विडियो एडिटिंग बिजनेस कैसे शुरू करें? How to Start a Video Editing Business.

Video Editing Business के बारे में बात करना इसलिए बहुत जरुरी हो जाता है क्योंकि वर्तमान में इन्टरनेट के बढ़ते चलन के कारण विडियो शेयरिंग वेबसाइट एवं सोशल मीडिया वेबसाइट काफी प्रसिद्द हो चुकी हैं। और इन वेबसाइट पर सभी छोटे बड़े व्यापारियों को अपनी उत्पाद या सेवा की विडियो अपलोड करने की आवश्यकता होती है ताकि संभावित ग्राहक इनके उत्पाद या सेवा को विडियो के माध्यम से अच्छी तरह समझकर उसे खरीदने का निर्णय ले सकें। इसके अलावा बहुत सारे ऐसे कलाकार भी हैं जो लोगों को यूट्यूब, व्हाटसएप्प, फेसबुक, इन्स्टाग्राम, टिकटोक इत्यादि पर मनोरंजन प्रदान करना चाहते हैं ताकि वे लोगों के बीच पोपुलर हो सकें। कहने का आशय यह है की बड़े छोटे बिजनेस, कलाकारों एवं अन्य लोगों के पास विडियो बनाने के अनेकों कारण हो सकते हैं। और वर्तमान में विडियो शूट करना काफी आसान काम है क्योंकि अक्सर लोग अपने मोबाइल फ़ोन से ही विडियो शूट कर देते हैं। लेकिन जब उस विडियो को लोगों के बीच पब्लिश करना होता है तो उसमें अनेकों बातों का ध्यान रखा जाना आवश्यक होता है की विडियो का कौन सा हिस्सा दर्शकों को दिखाना है कौन सा नहीं और कहाँ पर कौन सी आवाज या इफ़ेक्ट डालना है ताकि विडियो को अधिक से अधिक लोग पसंद कर सकें। हालांकि देखा जाय तो व्यक्तिगत उद्देश्य के लिए बनाई गई विडियो को तो व्यक्ति खुद ही एडिट कर देते हैं। लेकिन किसी फंक्शन शादी इत्यादि की वीडियोग्राफी को मनमुताबिक बनाने के लिए Video Editing Business करने वाले एडिटर की आवश्यकता होती है। इसलिए हम कह सकते हैं की विडियो एडिटिंग नामक यह बिजनेस एक ऐसा व्यापार है जिसकी आवश्यकता लोगों को अपनी व्यवसायिक एवं निजी दोनों जिंदगियों में पड़ती है। अर्थात इस तरह का बिजनेस करने वाले उद्यमी का ग्राहक कोई बहुत बड़ा बिजनेसमैन, कंपनी, कलाकार या फिर एक आम आदमी भी हो सकता है। इसलिए आज हम हमारे इस लेख के माध्यम से Video Editing Business के बारे में बताने का प्रयास कर रहे हैं ताकि बिजनेस करने के इच्छुक उद्यमी एक बार इस व्यापार पर भी विचार कर सकें।

Video editing business ki Jankari

Video Editing Business में संभावनाएं:

जैसा की हम सबको विदित है की वर्तमान में भारत में भी अधिकतर लोगों के पास खुद का एक ऐसा फ़ोन है जिसमें कैमरा है । और हर किसी के जीवन में अनेकों छोटे बड़े फंक्शन, छुट्टियाँ एवं विशेष मौके आते हैं जब वे उस पल या क्षण की विडियो बना लेते हैं। इसके अलावा वर्तमान में लोग विभिन्न विडियो शेयरिंग वेबसाइट जैसे यूट्यूब इत्यादि में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करके फेमस होना चाहते हैं और इसके लिए उन्हें विडियो बनाकर यूट्यूब में अपलोड करने की आवश्यकता होती है। इन सबके अलावा हर छोटी बड़ी कंपनी अपने उत्पाद या सेवा की बिक्री को बढाने के लिए उनकी वीडियोग्राफी करके लोगों तक पहुँचाना चाहती है। शादी, सालगिरह, जन्मदिन इत्यादि को यादगार बनाने के लिए भी वीडियोग्राफी की जाती है इसलिए वर्तमान में तो Video Editing Business की आवश्यकता है ही साथ में भविष्य में इसकी मांग और अधिक बढ़ने के आसार हैं। आम तौर पर लोगों द्वारा तीन तरह के विडियो एडिटिंग की मांग की जाती है इनमें पहला बेसिक एडिटिंग, दूसरा म्यूजिक, टेक्स्ट, इफ़ेक्ट एवं विडियो क्वालिटी में सुधार की एडिटिंग एवं तीसरा एडवांस एडिटिंग शामिल हैं। यद्यपि विडियो एडिटिंग की सबसे अधिक आवश्यकता मनोरंजन उद्योग को पड़ती है। चूँकि वर्तमान समय में Video Editing नामक यह Business एक बेहद ही लाभकारी बिजनेस हो सकता है इसलिए आगे हम जानते हैं की इसे कैसे शुरू किया जा सकता है।

विडियो एडिटिंग बिजनेस कैसे शुरू करें?

हालांकि मनोरंजन उद्योग की बात करें तो इसमें प्रमुख रूप से टेलीविजन श्रेणी का वर्चस्व है अर्थात मनोरंजन के लिए लोगों द्वारा सबसे अधिक टेलिविज़न को देखा जाता है। एनीमेशन, VFX, लाइव इवेंट एवं डिजिटल विज्ञापन की 2017 के एक आंकड़े के मुताबिक मनोरंजन उद्योग में कुल हिस्सेदारी 12.4% की थी। वर्तमान में विभिन्न विडियो शेयरिंग वेबसाइट भी मनोरंजन का साधन बनती जा रही है लेकिन इन्हें लोग सिर्फ मनोरंजन के लिए ही नहीं अपितु सीखने के लिए, मार्केटिंग के लिए भी इस्तेमाल में ला रहे हैं। इसलिए Video Editing Business के बारे में बात करना बेहद आवश्यक हो जाता है।

1. विडियो एडिटिंग सीखें (Learn Video Editing):

कोई भी व्यक्ति जो खुद का Video Editing Business शुरू करना चाहता है उसे सर्वप्रथम इस कार्य को सीखने की आवश्यकता होती है। यह काम सीखने के लिए व्यक्ति चाहे तो सबसे पहले किसी विडियो एडिटिंग कंपनी में नौकरी भी कर सकता है और जब वह यह काम बारीकी से सीख जाय तो किसी और शहर में या फिर कंपनी के अनुबंध से बंधी सीमा के बाहर यह बिजनेस शुरू कर सकता है। इसके अलावा व्यक्ति चाहे तो किसी ऐसे व्यक्ति से भी यह काम सीख सकता है जो फ्रीलांसर के तौर पर औरों के लिए यह काम करता हो। बहुत सारे कंप्यूटर सीखाने वाले संस्थानों द्वारा भी विडियो एडिटिंग के कोर्स ऑफर किये जाते हैं। यदि व्यक्ति के पास संस्थानों एवं फ्रीलांसर की फीस देने के लिए पैसे नहीं हैं तो वर्तमान में Youtube नामक विडियो शेयरिंग वेबसाइट में ऐसे बहुत सारे विडियोज मिल जायेंगे जो विडियो एडिटिंग के बारे में विस्तृत जानकारी दे रहे होंगे। यद्यपि इसमें कोई दो राय नहीं है की विडियो एडिटिंग किसी भी एडिटर द्वारा किसी विडियो एडिटिंग सॉफ्टवेर की मदद से की जाती है। इन्टरनेट के इस बाज़ार में बहुत सारे विडियो एडिटिंग सॉफ्टवेर हैं व्यक्ति को उसी सॉफ्टवेर का चयन करना चाहिए जो उसकी योजना के मुताबिक उसकी आवश्यकताओं की पूर्ति कर सके। हालांकि किसी फेमस विडियो एडिटिंग सॉफ्टवेर को सीखना Video Editing Business की दृष्टी से लाभकारी हो सकता है। कहने का आशय यह है की सर्वप्रथम व्यक्ति को किसी फेमस विडियो एडिटिंग सॉफ्टवेर का चुनाव करके उसे पूरी तरह से सीखना होता है ताकि वह हर तरह की एडिटिंग करने में समर्थ हो सके।          

2. फ्रीलांसर के तौर पर काम करें (Work as a Freelancer):

जब व्यक्ति किसी प्रसिद्ध विडियो एडिटिंग सॉफ्टवेर का चयन करके उसमें काम करने में एक्सपर्ट हो जाता है तो उसके बाद उसे कुछ ऑनलाइन फ्रीलानिसिंग वेबसाइट जैसे अपवर्क इत्यादि में अपना प्रोफाइल बना लेना चाहिए। और दूसरी तरफ जब तक उसे ऑनलाइन फ्रीलांसिंग प्लेटफॉर्म में काम मिलना शुरू नहीं हो जाता तब तक वह स्थानीय लोगों की विडियो एडिटिंग से सम्बंधित आवश्यकता की पूर्ति करके पैसे की कमाई कर सकता है।स्थानीय लोगों से काम लेने के लिए उद्यमी या व्यक्ति को अपने कांटेक्ट का इस्तेमाल करना होगा तथा लोगों के बीच जाकर उन्हें अपने काम के बारे में अवगत कराना होगा। जब उद्यमी को ऑनलाइन फ्रीलांसिंग वेबसाइट के माध्यम से काम मिलना शुरू हो जाता है और उद्यमी द्वारा अपने ग्राहकों का अच्छे व्यवसायिक तौर पर कार्य पूर्ण किया जाता है। तो ग्राहक  कमेंट या फीडबैक के माध्यम से व्यक्ति के काम की तारीफ करते हैं जिससे फ्रीलांसर की रेटिंग बढती है। जिसका Video Editing का काम करने वाले फ्रीलांसर के बिजनेस पर सकारात्मक प्रभाव दिखाई देता है क्योंकि फ्रीलांसिंग वेबसाइट में भी एक काम को करने के लिए अनेकों फ्रीलांसर उपलब्ध हैं लेकिन ग्राहक काम उसी को देते हैं जिसके बारे में पिछले ग्राहक अच्छा कह रहे होते हैं और जिसकी रेटिंग अच्छी होती है।       

3. ऑफिस किराये पर लें (Rent A Space for Video Editing Business )

Video Editing Business करने वाले फ्रीलांसर को यदि अच्छा काम मिल गया हो और उसने अपने इस काम के माध्यम से कुछ पैसे कमा भी दिए हों तो अब उसका अगला कदम अपने इस बिजनेस को एक कदम आगे ले जाने का होना चाहिए। इसके लिए उद्यमी जो अब तक घर से ही अपने लैपटॉप या डेस्कटॉप से यह काम कर रहा था उसे किसी स्थानीय बाजार में एक दुकान किराये पर लेने की आवश्यकता हो सकती है। इसलिए उद्यमी को एक ऐसी जगह पर दुकान किराये पर लेनी होगी जहाँ इलेक्ट्रिसिटी की अच्छी व्यवस्था हो इसके अलावा उद्यमी को कुछ फर्नीचर इत्यादि का काम भी करवाना पड़ेगा। जहाँ पर वह इस बिजनेस में इस्तेमाल में लायी जाने वाली कंप्यूटर एवं इससे जुड़े उपकरणों को आसानी से रख सके।     

4. मशीनरी एवं उपकरण खरीदें:

Video Editing Business  शुरू करने वाले उद्यमी ने जगह या दुकान किराये पर ले ली हो तो उसके बाद अब उसे इस बिजनेस में काम आने वाले आवश्यक मशीनरी एवं उपकरण खरीदने की आवश्यकता होती है। मशीनरी के तौर पर उद्यमी को एक या एक से अधिक कंप्यूटर या लैपटॉप की आवश्यकता हो सकती है इसके अलावा कुछ अन्य उपकरणों जैसे वेबकैम, मेमोरी कार्ड, यूएसबी केबल, स्पीकर, कॉर्डलेस माउस, विडियो एडिटिंग सॉफ्टवेर इत्यादि की आवश्यकता हो सकती है। यदि उद्यमी का विचार कर्मचारियों की नियुक्ति करके अपने Video Editing Business को विस्तृत करने की होगी तो उसे एक दो से अधिक कंप्यूटर, प्रिंटर इत्यादि की आवश्यकता हो सकती है।  

5. आवश्यक लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन के लिए अप्लाई करें:  

यदि उद्यमी का विचार कर्मचारियों की नियुक्ति करके बिजनेस चलाने की हो तो उसे अपने बिजनेस को विभिन्न बिजनेस एंटिटी में से किसी एक के तहत रजिस्ट्रेशन कराने की आवश्यकता होगी। लेकिन उससे पहले उद्यमी को डिजिटल सिग्नेचर सर्टिफिकेट की आवश्यकता हो सकती है। चूँकि बिजनेस रजिस्ट्रेशन सम्बन्धी विभिन्न गतिविधियों को पूर्ण करने के लिए डिजिटल सिग्नेचर सर्टिफिकेट की आवश्यकता होती है इसलिए इसे पहले स्टेप में ही पूरा करना बेहद जरुरी हो जाता है। उदाहरण के लिए जीएसटी रजिस्ट्रेशन एवं सर्टिफिकेट ऑफ़ इनकारपोरेशन के लिए डिजिटल सिग्नेचर सर्टिफिकेट का होना जरुरी है। डिजिटल सिग्नेचर सर्टिफिकेट प्राप्त करने की अधिक जानकारी इस लेख में दी हुई है। बिजनेस रजिस्ट्रेशन, टैक्स रजिस्ट्रेशन इत्यादि के अलावा उद्यमी को उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन की भी आवश्यकता हो सकती है क्योंकि यह रजिस्ट्रेशन करके सरकारी एजेंसीयों से काम मिलने की संभावना बढ़ जाती है । उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन बिना किसी शुल्क के आसानी से ऑनलाइन किया जा सकता है। इसके अलावा स्थानीय प्राधिकरण जैसे नगर निगम, नगर पालिका इत्यादि से ट्रेड लाइसेंस की भी आवश्यकता हो सकती है।

6. मार्केटिंग करें और कमाई करें:

अब जब उद्यमी द्वारा रजिस्ट्रेशन एवं कर्मचारियों की नियुक्ति इत्यादि सभी कार्य पूर्ण कर लिए गए हों तो अब उद्यमी का पूरा ध्यान अपने बिजनेस को प्रमोट करने का होना चाहिए इसके लिए उद्यमी नई नै मार्केटिंग तकनीकों के अलावा परम्परागत मार्केटिंग तकनीक जैसे पोस्टर, पम्पलेट, रेफरल इत्यादि भी अपना सकता है। जैसा की हम सबको विदित है की विडियो बनाने का अधिकतर काम वेडिंग प्लानर, इवेंट प्लानर, होटल, बैंक्वेट इत्यादि काम करने वालों के इर्द गिर्द घूमता है । इसलिए Video Editing Business कर रहे उद्यमी को स्थानीय वेडिंग प्लानर, इवेंट प्लानर, बैंक्वेट के मालिकों, होटल मालिकों इत्यादि से संपर्क करना चाहिए और उनके पास अपने बिजनेस से समबन्धित संपर्क छोड़कर काम होने पर आपको सूचित करने का आग्रह करना चाहिए। इसके अलावा उद्यमी अपने बिजनेस को ऑनलाइन भी मुफ्त एवं भुगतान करके दोनों तरह से प्रमोट कर सकता है हालांकि शुरूआती दौर में जब उद्यमी का मार्केटिंग बजट कम होता है तब वह सोशल मीडिया के माध्यम से मुफ्त में भी मार्केटिंग कर सकता है। या फिर सोशल मीडिया में पेड विज्ञापन चलाकर भी अपने बिजनेस को प्रमोट कर सकता है। उद्यमी को जितने अधिक ग्राहक मिलेंगे उतनी ही अधिक उसकी कमाई भी बढ़ेगी और काम अच्छा हुआ तो लोग एक दुसरे को आपके काम के बारे में ऑनलाइन एवं ऑफलाइन दोनों तरीकों से अपने आप बताएँगे। Video Editing Business भी रचनात्मकता से जुड़ा हुआ बिजनेस है इसलिए उद्यमी को पता होना चाहिए की दर्शकों को कहाँ पर क्या देखना अच्छा लग सकता है ताकि उसी हिसाब से वह विडियो एडिटिंग कर सके और अपने ग्राहकों को प्रसन्नचित्त रख सके।

यह भी पढ़ें

About Author:

मित्रवर, मेरा नाम महेंद्र रावत है | मेरा मानना है की ग्रामीण क्षेत्रो में निवासित जनता में अभी भी जानकारी का अभाव है | इसलिए मेरे इस ब्लॉग का उद्देश्य बिज़नेस, लघु उद्योग, छोटे मोटे कांम धंधे, सरकारी योजनाओं, बैंकिंग, कैरियर और अन्य कमाई के स्रोतों के बारे में, लोगो को अवगत कराने से है | ताकि कोई भी युवा अपने घर से रोजगार के लिए बाहर कदम रखने से पहले, एक बार अपने गृह क्षेत्र में संभावनाए अवश्य तलाशे |

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *