टायर की दुकान कैसे खोलें? How to Start a Tyre Store Business In India.

Tyre Store की बात करें तो टायर का बिजनेस ऑटोमोबाइल सेक्टर में एक बेहद महत्वपूर्ण एवं प्रमुख व्यवसायों की लिस्ट में शामिल है । इसलिए जब भी किसी व्यक्ति द्वारा ऑटोमोबाइल सेक्टर से कोई बिजनेस शुरू करने के बारे में सोचा जाता है तो वह एक बार टायर की दुकान के बारे में भी अवश्य विचार करता है। यद्यपि आम तौर पर दुनिया में चल रहे टायरों की श्रेणी को वाहनों के आधार पर  प्रमुख रूप से छह श्रेणियों में बांटा जा सकता है।  कार के पहिये, बस के पहिये, मोटरबाइक के पहिये, ऑटो के पहिये, ट्रक के पहिये इत्यादि शामिल हैं। चूँकि वर्तमान में सड़कों पर वाहनों की संख्या लगातार बढती जा रही है और बिना टायर के किसी भी वाहन की कल्पना तक नहीं की जा सकती है। इसलिए यदि आप ऑटोमोबाइल सेक्टर में कोई रिटेल बिजनेस शुरू करने की सोच रहे हैं तो Tyre Store का बिजनेस उपयुक्त हो सकता है। हालांकि उद्यमी को कार उपकरण एवं टायर बैलेंसिंग जैसी फैसिलिटी भी अपनी दुकान पर देनी होगी ताकि उद्यमी की दुकान में ग्राहक आने में हिचकिचाएं नहीं।

Tyre Store Business

टायर स्टोर बिजनेस कैसे शुरू करें (How to Start Tyre Store Business)    

Tyre Store शुरू करने से पहले उद्यमी को विभिन्न श्रेणियों के टायरों के बारे में जानकारी लेनी होगी कहने का आशय यह है की इस तरह का यह बिजनेस शुरू करने के लिए व्यक्ति के पास उपयुक्त जानकारी का होना अति आवश्यक है। इसके अलावा उद्यमी को उस एरिया विशेष में अपने प्रतिस्पर्धी इत्यादि के बारे में भी जानकारी जुटानी होती है।

मार्किट रिसर्च करें

Tyre Store Business शुरू करने की दिशा में जो सबसे पहला कदम उठाने की आवश्यकता होती है वह होता है मार्किट रिसर्च का काम इस प्रक्रिया के अंतर्गत उद्यमी को जहाँ वह यह बिजनेस करना चाहता है वहां के स्थानीय लोगों की माँग का जायजा लेना होता है। और साथ में इस बात का भी आकलन करना होता है की वहाँ स्थानीय लोगों के पास अधिकतर कौन कौन एवं किस तरह के वाहन हैं। पब्लिक ट्रांसपोर्ट का भी आकलन करना होता है की उस एरिया में अधिकतर किस तरह के वाहन चलन में हैं। प्रमुख तौर पर देखा गया है की टायर स्टोर आम तौर पर नगरों एवं शहरों में अधिक बिजनेस करते हैं। इसके अलावा एक व्यस्त हाईवे पर यदि यह दुकान हो तो यह बात भी इस तरह के बिजनेस को प्रभावित करती है। इसलिए सबसे पहले उद्यमी को मार्किट रिसर्च के माध्यम से स्थानीय माँग, प्रतिस्पर्धा, सर्वाधिक वाहन के प्रकार एवं लोकेशन इत्यादि का आकलन करने की आवश्यकता होती है।       

प्रोडक्ट का चुनाव करें

Tyre Store में उद्यमी कौन कौन सी इन्वेंटरी रखेगा वह इस बात पर निर्भर करेगा की उस एरिया विशेष में अधिकतर कौन से वाहन लोगों के पास हैं। और कौन से वाहनउस एरिया विशेष में अधिक चलते हैं। उद्यमी चाहे तो सभी प्रकार के वाहनों जैसे दुपहिया, तिपहिया, चौपहिया सभी प्रकार के वाहनों में इस्तेमाल में लाये जाने वाले टायर बेच सकता है। जहाँ तक इन्वेंटरी का सवाल है वह इस बात पर निर्भर करेगा उस स्थान विशेष में चलाने वाले वाहन नए हैं या पुराने सामन्य तौर पर नए वाहनों को टायर इत्यादि बदलने की आवश्यकता नहीं होती है। उद्यमी चाहे तो अपनी टायर की दुकान में केवल टायर ही नहीं बल्कि रिम एवं टायर ट्यूब भी बेच सकता है।  

टायर की दुकान का प्रकार चुनें (Select Types of Tyre Shop)

इस तरह का यह बिजनेस अर्थात Tyre Store शुरू करने के अनेकों तरीके हो सकते हैं अर्थात उद्यमी चाहे तो खुद का एक ऐसा स्टोर शुरू कर सकता है जहाँ लगभग सभी कम्पनियों के टायर मिलते हों। इसके अलावा उद्यमी चाहे तो किसी प्रसिद्ध टायर कंपनी की फ्रैंचाइज़ी लेकर भी यह बिजनेस शुरू कर सकता है। हालांकि अधिकतर टायर की दुकान के मालिक वर्तमान में भिन्न भिन्न कम्पनियों के टायर बेचना ही पसंद करते हैं।  इसलिए Tyre Store Business शुरू करने के लिए उद्यमी को इस बात का निर्णय लेना होगा की वह किसी प्रसिद्ध कम्पनी की फ्रैंचाइज़ी लेना चाहता है या फिर अलग अलग कंपनियों के टायर बेचकर पैसे कमाना चाहता है।    

लोकेशन का चुनाव करें:

जैसा की अन्य रिटेल बिजनेस के लिए होता है एक अच्छी लोकेशन का होना Tyre Store के लिए भी बेहद जरुरी है । कहने का आशय यह है की टायर की दुकान की सफल होगी या असफल यह इस बात पर निर्भर करता है की लोकेशन कैसी है। उद्यमी को चाहिए की वह एक ऐसी लोकेशन का चुनाव करे जो व्यस्त हाईवे रोड पर विद्यमान हो इसके अलावा सड़क से आसानी से दिख जाय। इसके अलावा उद्यमी किसी पेट्रोल पंप के नज़दीक या गैस स्टेशन के नज़दीक जहाँ गाड़ियाँ ईधन भरवाते आती रहती हों पर भी अपनी दुकान खोल सकता है। इसके अलावा उद्यमी को विभिन्न उपकरणों एवं उन्हें स्टोर करने की जगह की भी आवश्यकता होगी इसलिए लोकेशन चयन करते समय इस बात का विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए। उद्यमी चाहे तो किसी इंटीरियर डिज़ाइनर को फ्लोर प्लान बनाने के लिए नियुक्त कर सकता है। क्योंकि इसमें उद्यमी को ऑफिस, स्टोरेज, उपकरण इंस्टालेशन, ग्राहकों के इंतजार करने की जगह इत्यादि सभी कुछ का निर्णय लेना होता है।       

आवश्यक लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन

यद्यपि इस तरह के रिटेल बिजनेस को कंपनी रजिस्ट्रार के साथ रजिस्टर करें न करें लेकिन स्थानीय नियमों के मुताबिक स्थानीय प्राधिकरण से ट्रेड लाइसेंस अवश्य ले लें। हालांकि उद्यमी चाहे तो प्रोप्राइटर्शिप के तौर पर अपने बिजनेस को रजिस्टर कर सकता है और इसके अलावा शॉप एंड एस्टाब्लिश्मेंट एक्ट एवं उद्योग आधार के तहत भी रजिस्टर कर सकता है। उद्यमी को टैक्स रजिस्ट्रेशन जैसे जीएसटी रजिस्ट्रेशन इत्यादि की भी आवश्यकता हो सकती है। इसके अलावा उद्यमी चाहे तो किसी प्रसिद्ध टायर कंपनी की डिस्ट्रीब्यूटरशिप लेकर भी इस बिजनेस को शुरू कर सकता है। उद्यमी को बिजनेस के नाम से डोमेन रजिस्ट्रेशन कराने की भी आवश्यकता होती है ताकि वह  अपने बिजनेस की ऑनलाइन उपस्थिति बनाकर ऑनलाइन मार्केटिंग कर सके।    

इन्वेंटरी, इक्विपमेंट एवं टायर खरीदें

Tyre Store Business के लिए यदि हम प्रमुख आवश्यक इन्वेंटरी की बात करें तो उद्यमी को विभिन्न आकार साइज़ एवं वाहनों के प्रकार के आधार पर विभिन्न टायर खरीदने की आवश्यकता होती है। कहने का आशय यह है की स्थानीय लोगों की माँग के मुताबिक उद्यमी को विभिन्न प्रकार के टायरों को खरीदने की आवश्यकता होती है। इसके अलावा उद्यमी को रिम, वाल्व, ट्यूब इत्यादि खरीदने की भी आवश्यकता होती है। इसके अलावा कुछ और जरुरी उपकरण जैसे टायर बैलेंसिंग, centering डिवाइस, टायर चेंजर, टायर प्रेशर, पतेर्ण मैनेजमेंट सिस्टम, इम्पैक्ट रिंचेज इत्यादि खरीदने की आवश्यकता हो सकती है। इन्हें खरीदने से पहले उद्यमी को चाहिए की वह उस एरिया में उपलब्ध कम से कम तीन सप्लायर से कोटेशन मंगाएं और फिर उनका तुलनात्मक अंतर करके किसी अच्छे सप्लायर का चुनाव करके उसे आवश्यक सामग्री आर्डर करें।      

कर्मचारियों की नियुक्ति करें :

Tyre Store Business के लिए उद्यमी को कुशल एवं मेहनती कर्मचारियों की आवश्यकता होती है जो वाहनों के टायर सम्बन्धी सभी समस्याओं को हल करने की क्षमता रखते हों। इसलिए कर्मचारियों की नियुक्ति करते समय उद्यमी को इस बात का ध्यान रखना होगा की उनके पास काम करने का कम से कम अनुभव अवश्य हो। उद्यमी चाहे तो किस ऑटोमोबाइल इंजिनियर की नियुक्ति भी अपने कर्मचारी के तौर पर कर सकता है हालांकि उद्यमी को इंजिनियर की नियुक्ति थोड़ी महंगी पड़ सकती है। लेकिन यदि उद्यमी के ग्राहक संतुष्ट रहे तो उसके ग्राहक बढाने में भी ऑटोमोबाइल इंजिनियर महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है।  

विज्ञापन करें (Advertise Tyre Store):

यद्यपि उद्यमी को अपने बिजनेस का विज्ञापन करने के लिए न सिर्फ्ग बजट की आवश्यकता होगी बल्कि एक अच्छे ढंग से बनाया गया एडवरटाईजमेंट प्लान की भी आवश्यकता होगी। विज्ञापन की योजना बनाते समय उद्यमी को उसके टारगेट कस्टमर के बारे में पता होना चाहिए ताकि वह उन्हीं के मुताबिक विज्ञापन की योजना बना सके। उद्यमी चाहे तो अपने Tyre Store business को निम्न तरीकों से भी सफल बनाने की कोशिश कर सकता है ।

  • टायर स्टोर का उदघाटन ऐसा हो की उसी दिन अधिक से अधिक लोगों को पता चल जाय की यहाँ पर टायर की दुकान खुली है। उद्घाटन का प्रचार करने के लिए उद्यमी पोस्टर इत्यादि वितरित कर सकता है ।
  • अपने ग्राहकों को उद्यमी पिक अप और डिलीवरी की फैसिलिटी मुहैया करा सकता है।
  • टायर के साथ एक्सेसरीज इत्यादि खरीदने पर उद्यमी अपने ग्राहकों को कुछ डिस्काउंट ऑफर कर सकता है।
  • टायर खरीदारी पर टायर की बैलेंसिंग इत्यादि सेवाएं मुफ्त में ऑफर की जा सकती हैं।
  • उद्यमी को अपने Tyre Store में सभी कम्पनियों की एवं हर आकार के टायर रखने होंगे ताकि जो भी ग्राहक आये वह बिना कुछ ख़रीदे वापस न जाए।
  • अपने ग्राहकों को कुछ प्रमोशनल गिफ्ट जैसे टी शर्ट इत्यादि दे सकते हैं इससे ग्राहक तो खुश होंगे ही साथ में आपके बिजनेस की भी ब्रांडिंग होगी।
  • अपने उत्पादों को प्रसिद्ध ई कॉमर्स वेबसाइट पर रजिस्टर करें क्योंकि वर्तमान में ऑनलाइन शॉपिंग लोग अधिक करते हैं।

यह भी पढ़ें

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *