प्रति चिंतित रहना है । जी हाँ यह एक वैज्ञानिक तथ्य है की आर्गेनिक खाद्य पदार्थ नॉन आर्गेनिक खाद्य पदार्थों से शरीर के लिए अधिक फायदेमंद होते हैं। यही कारण है की खाद्य पदार्थों पर थोड़ा अधिक खर्च करने की क्षमता रखने वाले लोग आर्गेनिक खाद्य पदार्थों को ही खरीदना पसंद करते हैं। इसलिए एक आंकडें के मुताबिक अगले तीन वर्षों में आर्गेनिक खाद्य पदार्थों का बाजार 25% तक बढ़ सकता है। यद्यपि भारत जैसे जनसँख्या की दृष्टी से विशालकाय देश की खाद्य आपूर्ति को केवल आर्गेनिक खाद्य पदार्थों के माध्यम से पूरा नहीं किया जा सकता है। इसलिए बाज़ारों में नॉन आर्गेनिक खाद्य पदार्थों की सप्लाई अधिक है। लेकिन लोगों में अपने स्वास्थ्य के प्रति बढती जागरूकता के कारण देश में Organic Food Store की माँग तेजी से बढ़ रही है। इसलिए इस लेख में आज हम इसी विषय पर विस्तृत तौर पर जानने का प्रयत्न कर रहे हैं। लेकिन उससे पहले हमारे लिए यह जान लेना भी जरुरी है की आर्गेनिक फ़ूड होता क्या है? और यह स्वास्थ्य के लिए किस प्रकार लाभदायक होते हैं? और वैश्विक स्तर पर इस तरह का बिजनेस क्यों तेजी से बढ़ रहे हैं?। इन्हीं सब सवालों का जवाब देने के लिए आइये शुरू करते हैं।

Organic Food Store Business

आर्गेनिक फ़ूड क्या हैं? (Definition of Organic Food) 

जैसा की हम सबको विदित है की मनुष्य द्वारा ग्रहण किये जाने वाले अधिकतर खाद्य पदार्थ खेती करके पैदा किये जाते हैं । और वर्तमान में प्रमुख तौर पर खेती करने के तरीके को दो श्रेणी आर्गेनिक एवं नॉन आर्गेनिक में विभाजित किया जा सकता है। आर्गेनिक फार्मिंग यानिकी जैविक खेती (जिसमें कुछ निश्चित केमिकल, कीटनाशक इत्यादि दवाओं का इस्तेमाल वर्जित है) के माध्यम से उत्पादित खाद्य उत्पादों को Organic Food कहा जाता है। ये खाद्य पदार्थ कुछ भी अनाज, सब्जी, फल इत्यादि हो सकते हैं। कहने का आशय यह है की कीटनाशक, केमिकल इत्यादि का इस्तेमाल किये बिना या बेहद कम इस्तेमाल के द्वारा की जाने वाली खेती से उत्पादित खाद्य पदार्थों को आर्गेनिक फूड की संज्ञा दी जा सकती हैं। इनके उत्पादन में जैविक खाद जैसे मवेशियों से जनित खाद, बकरी से उत्पादित खाद, पोल्ट्री से उत्पादित खाद का इस्तेमाल किया जाता है जो स्वास्थ्य एवं पर्यावरण दोनों के अनुकूल होती हैं। जहाँ तक Organic Food स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद क्यों होते हैं? का सवाल है उसका जवाब यह है की क्योंकि इनके उत्पादन में विषाक्त कीटनाशक दवाओं एवं केमिकल का इस्तेमाल नहीं हुआ होता है इसलिए आर्गेनिक खाद्य पदार्थ स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं। और वर्तमान में चूँकि हर मनुष्य स्वस्थ जीवन जीने की अपेक्षा रखता है इसलिए वह अपने स्वास्थ्य के प्रति काफी जागरूक है यही कारण है की देश विदेश में Organic food Store की संख्या तीव्र गति से बढ़ रही है।

आर्गेनिक फूड स्टोर बिजनेस कैसे शुरू करें (Steps to Start Organic Food Store Business) 

हालांकि देखा जाय तो Organic Food Store business शुरू करना बेहद ज्यादा मुश्किल भरा काम बिलकुल भी नहीं है। बल्कि यह एक ऐसा बिजनेस है जिसे उद्यमी बेहद कम निवेश 15-25 हजार के साथ छोटे स्तर पर आसानी से शुरू कर सकता है। लेकिन यदि बिजनेस उचित तरीके, प्रक्रिया, लोकेशन, ग्राहक, सप्लाई इत्यादि को ध्यान में रखकर किया जाय तो उसकी सफलता की ज्यादा संभावना रहती है।

1.आर्गेनिक फूड सप्लायर

यद्यपि देखा जाय तो Organic Food Product नॉन आर्गेनिक की तुलना में स्वास्थ्यप्रद तो होते हैं लेकिन ये महंगे भी होते हैं। लेकिन इसके बावजूद इन खाद्य उत्पादों की माँग बाजार में हमेशा रहती है इसलिए हो सकता है की इस तरह के उत्पादों के बिजनेस में माँग एवं सप्लाई में अंतर देखा जा सके अर्थात सप्लाई से अधिक माँग हो सकती है। इसलिए इस तरह का बिजनेस करने के लिए सबसे पहले यह जरुरी हो जाता है की उद्यमी उस क्षेत्र में आर्गेनिक फूड का कोई ऐसा सप्लायर का चयन करे जो उसकी माँग के मुताबिक उसे उसकी लोकेशन पर नियमित सप्लाई देने में सक्षम हो। इसके अलावा उद्यमी चाहे तो सीधे जैविक खेती करने वाले किसानों से भी खाद्य उत्पादों को खरीद सकता है। लेकिन यदि उस क्षेत्र में जैविक खेती करने वाले किसान नहीं हैं तो उद्यमी को पूर्ण रूप से सप्लायर या फिर फल, सब्जी, अनाज की स्थानीय मार्किट पर निर्भर रहना पड़ेगा।     

2. स्टोर के लिए लोकेशन (Select Location for Organic Food Store)

Organic Food Store Business शुरू करने से पहले उद्यमी को एक बात का ध्यान अवश्य रखना होगा की आर्गेनिक प्रोडक्ट नॉन आर्गेनिक की तुलना में महंगे होते हैं। इसलिए एक आम आदमी को जब आप दो तरह के आलू दिखाकर उनके अलग अलग दाम बताते हैं तो ज्यादा संभावना यही रहती है की वह एक समान दिखने वाले सस्ते आलू को ख़रीदे। इसलिए उद्यमी को किसी ऐसी लोकेशन पर अपने Organic Food Store के लिए जगह तलाश करनी होगी जहाँ पर आर्थिक रूप से माध्यम या उच्च वर्ग की जनसँख्या अधिक हो। क्योंकि इन वर्गों में जैविक उत्पादों के प्रति जागरूकता तो होती ही है साथ में इन पर खर्च करने की भी क्षमता होती है। यद्यपि किसी भीड़ भाड़ जहाँ से दिन में हजारों लोगों की आवाजाही होती हो, या फिर कोई ऐसी जगह जहाँ पर्यटकों एवं होटल की संख्या अधिक हो, पर भी इस तरह का बिजनेस करना लाभकारी हो सकता है। इसके अलावा उद्यमी को लोकेशन चयन करते समय कुछ बुनियादी सुविधाओं जैसे सड़क, बिजली, पानी, प्रतिस्पर्धा इत्यादि का भी ध्यान रखना होगा। कहने का आशय यह है की यदि एक ऐसी लोकेशन जहाँ पर पहले से अनेकों Organic Food Store उपलब्ध हों। और उनके पास ही काम न हो तो ऐसी लोकेशन पर फिर से वही बिजनेस शुरू करना समझदारी नहीं है। दूसरी तरफ एक ऐसी लोकेशन जहाँ पर भले ही इस तरह के दस स्टोर क्यों न हों? लेकिन वे ग्राहकों की माँग की पूर्ति कर पाने में असमर्थ हों, या उनके पास उनकी क्षमता से अधिक काम हो तो ऐसी लोकेशन पर बिजनेस शुरू करना लाभप्रद हो सकता है।           

3. आर्गेनिक फूड स्टोर हेतु आवश्यक लाइसेंस एवं पंजीकरण

यद्यपि छोटे स्तर पर इस तरह का बिजनेस शुरू करने के लिए स्थानीय प्राधिकरण एवं शॉप एंड एस्टाब्लिश्मेंट सर्टिफिकेट की आवश्यकता हो सकती है। लेकिन यदि उद्यमी बड़े स्तर पर Organic Food Store Business शुरू करने की सोच रहा हो जिसमें वह आर्गेनिक उत्पादों की पैकेजिंग इत्यादि भी करे। तो उसे अनेकों लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता हो सकती है जिनमें से कुछ का संक्षिप्त विवरण निम्नवत है।

  • जैसा की हम सबको विदित है की खाद्य पदार्थों से जुड़ा कोई भी बिजनेस हो तो उसके लिए एफएसएसआई लाइसेंस की आवश्यकता होती है। इसलिए इस तरह का बिजनेस शुरू करने वाले उद्यमी को भी इसकी आवश्यकता हो सकती है।
  • उद्यमी चाहे तो अपने Organic Food Store की विश्वसनीयता बढ़ाने के लिए इसे आर्गेनिक व्यापार ट्रेड एसोसिएशन के माध्यम से प्रमाणित करा सकता है।
  • चूँकि यह लोगों के स्वास्थ्य से जुड़ा हुआ विषय भी है इसलिए उद्यमी को अपने ग्राहकों को विश्वास दिलाने एवं आकर्षित करने के लिए राज्य के स्वास्थ्य विभाग से भी प्रमाणीकरण करा लेना चाहिए।
  • उद्यमी को अपने बिजनेस को संचालित करने के लिए विधिक स्वरूप जैसे प्रोपराइटरशिप, पार्टनरशिप, प्राइवेट लिमिटेड, लिमिटेड इत्यादि का भी चयन करके कंपनी रजिस्ट्रार में रजिस्टर करने की आवश्यकता हो सकती है।
  • उपर्युक्त प्रक्रियाओं के अलावा उद्यमी को रेंट एग्रीमेंट, बिजनेस के नाम से करंट खाता इत्यादि की भी आवश्यकता हो सकती है।   

4. कर्मचारी इंटरव्यू एवं नियुक्ति

यद्यपि Organic food Store Business शुरू करने वाले उद्यमी को किस तरह के स्टाफ की आवश्यकता होगी यह उसके बिजनेस के आकार पर निर्भर करता है। यदि उद्यमी छोटे स्तर पर इस बिजनेस को शुरू करके एक छोटी सी दुकान के माध्यम से आर्गेनिक उत्पादों की बिक्री करने की सोच रहा है तो वह यह काम अकेले या फिर किसी एक अकुशल व्यक्ति को साथ में काम पर रखकर भी कर सकता है। अकुशल इसलिए क्योंकि कुशल व्यक्ति को वेतन अधिक देना पड़ सकता है। लेकिन यदि उद्यमी थोड़े बड़े स्तर पर अर्थात 12-15 लाख रूपये निवेश करके इस तरह का बिजनेस शुरू करता है तो उसे रिसेप्शनिस्ट, केशियर, सेल्स गर्ल मैन, स्टोर मैनेजर इत्यादि की आवश्यकता हो सकती है। इन सब कार्यों को निष्पादित करने के लिए व्यक्ति को कुशल स्टाफ को नियुक्त करने की आवश्यकता होती है।        

5. स्टोर मैनेजमेंट (Manage Your Organic Food Store)

Organic Food Store का मैनेजमेंट यानिकी प्रबंधन का काम यद्यपि उद्यमी द्वारा नियुक्त किये गए स्टोर मेनेजर संभाल सकता है। लेकिन स्टोर का अच्छे ढंग से प्रबंधन करने के लिए वह उद्यमी को अनेकों आईडिया भी दे सकता है जिन्हें अमल में लाने के लिए उद्यमी को पैसे खर्च करने की आवश्यकता होगी। जैसे यदि उद्यमी चाहता है की वह कर्मचारियों के काम एवं ग्राहकों की चोरी की करतूत पर नज़र रखे तो वह अपने स्टोर में सीसीटीवी कैमरे लगवा सकता है। कोशिश करनी चाहिए की स्टोर में प्रतिदिन की कैश में हुई बिक्री बिजनेस के चालू खाते में जमा हो जाय स्टोर में बहुत अधिक कैश न रखें। हो सके तो वेंडर इत्यादि को भी कैश में भुगतान न करके चेक या ऑनलाइन पेमेंट के माध्यम से भुगतान करें और अपने बिजनेस के लिए भी कार्ड स्वेप से लेकर पेटीएम इत्यादि तक के भुगतान विकल्प रखें। ताकि ऐसे ग्राहक जो कैश नहीं भी रखते हों आपके Organic Food Store से खरीदारी कर पाने में सक्षम हों ।     

6. बिक्री कीमत तय करें

अब जब उद्यमी अपने आर्गेनिक फूड स्टोर को व्यवस्थित तरीके से संचालित करने के लिए सारी प्रक्रियाएं पूर्ण कर चूका हो। तो अब उसे इस बात का निर्णय लेना होगा की वह अपने उत्पादों को बेचकर कितना प्रतिशत मुनाफा कमाना चाहता है हालांकि यह सब निर्धारित करने से पहले उद्यमी को उत्पादों की उपलब्धता, खरीद कीमत एवं प्रतिस्पर्धा का ध्यान रखना पड़ता है।  जिस क्षेत्र में उद्यमी Organic Food Store Business शुरू करना चाहता है यदि उस क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा अधिक है तो उद्यमी को अपना प्रॉफिट मार्जिन कम करना होगा ताकि वह अधिक से अधिक ग्राहकों को आकर्षित कर सके। और यदि प्रतिस्पर्धा नहीं है या कम है तो किसी अन्य स्टोर का विजिट करके और उनसे प्रॉफिट मार्जिन की जानकारी लेकर उद्यमी कीमत तय कर पाने में सफल होगा।    

7. मार्केटिंग (Develop Marketing Strategy for Organic Food Store)

जैसा की हम उपर्युक्त वाक्यों मर भी बता चुके हैं की Organic Food Store Business में उद्यमी के ग्राहक सिर्फ वे लोग होते हैं जिन्हें आर्गेनिक एवं नॉन आर्गेनिक में अंतर पता होता है और उन्हें उनके स्वास्थ्य पर पड़ने वाले इन दोनों के असर के बारे में पता होता है। चूँकि आर्गेनिक खाद्य उत्पादों की कीमतें अधिक होती हैं इसलिए आम आदमी इनके ग्राहक नहीं है। कहने का अभिप्राय यह है की इस तरह के बिजनेस के लिए अधिक मार्केटिंग की आवश्यकता इसलिए नहीं होती क्योंकि जिन्हें आर्गेनिक उत्पादों की आवश्यकता होती है वे किसी से पूछकर स्वयं ही स्टोर तक पहुँच जाते हैं। लेकिन इसके बावजूद उद्यमी को चाहिए की वह अपने Organic Food Store Business के लिए समय, क्षेत्र, टारगेट ग्राहकों को ध्यान में रखकर एक मजबूत मार्केटिंग रणनीति बनाये। और उसी रणनीति को अमल में लाकर अपने ग्राहक एवं बिक्री दोनों बढाकर अपनी कमाई बढ़ाये। 

यह भी पढ़ें

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *